Ad

Tag: PrimeministerDrManMohanSingh

आउट गोइंग पी एम डॉ मनमोहन सिंह ने राष्ट्र के नाम अपने अंतिम सन्देश में जनता के फैंसले का सम्मान किया

आउट गोइंग प्रधानमंत्री डॉ मन मोहन सिंह ने राष्ट्र के नाम अपने अंतिम सन्देश में जनता के फैंसले को सम्मान किया | देश वासियों को सम्बोधित करते हुए पी एम ने कहा कि जनता ने जो फ़ैसला दिया है, हम सभी को उसका सम्मान करना चाहिए। इन लोकसभा चुनावों से हमारी लोकतांत्रिक व्यवस्था की जड़ें मज़बूत हुई हैं। अर्थ शास्त्री पी एम ने बताया कि परंपरा को आधुनिकता के साथ और विविधता को एकता के साथ मिलाते हुए हमारा देश दुनिया को आगे का रास्ता दिखा सकता है।
डॉ सिंह ने कहा”प्यारे देशवासियों, आज मैं आपको प्रधानमंत्री के रूप में आखिरी बार संबोधित कर रहा हू दस साल पहले इस ज़िम्मेदारी को संभालते वक्त मैंने अपनी पूरी मेहनत से काम करने और सच्चाई के रास्ते पर चलने का निश्चय किया था। मेरी ईश्वर से प्रार्थना थी कि मैं हमेशा सही काम करूँ।आज, जब प्रधानमंत्री का पद छोड़ने का वक्त आ गया है, मुझे अहसास है कि ईश्वर के अंतिम निर्णय से पहले, सभी चुने गए प्रतिनिधियों और सरकारों के काम पर जनता की अदालत भी फैसला करती है”
डॉ मन मोहन सिंह ने अपनी उपलब्धियों का वर्णन करते हुए कहा “जैसा मैंने कई बार कहा है, मेरा सार्वजनिक जीवन एक खुली किताब है। मैंने हमेशा अपनी पूरी क्षमता से अपने महान राष्ट्र की सेवा करने की कोशिश की है।
पिछले दस सालों के दौरान हमने बहुत सी सफलताएं और उपलब्धियां हासिल की हैं जिन पर हमें गर्व है। आज हमारा देश हर मायने में दस साल पहले के भारत से कहीं ज़्यादा मज़बूत है। देश की सफलताओं का श्रेय मैं आप सबको देता हूँ। लेकिन अभी भी हमारे देश में विकास की बहुत सी संभावनाएं हैं जिनका फायदा उठाने के लिए हमें एकजुट होकर कड़ी मेहनत करने की ज़रुरत है।प्रधानमंत्री का पद छोड़ने के बाद भी आपके प्यार और मोहब्बत की याद हमेशा मेरे ज़हन में ताज़ा रहेगी। मुझे जो कुछ भी मिला है, इस देश से ही मिला है। एक ऐसा देश जिसने बंटवारे के कारण बेघर हुए एक बच्चे को इतने ऊंचे पद तक पहुंचा दिया। यह एक ऐसा कर्ज़ है जिसे मैं कभी अदा नहीं कर सकता। यह एक ऐसा सम्मान भी है जिस पर मुझे हमेशा गर्व रहेगा। मित्रों, मुझे भारत के भविष्य के बारे में पूरा इत्मीनान है। मुझे पक्का विश्वास है कि वह समय आ गया है जब भारत दुनिया की बदलती हुई अर्थव्यवस्था में एक महत्वपूर्ण शक्ति के रूप में उभरेगा। अपने महान देश की सेवा करने का मौका मिलना मेरा सौभाग्य रहा है। मैं इससे ज्यादा कुछ और नहीं मांग सकता था।
नई सरकार को शुभ कामनाएं देते हुए कहा “मेरी शुभकामना है कि आने वाली सरकार अपने काम-काज में हर तरह से सफल रहे। मैं अपने देश के लिए और भी बड़ी सफलताओं की कामना करता हूं”

राष्ट्रपति ने विशिष्‍ट पराक्रमी +अदम्य साहसी और कर्तव्य परायण ५५ सैनिकों को सम्मानित किया

[नई दिल्ली]राष्ट्रपति ने विशिष्‍ट पराक्रमी +अदम्य साहसी और कर्तव्य परायण ५५ सैनिकों को सम्मानित किया
राष्‍ट्रपति प्रणब मुखेर्जी ने अदम्‍य साहस के लिए शौर्य चक्र और कीर्ति चक्र प्रदान किए
राष्‍ट्रपति और भारतीय सशस्‍त्र सेना के सर्वोच्‍च कमांडर श्री प्रणब मुखर्जी ने विशिष्‍ट पराक्रम+अदम्‍य साहस + कर्तव्‍यपरायण्‍ता के लिए सशस्‍त्र सेना के जवानों को आज राष्‍ट्रपति भवन में आयोजित एक औपचारिक समारोह में ०३ कीर्ति चक्र और ०९ शौर्य चक्र प्रदान किए।
राष्‍ट्रपति ने सशस्‍त्र सेना के वरिष्‍ठ अधिकारियों को उनकी उल्‍लेख‍नीय सेवाओं के लिए १३ परम विशिष्‍ट सेवा पदक, ०३ उत्‍तम युद्ध सेवा पदक, ०४ बार टू अति विशिष्‍ट सेवा पदक और २३ अति विशिष्‍ट सेवा पदक प्रदान किए।
सम्‍मानित जवानों की सूची इस प्रकार है –
परम विशिष्‍ट सेवा पदक
– आईसी-30351के लेफ्टिनेंट जनरल द. सिंह, यूवाईएसएम, एवीएसएम वीएसएम, इन्‍फेंट्री
– र्आसी-30389एन लेफ्टिनेंट जनरल संजीव छाछड़ा, एवीएसएम वीएसएम, इन्‍फेंट्री
– वाइस एडमिरल सुरेन्‍द्र पाल सिंह चीमा, एवीएसएम, एनएम (01704वाई)
– एयर मार्शल धनन्‍जय परशुराम जोशी, एवीएसएम (13905) मेडिकल
– एयर मार्शल रविकान्‍त शर्मा, एवीएसएम, वीएसएम(14088) फ्लाइंग (पायलट)
– आईसी-30503ए लेफ्टिनेंट जनरल जयप्रकाश नेहरा, एवीएसएम**इन्‍फेंट्री
-आईसी-31052एक्‍स लेफ्टिनेंट जनरल शक्ति गुरंग, युवाईएसएम, एवीएसएम, वीएसएम इन्‍फेंट्री
-आईसी-31521पी लेफ्टिनेंट जनरल सुरेन्‍द्र हरि कुलकर्णी, एवीएसएम, वीएसएम**, आर्मर्ड कोर
-आईसी-31505एक्‍स लेफ्टिनेंट जनरल सुब्रतो मित्रा, एवीएसएम, एसएम, वीएसएम इन्‍फेंट्री
– आईसी-31351डब्‍ल्‍यू लेफ्टिनेंट जनरल राज नन्‍दन सिंह, एवीएसएम, एसएम, वीएसएम, इन्‍फेंट्री
– आईसी-30089एम लेफ्टिनेंट जनरल नरेन्‍द्र सिंह, एवीएसएम, एसएम, वीएसएम इन्‍फेंट्री (सेवानिवृत्‍त)
– आईसी-30482पी लेफ्टिनेंट जनरल विनोद भाटिया, एवीएसएम, एसएम, इन्‍फेंट्री (सेवानिवृत्‍त)
-आईसी-30708पी लेफ्टिनेंट जनरल अशोक कुमार चौधरी, एवीएसएम**, एसएम, वीएसएम इन्‍फेंट्री (सेवानिवृत्‍त)
कीर्ति चक्र

The President, Shri Pranab Mukherjee presenting the Param Vishisht Seva Medal to Vice Admiral Surinder Pal Singh Cheema,

The President, Shri Pranab Mukherjee presenting the Param Vishisht Seva Medal to Vice Admiral Surinder Pal Singh Cheema,

-श्री भृगुनन्‍दन चौधरी, कांस्‍टेबल/जीडी, 205 कोबरा बटालियन, केन्‍द्रीय रिजर्व पुलिस बल (मरणोपरांत)
– श्री लोहित सोनोवाल, इंस्‍पेक्‍टर असम सरकार (मरणोपरांत)
– आईसी-618121एल नायब सूबेदार भूपाल सिंह चंतल मगर 5/5 गोरखा राइफल्‍स (फ्रंटियर फोर्स)
उत्‍तम युद्ध सेवा पदक
– आईसी-31633पी लेफ्टिनेंट जनरल अरूण कुमार साहनी, एसएम, वीएसएम, आर्टिलरी
– आईसी-31638एन लेफ्टिनेंट जनरल ओम प्रकाश, एवीएसएम, एसएम, इन्‍फेंट्री
– आईसी-34019एल लेफ्टिनेंट जनरल दीपेन्‍द्र सिंह हुड्डा, एवीएसएम, वीएसम** इन्‍फेंट्री
बार टू अति विशिष्‍ट सेवा पदक
– आईसी-30702एन लेफ्टिनेंट जनरल फिलिप कंपोज, एवीएसएम, वीएसएम मेकेनाइज्‍ड इन्‍फेंट्री
– आईसी-34356ए लेफ्टिनेंट जनरल नवकिरण सिंह घेई, एवीएसएम, इन्‍फेंट्री
– आईसी-36294के लेफ्टिनेंट जनरल नवतेज सिंह बावा, एवीएसएम, आर्टिलरी (सेवानिवृत्‍त)
– वाइस एडमिरल अनुराग थपलियाल, एवीएसएम (01773-बी)
अतिविशिष्‍ट सेवा पदक
– आईसी-31323के लेफ्टिनेंट जनरल संजीव मधोक, वीएसम मेकेनाइज्‍ड इन्‍फेंट्री
– आईसी-30997पी लेफ्टिनेंट जनरल अश्विनी कुमार बक्‍शी, एसएम, वीएसएम, इन्‍फेंट्री
– आईसी-31908एक्‍स लेफ्टिनेंट जनरल सुनील कुमार, कोर ऑफ सिगनल्‍स
– आईसी-31336एफ लेफ्टिनेंट जनरल सुनील सदानन्‍द जोग, एसएम, वीएसएम इन्‍फेंट्री
– आईसी-31012डब्‍ल्‍यू लेफ्टिनेंट जनरल योहानन्‍न, चाको थाराकन वीएसएम कोर ऑफ सिगनल्‍स
-आईसी-31653एच लेफ्टिनेंट जनरल अनिल कुमार भल्‍ला, एवीएसएम, कोर ऑफ सिगनल्‍स
– आईसी-35036एक्‍स लेफ्टिनेंट जनरल नितिन कुमार कोहली, वीएसएम, कोर ऑफ सिगनल्‍स
– डीआर-10298एच लेफ्टिनेंट जनरल विमल अरोड़ा, वीएसएम**, आर्मी डेंटल कोर
– वाइस एडमिरल अजीत कुमार पी, वीएसएम (02275-डब्‍ल्‍यू)
– सरजन वाइस एडमिरल सुशील कुमार, एनएम, वीएसएम (75216-डब्‍ल्‍यू)
– एयर मार्शल देवेन्‍द्र सिंह खजुरिया, एससी (15073) एरोनॉटिकल इंजीनियरिंग (मैकेनिकल)
– आईसी-35904वाई मेजर जनरल सारथ चन्‍द, वीएसएम, इन्‍फेंट्री
-आईसी-35919एफ मेजर जनरल अमरजीत सिंह, एसएम, इन्‍फेंट्री
-आईसी-35965डब्‍ल्‍यू मेजर जनरल राजेन्‍द्र राम रावजी निम्‍भोरकर, एसएम**, वीएसएम इन्‍फेंट्री
-आईसी-38654एन मेजर जनरल देवराज अनबू, वाईएसएम, एसएम, इन्‍फेंट्री
-आईसी-39083एम मेजर जनरल संजय कुमार झा, वाईएसएम, एसएम, इन्‍फेंट्री
-रिअर एडमिरल गुरतेज सिंह पब्‍बी, वीएसएम(40869-एच)
-एयर वाइस मार्शल महेश कुमार मलिक, वीएसएम (15743) प्रशासन
-एयर वाइस मार्शल राज करण सिंह शेरा, वीएसएम (16315) एरोनॉटिकल इंजीनियरिंग (इलेक्‍ट्रोनिक्‍स)
– एयर वाइस मार्शल नवकरन जीत सिंह ढिल्‍लो (16580) फ्लाइंग (पायलट)
– एयर वाइस मार्शल नलिन कुमार टंडन, वीएम (1630) फ्लाइंग (पायलट)
– एयर वाइस मार्शल कुलदीप शर्मा, वीएसएम(16541) एरोनॉटिकल इंजीनियरिंग (मैकेनिकल)
– एयर कमोडोर सुजीत पुष्‍पाकर धारकर (17841) फ्लाइंग (पायलट)
शौर्य चक्र
– एसएस-41220वाई मेजर अमरजीत सिंह, मेकेनाइज्‍ड इंफेंट्री/44 असम राइफल्‍स
-आईसी-69663डब्‍ल्‍यू मेजर स्‍वागत कुमार दास, 9 सिख लाइट इंफेंट्री
– श्री पी.आर. मिश्रा, डिप्‍टी कमांडेंट, केन्‍द्रीय रिजर्व पुलिस बल
– आदेश कुमार सी. 1सीडी III (220165-ए) मार्कोस (ई)
– 2489218वाई नायक बलविन्‍दर सिंह, एसएम, पंजाब/22 राष्‍ट्रीय राइफल्‍स
– आईसी-61469एम मेजर मंदीप सिंह घुमन्‍न, आर्टिलरी/1 असम राइफल्‍स
– आईसी-70847एफ कैप्‍टन संदीप भरतिया, 17 जाट रेजीमेंट
– 15223301एम गुन्‍नर लालाओम जआला, आर्टिलरी/18 राष्‍ट्रीय राइफल्‍स
– आईसी-72419एफ कैप्‍टन महाबीर सिंह, पैरा/9 पैराशूट रेजीमेंट (विशेष बल)

अति सुरक्षितPMOमें उठने वाली प्रत्येक चिंगारी अपने आप में राजनीतिक ज्वाला का काम करती है

झल्ले दी झल्लियां गल्लाँ

कांग्रेसी चीयर लीडर

ओये झल्लेया ये हमने कौन सी किसी की भैस खोल ली है देख तो आये दिन हर छोटी बड़ी बात का बतंगड़ बना कर हसाडे सोणे ते मन मोहने पी एम की साफ सुथरी पगड़ी उछाली जा रही है|
अब देख तो साउथ ब्लॉक के पी एम ओ के एक छोटे से कमरे में मंगल वार की सुबह एक छोटे से कंप्यूटर के यूं पी एस में से कुछ चिंगारियां क्या निकल गई कि भाजपा वालों ने कहना शुरू कर दिया है कि हमने सरकारी फाईलें जला डाली|ओये ये हमें कहीं का रहने भी देंगे या नही ?

झल्ला

चतुर सुजाण जी ये तो आप भी मानोगे ना कि अति सुरक्षित पी एम ओ में उठने वाली प्रत्येक चिंगारी अपने आप में राजनीतिक ज्वाला का काम करती हैइसके अलावा आग का समय सुबह के लगभग साढ़े छह बजे बताया जा रहा है और आग को बुझाने के लिए साढ़े सात का समय उछाला जा रहा है ऐसे में एक घंटे की आग को बुझाने के लिए आई दमकल गाड़ियों को भी अंदर नहीं जाने दिया गयाइसके अलावा झल्लेविचारानुसार दमकल के महा निदेशक का अस्थाई Satireकार्यभार भी इसी दिन किसी और को सौंपा गया है इसीलिए बौखलाने की जरुरत नही ऐसे में सवाल उठने तो लाजमी ही हैं टालने के बजाय इनका उत्तर अपलोड किया जाना चाहिए

दलजीत सिंह जी कोहली सोणे ते मन मोहने पी एम दी मत्रेई माँ दा पुत होणाय

झल्ले दी झल्लियां गल्लाँ

भाजपाई चीयर लीडर

ओये झल्लेया हसाडे मोदी जी ने तो २० करके दिखा ही दी ओये प्रधान मंत्री के अपने भाई दलजीत सिंह कोहली को भाजपा में शामिल करके पी एम के अपने ही शहर अमृतसर में अपनी हवा[Waive]दिखा दी
पहले कहते फिरते थे कि मोदी की कहीं लहर नहीं हैं और अब पूरा पी एम ओ भौंचका हुआ बैठा है

झल्ला

ओये सेठ जी दलजीत सिंह जी कोहली मत्रेई माँ दा पुत होणाया नहीं ते धुर्र विरोधी प्रकाश सिंह बादल+अरुण जेटली+नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में रब्ब की नगरी में सरे आम अपने पी एम भाई की पगड़ी उछालने नहीं देता

उपिंदर तो बेशक”घुग्गु” पी एम की स्पोर्ट में हैं लेकिन प्रियंका तो वाकई “सुपर” पी एम को बचा रही हैं

झल्ले दी झल्लियां गल्लाँ

कांग्रेसी चीयर लीडर

ओये झल्लेया अब तो मानता है ना कि बेटियां खानदान की पहचान होती हैं|ओये देख हसाडे सोणे ते मन मोहने पी एम की बेटी उपिंदर सिंह और माननीय सोनिया जी की बेटी प्रियंका वढेरा ने अपने माता पिता पर हमला करने वालों की बोलतीएक झटके में ही बंद कर दी है |उपिंदर ने अपने पिता के पूर्व सलाहकार संजय बारु को धोखे बाज और प्रियंका ने डॉ मन मोहन सिंह को सुपर पी एम बता कर अपने माता पिता का बचाव कर लिया है|बड़े आये थे पी सी परख और संजय बारू हसाडे सोणे पी एम को एक्सिडेंटल+ क्रूसेडर और सोनिया जी को सुपर पी एम बताने वाले |सारे के सारे किताबी योद्धा धराशाई हो गए|

झल्ला

वाकई चतुर सुजाण जी बेटियां खास तौर पर कांग्रेसी बेटियां किसी भी तरीके से किसी से कम नहीं हैं लेकिन झल्लेविचरानुसार उपिंदर सिंह को तो मजबूरन हमेशा घुग्गु बन खामोश रहने वाले पिता के बचाव में आगे आना पड़ा और संजय बारू को पीठ पर चुरा घोंपने वाला बताना पड़ा लेकिन प्रियंका गांधी को क्यूँ कर पी एम का बचाव करने के लिए पी एम को सुपर पी एम बताना पड़ गया “झल्ले” को लगता है कि अपने भाई को सपोर्ट कर रही प्रियंका ने अपनी मम्मी को भी बचाने के लिए यह शब्द बाण चलाया है

राष्ट्रपति और प्रधान मंत्री ने बैसाखी के अवसर पर राष्ट्र को शुभकामनाएं दी

Prime Minister Dr Man mohan singh Greets On Baisakhi

Prime Minister Dr Man mohan singh Greets On Baisakhi

राष्ट्रपति और प्रधान मंत्री ने बैसाखी के अवसर पर राष्ट्र को शुभकामनाएं दी
प्रधानमंत्री डॉ मन मोहन सिंह ने बैसाखी, बहाग बिहू, विशु, पुथंडु, वैसाखदि और मेसादि के अवसर पर राष्ट्र को शुभकामनाएं दी
अपने संदेश में डॉ मन मोहन सिंह ने कहा कि फसल कटाई ऋतु के दौरान ये पारंपरिक नव वर्ष के पर्व किसानों के लिए धन्यवाद प्रकट करने और नई शुरुआत एवं अगले वर्ष की योजना बनाने का अवसर है। ये पर्व देश भर में विविधता में भारत की एकता के जश्न के रूप में भी मनाए जाते हैं।
मैं कामना करता हूं कि ये पर्व सबके लिए शांति, समृद्धि और स्वास्थ्य एवं खुशी लेकर आएं।
राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने बैसाखी के अवसर पर बधाई संदेश में कहा है:-
” मैं बैसाखी के हर्षपूर्ण अवसर पर अपने देश के सभी लोगों, और खासतौर से खेती-बाड़ी में संलग्न अपने सभी भाई-बहनों को हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई देता हूं।
उन्होंने कहा ” बैसाखी फसल कटाई की ऋतु के आरंभ का प्रतीक है जो खुशी और समृद्धि लेकर आती है। यह जश्न का समय होता है और ऐसा अवसर होता है जब हम भरपूर फसल के लिए कुदरत के प्रति अपना आभार प्रकट करते हैं और आने वाले समय मेें भी निरंतर समृद्धि के लिए प्रार्थना करते हैं।
मैं कामना करता हूं कि यह पर्व राष्ट्र के रूप में हमारे रिश्ते को और मजबूत करे और शांति एवं भाइचारा बनाए रखे। आइए, इस दिन राष्ट्र की प्रगति और खुशी के लिए तहे दिल से योगदान करने के अपने इरादे को और मजबूत करें। ”

Dr.Manmohan Singh,Greets Native Citizens on Mahavir Jayanti

Dr.Manmohan Singh,Greets Native Citizens on Mahavir Jayanti Prime Minister, Dr. Manmohan Singh, has greeted The Native Citizens on the auspicious occasion of Mahavir Jayanti.
In his message, the Prime Minister said that Lord Mahavir’s message of ahimsa and kindness to all nature’s creations is very relevant in today’s world. His philosophy of contentment and being one with nature as against competing with it is equally timeless.
P M Wishes “May this Mahavir Jayanti festival strengthen our commitment to truth, peace and harmony”

उपराष्ट्रपति मो.हामिद अंसारी के ७७ वें जन्म दिन पर डॉ मन मोहन सिंह ने सपत्नीक शुभ कामनाएं दी

[नई दिल्ली]भारत के उपराष्ट्रपति मो.हामिद अंसारी ने आज अपना ७७ वां जन्म दिन सादगी से मनाया| इस अवसर पर श्री अंसारी के निवास पर बधाई देने वाले वी आई पी का बड़ी संख्या में आगमन रहा |
भारत के प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और उनकी धर्मपत्नी श्रीमती गुरशरण कौर ने भी नई दिल्ली में उपराष्ट्रपति श्री मोहम्मद हामिद अंसारी और उनकी धर्मपत्नी श्रीमती सलमा अंसारी से मुलाकात कर उपराष्ट्रपति के 77वें जन्मदिन पर अपनी शुभकामनाएं दी |
फ़ोटो कैप्शन
प्राइम मिनिस्टर , डॉ . मनमोहन सिंह और श्रीमती . गुरशरण कौर वाईस प्रेसिडेंट , श्री मोहद . हामिद अंसारी को शुभकामनायें देते हुए

राष्‍ट्रपति ने विद्या बालन सहित ६६ प्रतिभाओं को पद्म पुरूस्कार से सम्मानित किया

The President, Shri Pranab Mukherjee presenting the Padma Shri Award to Ms. Vidya Balan,

The President, Shri Pranab Mukherjee presenting the Padma Shri Award to Ms. Vidya Balan,

राष्‍ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने आज (31 मार्च, 2014) सिने अभिनेत्री विद्या बालन और प्रो. वेद कुमारी घई सहित ६६ विभिन्न छेत्रों की प्रतिभाओं को पद्म पुरूस्कार से सम्मानित किया| राष्‍ट्रपति भवन में आयोजित नागरिक अलंकरण समारोह में एक पद्म विभूषण+ 12 पद्म भूषण+ 53 पद्म श्री पुरस्‍कार प्रदान किये गए| डॉ रघुनाथ अनंत माशेलकर को पद्म विभूषण और फ़िल्म एक्टर कमाल हसन को पद्म भूषण आवर्ड दिया गया |प्रो. अशोक चक्रधर को भी पद्म श्री पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया|
The President, Shri Pranab Mukherjee presenting the Padma Shri Award to Prof. Ashok Chakradhar,

The President, Shri Pranab Mukherjee presenting the Padma Shri Award to Prof. Ashok Chakradhar,


इस अवसर पर गणमान्‍य व्‍यक्तियों में प्रधानमंत्री डॉ; मनमोहन सिंह और उप राष्‍ट्रपति श्री मोहम्‍मद हामिद अंसारी तथा केन्‍द्रीय गृहमंत्री भी मौजूद थे।

किसके कर्मो से कांग्रेस के कुनबे पर होली के बेतहाशा रंगों में से ओनली काला रंग ही आयेगा?

jamos cartoons

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

चेहरा बचाता कांग्रेसी

ओये झल्लेया अबकी बार तो ये प्रधान मंत्री ने लुटिया ही डुबो देनी है अरे ऐसा कभी होता भला |देख तो पी एम् होते हुए भी मीडिया से लगातर दूर ही रहते हैं एक अमेरिका के प्रेसिडेंट हैं हर हफ्ते मीडिया +जनता के साथ संवाद कायम करते हैं और हसाडे माननीय पी एम् डॉ मन मोहन सिंह अपनी उपलब्धियों को भी जनता तक पहुंचा पाने में असफल हो रहे हैं इससे तो यारा हसाड़ी छवि पर होली के तमाम रंगों में से ओनली काला रंग ही आयेगा |हसाडे माननीय चलकुण्डी के पी सी चाको ने एर्नाकुलम प्रेस के सामने यह दुखड़ा रोया हैअब तो ऊपर वाला ही हसाडा सहाई होवेगा

Jhalla Sablok

Jhalla Sablok


झल्ला

अरे चतुर सूजन जी ऐ तो मैनू पहले से ही मालूम था कि चाको जैसे चाटुकार कांग्रेसी संकट के समय बलि का बकरा जरुर तलाशेंगे अरे भाई सारा काम अगर जनरल को ही करना ही तो चाको जैसे चतुरों को २जी स्पेक्ट्रम घोटाले की जाँच के लिए संसदीय समिति का अध्यक्ष बनाने की क्या जरुरत थी इन्होने तो मीडिया के सामने आ कर सारा गुड गोबर कर दिया|आप जी के ही अजय माकन जैसे धुरंधर भी सोशल मीडिया के प्रभाव को नहीं समझ पाये | यहाँ तक पार्टी की वेबसाईट को भी लगातार अपडेट नहीं कर पाये| वैसे कहा भी गया है कि अपना वजूद बढ़ाने के लिए गरीब को जम कर मारो ” बीट दी वीकर मर्सिलेसली”