Ad

Tag: Refugees

हरियाणा गुत्थी सुलझाते हुए भाजपा ने अपने कट्टर विश्वस्त मनोहरलाल खट्टर को अपना पहला सीएम चुना

[चंडीगढ़]हरियाणा के सीएम की गुत्थी सुलझाते हुए भाजपा ने कट्टर विश्वस्त मनोहर लाल खट्टर [६०]को प्रदेश की कमान सौंपी | पंजाबी समुदाय के खट्टर को 40 सालों से आर एस एस के प्रचारक और अनुशासित +अनुभवी+अविवादित प्रशासक के रूप में जाना जाता है |श्री खट्टर 26 अक्टूबर को पद की शपथ ग्रहण करेंगे| मई 1954 को रोहतक की महम तहसील के निगाना गावं में जन्मे श्री मनोहर लाल के पिता श्री हरबंस लाल खट्टर १९४७ में पाकिस्तान से माइग्रेट करके शरणार्थी के रूप में भारत आये थे |किसान और व्यापारी परिवार से सम्बंधित श्री मनोहर लाल दिल्ली यूनिवर्सिटी से स्नातक हैं
भाजपा ने हरियाणा के चीफ मिनिस्टर की गुत्थी सुलझाते हुए पार्टी और आर एस एस के कट्टर विश्वस्त मनोहर लाल खट्टर को प्रदेश की कमान सौंपने की घोषणा कर दी है | श्री खट्टर ने प्रदेश में भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन और चौतरफा विकास का वायदा किया है |
हरियाणा के भावी मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने आज यह वादा किया है कि श्री खट्टर स्वच्छ एवं भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन देंगे और राज्य का चौतरफा विकास करेंगे।
भावी सी एम श्री खट्टर ने राज्य में सरकार बनाने के लिए भाजपा को जनादेश देने की खातिर मतदाताओं का धन्यवाद भी किया।
हरियाणा में पहली बार सरकार बनाने को तैयार भाजपा ने मनोहर लाल खट्टर को विधायक दल का नेता चुन लिया गया है और केंद्रीय पर्यवेक्षक वेंकैया नायडू और दिनेश शर्मा की उपस्थिति में सभी विधायकों ने सहमति जता दी है।
श्री खट्टर हरियाणा के नए मुख्यमंत्री होंगे। इसका फैसला आज चंडीगढ़ में बीजेपी के विधायकों की बैठक में हुआ। हरियाणा के मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में मनोहर लाल खट्टर का नाम सबसे ऊपर था। इसके साथ ही मुख्यमंत्री पद के दावेदारों में ओ पी धनकड़++राम विलास शर्मा+अनिल विज+कैप्टन अभिमन्यु+राव इंद्रजीत सिंह आदि का नाम भी शामिल था, लेकिन अंतिम मुहर श्री खट्टर के नाम पर ही लगी।
यूं टी हाउस के बाहर आज उत्सव सा माहौल था जैसे ही कोई विधायक मीटिंग में पर्यवेक्षकों के समक्ष जाने के लिए भवन के बाहर पहुँचता था तो उसके समर्थक पक्ष में नारे लगाने लगते थे श्री खट्टर संघ और पी एम के भी करीबी बताये जाते हैं।
90 सीटों वाली विधान सभा में बीजेपी को 47 सीटों पर जीत हासिल हुई है |
सोर्स एजेंसी ,वेब

सारे के सारे दोनों हाथ धो कर राहुल गांधी के पीछे क्यूँ पड़ गए हैं

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

चिंतित कांग्रेसी

ओये झल्लेया ये सारे के सारे हसाडे राहुल गांधी के पीछे क्यूँ दोनों हाथ धो कर ही दौड़ने लग गए हैं |मुम्बई में मोम बनाने का ढोंग कर रहे भाजपाई नरेंदर मोदी राहुल गांधी जी का मजाक धड़ल्ले से उड़ा रहा है तो हसाडे अपने उत्तर प्रदेश में विस्थापित मुस्लिम समुदाय के प्रति सहानुभूति दिखाने गए राहुल गांधी जी को काले झंडे दिखाए जा रहे हैं |हसाडे दम पर सरकार चला रहे सपाई भी आँखे दिखा रहे हैं |ये “आप” वाले दिल्ली में हमसे समर्थन ले रहे हैं और इसके साथ ही हमें ही गिरफ्तार करने की धौस भी दे रहे हैं ओये ऐसा कभी होता है भला ?

झल्ला

अरे मेरे चतुर सुजाणा भ्रष्टाचार से त्रस्त देश अब केवल भाषण नहीं बल्कि रिजल्ट मांगता है| जहा तक रही बात विस्थापितों के पुनर्वास की तो जनाबे आली अभी तक १९४७ के दंगों में विस्थापित होकर भारत आये पीड़ितों की पीढ़ियां न्याय/मुआवजे को तरसते हुए परलोक को प्रस्थान करते जा रहे हैं |ये मुजफ्फर नगर वालों का यथार्त समझे बिना केवल आश्वासन + आरोप +प्रत्यारोप या फिर सरप्राइज विजिट से तो ओनली काले झंडे ही दिखेंगे