Ad

Tag: ShobhitUniversity

शोभित विश्वविद्यालय ने इंटर्नशाला डॉट कॉम से समझौता किया

[मेरठ,यूपी]शोभित विश्वविद्यालय ने इंटर्नशाला डॉट कॉम से समझौता किया
शोभित विश्वविद्यालय ने ऑनलाइन पोर्टल इंटर्नशाला डॉट कॉम के साथ साझा समझौता किया
इंटर्नशाला डॉट कॉम गुरुग्राम स्थित ऑर्गनाइजेशन है जिसकी सहायता से छात्र अनेकों कंपनियों में इंटर्नशिप कर रहे हैं
इस दौरान शोभित विश्वविद्यालय के डायरेक्टर कॉर्पोरेट रिलेशन देवेंद्र नारायण जी इंटर्नशाला डॉट कॉम के सीईओ मिस्टर सुरेश अग्रवाल एवं शोभित विश्वविद्यालय मेरठ के यूनिवर्सिटी ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल के हेड श्री विजय माहेश्वरी जी तथा कोऑर्डिनेटर शोएब मौजूद रहे

गरीबों और किसानों के हित का है बजट २०१६ :शोभित विश्वविद्यालय

[मेरठ,यूपी]गरीबों और किसानों के हित का है बजट २०१६
शोभित विश्वविधालय प्रबंधन संस्थान द्वारा बजट २०१६ पर चर्चा में गरीबों और किसानों के हितका बजट बताया गया
शोभित विश्वविधालय मोदीपुरम प्रबंधन संकाय द्वारा बजट २०१६ पर चर्चा कार्यक्रम का आयोजन विश्वविध्यालय के सभागार में किया गया। जिसका उद्देश्य छात्रो को वर्तमान केंद्र सरकार के द्वारा प्रस्तुत बजट २०१६ की संरचना, उद्देश्य, विशेषता से अवगत कराना था।
कार्यक्रम के प्रारम्भ में छात्रों को बजट २०१६ की रिकॉर्डिंग दिखाई गयी।छात्रों को संबोधित करते हुए प्रतिकुलपति डॉ रणजीत सिंह ने आम बजट का महत्व छात्रों को बताया उन्होने कहा कि यह बजट गरीबों और किसानों के हित में है, बजट कृषि के विकास पर आधारित है और गरीबों एवं किसानों के हितों का खास ध्यान रखा गया है।
कुलसचिव डॉक्टर जयानंद ने छात्रो को बताया कि हमारा बजट बहुत बड़ा है, जिसमें इस बार ग्रामीण सेक्टर के लिए फंडिंग काफी बढ़ाई गई है। ग्राम सड़क योजना के लिए २७ हजार करोड़ दिया जा रहा है इसके अलावा शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कई प्रविधान किए गए हैं उन्होने बताया कि रोजगार को बढ़ावा देने के लिए मेक इन इंडिया एंड मेड इन इंडिया कार्यक्रम को बढ़ावा दिया जा रहा है तथा रोजगार को विकसित करने के लिए नियमों को सरलीकरण किया जाएगा ।संकायाध्यक्ष डॉ स्वतंत्र सिंह चौहान ने छात्रो के प्रश्नों का उत्तर भी दिया
शिक्षक जय गणेश त्रिपाठी ने बजट के दूरगामी प्रभावों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इस बार बजट में किसानो,खेती,ढांचागत सुविधा के विकास एवं आर्थिक रूप से कमजोर तबके को राहत देने का प्रयास हुआ है ।
प्रत्येक परिवार को एक लाख का स्वास्थ बीमा,किसानो की आय को दुगना करने,छोटे कर दाताओं को कर से राहत देने जैसे कई अहम फैसले लिए गए हैं
कार्यक्रम का सयोजन अभिषेक कुमार द्वारा पर प्रबंधन संस्थान के शिक्षक जय गणेश त्रिपाठी, डॉ नेहा यजुर्वेदी, शबाना हक़, अंशु चौधरी,नेहा त्यागी,नेहा वशिष्ठ,डॉ आसाम खान आदि के सहयोग से किया गया इस अवसर पर विश्वविध्यालय के फ़ाइनेंस ऑफिसर श्री दीपक गोयल,डॉ अनिल शर्मा,अन्य अध्यापक गण, एवं छात्र-छात्राये उपस्थित रहे।

शोभित विश्वविद्यालय के साइंस ओलिंपियाड में रोहन ने प्रथम स्थान प्राप्त किया

[मेरठ]शोभित विश्वविद्यालय में आयोजित साइंस ओलिंपियाड परीक्षाफल घोषित|रोहन ने प्रथम स्थान प्राप्त किया|
शोभित विश्वविद्यालय के फेकल्टी ऑफ बायोलॉजिकल इंजीनियरिंग के साइंस ओलिंपियाड में आर. एन इंटरनेशनल स्कूल के छात्र रोहन ने प्रथम स्थान प्राप्त किया और महलका एजुकेशन सेंटर के मोहम्मद शाहरुख़ + दीपाली ने क्रमश दितीय एवं तृतीये स्थान प्राप्त किया.
इस ओलम्पियाड में 11 तथा12 के विज्ञानं वर्ग के 219 छात्र छात्राओं ने भाग लिया था.
विश्विद्यालय के प्रो वाईस चांसलर प्रो . रंजीत सिंह ने ये घोषणा की|
विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ जयानंद ने बताया कि इस परीक्षाफल को आधार मानकर भविष्य में विभिन्न कोर्स में नामांकन के इच्छुक छात्रों को स्कॉलरशिप प्रदान कीजाएगी.|
संयोजिका डॉ ज्योति शर्मा ने बताया की इस ओलिंपियाड के उपरांत छात्रों ने विभिन्नविभागों एवं प्रयोगशालाओं का भ्रमण किया था| सह संयोजिका शिवा शर्मा ने बताया कि इस गतिविधि का एक मुख्य उद्देश्यइंटरमीडिएट के विद्यार्थियों को अपने भविष्य के प्रति जागरुक करना था साइंस ओलिंपियाड का परीक्षा संचालन एवं निरक्षण डॉ. विपिन त्यागी, बीना रावत, डॉ. मायादत्त जोशी, डॉ. मनीषा, पिंकी गंगवार, वंदना कन्याल, रुपेश कुमार आदि शिक्षकगणों की सहभागिता रही

स्टैंडप्रो से की गई गणनाएं एवं डिजाइनिंग में मानवीय भूलों से बचा जा सकता है

[मेरठ] स्टैंडप्रो से की गई गणनाएं एवं डिजाइनिंग में मानवीय भूलों से बचा जा सकता है|
सिविल इंजीनिरिंग विभाग द्वारा स्टैंड प्रो ऑटो कैड पर आयोजित कार्यशाला में यह जानकारी दी गई
शोभित विश्वविद्यालय में सिविल इंजीनिरिंग विभाग द्वारा स्टैंडप्रो,ऑटोकैड पर कार्यशाला का आयोजन इंटर आर्क प्रा.लिमिटेड नॉएडा के संयुक्त तत्वाधान में किया गया । कार्यशाला में शोभित विश्वविद्यालय मेरठ एवं सहारनपुर परिसर के युवा सिविल इंजीनियरिंग के छात्रों ने प्रतिभाग लिया ।विषय विशेषज्ञ वरुण त्यागी एवं पीयूष गुप्ता ने नवीनतम सॉफ्टवेयर स्टैंडप्रो,ऑटोकैड पर अपने व्याख्यान दिए । उन्होंने कहा की स्टैंडप्रो एक ऐसा आधुनिक सॉफ्टवेयर है जिनकी सहायता से सिविल इंजीनिरिंग स्ट्रक्चर के काम से जुडी गणनाएं एवं डिजाइनिंग बहुत ही आसानी एवं सटिकता से की जा सकती है। इसके उपयोग से मानवीय भूलो से बचा जा सकता है । अपने स्वागत भाषण में कुलसचिव डॉक्टर जयानंद ने विशेषज्ञों का आभार प्रगट करते हुए छात्रों को अपने प्रोफेसनल विकास को निरंतर करने के प्रति उत्साहित किया । कार्यक्रम का सञ्चालन विभाग के प्रमुख प्रशांत पुंडीर ने किया । इस अवसर विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के अध्यापक गण उपस्थित रहे । कार्यक्रम के अंत में सिविल विभाग के शिक्षक श्री मनिंदर सिंह ने आगंतुकों का आभार ज्ञापित किया और छात्रों को शुभकामनाये प्रदान की ।

भारतीय न्याय प्रणाली विश्व की सबसे पुरानी प्रणालियों में से एक हैं:राज्यपाल के एन त्रिपाठी

[मेरठ ]भारतीय न्याय प्रणाली विश्व की सबसे पुरानी प्रणालियों में से एक हैं:राज्यपाल के एन त्रिपाठी
राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने शोभित विश्वविधालय मे आज [शनिवार] विधि एवं संवैधानिक शिक्षण संकाय का विधिवत उदघाटन किया |अपने सम्बोधन मे राज्यपाल ने कहा कि भारत की न्याय प्रणाली विश्व की सबसे पुरानी प्रणालियों में से एक हैं। ‘न्याय में देरी करना न्याय को नकारना है और न्याय में जल्दबाजी करना न्याय को दफनाना है, किसी समाज की कानून व्यवस्था का सीधा संबंध वहां की समृद्धि से है पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी के आलावा नाईस सोसाइटी के अध्यक्ष शोभित कुमार + कुलाधिपति कुँवर शेखर विजेंद्र आदि भी उपस्थित थे ।महामंडलेश्वर स्वामी मार्तंड पुरी ने अतिथियों का स्वागत किया। विश्वविधालय के कुलपति डॉ डी॰वी॰ राय ने विश्वविधालय का विजन ,और आगामी योजनाओ से सबको अवगत कराया ।संचालिका डॉ निधि त्यागी ने कॉलेज के कोर्सेस की जानकारी दी |अपने अध्यक्षीय भाषण मे कुलाधिपति ने कहा कि विश्वविधालय सेंटर फॉर लॉं एंड गुड गवर्नेंस” की स्थापना करने हेतु प्रयासरत है।“विधि एवं संवैधानिक शिक्षण संस्थान” का मूल उद्देश कानूनी अध्ययन के साथ संवैधानिक नियमों द्वारा देश- विश्व के राजनीतिक एवं आर्थिक प्रक्रियाओं पर पड़ने वाले प्रभाव की समझ विकसित करना है| ।विश्वविध्यालय के कुलसचिव डॉ जयानंद ने राज्यपाल के साथ-साथ सभी गणमान्य व्यक्तियों का आभार ज्ञापित किया। शुभता और ज्ञान के प्रतीक रुद्राक्ष के पौधे का रोपण भी किया गया ।

पौराणिक ग्रंथों के माध्यम से नेतृत्व क्षमता को जागृत करने की छात्रों को प्रेरणा

[मेरठ]शोभित विश्वविद्यालय के छात्रों को आज पौराणिक ग्रंथों के माध्यम से नेतृत्व क्षमता को जागृत करने की प्रेरणा
मोदीपुरम स्थित शोभित विश्वविद्यालय में आयोजित युवा सम्मलेन में मनोचिकित्सक डॉक्टर पूनम देवदत्त ने यजुर्वेद,महाभारत,चाणक्य द्वारा लिखी गयी पुस्तक अर्थशास्त्र का उदाहरण दे कर छात्रों को नेतृत्व क्षमता को जागृत करने की प्रेरणा प्रदान की
कार्यक्रम का आयोजन श्री संगीत वर्गीज द्वारा संचालित लीडलैब फोरम के तत्वाधान में किया गया।हॉवर्ड विश्वविदयालय के पूर्व छात्र रहेश्री वर्गीज ने छात्रों को विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से अपने अंदर नेतृत्व क्षमता विकसित करने पर जोर दिया|उन्होंने छात्रों को कई गुण भी सिखाये
विश्वविद्यालय के कुलपति डॉक्टर डी.बी. राय + महामंडलेश्वर मार्तण्डपुरी ने भी अपने विचार व्यक्त किये +कुलसचिव डॉक्टर जयानंद,+।डॉक्टर निधि त्यागी आदि ने भी विचार व्यक्त किये

शोभित विश्व विद्यालय में चतुर्थ वर्ष के छात्र एवं छात्राओ को समारोहपूर्वक विदाई

[मेरठ]शोभित विश्व विद्यालय में चतुर्थ वर्ष के छात्र एवं छात्राओ को समारोहपूर्वक विदाई दी गई
मोदीपुरम स्थित शोभित विश्व विद्यालयमें आज दिनांक 19/12/14 को विदाई समारोह का आयोजन किया गया |
कुल सचिव डॉ जयानंद द्वारा माँ सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्जलन से कार्यक्रम को शुरू किया गया |
इस अवसर पर नृत्य+गायन+नाटक जैसी विभिन्न विधाओ का सराहनीय प्रदर्शन किया गया|
गेम्स के माध्यम से मिस फेयरवेल एवं मिस्टर फेयरवेल का चुनाव किया गया
मिस्टर फेयरवेल सौरभ कुमार ,
मिस फेयरवेल नेहा जैस्वाल ,
मिस्टर पॉपुलर श्रेयास जैन ,
मिस पॉपुलर अपराजिता ,
मिस्टर इवनिंग संजीव सिंह ,
मिस इवनिंग सुनैना गुप्ता ,
मिस्टर फ़ैसनिस्ट आनिव एवं
मिस फ़ैसनिस्ट डिंपल चुने गए
कार्यक्रम के अंत में मुख्य छत्रावास अधीक्षक लोकेन्दर यादव ने सभी छात्र छात्राओ के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कार्यक्रम के समापन की घोषणा की !

माइक्रोसॉफ्ट की शोभित विश्व विद्यालय में विंडोज अज़्यूर पर कार्यशाला

[मेरठ]माइक्रोसॉफ्ट की शोभित विश्व विद्यालय में विंडोज अज़्यूर पर कार्यशाला
शोभित विश्व विद्यालय के कंप्यूटर एवं सूचना प्रोधोगिकी संकाय द्वारा माइक्रोसॉफ्ट के सहयोग से विंडोज अज़्यूर पर आयोजित त्रि दिवसीय कार्यशाला का समापन शुक्रवार दिनांक ०५ दिसंबर को हुआ|
इस कार्यशाला में विभिन्न तकनीकी संस्थानों के छात्र छात्राओं ने भाग लिया |
इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य छात्रों को विंडोज अज़्यूरका परिचय एवं इसके सहयोग से विभिन्न एप्लीकेशन के निर्माण की जानकारी प्रदान करनी थी|माइक्रोसॉफ्ट के तकनीकी बिशेषज्ञ श्री शमिल + कयूर ने विद्यार्थियों को विंडोज अज़्यूरका एप्लीकेशन में प्रयोग+अज़्यूर+एंड्राइड में तकनीकी अंतर+एनीमेशन एप्लीकेशन विंडोज ८ के इंटरेस्टिंग एवं दयानमिक एप्लीकेशन के प्रयोग आदि विषयो पर जानकारी प्रदान की|
कार्यक्रम को सफलतापूर्वक संपन्न करने में विश्व विद्यालय की शिक्षिका डॉ. निधि त्यागी आदि ने बहुमूल्य योगदान दिया
कार्यक्रम की समापन की अवसर पर विश्व विद्यालय की कुल सचिव डॉ. जयानंद ने छात्रों को नयी तकनीकी का प्रयोग करने एवं प्रोधोगिकी से जुड़कर अपने सर्वांगीण विकास पर बल देने को प्रेरित किया

विश्व विकलांग दिवस पर प्रत्येक वर्ष की भांति अनेकों कार्यक्रम हुए

world disability day In shobhit University

world disability day In shobhit University

[मेरठ]विश्व विकलांग दिवस पर प्रत्येक वर्ष की भांति अनेकों कार्यक्रम आयोजित किये गए |कही इनके लिए सतत प्रौधौगिक विकास का वायदा किया गया तो कहीं रैली निकाल कर इनके लिए शिक्षा का अधिकार माँगा गया |
[१]इसी उपलक्ष्य में शोभित विश्वविध्यालय मे विश्व विकलांग दिवस मनाया गया|
शोभित यूनिवर्सिटी ने आज वाणी स्कूल एंड रिसर्च सेंटर के मूक बधिर व मानसिक विकलांग विद्यार्थियों के साथ विश्व विकलांग दिवस मनाया/
कुल सचिव डॉ. जयानंद ने इन विद्यार्थियों को खेलो के माध्यम से आत्म विश्वास + कौशल बर्धन + व्यक्तित्व विकसित करने के लिए प्रेरित किया/
क्रिकेट+बेडमिन्टन+बोलीबॉल +खो -खो +म्यूजिकल चेयर आदि खेलो का आयोजन भी किया गया | क्रिकेट में मूक बधिर छात्र महेश , विराज , हिमांशु मिश्रा, असद , अंकित , समरुद्दीन ने उत्कर्ष प्रदर्शन किया |बेड मिन्टन में भी मोना , स्वेता रूचि निशा ने अपने खेल कौशल को दर्शाया |
वाणी स्कूल रिसर्च सेंटर की प्रधानाचार्य श्रीमती आंसू गुप्ता ने शोभित विश्व विद्यालय के सहयोग से इस दिन को मनानेपर प्रसन्नता व्यक्त की |समारोह की संयोजिका शोभित विश्व विद्यालय की डॉ. ज्योति शर्मा +वाणी स्कूल के मैनेजर श्री धर्मबीर अरोड़ाव स्टाफ में अनुज शर्मा , अजय प्रताप , पूनम शर्मा , शारदा शर्मा , ममता शर्मा , नेहा यजुर्वेदी ,शिखा चौधरी , डॉ. रेखा दीक्षित आदि ने कार्यक्रम को सफल बनाने में योगदान दिया
[२] विश्व विकलांग दिवस पर जागरूकता रैली निकाली
कैंट स्थित मूक बधिर विद्यालय से जागरूकता रैली निकाली गई। जिसमें स्कूली बच्चों ने भाग लिया। रैली को मुख्य अतिथि जिला अल्पसख्यक कल्याण अधिकारी एसएन पांडे ने हरी झंडी दिखाई। इस अवसर पर कार्यकारिणी समिति के अध्यक्ष धीरेन्द्र कुमार सिंघल, अरविन्द सिंघल प्रबंधक, विपिन बंसल, कृष्ण गोपाल सिंघल, डा0महेश बंसल, सुभाष चंद गुप्ता, कृष्ण कुमार मित्तल, विपिन सर्राफ, संजय बंसल, सुधीर मित्तल,
श्रीमती डा0 अमिता कौशिक, सर्वेश, रजनी, अनुभा, रेनू राठी, मीनू, रीना, बबीता, लक्ष्मी, अनुज, राकेश, विपुल, रोहित, आशू आदि भी उपस्थित रहे।

शोभित विश्वविद्यालय के छात्रों ने आईआईटी,रुड़की में नैनो विज्ञान का ज्ञान प्राप्त किया

[मेरठ]शोभित विश्वविद्यालय के छात्रों ने आई आई टी, रुड़की में शैक्षिक भ्रमण किया और नैनो विज्ञान का ज्ञान प्राप्त किया
जीव प्रौद्यौगिकी विज्ञान के छात्रों को इस क्षेत्र में हो रहे नवीन शोधों से अवगत कराने के उद्देश्य से विद्यार्थियों व् शिक्षकों के एक दल ने विश्वविख्यात आई आई टी, रुड़की के नैनो प्रौद्यौगिकी विभाग का शैक्षिक भ्रमण किया|
इस दल में छात्र पुष्पिता,तश्मियां,स्वाति,नमामि,डिंपल,अर्पिता,अपर्णा,अभिषेक,गौरव और अवनीश व् शोभित विश्वविद्यालय के जीव प्रौद्यौगिकी के शिक्षक आदित्य पुण्ढ़ीर एवं राशि अग्रवाल शामिल थे| आई आई टी, के आई आई सी विभागाध्यक्ष डॉ रमेश चन्द्र ने छात्रों को नैनो विज्ञान के अनुप्रयोगों की बढ़ती सूची का विवरण दिया|
उन्होंने बताया की नैनो प्रौद्यौगिकी सूचना प्रौद्यौगिकी, ऊर्जा, पर्यावरण विज्ञान, चिकित्सा, खाद्य सुरक्षा आदि क्षेत्रों में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने में मदद कर रहा है| प्रयोगशाला में आई आई सी के शोध छात्रों अमित, अनुज, समता, सतेंद्र ने नैनो लेवल पर पदार्थ के निर्माण की प्रायोगिक विधियों को समझाया|
पदार्थ को नैनो के पैमाने पर सुक्ष्म करके उसमे आश्चर्यजनक प्रभाव व् क्षमताएं उत्त्पन्न की जा सकती हैं| नैनो विज्ञान के अध्ययन को स्कैनिंग प्रोब सुक्ष्मदर्शी की खोज से नयी दिशा मिली है| विभागाध्यक्ष डॉ रेखा दीक्षित व् कुल सचिव डॉ जयानंद ने विश्वविद्यालय के इस कदम को छात्रों में नैनो विज्ञान के प्रति रूचि जाग्रत करने व् ठोस नीव के साथ छात्रों को तैयार करने की दृष्टि से विशिष्ठ बताया|