Ad

Tag: samaj vadi party

सपा के हरदोइये सांसद नरेश अग्रवाल ने ही मुसलमानों को नरेंदर मोदी का डर दिखाया और वोट मांगे

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

सपाई चीयर लीडर

ओये झल्लेया मजा आ गया !ओये हसाडे राष्ट्रीय महासचिव और सांसद हरदोइये नरेश अग्रवाल ने गोल टोपी पहन कर मुसलमानों के सम्मलेन में जम कर भाजपाई नरेंदर मोदी की उतारी और अल्प संख्यकों को समझा दिया कि अगर नरेंदर मोदी सत्ता में आ गया तो मुसलमानों का जीना हराम करदेगा |ओये अब तो मुस्लिम वोट हमसे अलग नहीं जाने वाले

झल्ला

ठप्पे रहो पहलवान जी ठप्पे रहो!आप ही कि पार्टी के पूर्व सांसद मौलाना महमूद मदनी की चेतावनी को आप लोग शायद बहुत जल्दी भूल गए|अरे पहलवान जी चलो में याद करवा देता हूँ | जनाब मदनी साहब ने फरमाया था कि मुसलमानों को नरेंदर मोदी का डर दिखा कर वोट मत मांगों और अब आप ही मुसलमानों को मोदी के नाम पर डरा रहे हो|ये अच्छी बात नहीं है

मुजफ्फरनगर में तीन दिन बाद हिंसा प्रभावित छेत्रों में लगे कर्फ्यू में दो घंटे की ढील ;38 लोग दंगों का शिकार हो चुके है

मुजफ्फरनगर में तीन दिन बाद हिंसा प्रभावित छेत्रों में लगे कर्फ्यू में दो घंटे की ढील दी गयी। जिले में अब तक 38 लोग दंगों का शिकार हो चुके हैं|
जरूरी सामान की खरीददारी के लिए तीन थाना क्षेत्रों में कफ्र्यू में अपराह्न दो घंटे की ढील दी गयी है| दंगों पर काबू पाने के लिए एक तरफ अधिकारियों क तबादला किया जा रहा है तो दूसरी तरफ गिरफ्तारियों पर जोर है| मेरठ रेंज के आइजी और डीआइजी को हटा दिया गया है। यहां के आइजी ब्रजभूषण को हटाकर उनकी जगह भावेश कुमार सिंह को नया आइजी बनाया गया है।
मेरठ जिले से सटे बागपत में सांप्रदायिक तनाव फ़ैलाने के प्रयास में पुलिस ने 899 लोगों को गिरफ्तार किया है जबकि 2225 लोगों के खिलाफ 107,116 के तहत कार्रवाई की गई है। 35 अवैध शस्त्र बरामद किये गये हैं और 126 लाइसेंसी हथियार जमा कराये गये हैं। भाषा ने बागपत पुलिस अधीक्षक लक्ष्मी सिंह के हवाले से बताया कि यह कार्रवाई 28 अगस्त से अब तक की गयी है।इसके अलावा 81 लोग घायल हुए हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है|मेरठ के डी एम् रिणवा ने भर्ती घायलों के इलाज का निरीक्षण किया[फोटो] |. सिविल लाइंस, शहर कोतवाली तथा नई मंडी में कर्फ्यू अभी भी जारी है| घटनाओं के सिलसिले में 17 प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं. इनमें से एक प्राथमिकी सुखेडा गांव में आयोजित हुई महापंचायत के सिलसिले में है जिसमें कथित तौर पर भड़काउ भाषण दिये गए जिससे हिंसा हुई.
भाजपा ने इन दंगों से अपना पल्ला झाड़ लिया है| पूर्व अध्यक्ष वेंकैय्या नायडू ने कहा कि उत्तर प्रदेश कि जनता को मालूम है कि इन दंगों के लिए कौन जिम्मेदार है| शांति स्थापित होते ही सत्य सबके सामने आ जाएगा| उन्होंने सत्ता रुड समाज वादी पार्टी के सर दंगों को भड़काने का आरोप लगाया है|
पीएम मनमोहन सिंह ने हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये देने का एलान किया है। यह राशि पीएम राहत कोष से दी जाएगी।

सत्ता रुड समाजवादी पार्टी ने सेक्स रैकेटियर महेन्द्र कुमार सिंह सहित तीन विधायकों को पार्टी से बाहर किया

सत्ता रुड समाजवादी पार्टी ने सेक्स रैकेटियर महेन्द्र कुमार सिंह सहित तीन विधायकों को पार्टी से बाहर किया | उत्तर प्रदेश में सत्ता रुड समाजवादी पार्टी ने अपने [निम्न लिखित ]तीन विधायकों को पार्टी से बाहर कर दिया है| पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्तता के कारण यह कार्यवाही की गई है|
[१]श्री महेन्द्र कुमार सिंह झीन बाबू विधायक सेवता सीतापुर
[२]श्री राधेश्याम जायसवाल, विधायक, सीतापुर।
[३]श्री राम लाल अकेला, विधायक बछरांवा, रायबरेली।
पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता और कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी ने बताया कि समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और मुख्य मंत्री अखिलेश यादव द्वारा यह निर्णय लिया गया है|पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने के कारण इन विधायको के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही के अन्तर्गत इन्हें समाजवादी पार्टी की सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है|गौरतलब है कि सेवता सीता पुर से चौथी बार विधायक बने महेन्द्र कुमार सिंह को गोवा में सोमवार रात एक डांस बार से सेक्स अपराध में पकड़ा गया है|पार्टी की गिरती जा रही छवि को सुधारने के लिए यह तत्काल बड़ी राजनितिक कार्यवाही की गई है|

उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था पर भाजपा ने चिंता व्यक्त की

उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था के दिनों दिन बिगड़ने पर कांग्रेस के पश्चात अब भाजपा ने भी चिंता व्यक्त की |भाजपा प्रवक्ता, टेक्नोक्रेट, डॉ सुधांशू त्रिवेदी ने पार्टी की सामान्य ब्रीफिंग में समाज वादी पार्टी की यूं पी में सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कानून व्यवस्था की समस्या नैसर्गिक रूप से सपा के साथ जुड़ी रहती है लेकिन इस बार तो सभी उम्मीदें ध्वस्त हो चुकी हैं| गुना और बलिया के विधायक से लेकर मंत्री आज़म खान +शिव पाल यादव+ और यहाँ तक कि पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव भी कानून व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह लगा चुके हैं |
डॉ त्रिवेदी ने कहा कि बी एस पी के भ्रष्टाचार से त्रस्त उत्तर प्रदेश की जनता ने सपा को सत्ता सौंपी थी लेकिन मात्र डेड़ वर्षों में ही व्यवस्था बद से बत्तर हो गई है | युवा मुख्य मंत्री अखिलेश यादव की सरकार से उम्मीदें समाप्त हो गई हैं| उन्होंने आरोप लगाया कि सरकर के छह शक्ति केंद्र बने हुए हैं |शिव पाल यादव कहते हैं कि थानों पर समाज वादियों का कब्जा है|आज़म खान कहते हैं कि उन्होंने ऍफ़ आई आर दर्ज़ कराई और दूसरों ने पैसे देकर उनकी ऍफ़ आई आर को कही रफा दफा करवा लिया|पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह कहते हैं कि यदि में सत्ता में होता तो तत्काल सभी कुछ ठीक कर लेता|
डॉ सुधांशू त्रिवेदी ने कहा कि चूंकि सपा केंद्र में कांग्रेस की सरकर को सहयोग दे रही है ऐसे में प्रदेश में कांग्रेस भी सपा को सपोर्ट करने को बाध्य है ऐसे में इन दोनों पार्टियों से कोई उम्मीद नही है इसीलिए लोक सभा के चुनावों में दोनों को उखाड़ फैंकना जरुरी है |इससे पूर्व कांग्रेस कि नेत्री रीता बहुगुणा जोशी भी यह ओपचारिकता निभा चुकी हैं

बिजली के दाम २२ जून तक कम नही किये तो आप पार्टी यूं पी के सी एम् के लखनऊ में निवास की बिजली काटेगी

आम आदमी पार्टी [आप]ने उत्तर प्रदेश में बिजली के मुद्दे में जान डालने के लिए २२ जून के पश्चात मुख्य मंत्री अखिलेश यादव के निवास की बिजली काटने की धमकी दी है| दिल्ली में सफलता के पश्चात उत्तर प्रदेश में भी बिजली के बिलों को मुद्दा बना कर ”आप” पार्टी ने ४ जून से प्रदेश भर में १५ दिन के लिए हस्ताक्षर अभियान शुरू किया है|इस बीच बिजली के बिलों में की गई बढोत्तरी को वापिस लेने के लिए यौजना बद्ध तरीके से दबाब बनाने की यौजना बनाई गई है| पार्टी प्रवक्ता उत्तर प्रदेश सचिव अंशुल श्रीवास्तव का दावा है के आज तक ४०००० हस्ताक्षर कराये जा चुके हैं|लेकिन इससे प्रभावित हुए बगैर ही प्रदेश सरकार ने बिजली के बड़े बिलों को लागू करने का मन बना लिया है जिसके जवाब में आप पार्टी ने चुनौती दी है के अगर २२ जून तक बिजली की बड़ी दरों को वापिस नही लिया गया तो लखनऊ के काली मार्ग स्थित सी एम् के निवास की बिजली काट दी जायेगी|
गौरतलब है के दिल्ली में बिजली के मुद्दे पर जनता से सीधे जुड़ कर लोक प्रियता प्राप्त करने के पश्चात अब उत्तर प्रदेश में भी वोही फार्मूला प्रयोग में लाया जा रहा है|दिल्ली की विधान सभा के चुनावों के पश्चात आप पार्टी की नज़र उत्तर प्रदेश की सभी ८० लोक सभा की सीटों पर भी हैं इसके अलावा दिल्ली की मुख्य मंत्री श्रीमती शीला दीक्षित आप पार्टी को उत्तर प्रदेश में बिजली के मुद्दे को उठाने के लिए उकसाती भी रहती हैं|इसके अलावा भाजपा ने भी प्रदेश में बिजली के बड़े बिलों को मुद्दा बना लिया है ऐसे में आप पार्टी के लिए लोक सभा के चुनावों तक मुद्दों को ज़िंदा रखना जरुरी है|
और प्रदेश में 43% लीकेज को रोक पाने में असमर्थ प्रदेश सरकार ने ४५ % दरें बड़ा कर एक मुद्दा आप के हाथों में बैठे बिठाए ही थमा दिया है|

सपा ने पूर्व घोषित” हलके” उम्मीदवार बदलने शुरू किये: बिजनौर से अनुराधा चौधरी का भी टिकट कटा

उत्तर प्रदेश में सत्ता रुड समाज वादी पार्टी ने अब लोक सभा के चुनावों में हलके साबित हो सकने वाले पूर्व घोषित उम्मीदवारों के स्थान पर जिताऊ उम्मीदवारों को उम्मीदवारी देनी शुरू कर दी है|बिजनौर से अनुराधा चौधरी सहित पञ्च उम्मीदवारों को बदल दिया गया है|
समाज वादी पार्टी के प्रवक्ताऔर मंत्री वरिष्ठ राजेंद्र चौधरी ने बताया कि
[१]बिजनौर से अनुराधा चौधरी[२]अलीगढ से के शर्मा[पत्नी गुड्डू पंडित ][३]आजम गढ़ से[पूर्व मंत्री] बलराम यादव के अलावा [४]गोंडा से के वी सिंह [५]सहारनपुर में पूर्व घोषित उम्मीद वार बदल दिए गए हैं इनके स्थान पर निम्न सदस्यों पर भरोसा जताया गया है| अनुराधा रालोद छोड़ कर सपा में शामिल हुई थी
[अ]बिजनौर =पूर्व सांसद आमिर आलम [आ]अलीगढ==जफ़र आलम[इ]गोंडा=राहुल शुक्ला[सपा विधायक के पुत्र][ई]आजम गढ़ से हवलदार सिंह[उ]सहारनपुर से फिरोज आफताब
इस बदलाव के कारण बताते हुए वरिष्ठ समाजवादी नेता ने कहा कि पार्टी को लग रहा है कि ये उम्मीद वार चुनावी समर को पार नही कर पायेंगे इसीलिए अब जिताऊ उम्मीदवार तलाशे गए हैं| मेरठ में बसपा द्वारा मुस्लिम वोटों का ध्रुवि करण किये जाने से अविचलित राजेंद्र चौधरी ने कहा कि मुसलमानों का भरोसा बसपा पर नही वरन सपा पर है और रहेगा गौरतलब है कि लोक सभा के चुनावो के लिए सपा ने पहले ही अपने उम्मीदवार घोषित करने शुरू कर दिए थे अब जैसे जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं वैसे ही पार्टी ने जिताऊ उम्मीदवार लाने शुरू कर दिए है|

भारतीय संसद की सोमवार की कार्यवाही भी कोयला घोटाले की कालिख से बाहर नही निकल पाई :संसद की कार्यवाही ठप्प

भारतीय संसद के दोनों सदन सोमवार को भी हंगामे की भेंट चड गए|यानि आज भी लोक तंत्र को १.९७ करोड़ का चूना लगा ही दिया गया| प्रतिदिन की कार्यवाही पर १.९७ करोड़ का खर्च आता है| उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार पहली और वर्तमान संसद की कार्यवाही लगभग १/३ रह गई है|यह अपने आप में चौंकाने वाला तथ्य है|संसदीय कार्यमंत्री कमल नाथ ने विपक्ष से संवाद स्थापित करते हुए मंगलवार को संसद के सुचारू रूप से चलने की उम्मीद व्यक्त की है लेकिन आज की कार्यवाही या तेवर देख कर कहा जा सकता है कि प्रमुख विपक्षी भाजपा इस विषय में कोई रियायत देती नज़र नही आ रही|
प्रमुख विपक्षी दल भाजपा ने वेल को कब्जा कर कोयला घोटाले और उसमे सी बी आई की कार्यप्रणाली में दखल को लेकर में प्रधान मंत्री डाक्टर मन मोहन सिंह के इस्तीफे की मांग जारी रखी| लोक सभा की स्पीकर मीरा कुमार और राज्य सभा में हामिद अंसारी सोमवार को भी हंगामे के सामने असहाय नज़र आये |इसीलिए पहले १२ बजे + २ बजे और फिर मंगल वार तक के लिए सदस स्थगित किये गए|लोक सभा में भाजपा का सोमवार का नारा रहा कोयला की दलाली है पूरी कांग्रेस ही काली है|
लेकिन समाजवादी पार्टी ने हमेशा की तरह केंद्र सरकार की ढाल बनते हुए चीन द्वारा १९ किलोमीटर अतिक्रमण का मुद्दा उठाया| सपा सुप्रीमो और पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव ने केंद्र सरकार की कार्यवाही को डरपोक +अक्षम बताया | उन्होंने कहा कि भारतीय फौज चीन को जवाब देने में सक्षम है लेकिन सरकार का कायरता पूर्ण व्यवहार रुकावट पैदा कर रहा है| सपा सांसदों ने भी वेल में आकर चीन की घुसपैंठ की तरफ ध्यान खीचने का प्रयास किया|
समाजवादी पार्टी प्रमुख ने तो विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद के आगामी माह में चीन दौरे पर ही सवाल उठा दिए.उन्होंने चीन को सबसे बड़ा दुश्मन बताते हुए कहा कि हम कब से चेतावनी दे रहे हैं कि चीन ने हमारे क्षेत्र पर कब्जा करना शुरू कर दिया है. लेकिन सरकार है कि सुनने को तैयार नहीं है|
पूर्व रक्षा मंत्री ने दावा किया कि चीन भारत के एक लाख वर्ग किलोमीटर भूभाग पर कब्जा कर चुका है और भारत सरकार कुछ नहीं कर रही है.|
कोयला घोटाले जैसे मुद्दे पर सरकार की प्रतिष्ठा दावं पर हो सकती है इसीलिए इस विषय पर बहस को टाला जाना समझ में आता है लेकिन चीन जैसे राष्ट्रवादी मुद्दे पर भी बहस से बचा जा रहा है इस गंभीर राष्ट्रवादी मुद्दे को मात्र अपनी सुरक्षा के लिए इस्तेमाल किया जाना अपने आप में चिंताजनक है|

मुलायम सिंह यादव अब खुल्लम खुल्ला लाल कृषण आडवाणी से कांग्रेस के खिलाफ कुश्ती के दाव सीखने लग गए

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक दुखी कांग्रेसी

ओये झल्लेया ये माननीय मुलायम सिंह यादव को क्या हो गया ?बुढापे में भी राजनितिक कुश्ती के लिए ताल ठौक रहे हैं|अच्छे खासे हसाड़े साथ रह कर सी बी आई का सुख भोग रहे थे|अब अचानक हमारे खिलाफ ही लंगर घुमाने लग गए| और तो और अपनी धुर्र विरोधी भाजपा से हाथ मिलाने में भी गुरेज नहीं कर रहे ओये अब तो खुल्लम खुल्ला लाल कृषण आडवाणी से हमारे खिलाफ कुश्ती के दाव सीखने लग गए हैं| ८० सांसदों वाली यूं पी के अखाड़े में हमें ही चित करने को डंड पैलने गए हैं |

 मुलायम सिंह यादव अब खुल्लम खुल्ला लाल कृषण आडवाणी से कांग्रेस के खिलाफ कुश्ती के दाव सीखने लग गए

मुलायम सिंह यादव अब खुल्लम खुल्ला लाल कृषण आडवाणी से कांग्रेस के खिलाफ कुश्ती के दाव सीखने लग गए


झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजाण जी अब आप जी ने भी तो बची खुची ३ सांसदों वाली रालोद के साथ मिल कर २२ सांसदों के नेता अखिलेश यादव की सरकार के खिलाफ यूं पी के दंगल में उतर आये हो|पीछे से २१ सांसदों वाली मायावती को भी लगा लिया है|ऐसे में सपा को भी तो अपने लिए नए समीकरण तलाशने जरुरी हैं| बकौल मुलायन सिंह यादव भय के बिना प्रीत’ नही होती सो पुत्र को सत्ता प्रेम सिखाने के लिए सत् के छिन्न जाने के भय भी दिखाते रहना जरुरी है| मैं ठीक हूँ या क्या में ठीक हूँ ?

देवेन्द्र नागपाल का रालोद से टिकट कट गया है इसीलिए दूसरी पार्टी से पींगे बढ़ा रहे हैं

देवेन्द्र नागपाल का रालोद से टिकट कट गया है इसीलिए दूसरी पार्टी से पींगे बढ़ा रहे हैं

देवेन्द्र नागपाल का रालोद से टिकट कट गया है इसीलिए दूसरी पार्टी से पींगे बढ़ा रहे हैं

जैसे जैसे २०१४ के चुनाव नज़दीक आते जा रहे हैं राजनितिक दलों ने अपनी राजनीतिक गोटियाँ बैठानी शुरू कर दी है|राष्ट्रीय लोक दल[रालोद]के अमरोहा से सांसद देवेन्द्र नागपाल ने अपनी पार्टी के पारंपरिक वोट बैंक को समाजवादी पार्टी की तरफ का प्रयास शुरू कर दिया है जिसे रालोद के प्रदेश अध्यक्ष मुन्ना सिंह चौहान ने नागपाल की खिसियाट बताते हुए कहा है कि लगता है कि नागपाल को पार्टी के निर्णय की जानकारी मिल गई है|पार्टी ने उनका टिकट काटने का फैंसला कर लिया है इसीलिए अब नागपाल अपने पुराने समाजवादी पार्टी के साथ पींगे बढाने लग गए हैं|
रालोद प्रदेश अध्यक्ष मुन्ना सिंह चौहान ने फोन पर बताया कि देवेन्द्र नागपाल ने बीते चार सालों में अपने छेत्र में विकास का कोई कार्य नहीं किया है||पार्टी कार्यक्रमों में शामिल नहीं होते|यहांतक कि जिला संगठन से दूर रहते हैं |इसीलिए अब पार्टी के केन्द्रीय न्रेतत्व ने देवेन्द्र नागपाल का टिकट काटने का फैंसला कर लिया है|शायस इसीलिए अब नागपाल के पास किसी भी दूसरी पार्टी की शरण में जाने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा है|
गौरतलब है कि अमरोहा से २००९ में १५ वी संसद के लिए रालोद के टिकट पर चुनाव जीते देवेन्द्र नागपाल ने आज कल रालोद के खिलाफ बगावती तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं| उन्होंने पार्टी पर आरोप लगाया कि पार्टी अपने उद्देश्य और सिधान्तों से भटक चुकी है| उन्होंने जाटों के समर्थन के लिए समाजवादी पार्टी से मदद लेने की कवायद तेज़ कर दी है|और ऐसा ही भरोसा वोह आज कल मदद मांगने वाले जाटों को भी दिला रहे हैं|गौर तलब है कि जाट रालोद के मुखिया अजित सिंह का पारंपरिक वोट बैंक है और अब उसमे सेंध लगाने की तैयारी हो रही है| पार्टी विरोधी इसी गतिविधि पर प्रदेश अध्यक्ष ने अपनीप्रतिक्रिया दी है|
बताते चलें कि पूर्व निर्दलीय सांसद हरीश नागपाल के भाई.है देवेन्द्र नागपाल|सोबर्स क्लब और जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष रहे है | शराब व्यवसाई देवेन्द्र नागपाल अपने पिता स्वर्गीय श्री रामदास नागपाल के आदर्शों के अनुरूप गरीब परिवारों की बेटियों, उनकी चिकित्सा उपचार शिक्षा आदि की शादी के लिए सहायता प्रदानकरने के कारण प्रसिद्ध है |

मुलायम सिंह यादव के वेटिंग गेम के संकेत आते ही चेन्नई में स्टालिन के घर सी बी आई की चल रही रेड रोक दी गई

एम् करुणानिधि के बेटे स्टालिन के घर पर मारे जा रहे सीबीआई के छापे अचानक रोक दिए गए हैं| इसे सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह को सरकार से सपोर्ट विड्रा करने से रोकने और पी चिदम्बरम का कद तमिल नाडू में बढाने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है| सपा की चल रही संसदीय दल की मीटिंग से एक खबर आई कि मुलायम सिंह यादव ने श्रीमती सोनिया गांधी द्वारा माफ़ी मांगने और बेनी प्रसाद वर्मा के विरुद्ध कार्य वाही के लिए कुछ समय माँगा है| इस खबर के तत्काल पश्चात खबर आई कि स्टालिन के विरुद्ध सी बी आई के छापे रोक दिए गए हैं| यह अपने आप में आश्चर्य जनक कदम है|
गौरतलब है कि पांच साल पुराने अवैध रूप से आयातित कार की ड्यूटी चोरी के मामले में स्टालिन के घर पर सीबीआई ने छापेमारी की। ये छापा ऐसे वक्त में पड़ा है जब सरकार से समर्थन वापिस लिए डीएमके को दो दिन ही बीते हैं। सीबीआई ने स्टालिन के सेक्रेटरी के घर पर भी छापेमारी की है। स्टालिन के पिता एम् करुणानिधि १८ सांसदों वाली डी एम् के के सुप्रीमो हैं|

मुलायम सिंह यादव के वेटिंग गेम के संकेत आते ही चेन्नई में स्टालिन के घर सी बी आई की चल रही रेड रोक दी गई

मुलायम सिंह यादव के वेटिंग गेम के संकेत आते ही चेन्नई में स्टालिन के घर सी बी आई की चल रही रेड रोक दी गई


बताया जा रहा है कि डीआरआई ने सीबीआई से विदेशी कार आयात के मामले में ड्यूटी टैक्स चोरी की शिकायत की थी। इसके बाद सीबीआई ने 20 करोड़ रुपये के अवैध कार आयात मामले में स्टालिन के घर छापेमारी की। अब कहा जा रहा है कि स्टॅलिन का नाम ऍफ़ ई आर में दर्ज़ नहीं है|
स्टालिन, करुणानिधि के परिवार के तीसरे सदस्य हैं जिससे सीबीआई पूछताछ कर रही है। इससे पहले 2011 में उनकी मां दयालु अम्मल और बहन कनीमोझी से पूछताछ की गई थी।
बहरहाल, करुणानिधि के बेटे स्टालिन के घर सीबीआई छापे और उन्हें अचानक रोके जाने से फिर सवाल उठ रहे हैं|[१] क्या स्टॅलिन ने सरकार से समर्थन वापसी की कीमत चुकाई हैक्योंकि विदेशी कार आयात का ये मामला 5 साल पुराना है। तो सीबीआई अब तक चुप क्यों रही। जब तक डीएमके का साथ मिलता रहा, सीबीआई चुप रही,लेकिन डीएमके के समर्थन वापस लेते ही सीबीआई स्टालिन के घऱ पहुंच गई। कहा गया है कि एमके स्टालिन के पुत्र उदयनिधि इस अवैध विदेशी कार का उपयोग करते हैं और सीबीआइ पूरे मामले की जांच करने में जुटी है।
[२]पुरानी कहावत है कि अगर बहु [पुत्र वधु] को डांटना हो तो बेटी को सुनाया जाता है|कमोबेश सी बी आई की इस तरह से डी एम् के विरोधी कार्यवाही से मुलायम सिंह यादव को सन्देश दिया गया है|
[३] सपा द्वारा वेटिंग गेम का संकेत देते ही सी बी ई की कार्य वही क्यों रोक दी गई|
[४] वित्त मंत्री पी चिदम्बरम द्वारा सी बी आई कि इस छापे मारी पर असंतोष व्यक्त करते ही छापे मारी रोकी गई|इसे चिदम्बरम के अपने होम स्टेट तमिल नाडू में कद बढाने के कदम के रूप में देखा जा रहा है
[५]भाजपा प्रकाश जावडेकर और सपा के नरेश अग्रावाल ने संसद में इस मुद्दे उठाने का संकेत दिया है|बेशक सरकार की छवि कुछ प्रभावित हुई है लेकिन सरकार का संभावित राजनितिक उद्देश्य पूरा हो गया है|सपा ने सरकर से अपना समर्थन वापिस लेने में जल्द बाजी को त्याग कर वेटिंग गेम का एलान कर दिया है|