Ad

Tag: PunjabAssembly

Punjab Follows Keralite Path,Will Approach Top Court Against CAA

(Chd,Pb) Punjab Follows Keralite Path,Will Approach Top Court Against CAA
Shortly after the Punjab Assembly passed a resolution by voice vote against the controversial Citizenship (Amendment) Act or CAA, Chief Minister Capt Amarinder Singh on Friday said his government like Kerala will approach the Supreme Court on the issue.
He said the Centre will have to make the necessary amendments to the CAA if it has to be implemented in Punjab and other states opposing the legislation.
“Like Kerala, our government will also approach the Supreme Court on the issue,” Singh told reporters in an informal chat outside the state Assembly.
In response to a question, the chief minister made it clear that the Census 2021 will be conducted on the old parameters in Punjab.
The new factors added by the Centre for the purpose of the National Population Register (NPR) will not be included, he added.
The Punjab Assembly passed the resolution by voice vote against the CAA, the second state after Kerala to do so.
Ruling Congress and the main opposition Aam Aadmi Party (AAP) supported the resolution, the BJP opposed it.
The Shiromani Akali Dal (SAD) sought inclusion of Muslims in the list of communities that could be granted citizenship under the amended law.
The CAA provides for granting citizenship to Hindus, Sikhs, Buddhists, Jains, Parsis and Christians, who had migrated to India before December 31, 2014, from Pakistan, Afghanistan and Bangladesh. It excludes members of the Muslim community.

पंजाब विधान सभा में नवजोत सिंह सिद्धू मुर्दाबाद के नारे लगे

[चंडीगढ़,पंजाब] सिद्धू के पाकिस्तान प्रेम के विरोध में विधान सभा में नारे लगे |
पंजाब असेंबली में आज वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने बजट प्रस्तुत किया |उनके भाषण के दौरान शिरोमणि अकाली दल के विधायकों ने जम कर नारे बाजी की
सदन में नवजोत सिंह सिद्धू मुर्दाबाद के नारे लगे और सिद्धू के पाकिस्तानी नेताओं के साथ खींचे गए अनेक फोटो भी लहराए गए |
गौरतलब हे के बीते दिनों पंजाब के कैबिनेट मिनिस्टर नवजोत सिंह सिद्धू ने पुलवामा टेररिस्ट अटैक पर अपनी टिप्पणी देते हुए पाकिस्तान का बचाव किया था| तभी से सिद्धू विपक्षियों के निशाने पर हैं|
अकाली नेता बिक्रम मजीठिया ने सिद्धू पर इस आक्रमण की कमान संभाली|मालूम हो के सिद्धू मजीठिया पर लगातार ड्रग माफिआ के सरंक्षक होने का आरोप लगाते आ रहे हैं|

कैप्टेन ने कहा बहुत हो गया अब मुंह तोड़ जवाब दो :पुलवामा आतंकी हमला

[चंडीगढ़,पंजाब]कैप्टेन ने कहा बहुत हो गया अब मुंह तोड़ जवाब दो :पुलवामा आतंकी हमले पर अपना आक्रोश व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा “यह उन्हें सबक सिखाने का समय है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शांति की बात करते हैं और सेना प्रमुख युद्ध की बात करते हैं।”
कैप्टेन नीत पंजाब विधानसभा ने पुलवामा आतंकी हमले की निंदा की और विधायकों ने सदन में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की और दो मिनट का मौन रखा।
पंजाब विधानसभा ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादी हमले की शुक्रवार को कड़ी निंदा की और पूरे दिन के लिये सदन की कार्यवाही स्थगित करने के लिये एक प्रस्ताव पारित किया। बृहस्पतिवार को हुए हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए हैं।
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने कहा कि अब बहुत हो गया। उन्होंने केंद्र सरकार से पाकिस्तान की इस कायरतापूर्ण हरकत का मुंहतोड़ जवाब देने का आग्रह किया।

कैप्टेन के चक्रव्यूह से निकले तो कांग्रेसियों की गालियां:एसऐडी बनाम कांग्रेस

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

पंजाबी कांग्रेसी चेयर लीडर

औए झल्लेया इन हारे हुए अकालियों ने क्या बखेड़ा खड़ा किया हुआ है |गुरु ग्रन्थ साहब की बेअदबी पर जब विधान सभा में बहस शुरू हुई तो जीजा साले समेत सारे के सारे अकाली भाग खड़े हुए और अब टकसाली नेताओं की शरण में जा पहुंचे हैंऔए ये लोग पैसे लेकर अपने टिकट बेचने के अलावा कुछ नहीं करते | प्रदेश हो या केंद्र के मंत्री पद ,सभी पर अपने परिवार को ही स्थापित कराते हैं
cartoon Congress Cheeyar Leader

झल्ला

मेरे चतुर सुजाना !जिस तरह से आपजिओन ने विधान सभा में अकालियों को घेरने के लिए गालियों और आरोपों की व्यूह रचना की थी उससे बच निकलने के लिए इनके लिए सदन की कार्यवाही अलग से करना जरुरी हो गई थी और उसमे सोने पे होगा लगाया PTCने अब आप लोग बौखला कर सडकों पर भी गालियां देने पर उतर आये

सिद्धू ने फिर मर्यादा लाँघि,पंजाब असेंबली में पीटीसी चैनल के विरुद्ध अपशब्द कहे

[चंडीगढ़,पंजाब]सिद्धू ने फिर मर्यादा लाँघि पंजाब असेंबली में एक टीवी चैनल के विरुद्ध अपशब्द कहे | मानसून सेशन के अंतिम दिन आज गुरु ग्रन्थ साहिब की बेअदबी पर जस्टिस रंजीत सिंह की रिपोर्ट पर चर्चा हुई |कांग्रेस के अनेकों वक्ताओं ने पिछली सरकार के सी एम प्रकाश सिंह बादल और उनके पुत्र सुखबीर सिंह बादल को घेरने का बहरपुर प्रयास किया | बिक्रम जीत सिंह मजीठिया के अनुसार डिफेन्स में बोलने के लिए शिरोमणि अकाली दल को केवल १४ मिनट्स का समय दिया गया |इसी के विरोध में अकाली दल ने सदन की कार्यवाही का बहिष्कार करके भवन में ही अपनी सामांतर कार्यवाही प्रारम्भ की जिसका सीधा प्रसारण पी टी सी द्वारा किया गया जिसे बोखला कर नवजोत सिंह सिद्धू ने इस चैनल को अकाली दल का भौंकने वाला कुत्ता कह डाला और चैनल के विरुद्ध कार्यवाही किये जाने की मांग की

“आप” के धड़ों ने पंजाब विधानसभा में भी नहीं किया एक दूसरे का समर्थन

[चंडीगढ़,पंजाब]”आप” के खैरा और चीमा के धड़ों ने पंजाब विधानसभा में उठाये गए महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी नहीं किया एक दूसरे का समर्थन |इस स्तर में केवल दो दिन ही बुसिनेस होना है जिसमे से “आप” का एक दिन इनके असहयोग में ही निकल गया
आप पार्टी की अंदरूनी लड़ाई अब विधानसभा पहुंच चुकी है
दोनों गुटों ने उनके द्वारा उठाए गए महत्वपूर्ण मुद्दों पर एक दूसरे का समर्थन नहीं किया।
आप के पूर्व नेता प्रतिपक्ष सुखपाल सिंह खैरा के नेतृत्व वाले बागी गुट ने धरोहर महाराजा रणबीर क्लब में बार खोलने की संगरूर जिला प्रशासन की कथित योजना का विरोध किया।
इन्होने शून्यकाल में सदन में अध्यक्ष के आसन के पास जाकर सरकार विरोधी नारे लगाए जबकि दिली समर्थित नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा के नेतृत्व वाले 12 अन्य विधायक अपनी अपनी सीटों पर बैठे रहे।
विधायक एच एस फूलका चीमा गुट के साथ संसदीय कार्य मंत्री ब्रहम महिन्द्रा के एक अनुरोध का विरोध करने के लिए सदन में अध्यक्ष की कुर्सी के पास पहुंचे। इस दौरान फूलका ने बागी गुट से समर्थन का अनुरोध किया लेकिन बागी गुट ने उनका साथ नहीं दिया।
गौरतलब है कि खैरा को जुलाई में विपक्ष के नेता के पद से हटाए जाने के बाद से आप में संकट पैदा हो गया है|खैरा के साथ ९ विधायक बताये जा रहे हैं

मुख्यमंत्री बादल ने धरनारत कांग्रेस विधायकों से विस की कार्यवाही में शामिल होने की अपील की

[चंडीगढ़,पंजाब]मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने धरनारत कांग्रेस विधायकों से विधानसभा की कार्यवाही में शामिल होने की अपील की
पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कांग्रेस के विधायकों से विधानसभा की कार्यवाही में शामिल होने की आज अपील की।
विधानसभा में सदन की कार्यवाही कल से दोबारा शुरू हो रही है।
वयोवृद्ध बादल ने विपक्षी विधायकों से अपना धरना प्रदर्शन खत्म करने का अनुरोध करते हुए कहा,
‘‘ आपको हुई असुविधा से मुझे बेहद पीड़ा है और मैं आपसे इसे खत्म करने का अनुरोध करता हूं।’’
पंजाब कांग्रेस के २६ विधायकों ने सदन में रात गुजारने के बाद भी विधानसभा खाली करने से इनकार कर दिया और वे राज्य सरकार के खिलाफ उनकी पार्टी द्वारा बढ़ाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर बहस कराने की अपनी मांग पर अड़े हैं।गौरतलब हे के अविश्वास प्रस्ताव par ध्वनिमत से गिर जाने के पश्चात् कांग्रेसी विधायकों ने असेंबली परिसर में धरना दिया और लोक तंत्र की हत्या के नारे भी लगाए| मुख्यमंत्री कांग्रेस के विधायकों से मिलने के लिए दोपहर में खुद विधानसभा गए और उनसे विनम्रतापूर्वक अपील की।

“AAP”Eyeing On Punjab Assembly,Step Back From Bypoll Of Khadoor Sahib

[New Delhi,Punjab]”AAP” Step Back From Bypoll Of Khadoor Sahib.The Aam Aadmi Party (AAP) has decided not to contest khadoor sahib bypoll in Punjab even as its former member Bhai Baldeep Singh backed by Swaraj Abhiyan will be in the fray.
Party had earlier contested bypolls for Talwandi Sabo + Patiala Assembly seats, but the party suffered a drubbing.
The party now said it does not want to invest its resources in the bypoll, but will focus on the main battle in 2017.
AAP’s Punjab co-convenor Durgesh Pathak said. “What is the point in fielding a candidate when the main elections are few months away? He Added We are focussing on 2017,”
Incidentally, after its resounding success in Lok Sabha polls in Punjab, which gave four MPs to the party, the AAP had contested bypolls for Talwandi Sabo and Patiala Assembly seats, but the party suffered a drubbing.
AAP had, however, won from Patiala Lok Sabha seat just few months back then.
AAP former member Bhai Baldeep Singh has got the support of Swaraj Abhiyan leaders Yogendra Yadav and Prashant Bhushan, who are formers of the party.
Making it a prestige battle, the SAD is also going out all stops to ensure victory and has fielded Ravinder Singh Brahmpura for the bypoll.

चार राज्यों की विधान सभाओं की १८ तदर्थ रिक्तियों को भरने के लिए २१ अगस्त को होंगे उप चुनाव

चार राज्यों की विधान सभाओं में हुई १८ तदर्थ रिक्तियों को भरने के लिए २१ अगस्त को उपचुनाव होंगे |नामांकन की अंतिम तिथि २ अगस्त है |
बिहार+कर्नाटक+मध्य प्रदेश + पंजाब की राज्य विधानसभाओं में तदर्थ रिक्तियों को भरने के लिए निर्वाचन आयोग दवारा उपचुनाव के कार्यक्रम की घोषणा कर दी गई है।
रिक्तियों का विवरण इस प्रकार है:-
क्र. सं. =======राज्य=============================================विधानसभा क्षेत्र की संख्या और नाम
1]==========बिहार=============================================3 – नरकटियागंज
2]==========================================================37- राजनगर (अजा)
3]========================================================= 87- जले
4]=========================================================118 – छपरा
5]=========================================================123-हाजीपुर
6]=========================================================137 – मोहिउद्दीननगर
7]=========================================================151 – परबत्ता
8]=========================================================156-भागलपुर
9]=========================================================161-बांका
10]========================================================204 मोहानिया (अजा)
11]=======कर्नाटक=============================================02 – चिक्कोडी-सदालगा
12]=========================================================93-बेल्लारी (अजजा)
13]========================================================115 – शिकारीपुरा
14]======मध्य प्रदेश ============================================92- विजयराघवगढ़
15]==========================================================94-बहोरीबंद
16]=========================================================166 – आगार (अजा)
17]======पंजाब================================================94-तलवंडी साबो
18]=========================================================115- पटियाला
निर्वाचन आयोग ने इन रिक्तियों को भरने के लिए निम्नलिखित कार्यक्रम के अनुसार उपचुनाव कराने का फैसला किया है:-
अधिसूचना जारी होने की तिथि – 26.07.2014 (शनिवार)
नामांकन भरने की अंतिम तिथि – 02.08.2014 (शनिवार)
नामांकन-पत्रों की जांच – 04.08.2014 (सोमवार )
उम्मीदवारी वापस लेने की अंतिम तिथि – 06.08.2014 (बुद्धवार)
मतदान की तिथि – 21.08.2014 (वीरवार)
मतगणना – 25.08.2014 (सोमवार)
तिथि जिससे पहले चनाव पूरे हो जाएंगे – 30.08.2014 (शनिवार)