Ad

Category: Crime

मोदीभापे !आरक्षण नही तो ना सही हक तो मिलना चाहिए

#मोदीभापे !

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभीषिकास्मृतिदिवस

आरक्षण नही तो ना सही हक तो मिलना चाहिए

वरना तुम्हारी तारीफों पर गुस्सा आना लाज़मी है

www.jamosnews.com

#Rehabilitation क्लेम की लूट

मोदीभापे ! हुकूमतों के तमाशाई अहले करम किसके लिए है ?

#मोदीभापे

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभीषिकास्मृतिदिवस

कष्ट सहे अपमानित हुई पीड़ितों की तीन पीढ़ियां

हुकूमतों के तमाशाई अहले करम किसके लिए है

#Rehabilitation

यूट्यूब लिंक

मोदीभापे !रावणों की नाभि भेदनार्थ फरियादें भेजना ही जीने का बहाना है

#मोदीभापे !

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभिषिकास्मृतिदिवस

नाराज नही हो तुमने 15 अगस्त को बता दिया

तो क्या दुनिया के डर से पीड़ितों को भुला दिया

दुनिया से हमारा हक यूं कब तक छुपाओगे ?

हम पीड़ित अकेले हैं और सर्वत्र अनगिनत रावण हैं

नाभि भेदनार्थ फरियादें भेजना ही जीने का बहाना है

#रिहैबिलिटेशन क्लेम की लूट

 

 

 

मोदीभापे !बुढापे में भी तरस रहे हक के #कम्पनसेशनक्लेम के लिए

#मोदीभापे

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभिषिकास्मृतिदिवस

बुढापे में भी तरस रहे हक के  #कम्पनसेशनक्लेम के लिए

,लगता है अर्थी पर साथ ही जाएगी हम पीड़ितों की हसरत

www.jamosnews.com

#Compensation/#Rehabilitation Claim की लूट

 

मोदीभापे !जिनसे फरियाद की वोही टाट में लपेट कर जूते मारते हैं

#मोदीभापे !

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभीषिकास्मृतिदिवस

इन्तेहा है !अपने वजीरों की जरा फुरस्त निकाल के देखो,

हुक्मरानों की वादाखिलाफी,हुक़ूम्बरदारों की सीना जोरी,

जिनसे फरियाद की वोही टाट में लपेट कर जूते मारते हैं 

आगाज़ दर्दीला है,जहां छोड़ने से पहले इन्तेहा भी देखेंगे

 

लखीमपुर हिंसा को हिन्दू बनाम सिख बनाना निंदनीय;वरुण गांधी

लखीमपुर हिंसा को हिन्दू बनाम सिख बनाना निंदनीय;वरुण गांधी

किसानों की पैरोकारी कर रहे  वरूण गांधी ने आरोप लगाया है कि लखीमपुर खीरी में पिछले दिनों हुई हिंसा की घटना को हिन्दू बनाम सिख बनाए जाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि यह कोशिश ना सिर्फ ‘‘अनैतिक व गलत धारणा’’ पैदा करने वाली है बल्कि ‘‘खतरनाक’’ भी है।वरूण गांधी किसानों के मुद्दे पर लगातार अपनी राय रख रहे हैं। लखीमपुर खीरी में पिछले दिनों हुई हिंसा को लेकर भी उन्होंने वीडियो साझा किए थे और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।
इसके बाद भाजपा की नवगठित राष्ट्रीय कार्यसमिति से वरूण को बाहर कर दिया गया था। 
उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘लखीमपुर खीरी की घटना को हिन्दू बनाम सिख की लड़ाई बनाने की एक कोशिश हो रही है। यह ना सिर्फ अनैतिक व गलत विमर्श पैदा करने वाली है बल्कि ऐसी कोई रेखा खींचना और उनके घावों को हरा करने का प्रयास, जिसे भरने में पीढ़ियां खप गईं, खतरनाक है। हमें राजनीतिक फायदे के लिए राष्ट्रीय एकता को ताक पर नहीं रखना चाहिए।’’ 
गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में गत रविवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे का विरोध करने के दौरान हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।
उत्तर प्रदेश पुलिस के एक विशेष जांच दल (एसआईटी) ने हिंसा के सिलसिले में आशीष मिश्रा को शनिवार को करीब 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया।
वरूध गांधी ने कहा कि लखीमपुर खीरी में न्याय के लिए संघर्ष गरीब किसानों की निर्दयी हत्या को लेकर है और इसका किसी धर्म विशेष से कोई लेनादेना नहीं है।
उन्होंने कहा, ‘‘प्रदर्शनकारी किसानों को खालिस्तानी बताया जाना ना सिर्फ हमारी सीमाओं की सुरक्षा के लिए लड़ने और खून बहाने वालों देश के महान सपूतों का अपमान है बल्कि राष्ट्रीय एकता के लिए खतरनाक भी है, यदि इससे गलत प्रकार की प्रतिक्रया हो जाए तो।’’

मोदीभापे !तुम्हे हुकूमत चाहिए, तुम हुक्मरां ही बने रहो

#मोदीभापे !

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभीषिकास्मृतिदिवस

पीड़ितों को तो सिर्फ इंसाफ मायने रखता है

तुम्हे हुकूमत चाहिए, तुम हुक्मरां ही बने रहो

#रिहैबिलिटेशन/#कंपनसेशन क्लेम की लूट

 

 

मोदीभापे ! माना कि मरहम दूसरों को है लाज़िम,बचा खुचा ही हमे लगा दो

#मोदीभापे !
#दिलकेफफोले
#विभाजनविभीषिकास्मृतिदिवस
शरीकों ने तो जख्म दिए,मरहम पर तकल्लुफ क्यूँ
दुआएं लो,इस पतवार से भवसागर भी पार होते है
माना कि मरहम दूसरों को है लाज़िम,बचा खुचा हमे लगा दो
ये पीड़ित तो दशकों से पूरा छलनी हैं ,जहां चाहो वही लगा दो
#Compensation/#Rehabilitation क्लेम की लूट

Cong’s G23 Leader Sibal Now Provokes PM Modi on #Lakhimpur Violence

(New Delhi )Cong’s G23 Leader Sibal Now Provokes PM Modi on #Lakhimpur Violence

Cong’s G23 Leader  Kapil Sibal  After Urging Top Court now provokes PM Narendra Modi  to Open Mouth on #Lakhimpur Violence

Top Advocate Sibal questioned Prime Minister Narendra Modi’s silence over the Lakhimpur Kheri incident, and said just “one word of sympathy” was needed from him.

Rajya Sabha Member Sibal  In a tweet, said, “Had you been in opposition how would you have reacted? Please tell us,”

Earlier this week, Sibal had urged the Supreme Court to act suo motu on the Lakhimpur Kheri violence.

He later thanked the Chief Justice of India after the Supreme Court took cognisance of the incident and had said courts in India are temples of justice that can restore the faith of the voiceless.

Four farmers were mowed down by an SUV in Lakhimpur Kheri when a group agitating against the Centre’s three new farm laws was holding a demonstration against the visit of UP Deputy Chief Minister Keshav Prasad Maurya.

Two BJP workers and a driver were beaten to death allegedly by the angry protesters, while a local journalist was also killed in the violence.

The UP police on Thursday made the first arrests in the Lakhimpur Kheri violence taking into custody two people and also summoned Union minister Ajay Mishra’s son Ashish Mishra, an accused, for questioning.

मोदीभापे ! एंजियोग्राफी करा लो,दिल का कोई हिस्सा कहीं रुखसत तो नही हो गया

#मोदीभापे !

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभीषिकास्मृतिदिवस

#मोदीभापे !

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभीषिकास्मृतिदिवस

सात बरसों की फरियादों का तुम्हारी  हुकूमत पर कोई असर नही दिखता

एंजियोग्राफी करा लो,दिल का कोई हिस्सा कहीं रुखसत तो नही हो गया

#DilKeFafole

Youtube Link

#रिहैबिलिटेशन/#कम्पेनसशन क्लेम की लूट