Ad

Tag: ParkashSinghBadal

बादल ने कैप्टेन से टकराव के बजाय सहयोग करके एसआईटी को कटघरे में खड़ा किया

[चंडीगढ़,पंजाब]बादल ने कैप्टेन से टकराव के बजाय सहयोग करके एसआईटी को कटघरे में खड़ा किया
सीनियर बादल ने आज अपने लम्बे राजनितिक तजुर्बे का इस्तेमाल करते हुए एसआईटी को लेकर प्रदेश में कांग्रेस सरकार को ही कटघरे में खड़ा किया|
पूर्व मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बादल ने आज सभी अटकलों को दरकिनार करते हुए एसआईटी के समक्ष पेश होकर सभी प्रश्नों का उत्तर दिया और बाहर आकर मीडिया के समक्ष बढ़ी विनम्रता से उनके विरुद्ध एसआईटी के गठन को राजनीती से प्रेरित बताया | उन्होंने बताया के बेअदबी में बरगाड़ी काण्ड की जांच कर रहे एसआईटी पूर्णतया कांग्रेस की उनके विरुद्ध राजनिति से प्रेरित है |उन्होंने कहा के सभी प्रश्नों के उत्तर दे दिए एस आई टी वाले संतुष्ट भी हुए लेकिन होगा वही जो सीएम कैप्टेन अमरिंदर सिंह चाहेंगे|
वरिष्ठ अकाली नेता बादल ने सवाल उठाये के
अमृतसर काण्ड में कभी श्रीमती इंदिरा गाँधी को सम्मन नहीं भेजे गए
१९८४ के दंगों में गाँधी को कभी गवाह नहीं बनाया गया|पंजाब में हुए रेल हादसे में मौजूदा सीएम से पूछताछ नहीं हुई लेकिन एक चुने हुए जनताके नुमायंदे को गवाह के तोर पर बुलाना अपने आप में राजनितिक कदम को दर्शाता है|कांग्रेस को चेतावनी देते हुए कहा के इस प्रकार की राजनीती पंजाब के लिए घातक होगी |

कैप्टेन “एसजीपीसी”से अकाली वर्चस्व समाप्त करने पर अड़े

[दिल्ली]कैप्टेन “एसजीपीसी”से अकाली वर्चस्व समाप्त करने पर अड़े | पंजाब में कांग्रेस के सीएम कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने कहा के वोह
शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी “एसपीजीसी” से अकालियों के वर्चस्व को समाप्त तो करना चाहते हैं लेकिन इस धार्मिक स्थल की राजनीती में दखलंदाजी नहीं करेंगे | एक समिट में बोलते हुए उन्होंने कहा के वोह निजीतौर पर अकालियों को एस जी पी सी से बाहर देखना चाहते हैं इसीलिए वोह किसी भी राजनितिक दाल को समर्थन दे सकते हैं |कैप्टेन ने प्रकाश सिंह बादल और सुखबीर सिंह बादल
की गिरफ़्तारी पर बोलते हुए कहा के ऐसे ही किसी को भी जेल में नहीं डाला जा सकता |गौरतलब हे के धार्मिक ग्रन्थ की बेअदबी मामले में हुई मौतों को लेकर पूर्व मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बादल के खिलाफ एफ आई आर दर्ज है

कांग्रेस के साथ ही चुनाव आयोग भी पंजाब में लोक तंत्र का हत्यारा:वरिष्ठ बादल

[चंडीगढ़,पंजाब] कांग्रेस के साथ ही चुनाव आयोग भी लोक तंत्र का हत्यारा:वरिष्ठ बादल
पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री [बाबा बोड] प्रकाश सिंह बादल ने राज्य में बुधवार को हुए जिला परिषद और पंचायत समिति के चुनावों को ‘लोकतंत्र की नृशंस और दिन दहाड़े हत्या’ करार दिया।
बादल ने कहा कि 19 सितंबर 2018 को पंजाब में लोकतंत्र के लिए ‘सबसे काले दिनों में से एक’ रूप में याद किया जाएगा जब कांग्रेस ने ‘बिहार के सबसे बुरे समय के जैसी’ स्थितियां राज्य में भी पैदा कर दीं।
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि यह ‘‘बेहद दर्दनाक और खेदजनक’’ था कि राज्य चुनाव आयोग ने कल अपनी संवैधानिक जिम्मेदारी पूरी तरह त्याग दी।
गौरतलब हे के २२ जिला परिषद और १५० पंचायत समितियों के लिए हुए चुनावों में बढ़ी संख्या में गड़बड़ियों के आरोप लगे हैं
जिसके फलस्वरूप ८ जिलों की परिषद और पंचायत समितियों के ५० बूथों पर पुनः मतदान करवाया जा रहा है|अमृतसर +मोगा+फाजिल्का+पटिआला + फरीदकोट +बठिंडा+
लुधियाना+मुक्तसर आदि में चुनाव दुबारा होने हैं |इससे पूर्व अकाली नेताओं ने नामांकन के समय अपने नुमायंदे निर्विरोध चुनवाने के लिए कांग्रेस पर धक्केशाही का भी आरोप लगाया है

बादलों की पोल खोल रैली में पूर्व सीएम ने १९४७ के पीड़ितों से अन्याय को स्वीकारा

[फरीदकोट,पंजाब] बादलों की पोल खोल उर्फ़ जबर रैली में पूर्व सीएम ने भी स्वीकारा के १९४७ के पीड़ितों को न्याय नहीं मिला| सत्तारूढ़ कांग्रेस की सरकार की तरफ से तमाम रुकावटों के बावजूद हाई कोर्ट के आदेश पर आयोजित इस रैली में हमहुंआ के संगत पहुंची |जिससे सत्ता से बाहर हुए अकालियों में विशेष उत्साह देखने को मिला |विशाल एकट्ठ को सम्बोधित करते हुए पांच बार मुख्य मंत्री रहे साबका मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बादल ने जम कर कांग्रेस पर हमला बोला |उन्होंने कांग्रेस के धरम और पंजाबी विरोधी गतिविधियों को भी गिनाया|
वरिष्ठतम नेता ने यह भी बताया के १९४७ में एक गलत आत्मघाती निर्णय से जो कत्लेआम हुआ वोह उन्होंने स्वयं देखा है
पांच लाख पंजाबी प्रभावित हुए जिन्हें अपनी जमीन जायदाद भी खोनी पड़ी |भारत में इन्हें न्याय नहीं दिया गया | जो जमीने वोह छोड़ कर आये थे उनके आग्रह के बावजूद वोह भी नहीं दी गई |
गौरतलब हे के पाकिस्तान में छोड़ी गई भूमि के बदले भारत सरकार ने पाकिस्तान सरकार मुआवजा वसूल लिया था जिसे भारत में छोड़ी गई भूमि से एडजस्ट किया गया लेकिन दुर्भाग्य से पीड़ितों की पीढ़ियां गुजरें के बावजूद अभी भी हजारों उत्तराधिकारियों को उनके हक के रिहैबिलिटेशन क्लेम नहीं दियगए| अनेक लोग हाई कोर्ट और पंजाब ओल्ड लैंड रिकॉर्ड कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं
इनके हक मारने के लिए तत्कालीन पंजाब सरकार द्वारा २००५ में काला एक्ट लाया गया| आश्चर्यजनक रूप से प्रधान मंत्री और मुख्य मंत्री कार्यालय से फॉरवर्ड ग्रिएवान्सेस भी इधर उधर भटकाई जा रही है |

अकालियों की विशाल पोल खोल रैली में हथियार सहित युवक पहुंचा

[फरीदकोट,पंजाब]अकालियों की विशाल पोल खोल रैली में हथियार सहित युवक पहुंचा | पंजाब में पांच बार मुख्य मंत्री रहे पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल ने मंच से रैली को सम्बोधित करते हुए बताया के रैली में पुलिस के तमाम बंदोबस्त के बावजूद एक शख्श हथियार लेकर पहुँच गया है |उन्होंने पुलिससे आग्रह किया के इस घटना को दबाने के बजाय मीडिया को बता दिया जाये | वरिष्ठ बादल ने अपने विपक्षकी कांग्रेस का नाम लिए बगैर यह भी कहा के यदि मेरी और उनके पुत्र एस ऐ डी के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल की शहादत से पंजाब में अमन शांति कायम रहती है तो उसके लिए तैयार हैं |

सिलेबस में सिख इतिहास हटाने को लेकर पूर्व ने वर्तमान सीएम को ललकारा

[चंडीगढ़,पंजाब]सिलेबस में सिख इतिहास हटाने को लेकर पूर्व ने वर्तमान सीएम को ललकारा
पूर्व मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा के सिख इतिहास को समाप्त करने के लिए बनाई गई कैप्टेन अमरिंदर सिंह की कमिटी लोगों को गुमराह करने और अपना अपराध दूसरों पर थोपने के लिए ही बनाई गई है|
उन्होंने कहा के कांग्रेस सिख इतिहास को समाप्त करने पर तुली हुई है|वयोवृद्ध बादल ने कहा के अपनी गलती मानने से कोई छोटा नहीं हो जाता इसीलिए कैप्टेन को अपनी गलती किसी दूसरे पर थोपने के बजाय स्वयं अपनी गलती मान लेनी चाहिए |गौरतलब हे के पंजाब में बारहवीं कक्षा के सिलेबस से महत्वपूर्ण सिख इतिहास को हटाने के आरोप लगाए जा रहे हैं जिसे लेकर अकाली दल लगातार कांग्रेस की सरकार पर हमलावर है | शाहकोट में उपचुनाव होने हैं जहाँ इस मुद्दे को भुनाने की भरसक कोशिश जारी रहेगी

शाहकोट के थानेदार के खिलाफ सरकार की कार्यवाही, विपक्ष ने दी शाबाशी

{चंडीगढ़,पंजाब} शाहकोट के थानेदार के खिलाफ सरकार की कार्यवाही विपक्ष ने दी शाबाशी
पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल ने कांग्रेस के शाहकोट उपचुनाव में उम्मीदवार हरदेव सिंह लाडी शेरोवालिया के विरुद्ध अवैध खनन की एफ आई आर दर्ज करने वाले थानेदार को शाबाशी दी है| सीनियर बादल अपने गावं लम्बी में एक श्रद्धांजलि कार्यक्रम में आये हुए थे |शाहकोट में कांग्रेस के केंडिडेट शेरोवालिया के विषय में पूछे जाने पर उन्होंने कहा के शेरोवालिया के खिलाफ उनकी अपनी सरकार ने पर्चा डाला है लेकिन उस एसएचओ को शाबाश और बधाई देते हैं जिसने बेखौफ होकर यह कार्यवाही की है
कांग्रेस के शाहकोट में उम्मीदवार शेरोवालिया के विरुद्ध जिस थाने में पर्चा डाला गया है उसके प्रभारी परमिंदर सिंह बाजवा है | बाजवा के अनुसार उन्हें जान से मारने की धमकी मिलने लगी है |इसके साथ ही पोलिस कप्तान भुल्लर स्तर से बाजवा के विरुद्ध कार्यवाही भी प्रारम्भ कर दी गई है

पीएम”मोदी”ने बादल के समर्थन में जालंधर से शंखनाद करते हुए कांग्रेस को डूबती नाव बताया

Narendra Modi[जालंधर,पंजाब]प्रधान मंत्री “मोदी” ने जालंधर से बादल के समर्थन में शंखनाद करते हुए कांग्रेस को डूबती नाव बताया
भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज प्रकाश सिंह बादल को किसानों+हिन्दू सिख एकता+गरीबों सच्चा हितेषी बताया|पीएम मोदी ने पंजाब को विदेशों में बदनाम करने वालों को भी आड़े हाथों लिया|
मोदी ने कांग्रेस पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि विभिन्न राज्यों में कांग्रेस चुनावी गठबंधन करके अपने अस्तित्व को बचाने की कोशिश में लगी है, जबकि हकीकत यह है कि पार्टी अंतिम सांसें ले रही है और इतिहास बन गई है।
चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के बीच उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए हुए गठबंधन का मजाक उड़ाते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस ने तमाम तरह की रैलियां करने के बाद आखिरकार समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन कर लिया और सपा ने उसे चुनाव में जितनी सीटें दीं वह उतने पर ही राजी हो गई।
पश्चिम बंगाल का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल में 40 साल तक जिन वामपंथियों के खिलाफ लड़ाई की, चुनावी लाभ के लिए उन्हीं वामपंथियों से हाथ मिला लिया।
पंजाब की जनता को कांग्रेस के इरादों के प्रति आगाह करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पार्टी हर कीमत पर अपना अस्तित्व बचाने की जुगत में लगी है और ऐसी पार्टी पर भरोसा करना उचित नहीं होगा। उन्होंने लोगों से राज्य के विकास के लिए भाजपा..शिअद गठबंधन को विजयी बनाने का आह्वान किया।

लांबी में फैंका जूता मुख्यमंत्री बादल की पगड़ी से छू कर निकल गया

[लांबी :मुक्तसर,पंजाब]लांबी में फैंका जूता मुख्यमंत्री बादल की पगड़ी से छू कर निकल गया
पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर रत्ता खेड़ा गांव में चुनाव प्रचार के दौरान एक कट्टरपंथी सिख नेता के एक रिश्तेदार ने जूता फेंक दिया।
गुरबचन सिंह ने बादल की ओर जूता फेंका,
सुरक्षा में तैनात सुरक्षा अधिकारी ने अपने हाथ से जूता रोकने की कोशिश की। सुरक्षाकर्मी को लगने के बाद जूता मुख्यमंत्री की पगड़ी को छू गया।
बादल यहां अपने चुनाव प्रचार के दौरान एक जन सभा में व्यस्त थे।
गुरबचन कट्टरपंथी सिख नेता अमरीक सिंह अजनाला के भाई हैं।
गौरतलब है कि कुछ दिन पहले लोगों के एक समूह ने उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के काफिले पर फजीलका जिला स्थित उनके जलालाबाद क्षेत्र में पथराव किया था जिसके लिए आप के भगवंत मान पर आरोप लगाए गए थे

PM”Modi”Greets Senior Most CM”Badal”On His B’Day

PM”Modi”Greets Senior Most CM”Badal”On His B’Day
Prime Minister Narendra Modi Tweeted
“Birthday wishes to Shri Parkash Singh Badal, a humble & compassionate leader who has always been working for welfare of farmers & the poor”
“Forman” Parkash Singh Badal Has Been Chief Minister Of Punjab Since 2007
He Previously Served The State From
1970-71
1977-80
1997-2002