Ad

Tag: special status for Bihar state

Arun Jaitley Advocates Bihar For Special category status and Caveat Double Standard U P A

Leader of Opposition In Rajya Sabha And B J P Leader Arun Jaitley Advocates Bihar For Special category status
Arun Jaitley In His Blog Said That Natural Resources are Now a part of Jharkhand Which Was Separated From Bihar Hence Special Status Is mandatory For A Bihar Like State Blogger Jaitley Said “There are several states in the Eastern part of the country which economically have not progressed in comparison to the others. These States have also suffered from natural disadvantages. Their resource mobilization itself has been inadequate. It is therefore natural that these States aspire to get a special category status which will ensure higher central revenues and grants.
Bihar has been one such State which has been aspiring for a special category status. On account of division of the original Bihar between Bihar and Jharkhand, natural resources became a part of Jharkhand. The NDA government in all these years in Bihar had repeatedly demanded a special category status for Bihar. Amongst the political parties of Bihar there is a near consensus on this issue. The Congress in the last two years has held an olive branch to the JD(U) that it was willing to consider the grant of special category status to Bihar
While Targeting Double Standard Of Ruling U P A Jaitley said ” In the 2013 General Budget speech the Finance Minister had in fact indicated that the Government would constitute a committee in order to favourably consider the grant of special category status to Bihar. This assurance was more political than being linked to the economic necessities of Bihar.The intention of the UPA was to lead the JD(U) up the garden path that the special category status to Bihar was indeed coming. I do not know how the astute leadership of the JD(U) fell for this. Coincidentally the signaling towards this special category status was also at the same time when the JD(U)- BJP break-up in relationship took place. Once the JD(U) was on its own the special category status did not come. Simultaneously, in the Swayamvar between the RJD and JD(U) the Congress party preferred its old ally. Newspaper reports now indicate that the seat sharing between the RJD and the Congress is somewhat stalemated. The JD(U) has organized a state wide protest to demand the special category status. The media has also indicated that the JD(U) may even now attempt an alliance with the Congress, a party which has already double-crossed it on the special category status.

बिहार के विकास के लिए ,केंद्र सरकार से आश्वासन नही, केवल विशेष राज्य का दर्ज़ा ही चाहिए:नितीश कुमार

बिहार के मुख्य मंत्री ने नितीश कुमार ने आज फिर प्रदेश के विकास के लिए विशेष दर्जे की मांग दोहराई|नितीश कुमार ने कहा कि हमें आश्वासन नही ,विशेष राज्य का दर्जा ही चाहिए| विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने से बिहार का विकास होगा|यही प्रदेश के लोगों की भी मांग है|
नितीश कुमार ने पटना में राजकीय अतिथिशाला का उदघाटन करने के पश्चात पत्रकारों से वार्ता भी की|उन्होंने राज्य सभा में एक तारांकित प्रश्न के उत्तर में संसदीय कार्य राज्य मंत्री राजीव शुक्ला ने जो उत्तर दिया है उसमे कोई नई बात नही है|इसीलिए इस पर कोई प्रतिक्रिया दिए जाने का कोई अर्थ नही है| सारे तथ्य और तर्क प्रधान मंत्री को दिए जा चुके हैं अब राज्य के पिछड़े पण को दूर करने के लिए क्या उपाय करना है यह केंद्र को तय करना है|

बिहार को विशेष राज्य का दर्ज़ा ही नितीश को चुनावी वैतरणी पार कराएगा

झल्ले दी झल्ल्लियाँ गल्लां

एक दुखी भाजपाई

ओये झल्लेया ये जे डी यू वालों पर कौन सी साडे सत्ती आ गई है |देखो ना बिहार में हमारे सहयोग से अच्छी खासी सरकार चला रहे हैं और अब हसाडी भाजपा को घरेड में डालने के लिए उलटी सीधी शर्ते रख रहे हैं| पहले कहा जा रहा था कि नरेन्द्र मोदी पी एम् के रूप में स्वीकार्य नहीं है और अब पी एम् डिक्लेयर करने के लिए आठ महीने का नोटिस दे दिया गया है|अब पी एम् भी इन्हें टोपी पहनने वाला साफ धर्म निरपेक्ष छवि का होना चाहिए| इन्होने तो हमारे सहयोग से सत्ता सुख भोगते हुए भी हसाडे मुख्य मंत्रियों के पीठ पर छुरा घोंप दिया है|अपने विकास की तो कोई बात कही नहीं उलटे नरेन्द्र मोदी के विकास को लेकर स्यापा डाला जा रहा है| इनके वड्डे नेता शरद यादव को अब सिद्धांतों की राजनीती याद आ रहे है और इनके मुख्य मंत्री बाबू नितीश कुमार ने एक बार भी केंद्र सरकार की नीतियों कि आलोचना तक नहीं की| ओये ऐसे चलता है कोई गठ बंधन भला ?

बिहार को विशेष राज्य का दर्ज़ा ही नितीश को चुनावी वैतरणी पार कराएगा

बिहार को विशेष राज्य का दर्ज़ा ही नितीश को चुनावी वैतरणी पार कराएगा


झल्ला

ओ मेरे भोले सेठ जी बिहार को विशेष राज्य का दर्ज़ा ही नितीश को चुनावी वैतरणी पार कराएगा |इसके लिए यूं पी ऐ को खुश करना जरुरी है और इसके लिए नरेन्द्र मोदी की टांग खींचने का मन्त्र जांचा परखा है |पीएम प्रत्याशी घोषित करने की तो आपकी पार्टी में परंपरा रही है। आपने बाबू जगजीवन राम के नाम का एलान किया था ये बात अलग है कि आप कि पार्टी का सुपडा साफ़ हो गया था| आपने लाल कृषण आडवाणी को पी एम् इन वेटिंग बनाया तो सत्ता तक पहुंचते पहुंचते रह गए| अब जबकि नमो मंत्र कामयाब होता दिख रहा है तो इसे भी गद्धिगेड में डाला जा रहा है|झल्ले विचारानुसार तो नितीश बाबू अपने भाषण में अपनी सरकार की उपलब्द्धि का बखान नहीं कर पाए शायद इसीलिए अब कांग्रेस को खुश करने के लिए नरेन्द्र मोदी की राह में रोड़े डाल रहे हैं |हो सकता है की उनको यह लग रहा हो कि यदि केंद्र सरकार खुश हो गई तो बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिल सकेगा और अगर यह हो गया तो इसके सहारे २० सांसदों वाली इनकी जे डी यू द्वारा २०१४ की चुनावी वैतरणी को आसानी से पार कर लिया जाएगा|