Ad

Tag: Narendra modi v/s lal krishan advani

पी एम् इन वेटिंग लाल कृषण आडवाणी पी एम् डेसिगनेटेड नरेन्द्र मोदी को चार्ज हेंड ओवर कर सकते हैं: यह दर्शनीय और एतिहासिक होगा

झल्ले दी झाल्लियाँ गल्लां

वैसे तो हमारे यहाँ होली पर बेवकूफ बना कर हंसी ठिठोली की परम्परा है लेकिन उसके बाद विकसित देशों ने भी हमें ऐसे ही हँसी मजाक का मौका दे दिया है यह पश्चिम की यह परम्परा पहली अप्रैल को मनाई जाती है इस दिन को अप्रैल फूल बनाने के लिए ऐसे लोग भी मौके की तलाश में लग जाते हैं जिनके मुह में दांत नही रहते और पेट में आंत नहीं बचती|अब अपना यह कालम ही क्या पूरा पेज ही झल्ले की झल्लय्त को समर्पित है तो पहली अप्रैल का मौका कैसे जाने दे वैसे अभी अपने मुह में पूरे दांत और पेट में आंतें कायम हैं|

पी एम् इन वेटिंग लाल कृषण आडवाणी पी एम् डेसिगनेटेड नरेन्द्र मोदी को चार्ज हेंड ओवर कर सकते हैं: यह दर्शनीय और एतिहासिक होगा

पी एम् इन वेटिंग लाल कृषण आडवाणी पी एम् डेसिगनेटेड नरेन्द्र मोदी को चार्ज हेंड ओवर कर सकते हैं: यह दर्शनीय और एतिहासिक होगा

भाजपा ने अरसे से पी एम् इन वेटिंग के पद पर वरिष्ठ डाडा लाल कृषण आडवाणी को लटकाया हुआ है|बेचारे अपने को जिंदादिल जवां साबित करने के लिए रोजाना नया पापड बेलते हैं |डाडा बेचारे इस उम्र में भी जिम का उद्घाटन करके वेट उठाते दिखाई दे जाते हैं |डाक्टर मन मोहन सिंह को अपने से कमजोरसाबित करने में लगे रहते हैं|लेकिन दुर्भाग्य से कभी आर एस एस और कभी पार्टी में दायें बाएं से आये भाजपाई डाडा के सर कि मालिश करके उकी खुश्की कम करने के बजाय उनके पावों के नीचे चिकना तेल डालने में ही व्यस्त रहते हैं| अब जब २०१४ में डाक्टर मन मोहन सिंह क्या उनकी पूरी सरकार ही अपनी कारगुजारियों के कारण कमजोर साबित होने जा रही है ऐसे में डाडा का नंबर लगने की संभावना दुगुनी हो गई है |ऐसे में नए अध्यक्ष बने ठाकुर राज नाथ सिंह ने आर एस एस के मार्ग दर्शन में एक नया पद इन्वेंट कर दिया है | यह पद पी एम् डेसीग्नेतेड [मनोनीत ] है|यदपि यह अभी डिक्लेयर नही किया गया है|यह अत्यंत गोपनीय [टाप सीक्रेट][रयूमर्स] है और सिर्फ ख्याली पुलाव या सत्ता के गलियारों [ हर्ड इन कोरिडोर ]से आगे नही बढ पाई है |लेकिन फिर भी बात तो निकल ही गई है इसीलिए यह दूर तलक तो स्वाभाविक रूप तक जायेगी ही |
गुजरात के मुख्य मंत्री नरेन्द्र मोदी को छह साल के निर्वासन के पश्चात अब राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शामिल करके राष्ट्रीय राजनीतिक धारा में शामिल कर लिया गया है|चर्चा है कि मोदी को अगले प्रधान मंत्री के रूप में स्थापित किया जा रहा है|सरकारी हलकों में एक पुराना नियम है कि पंजीकृत पत्र [Registered dak]कभी सिंगल डिस्पेच नही किया जाता उसके साथ एक संलग्नक[Enclosure] लगाया जाना जरुरी होता है|वैसे आज कल सरकारी महकमों में इस नियम का कोई महत्त्व नहीं है लेकिन भाजपा द्वारा इस नियम का कडाई से पालन करते हुए नरेन्द्र मोदी के साथ ही उनके खासुलखास अमित शाह और सम विचारक वरुण गांधी आदि भी नत्थी कर दिए गए हैं|
इस नए घटना क्रम से एक नई परिपाटी का जन्म हुआ है|पी एम् इन वेटिंग से पी एम् डेसिगनेटेड आ गया है|अब जब यह चमत्कार हो ही गया है तब आने वाले समय में एक नया चमत्कार देखने को मिल सकता है|पी एम् इन वेटिंग लाल कृषण आडवाणी पी एम् डेसिगनेटेड अपने राजनीतिक शिष्य नरेन्द्र मोदी को चार्ज हेंड ओवर कर सकते हैं |अगर ऐसा हुआ तो यह अपने आप में दर्शनीय और एतिहासिक होगा |