Ad

Tag: RahulGandhi

जलियांवाला हत्याकांड शताब्दी वर्ष में भी भारत 1 मंच साझा नहीं कर सका :नमन

[अमृतसर,दिल्ली] #शहीदोंकोनमन
जलियांवाला हत्याकांड शताब्दी वर्ष में भारत 1 मंच साझा नहीं कर सका
पंजाब के सीएम के अमरिंदर सिंह की आगवानी में कांग्रेसाध्यक्ष राहुलगांधी ने पुष्पचक्र चढ़ाए लेकिन भाजपा नीत केंद्रीय प्रतिनिधित्व अनुपस्थित रहा|
भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैय्या नायडू ने शताब्दी की स्मृति में स्मारक सिक्का+ टिकट जारी किया तो प्रदेश के सीएम नदारद रहे
आम आमदी पार्टी [आप] और एसएडी एक दुसरे पर आरोप प्रत्यारोपों में सीमित रहे |
गौरतलब हे के ब्रिटेन के 80 सांसदों ने ब्रिटिश सरकार से इस नृशंस हत्याकांड पर माफी मांगने को कहा हैं लेकिन भारत से मृतकों को शहीद का दर्जा देने को फुसफुसाहट भी सुनाई नही देरही|
जो अंग्रेज किसीको गलती से छू जाने पर भी सॉरी कह कर निकल जाते हैं उन्ही का न्रेतत्व इतने बढे हत्याकांड पर खेद तो प्रगट कर रहा है लेकिन सॉरी कहने को तैयार नहीं |इसके पीछे उनकी अपनी विवशता हो सकती हैलेकिन भारत के राजनितिक दल अपने किस फायदे के लिए इस तरफ केवल औपचारिकता को ही पूर्ण करने तक ही सिमित है जोकि जांच का विषय हो सकता है|
अमृतसर के जलियांवाला बाग में बैसाखी के दौरान 13 अप्रैल 1919 को यह नरसंहार हुआ था जब ब्रिटिश भारतीय फौज के सैनिकों ने कर्नल रे डायर की कमान में वहां स्वतंत्रता की मांग के लिए जुटे निहत्थे लोगों पर गोलियां चलवा दी थी। इस जनसंहार में सैंकड़ों लोग मारे गए थे जबकि कई घायल हो गए थे।
उप-राष्ट्रपति नायडू ने शनिवार को जलियांवाला बाग में स्मारक पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की और सिख ग्रंथियों द्वारा गाए जा रहे शबद सुने। इस कांड के 100 साल पूरे होने के अवसर पर उन्होंने एक स्मृति सिक्का और एक डाक टिकट भी जारी किया।
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, “आज, जब भयावह जलियांवाला बाग नरसंहार के 100 साल पूरे हो रहे हैं, भारत सभी शहीदों को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता है…उनकी बहादुरी और बलिदान को कभी भूला नहीं जाएगा। उनकी स्मृति हमें एक ऐसे भारत के निर्माण के लिये और पुरजोर तरीके से प्रेरित करती है, जिस पर उन्हें गर्व हो।”
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जलियांवाला बाग नरसंहार के 100 वर्ष पूरे होने के मौके पर जलियांवाला बाग स्मारक स्थल पर श्रद्धांजलि अर्पित की और कहा कि स्वतंत्रता की जो कीमत चुकाई गई है उसे भुलाया नहीं जाना चाहिए।
राहुल के साथ पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ,सुनील जाखड़ सहित कांग्रेस के अन्य नेता भी मौजूद थे।
कांग्रेस अध्यक्ष ने यहां आगंतुक पुस्तिका में लिखा, ‘‘आजादी की कीमत को कभी भुलाया नहीं जाना चाहिए। हम भारत के लोगों को सलाम करते हैं जिन्होंने आजादी के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया।’’
भारत में ब्रिटेन के उच्चायुक्त डोमिनिक एस्क्विथ भी अलग से शनिवार को जलियांवाला बाग स्मारक स्थल गए।
उन्होंने आगंतुक पुस्तिका में लिखा, ‘‘आज से 100 साल पहले की जलियांवाला बाग घटना ब्रिटिश भारतीय इतिहास की एक शर्मनाक घटना है। जो कुछ भी हुआ और उससे उपजी पीड़ा से हमें बेहद दुख है।’’
बाद में पत्रकारों से बातचीत में डोमिनिक ने कहा कि ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरेसा मे ने बुधवार को जलियांवाला बाग कांड को ब्रिटिश भारतीय इतिहास पर ‘‘शर्मनाक धब्बा’’ करार दिया।
हालांकि, टेरेसा मे ने इस घटना पर माफी नहीं मांगी। उन्होंने सिर्फ खेद प्रकट किया था।
यह पूछे जाने पर कि ब्रिटिश सरकार ने माफी क्यों नहीं मांगी, इस पर डोमिनिक ने कहा, ‘‘मैं जानता हूं कि यह वाकई एक अहम सवाल है। मैं आपसे सिर्फ इतना कहूंगा कि मैं यहां जो करने आया हूं उसका सम्मान करें, यह उन्हें याद करना है जिन्होंने 100 साल पहले अपनी जान गंवाई। और यह ब्रिटिश सरकार एवं ब्रिटिश जनता का दुख व्यक्त करने के लिए है।’’

राहुल का न्यूनतम आय रु ७२हजार प्रति वर्ष का लोकलुभावन आश्वासन: मनरेगा पार्ट २

[नई दिल्ली]राहुल ने न्यूनतम आय रु ७२००० प्रति वर्ष का लोक लुभावन आश्वासन दिया
राहुलगांधी ने अपने पारिवारिक चुनावी दावे ,गरीबी मिटाओ, को अमली जामा पहनाने के लिए 72000 ₹ की चुनावी पॉपुलर #सब्सिडी का वायदा किया |उन्होंने इसे #मनरेगा पार्ट 2 बताया लेकिन मनरेगा में काम करके पैसा मिला मगर यहां बिना काम किये निश्चित दाम का आश्वासन है |
राहुल गाँधी ने आज की प्रेस कांफ्रेंस में बताया के लोक सभा का चुनाव जीतने पर उनकी सरकार प्रत्येक वर्ष २०% गरीबों की आय को रु ७२००० प्रति वर्ष कर देगी|जिस गरीब की आमदनी ७२००० रु से कम होगी शेष राशि उसके बैंक खाते में जमा करवा दी जाएगी |इस योजना को उन्होंने न्यूनतम आय योजना का नाम दिया|
फाइल फोटो

भाजपा ने राहुल गाँधी के खिलाफ भ्र्ष्टाचार के पुराने मामले खोलने शुरू किये

[नई दिल्ली] भाजपा ने राहुल के खिलाफ भ्र्ष्टाचार के पुराने मामले खोलने शुरू किये
बीते दिन जो मुद्दे रवि शंकर प्रसाद ने उठाये थे आज प्रवक्ता संबित पात्रा ने उन्हें आगे बढ़ाते हुए राहुल गाँधी को लैंड स्कैम्स में मुख्य लाभार्थी बताया |उन्होंने आरोप लगाया के रोबर्ट वाड्रा की आड़ में राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी ने यह खेल खेला है| संबित पात्रा ने पुछा के वर्ष २००४ में राहुल गाँधी ने अपनी सम्पत्ति रु ५५ लाख बताई थी लेकिन २०१४ में यह सम्पत्ति ९ करोड़ में कैसे बढ़ गई|अपने इस आरोप के समर्थन में प्रवक्ता ने महरौली के फ़ार्म हाउस का उद्धारहण भी दिया |उन्होंने बताया के ५ एकड़ की इंद्रा फार्म हाउस नामक इस सम्पत्ति के माध्यम से प्राप्त काळा धन को सफ़ेद करने का प्रयास किया गया |इस इंद्रा फार्म हाउस के मालिकाना हक़ गाँधी परिवार का बताते हुए संबित पात्रा ने इसे दागी कंपनी फाइनेंशियल टेक्नोलॉजी इंडिया लिमिटेड[एफ टी आई एल ] से भी जोड़ते हुएचेतावनी दी के अगर उनके यह तथ्य गलत हैं तो गाँधी परिवार उन पर मान हानि का केस दर्ज कर सकते हैं|
गौरतलब हे के ये मामले वर्ष २०१० में इंडियन एक्सप्रेस में छप चुके हैं |

राहुल अमेठी बचाने औरअजित अपनी चौधराहट कब्जाने को मैदान में उतरेंगे

[नयी दिल्ली]राहुल अमेठी बचाने और अजित अपने गढ़ को कब्जाने को मैदान मैं उतरेंगे
कांग्रेस के मजबूत गढ़ अमेठी से एक बार फिर राहुल बनाम स्मृति ईरानी में रोचक मुकाबिला होने की उम्मीद हैं
भाजपा ने अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को चुनाव मैदान में उतारा है जिससे इस सीट पर दिलचस्प मुकाबला देखने को मिल सकता है।
तो ऐसी ही रोचकता मुजफ्फरनगर में लोकसभा सीट पर भी देखने को मिल सकती है
यहाँ भाजपा ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री संजीव बालियान को सपा-बसपा-रालोद गठबंधन के उम्मीदवार अजीत सिंह के खिलाफ चुनाव मैदान में उतारा है। सिंह रालोद के प्रमुख हैं और पूर्व प्रधान मंत्री स्वर्गीय चौधरी चरण सिंह के वारिस हैं |
भाजपा ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की, जिसमें अमेठी से स्मृति ईरानी को ही टिकट दिया गया है।
श्रीमती ईरानी 2014 के लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी से हार गई थी लेकिन इनके बीच दिलचस्प मुकाबला देखने को मिला था।
वर्ष 2014 में गांधी को 4,08,651 वोट मिले थे और
श्रीमती ईरानी को 3,00,748 मत हासिल हुए थे।
smriti clean india इस तरह ईरानी को 1,07,903 वोटों से हार का सामना करना पड़ा थालेकिन पराजय के पश्चात् भी उन्होंने अमेठी में आना जाना और विकास कार्य जारी रखे |अब ये प्रयास वोटों को खींच पाएंगे ये चुनावों के नतीजे ही बताएँगे
उधर चौधरी अजित सिंह मोदी लहर में प्रदेश में अपनी चौधराहट बचाने में नाकामयाब रहे जिसके फलस्वरूप उन्हने दिल्ली आवास भी छोड़ना पढ़ा |इसके पश्चात् चौधरी अजित के पुत्र जयंत चौधरी ने कमान संभाली और मथुरा से हारने के पश्चात् भी अपने पारम्परिक वोट बैंक को साधने में जुट गए
सूत्रों की माने तो उन्होंने जाट लैंड में सहानुभूति प्राप्त करने में सफलता प्राप्त की हैं| इस उपलब्धि को वोटों में कितना तब्दील कर पाएंगे ये तो नतीजे ही बताएँगे लेकिन वर्तमान सांसद और मंत्री बालियान [जाट] और अजित सिंह में रोचक मुकाबिले की उम्मीद तो है
फाइल फोटो

मोदी भापे! न्यूनतम आय वाला पेपर आउट हो गया ,राहुल ने सॉल्व भी करा लिया

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चीयर लीडर

औए झल्लेया !ये राहुल गाँधी ने क्या नया जुमला छोड़ दिया ? औए राजस्थान+मध्य प्रदेश+छतीससगढ़ में किसानों का कर्जा तो माफ़ करा नहीं पाए अब सबको न्यूनतम आय की गारंटी दे रहे हैं |औए इस योजना के लिए एक लाख करोड़ रु आएंगे कहा से?

झल्ला

मेरे चतुर सेठ जी १ मैंने तो सुना है के आप लोग भी बजट में यश जुमला छोड़ने वाले थे | अबतो पेपर आउट हो गया | और राहुल गाँधी ने पासिंग मार्क्स वाला महत्वपूर्ण प्रश्न को सॉल्व भी करा लिया | अब ढूंढते रहो पेपर लीक गैंग+पेपर सॉल्वर गैंग नहीं तो बजट पेपर को दोबारा तैयार करवा लो

राहुल ने सत्ता में आने पर गरीबों को न्यूनतम आय की गारंटी दी

[रायपुर]राहुल ने सत्ता में आने पर गरीबों को न्यूनतम आय की गारंटी दी
राहुल गाँधी ने सत्ता में आने पर गरीबों को न्यूनतम आय की गारंटी दी |किसान आभार सम्मलेन को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी ने न्यूनतम आय की गारंटी के अंतर्गत लाभार्थी के बैंक खाते में पैसे डालने का भी आश्वासन दिया| श्री गांधी ने दावा किया के अभी तक विश्व भर में किसी भी देश ने यह गारंटी प्रदान नहीं की है |भारत में यह प्रथम बार शुरू की जाएगी|उन्होंने कहा के प्रतिमाह एक निश्चित धन राशि लाभार्थी के बैंक खाते में सीधे पहुंचाई जाएगी |

गीता मेहता ने चरित्रहींन राजनीती को उत्तर देते हुए पद्मश्री लेने से इनकार किया

[भुवनेश्वर,दिल्ली]प्रख्यात गीता मेहता ने पद्मश्री लेने से इनकार किया:७६ वर्षीय गीता नवीन पटनायक की बहन हैं और फिलहाल न्यूयॉर्क में हैं|चरित्र हींन राजनीती में इस इंकार से सकारात्मक सन्देश सराहनीय है\गौरतलब हे के बीते दिन कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गाँधी ने नवीन पटनायक पर निशाना साधते हुए पटनायक और भाजपा में सांठगांठ के आरोप लगाए थे | गीता ने सम्भवत उन आरोपों का उत्तर देते हुए यह अवार्ड ही लेने से मना कर दिया|
प्रख्यात लेखिका गीता मेहता ने यह कहते हुए पद्मश्री सम्मान लेने से इनकार कर दिया कि इस वर्ष बड़े चुनाव होने हैं और उनके पुरस्कार लेने का गलत अर्थ लगाया जा सकता है।
मेहता ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की बहन हैं। उन्हें साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने के लिए पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की गई है।
न्यूयार्क से उन्होंने एक बयान जारी कर कहा, ‘‘मैं इस बात से बेहद सम्मानित महसूस कर रही हूं कि भारत सरकार मुझे पद्मश्री के योग्य समझ रही है। लेकिन बड़े खेद के साथ मैं ऐसा महसूस कर रही हूं कि मुझे इसे लेने से इनकार कर देना चाहिए, क्योंकि आम चुनाव होने वाले हैं और पुरस्कार देने की घोषणा का वक्त गलत संदेश दे सकता है जिससे सरकार और मुझे असहज स्थिति का सामना करना पड़ सकता है। ऐसा होने पर मुझे ज्यादा पछतावा होगा।’’
‘कर्म कोला’, ‘ए रिवर सूत्र’ ‘स्नेक्स एडं लैडर्स: ग्लिम्सेज ऑफ मॉर्डन इंडिया’ आदि गीता की प्रमुख पुस्तकों में शामिल हैं। साथ ही 76 वर्षीय गीता ने 14 वृत्तचित्रों का निर्माण या निर्देशन भी किया है।

कांग्रेस ,दागी आलोक वर्मा को सीबीआई से हटाने के बहुमत के फैसले के खिलाफ

[नयी दिल्ली] कांग्रेस दागी आलोक वर्मा को सीबीआई प्रमुख के पद से हटाने के फैसले के खिलाफ
सी आई एस एफ से सी बी आई में लाये गए अलोक वर्मा को अग्नि शमन विभाग में भेज दिया गया है| वर्मा पर भ्र्ष्टाचार के गंभीर आरोप बताये जा रहे हैं जिनकी जांच जारी है|
एक तरफ कांग्रेस अध्यक्ष अपनी जन सभाओं और संसद में लगातार स्वयं को करप्शन के खिलाफ यौद्धा के रूप में प्रस्तुत करने में लगे हैं लेकिन दूसरी तरफ अलोक वर्मा जैसे दागी अधिकारियों को बचाने में भी लगे हुए है| कांग्रेस द्वारा बार बार राफेल के साथ अलोक वर्मा का नाम जोड़ा जा रहा है|राहुल गाँधी के अनुसार अलोक वर्मा राफेल की जांच करना चाहते थे, इसीलिए उन्हें सीबीआई से बाहर किया गया लेकिन दुसरे पक्ष के अनुसार वर्मा के अधीनस्थ अस्थाना द्वारा वर्मा पर करप्शन के गंभीर आरोप लगाए गए हैं और उनकी जांच चल रही है जांच प्रभावित न हो इसीलिए इसीलिए वर्मा को भी जबरन छुट्टी पर भेजा गया था लेकिन वर्मा सुप्रीम कोर्ट के मार्ग से निदेशक पद पुनः प्राप्त करने में सफल हो गए |पद पर पहुँचते ही आनन् फानन में ट्रांसफर करने शुरू कर दिए| नवीनतम घटना अकरम के अनुसार सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर तीन सदस्यीय सलेक्ट कमिटी ने बहुमत के आधार पर अलोक वर्मा को सी बी आई के लायक नहीं समझा और उन्हने अग्नि शमन विभाग में भेज दिया|
आलोक वर्मा के भविष्य पर विचार करने के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई उच्चाधिकार प्राप्त सलेक्ट कमिटी की बैठक में लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने सीबीआई निदेशक को पद से हटाने के कदम का विरोध किया।
सलेक्ट कमिटी ने वर्मा को पद से हटाने का फैसला किया है। दो दिन पहले ही उच्चतम न्यायालय ने वर्मा को इस पद पर बहाल किया था।
सूत्रों के अनुसार बैठक के दौरान समिति के सदस्य खड़गे ने कहा कि वर्मा को दंडित नहीं किया जाना चाहिये और उनका कार्यकाल 77 दिन के लिये बढ़ाया जाना चाहिये। इस अवधि के लिये वर्मा को छुट्टी पर भेज दिया गया था।
यह दूसरा मौका है जब खड़गे ने वर्मा को पद से हटाने पर आपत्ति जताई।
तीन सदस्यीय समिति में प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई के प्रतिनिधि के तौर पर न्यायमूर्ति ए के सीकरी भी शामिल थे।
सूत्रों के अनुसार बैठक के दौरान न्यायमूर्ति सीकरी ने कहा कि वर्मा के खिलाफ कुछ आरोप हैं, इसपर खड़गे ने कहा, ‘‘आरोप कहां हैं।’’
कांग्रेस ने अपने ट्विटर हैंडल से किये गए ट्वीट में कहा, ‘‘आलोक वर्मा को उनका पक्ष रखने का मौका दिये बिना पद से हटाकर प्रधानमंत्री मोदी ने एकबार फिर दिखा दिया है कि वह जांच–चाहे वह स्वतंत्र सीबीआई निदेशक से हो या संसद या जेपीसी के जरिये– को लेकर काफी भयभीत हैं।’’
वर्मा को भ्रष्टाचार और कर्तव्य निर्वहन में लापरवाही के आरोप में पद से हटाया गया। इसके साथ ही एजेंसी के इतिहास में इस तरह की कार्रवाई का सामना करने वाले वह सीबीआई के पहले प्रमुख बन गए हैं।

राहुल ने राफेल के बाद अब रोजगार पर शुरू की रार

[नयी दिल्ली]राहुल ने राफेल के बाद अब रोजगार पर शुरू की रार
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में एक करोड़ से अधिक नौकरियों के खत्म होने संबंधी एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है और कहा है कि हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा करने वाले मोदी अब ‘राग जुमला’ अलाप रहे हैं।
गांधी ने फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘‘ ब्रेकिंग! 2018 में 1 करोड़ 10 लाख नौकरियां खत्म हो गईं। हर साल 2 करोड़ युवाओं को रोजगार का वादा करने वाले प्रधानमंत्री आज भी ‘राग जुमला’ अलाप रहे हैं।’’ उन्होंने दावा किया, ‘‘मोदी जी ने अनिल अंबानी को चोरी करवाने के बजाय अगर देश के लिए काम किया होता तो युवाओं का भविष्य इतना असुरक्षित नहीं होता।’’
गौरतलब है कि गांधी राफेल विमान सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उद्योगपति अनिल अंबानी पर लगातार हमले कर रहे हैं।
अंबानी के समूह ने गांधी और कांग्रेस के आरोपों को खारिज किया है।
फाइल फोटो

राहुल ने कादर खान के निधन पर दुख जताया

[नयी दिल्ली]राहुल ने कादर खान के निधन पर दुख जताया
अफगानिस्तान में जन्मे ,भारतीय सिनेमा में पहचान बनाने वाले खान का बीती रात कनाडा में इन्तेकाल होगया
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘मुझे जानेमाने अभिनेता कादर खान जी के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ। मैं उनके परिवार, मित्रों और दुनिया भर में मौजूद प्रशंसकों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करता हूं।’
वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे और पिछले कुछ समय से कनाडा के एक अस्‍पताल में भर्ती थे।
कुछ दिनों पहले कादर खान की मौत की झूठी खबर भी आई, जिसका उनके बेटे ने खंडन किया था।