Ad

Tag: Sharmishtha Mukherjee

प्रणब ने आरएसएस में हाजरी दी,शर्मिष्ठा ने विरोध ट्वीट कर दिया

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

औए झल्लेया देखा कांग्रेसी आखिर कार कांग्रेसी ही होता है | प्रणब मुख़र्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने भी अपने पिता की आरएसएस की सभा में उपस्थिति को लेकर फैलाये जा रहे भरम पर आरएसएस और भाजपा को करारा जवाब दे दिया है |औए हमें तो पहले ही शक था के ये भगवा वाले पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुख़र्जी को लेकर कोई गेम खेलेंगे और इन्होने सोशल मीडिया पर प्रणब को गणवेश में दिखा कर उसे सही साबित भी कर दिया

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजान ! प्रणब मुख़र्जी ने आरएसएस की सभा में हाजरी दे दी | शर्मिष्ठा ने उसका
विरोध कर दिया |बोले तो “रिन्द के रिन्द रहे और जन्नत भी हाथ से ना गई” लेकिन आपलोगों के हाथों से आरएसएस को लेकर मोदी सरकार पर अटैक करने का मुद्दा निकल गया |
फाइल फोटो
प्रणब मुख़र्जी डॉ मनमोहन सिंह कोहली के साथ

कांग्रेस नेत्री और राष्ट्रपति की पुत्री शर्मिष्ठा ने ऑनलाइन अभद्रता के विरुद्ध अलख जगाई

[नयी दिल्ली] कांग्रेस नेत्री और राष्ट्रपति की पुत्री शर्मिष्ठा ने ऑनलाइन अभद्रता को उजागर किया
राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी और दिल्ली कांग्रेस की प्रवक्ता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने आज एक व्यक्ति द्वारा उनको अश्लील संदेश भेजे जाने का दावा किया और अपने फेसबुक पेज पर इन संदेशों का स्क्रीनशॉट भी साझा किया।
अश्लील संदेश भेजने वाले इस व्यक्ति की पहचान पार्थ मंडल के तौर पर करते हुए शर्मिष्ठा ने कहा, ‘‘इस व्यक्ति को मैं बिल्कुल भी नहीं जानती और उसने बीती रात मुझे अश्लील संदेश भेजे।
मैंने पहले इसे नजरअंदाज करने और ब्लॉक करने के बारे में सोचा लेकिन फिर यह बात दिमाग में आई कि चुप रहने से उसका हौसला बढ़ेगा और वह अन्य शिकार ढूंढ लेगा।’’ कांग्रेस नेता ने कहा कि वह दिल्ली पुलिस की साइबर अपराध शाखा के समक्ष शिकायत दर्ज करवाएंगी।
उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर कहा, ‘‘मेरा ऐसा मानना है कि ऐसे लोगों और इनके संदेशों को सार्वजनिक तौर पर बेनकाब करना चाहिए। मैं उसे भी टैग कर रही हूं। कृपया इस पोस्ट को शेयर करें और इस चूहे को टैग भी करें ताकि इस तरह की हरकतों को हल्के में नहीं लिया जाए।’’
शर्मिष्ठा ने कहा, ‘‘पुलिस के पास ऐसे हजारों मामले हो सकते हैं। मैं एक आम महिला के तौर पर लड़ूंगी और राष्ट्रपति के बेटी के तौर पर मुझे किसी विशेष तवज्जो की जरूरत नहीं है। पुलिस को ऐसे मामलों में समान लगन से काम करना चाहिए।’’