Ad

Tag: PunjabPolitics

भाजपा को पंजाब में कम्बल[एसऐडी]नहीं छोड़ेगा [व्यंग]

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया! पंजाब में हुई हार से हम हताश नहीं हैं |हसाड़े नेतागण नै रणनीति पर जुट गए हैं ||हसाड़े संगठन मंत्री दिनेश कुमार जी ने “खन्ना” में फ़रमाया है के अकालियों की तकड़ी के भूलेकेमें कमल को कम वोट मिले |लोगी हसाड़े “कमल” को ढूँढ़ते ही रह गए|औए इसीलिए हमने घर घर कमल खिलाने की ठान ली है|

झल्ला

चतुर सेठ जी! बेशक आप कम्बल को छोड़ दो लेकिन ये कम्बल आप लोगों को नहीं छोड़ने वाला | अगली बार फिर आपने इन्हें १३ में से दस सीटें दे देनी उनमे से अगर ये दो पर जीते तो और आप लोग तीन पर लड़ कर २ सीटें हासिल करे तो हो जाने हैं बराबर बराबर |

पंजाब में नया छेत्रिय दल जन्मा,केजरी के बागी खैरा ने बनायी”पंजाबी एकता पार्टी”

[चंडीगढ़,पंजाब]पंजाब की राजनीति में नए दल का उदय,आप के बागी खैरा ने बनायी “पंजाबी एकता पार्टी”
आम आदमी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता छोड़ने के दो दिन बाद सुखपाल सिंह खैरा ने आज अपने नये राजनीतिक दल का ऐलान कर दिया ।
‘पार्टी का नाम पंजाबी एकता पार्टी रखा गया है और यह पूरी तरह पंजाब केंद्रित और क्षेत्रीय दल होगा ।’’
इस दौरान आम आदमी पार्टी के छह विधायक –
कंवर सिंह संधू,
जगदेव सिंह कमालु,
जगतार सिंह हिस्सोवाल,
पीरमल सिंह खालसा,
मास्टर बलदेव सिंह और
नाजर सिंह मानशहिया –
मौजूद थे ।
पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता पद से हटाये जाने के बावजूद विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा नहीं दिया है। खैरा 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के टिकट पर कपूरथला जिले के भुलत्थ से चुने गए थे ।
खैरा ने इससे पहले पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल पर हमला बोलते हुए कहा कि उनके‘‘तानाशाही’’ रवैये ने भारतीयों और पंजाबियों के दशकों पुराने सड़े गले प्रणाली के विकल्प के सपने को चकनाचूर कर दिया ।
मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के करीबी रह चुके और दिसंबर 2015 में कांग्रेस छोड़ कर आम आदमी पार्टी में शामिल होने वाले खैरा ने अपना इस्तीफा केजरीवाल को भेजा ।
अपने पत्र में खैरा ने आरोप लगाया कि अन्ना हजारे के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के बाद जिस मकसद से पार्टी का गठन किया गया था, यह उस विचारधारा और सिद्धांत से पूरी तरह भटक गयी है ।
खैरा और पार्टी के एक अन्य बागी विधायक कंवर संधू को पिछले साल नवंबर में पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण निलंबित कर दिया गया था।

सुखबीर बादल ने अजनाला के विरुद्ध नीवांसोगौरां”का प्रदर्शन किया

[चंडीगढ़,जालंधर, अमृतसर]अकाली दल के अध्यक्ष #सुखबीरसिंहबादल ने नए असन्तुष्ट टकसाली रत्न सिंह अजनाला की उग्रता के जवाब में जो “नीवांसोगौरां” के उपदेश का प्रदर्शन किया और वरिष्ठ नेता के विरुद्ध विनम्रता से यह कहते हुए इनकार कर दिया के अजनाला उनके बुजुर्ग हैं और वे[सुखबीर] खुद उनके पास जा सकते हैं|अजनाला सीनियर हैं यदि कहेंगे तो एसऐडी की अध्यक्षता छोड़ने को भी तैयार हैं |गौरतलब हे के कांग्रेसी केबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू शुरू से ही टकसाली नेताओं को बादलों के विरुद्ध उकसा रहे हैं
और चीफ मिनिस्टर कैप्टेन अमरिंदर सिंह एस जी पी सी से बादलों के वर्चस्व को खत्म करने की मुहीम छेड़े हुए हैं| सम्भवत इसीलिए
टकसाली अकाली रत्न सिंह अजनाला के भी बादल परिवार के खिलाफ सुर बुलंद होने लगे हैं
इसके एक दिन पश्चात् स्थिति को संभालने के प्रयास में शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने धार्मिक स्थल से पत्रकारों के समक्ष कहा के अजनाला उन परिवार के बजुर्ग सदस्य हैं अगर कहेंगे तो वह अपनी प्रधानी छोड़ने को भी तैयार हैं |सुखदेव सिंह ढींडसा+रंजीत सिंह ब्रह्मपुरा भी बादलों का साथ छोड़ चुके हैं बादल ने इस नाराजगी को दूर करने के लिए शीघ्र टकसाली नेताओं से बातचीत करने के भी संकेत दिए
बीते दिन टकसाली अजनाला ने बादल पर परिवारवाद बढ़ाने के आरोप लगते हुए कहा था के वर्करों के बजाय राज्य और केंद्र में पुत्र +पुत्रवधु को ही मंत्री पद दिए गए |इसे लेकर उन्होंने माझा+मालवा+दोआबा में अकाली बचाओ मुहीम छेड़ने की चेतावनी दी है

“आप”ने “खैरा”को खुड्डेलेंन लगाने के लिए दलित”चीमा”की गुड्डी चढ़ाई

[चंडीगढ़,पंजाब] “आप” ने अपने “खैरा” को खुड्डेलेंन लगाने के लिए दिर्बा के दलित विधायक हरपाल सिंह चीमा की गुड्डी चढ़ाई|
चीमा दलित नेता है |
“आप” पार्टी की पंजाब की सियासत में उठापठक लगातार जारी है | अब आप पार्टी ने पार्टी विधायक दल के नेता सुखपाल सिंह खैरा को पार्टी विधायक दल पद से हटा कर नेता प्रतिपक्ष का पद भी छीन लिया| दिल्ली में उप मुख्यमंत्री पार्टी के ठाकुर मनीष सिसोदिया ने ट्वीट करके यह बताया है |ठाकुर सिसोदिया पंजाब प्रदेश प्रभारी भी हैं | एक अन्य ट्वीट में ठाकुर सिसोदिया ने हरपाल सिंह चीमा को बढ़ाए देते हुए उन्हें होनहार दलित नेता के रूप में प्रस्तुत किया है |
AAP has decided to change its leader of opposition in Punjab. Sh HarPal Singh Cheema, MLA Dirba constituency shall be leader of opposition in Punjab Assembly.

वरिष्ठ ‘बादल’ “अमरिंदर” पर गडग़ड़ाये और बरसे :कांग्रेसियों के इस्तीफे को ड्रामा बताया

[चंडीगढ़ ,पंजाब ] वरिष्ठ ‘बादल’ “अमरिंदर” पर गडग़ड़ाये और बरसे :कांग्रेस के इस्तीफे को ड्रामा बताया |
पंजाब के मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कांग्रेस के पंजाब अध्यक्ष कप्तान अमरिंदर के कांग्रेसी विधायकों के इस्तीफे को ड्रामा बता कर कांग्रेस का मजाक उड़ाया|
बादल ने कहा के यह इस्तीफे का ड्रामा है वरना दो महीनों के पश्चात् प्रदेश में चुनाव होने हैं क्या कांग्रेस उन चुनावों में भी भाग नहीं लेगी इसीलिए यह सब ड्रामा है
एस वाई एल केनाल पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के विरोध में आज कप्तान अमरिंदर ने लोक सभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया जबकि कांग्रेस के विधायकों ने असेम्बली से इस्तीफा दिया है |सुप्रीम कोर्ट ने सतलुज यमुना केनाल लिंक पर पंजाब सरकार के निर्णय को अमान्य बता दिया है |गौरतलब हे के पंजाब सरकार ने एस वाई एल केनाल के समझौते को निरस्त कर दिया था जिसके अंतर्गत भाखड़ा से हरियाणा को पानी दिया जाना था

आप”के”खोजी”नेता आशीष खेतान के खिलाफ “गुरु ग्रन्थ साहब”की बेअदबी का मामला दर्ज

[अमृतसर,पंजाब]”आप” पार्टी के “खोजी” नेता आशीष खेतान के खिलाफ पंजाब में धार्मिक भावनाएं भड़काने का मामला दर्ज|खेतान ने पार्टी के चुनावी घोषणा पत्र की तुलना धार्मिक ग्रंथों से की थी
पुलिस ने आप नेता आशीष खेतान के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को कथित तौर पर ठेस पहुंचाने के आरोप में एक मामला दर्ज किया है।
खेतान के खिलाफ यह मामला पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी द्वारा युवाओं के लिए अपने घोषणापत्र को जारी करने के दौरान इसे धार्मिक पुस्तकों के समकक्ष बताने के लिए माफी मांगे जाने के एक दिन बाद दर्ज किया गया।
अमृतसर के सिविल लाइन्स पुलिस थाने में बीती रात खेतान के खिलाफ आई पी सी की धारा 295 ए :के तहत एक मामला दर्ज किया गया है।यह धारा किसी वर्ग के धर्म या धार्मिक आस्थाओं का अपमान कर उसकी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के इरादे से जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कृत्यों को अंजाम देने पर लगाईं जाती है
पुलिस आयुक्त :अमृतसर: अमर सिंह चहल के अनुसार यह मामला अखिल भारतीय सिख छात्र संघ [एआईएसएसएफ]के अध्यक्ष करनैल सिंह पीर मोहम्मद की शिकायत पर कल दर्ज किया गया।
शिकायत के अनुसार, आप नेता ने अपने ‘युवाओं के लिए घोषणापत्र’ को अमृतसर में जारी करते समय इसे ‘गुरूग्रंथ साहिब’ तथा अन्य धार्मिक पुस्तकों के समकक्ष बता कर लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई है।
फाइल फोटो

,

छिंदवाडिया कमलनाथ की पंजाब में नियुक्ति पर भड़के सत्तारूढ़ एसऐडी और “आप”

[चंडीगढ़,पंजाब] छिंदवाडिया कमलनाथ की पंजाब में नियुक्ति पर भड़के सत्तारूढ़ एसऐडी और “आप”
सी एम बादल ने इसे सिखों का घोर अपमान बताया |
आम आदमी पार्टी[आप] और शिरोमणि अकाली दल[एसऐडी] ने कांग्रेस नेता कमलनाथ को पंजाब में पार्टी का प्रभारी महासचिव बनाये जाने पर निशाना साधा और मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने इसे ‘सिखों का घोर अपमान’ करार दिया।
वयोवृद्ध बादल ने कहा, ‘‘यह सिखों के प्रति संवेदनहीनता की अविश्वसनीय शर्मनाक हरकत है और नवंबर 1984 में कांग्रेस के गुंडों द्वारा हजारों बेगुनाह सिख बच्चों, पुरषों और महिलाओं के नरसंहार के दोषियों को लेकर राष्ट्रीय राय का मूखर्तापूर्ण और अशिष्ट अपमान है।
मैं विश्वास नहीं कर सकता कि कोई राजनीतिक दल सिखों की भावनाओं के प्रति इतना संवेदनहीन हो सकता है।’’
उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस बात से हैरान हूं कि कांग्रेस आलाकमान सिखों के जख्मों पर नमक छिड़कने की इस हद तक जा रहा है और वहीं उसी समय अपने पापों को लेकर प्रधानमंत्री के स्तर पर पछतावा दिखाने का नाटक कर रहा है।
क्या ये वास्तविक पछतावे के संकेत हैं या पुराने जख्मों को कुरेदा जा रहा है।’’
कांग्रेस पर निशाना साधते हुए 1984 के दंगा पीड़ितों के वकील और आप नेता एच एस फुलका ने कहा कि कमलनाथ को पंजाब का कांग्रेस प्रभारी बनाकर पार्टी ने पीड़ितों के जख्मों पर नमक रगड़ने का काम किया है।
उन्होंने कहा, ‘‘दो नवंबर, 1984 को एक राष्ट्रीय अखबार ने खबर प्रकाशित की थी कि रकाबगंज साहिब पर हमला करने वाली भीड़ की अगुवाई कमलनाथ कर रहे थे। तीन नवंबर को एक और राष्ट्रीय अखबार ने भी यही खबर छापी।’’ फुलका ने कहा कि कांग्रेस ने कमलनाथ की नियुक्ति के माध्यम से संकेत दिया है कि पार्टी को पीड़ितों की भावनाओं की कोई चिंता नहीं है।
उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस केवल धनबल और बाहुबल वाले लोगों की फिक्र करती है।’

स्वराज अभियान ने पंजाब की ‘स्वराज पार्टी’ से किनारा तो किया,शुभकामनाएं भी दी

[चंडीगढ़,दिल्ली] स्वराज अभियान ने पंजाब में ‘स्वराज पार्टी’ से किनारा किया लेकिन वैकल्पिक व्यवस्था के लिए शुभकामनाएं भी दे डाली
पंजाब में “स्वराज पार्टी” नाम के पार्टी के गठन पर स्वराज अभियान का बयान जारी किया है
जिसमे कहा गया है के पंजाब में स्वराज पार्टी गठन उनकी पार्टी “स्वराज की और से नहीं हुआ है |
ब्यान में कहा गया है के पंजाब में ‘स्वराज पार्टी’ की घोषणा के बाद स्वराज अभियान के साथ इसके सम्बन्ध पर सवाल उठ रहे हैं।
हम यह साफ़ कर देना चाहते हैं कि यह पहल स्वराज अभियान की ओर से नहीं है। हालाँकि इस पहल से जुड़े कई साथी स्वराज अभियान की पंजाब यूनिट से हैं, लेकिन पार्टी बनाने के इस निर्णय में स्वराज अभियान द्वारा तय किए गए मापदंडों को ध्यान में नहीं रखा गया है।
हमने शुरुआत से वैकल्पिक राजनीति को खड़ा करने की अपनी प्रतिबद्धता पर जोर दिया है। हमने पार्टी बनाने के निर्णय से पहले संगठन के लिए पारदर्शिता, जवाबदेही और आतंरिक लोकतंत्र के कुछ मापदंड तय किये थे।
स्वराज अभियान के राष्ट्रीय सञ्चालन समिति की दूसरी बैठक में इस आशय का प्रस्ताव पास हुआ था।
स्वराज अभियान ने आतंरिक संगठनात्मक चुनाव के लिए समय सारिणी की घोषणा भी कर दी है और यह लोकतान्त्रिक प्रक्रिया चल रही है।
चूँकि पंजाब के साथियों द्वारा लिया गया यह निर्णय इस प्रक्रिया के आधार पर नहीं हुआ है हम इसे अपनाने में असमर्थ हैं और इसे अपना समर्थन नहीं दे सकते।
लेकिन पंजाब में अकाली-बीजेपी के कुशासन से निजात के लिए वैकल्पिक राजनीति की बहुत जरुरत है। कांग्रेस और आप ये साबित कर चुके हैं कि एक सच्चा विकल्प देने में वो असमर्थ हैं। हम स्वराज पार्टी को शुभकामना देते हैं। पंजाब में सच्चे राजनीतिक विकल्प देने वाले सभी संगठनों के साथ हम बिरादरी का सम्बन्ध बनाये रखने के इच्छुक हैं
फाइल फोटो

AAP Constitutes 3 Member Central Panel for Punjab

[Chandigarh,Punjab]AAP Constitutes 3 Member Central Panel for Punjab
Aam Aadmi Party (AAP) has decided to constitute a central panel for Punjab which would take final decision on inducting any one into the party fold at any level in the state.
This central panel would be the final decision making body on the issue of anyone joining the party in Punjab.
“The central panel include national organizational secretary
Durgesh Pathak,
Sangrur MP Bahgwant Mann and
Punjab convener Sucha Singh Chhotepur,”

भाजपा ने पंजाब की कमान कमल शर्मा से लेकर केंद्रीय मंत्री विजय सांपला को सौंपी

[नयी दिल्ली]भाजपा ने पंजाब इकाई की कमान कमल शर्मा से लेकर केंद्रीय मंत्री विजय सांपला को सौंपी
केंद्रीय मंत्री और पंजाब से भाजपा के दलित चेहरे विजय सांपला आज पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष नियुक्त किए गए हैं ।
पंजाब में अगले साल प्रारंभ में विधानसभा चुनाव हैं और राज्य में 32 फीसदी दलित वोट हैं। ऐसे में भाजपा ने दलित वोटों को अपने पक्ष में करने के लिए 55 वर्षीय सांपला पर भरोसा किया है जो बिल्कुल सामान्य पृष्ठभूमि से आते हैं और वर्षों से अपनी मेहनत से पार्टी में आगे बढ़े हैं।
राज्य में आम आदमी पार्टी [आप]के एक मजबूत ताकत के रूप में उभरने और शिअद.भाजपा सरकार के सत्ता विरोधी लहर से जूझने के मद्देनजर पार्टी नेता को विश्वास है कि उनकी नियुक्ति चुनाव में उसे मदद पहुंचाएगी।