Ad

Category: Tourism

कॉमनवेल्थ कन्ट्रीज क्लब की सदस्यता में नफा नुकसान देखने का समय आ गया

                                                   झल्ली गल्लां

राष्ट्रवादी चिंतक 

ओए झल्लेया! स्वाद आ गया।ये ब्रिटेन वाले अपनी ग्रेटनेस का रुआब झाड़ते हुए हसाडे मुल्क की विश्व स्वीकृत मानव मात्र की रक्षक वैक्सीन की उपलब्धि का अपमान कर रहे है।हसाडी सरकार ने भी टिट फ़ॉर टेट का इनका ही नियम इन पर लागू करते हुए ब्रिटेन से आ रहे 700 हवाई यात्रियों का RTPCR करवा के 10 दिन के क्वारंटाइन के लिए इनके चॉइस प्लेस पर भेज दिया।हमारी देसी भाषा मे इसे कहते है “जैसे को तैसा”

झल्ला

ओ भापा जी!कॉमनवेल्थ कन्ट्रीज क्लब की सदस्यता में नफा नुकसान देखने का समय आ गया

ये ब्रिटेन एक व्यापारी मुल्क है। इसीलिए इनकी ना के पीछे भी कोई व्यवसायिक कारण छुपा होणा है।आपको मालूम होणा चाहिए कि भारत को आजादी देते समय इसे अपने चंगुल के कॉमन वेल्थ कन्ट्रीज के क्लब में शामिल रखने को  ब्रिटिश क्राउन ने देश के दो टुकड़े करवा दिए।बिना पर्याप्त व्यवस्था के ही देश विभाजित कर दिया जिसने विश्व की सबसे बड़ी त्रासदी को जन्म दिया। दस लाख निर्दोष मारे गए और सवा करोड़ के लगभग विस्थापित हो गए।इतने बड़े बलिदान के बावजूद भारत का अपमान अब नही सहेगा हिंदुस्तान।कॉमन वेल्थ  कन्ट्रीज क्लब में रहने का नफा नुकसान देखना जरूरी हो गया है।जल्द ही गुणा भाग जरूरी हो गया है।

मोदीभापे !बेशक ट्रस्ट को ना निकाल,बैनामे के आरोप सिरे से अनसुने तो न कर

#मोदीभापे
अयोध्या में श्रीराम की मर्यादा का मामला है,अनदेखा मत कर
न्यास को ना निकाल,लगे आरोप भी सिरे से अनसुने तो न कर
www.jamosnews.com
#कम्पेनसशन/#रिहैबिलिटेशन क्लेम की सरकारी लूट
#PMOPG/E/2016/0125052

टीएमसी सरकार ने बंगाल में मादा क्रोकोडाइल को बचाया,चलो अब आंसूओं का ज्ञान मि जाएगा

झल्लीगल्लां
तृणमूल कांग्रेस का चेयरलीडर
TMC Cartoonओये झल्लेया!हमने कड़ी मेहनत से सुंदरबन से एक जिंदा मादा क्रोकोडाइल को बचा लिया ।पौनेदसफीटा यह जीव तूफान याश में बह कर भटक गया था
झल्ला
आपकी सीएम सुश्री ममता बनर्जी ने पीएम नरेंद्र मोदी की मीटिंग से अनुपस्थित रहने पर जो आंसू बहाये थे अब उन आंसूओं और इस बेजान के आंसुओं मेंअंतर खोजने केवलिये रिसर्च हो पाएगी।।हमे भी कुछ ज्ञान मिल पायेगा।

मेरठ का1वाहन कमेला तो कंट्रोल नही हो रहा,देश भर में कमेले खोलने चले

झल्लीगल्लां
व्यंगकार
 ओए झल्लेया !ये क्या हो रहा है? ओए मोदी सरकार स्क्रैप पालिसी थोप कर पुरानी एंटीक गाड़ियों के दर्शन दुर्लभ करने जा रही है।ओए अब एंटीक गाड़ियों का प्रदर्शन/रेस नही होगी । वाहन निर्माता भी अपने वाहन की लंबी लाइफ का दावा नही कर पाएंगे
झल्ला
झल्ला भापा जी!मेरठ का1वाहन कमेला तो कंट्रोल नही हो रहा,देश भर में कमेले खोलने चले
मेरठ के सोतीगंज में एक वाहन कमेला लखनऊ से लेकर दिल्ली के शासन+प्रशासन के काबू नही आ रहा और ये परिवहन मंत्री नितिन गडकरी पूरे देश मे वाहन कमेले खोलने जा रहे हैं और उम्मीद है कि इन कमेलों को पर्यटन केंद्र बना कर प्रवेश टिकट भी लगा दिया जाएगा

गडकरी जी !वाहन कमेले और स्क्रैप पालिसी राष्ट्र में लागू हो पाएगी?

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर
ओए झल्लेया! मुबारकां!!ओए हसाडे मुल्क में चमचमाती साफ सुथरी सड़कों पर नई नवेली गाड़ियां ही फर्राटा भरेंगी।हसाडे कर्मयोगी परिवहन मंत्री नितिन गडकरी जी ने पार्लियामेंट में एलानिया कह दिया है किपुरानेवाहनों का बोझ अब राष्ट्र सहन नही करेगा। उन्होंने पूरे देश मे स्क्रैप पालिसी की भी बात कह दी है।अब 15-20 ,साल पुराने वाहन स्वेच्छा से कटवाएँ जाएंगे।इससे नॉकरियाँ मिलेंगी+इकॉनमी तो दौड़ेगी साथ ही पर्यावरण भी सुधरेगा।
झल्ला चतुर सेठ जी! ठीक ही है।पूरे राष्ट्र में वाहन कमेले खुलने से शायद चोरी चकारी के वाहनों का गैरकानूनी कटान रुक जाए लेकिन झल्लेविचारानुसार एआप लोग किसानों के पुराने ट्रैक्टर ट्रालियों पर तो यू टर्न ले लेते हो ऐसे में पूरे राष्ट्र में इस पालिसी को लागू करने की बात क्यूँ करते हो

हेमामालिनी ने अयोध्या की तर्ज पर मथुरा के लिए फंड्स मांगे ; मथुरा कार्ड

झल्लीगल्लां
कृष्णभक्त
ओए झल्लेया! राधे राधे !!
ओए हसाडी सोणी सांसद श्रीमती हेमा मालिनी जी ने लोक सभा मे अनुदान मांग पर हो रही चर्चा में भाग लेते हुए धर्म नगरी मथुरा के विकास और यमुना जी की सफाई के लिए अयोध्या की तर्ज पर विशेष फंड्स की मांग की है।राधे राधे
झल्ला
Jhallaa Cartoonभापा जी!राधे राधे!!आपकी धार्मिक नगरी मथुरा पर्यटन का भी मुख्य केंद्र है इसीलिए वहां का विकास होना ही चाहिए लेकिन चुनावी बेला में ऐसी मांग उठाने से कहीं ना कहीं लगता है कि अयोध्या के बाद अब मथुरा की तैयारी है।

गडकरी जी!पर्यटक वाहन यौजना से स्कैनिया बस वालों को कितना फायदा होगा ?

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर
ओए झल्लेया! हसाडे सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी जी ने अपने कांधों पर एक और सितारा अर्जित कर लिया।ओए उन्होंने पर्यटक वाहन संचालकों के लिए नई योजना की घोषणा की है जिसके अंतर्गत अब 1 एप्रिल से ऑनलाइन आवेदन जमा करने के 30 दिनों के भीतर परमिट जारी कर दिया जाएगा। इससे बिना किसी बाधा के पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और राज्यों का राजस्व बढ़ेगा
झल्ला
चतुर सेठ जी!बेशक यह परमिट वाली स्कीम 3 महीने के लिए है। इसके परिणाम देखने के लिए यह पर्याप्त समय है लेकिन झल्ले दिमाग मे एक शक की सुई चुभने लग गई है।शक ये है कि इस परमिट स्कीम से स्कैनिया की लक्ज़री बस /फॉक्सवेगन वालों को कितना फायदा होगा?

मोदीभापे !तुम्हें दौरों से ही नही फुर्सत ,कह दोगे एक दिन कहीं और जा मरो

#मोदीभापे
खुशी मिलती गर तुम्हारे राज में किसी पीड़ित को न्याय मिला होता
तुम्हें दौरों से ही नही फुर्सत,कह दोगे एक दिन कहीं और जा मरो
बंगाल से बंगलादेश का टूर
#कंपनसेशन/#रिहैबिलिटेशन क्लेम की सरकारी लूट
#PMOPG/E/2016/0125052

मोदीभापे!अमृतमहोत्सव में 1947 के पीड़ितों के सूखे हलक में न्यायअमृत की चंद बूंदे डालोगे

#वयोवृद्धस्वतंत्रसेनानी ओए झल्लेया!मोदी सरकार ने हसाडे कलेजे में ठंडक पा दित्ती ।ओए आज 12 मार्च से हसाडी अपनी भारत सरकार द्वारा ‘ आजादी का #अमृतमहोत्सव’ (#India75) मनाया जाएगा । केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रहलाद सिंह पटेल स्वयम अहमदाबाद के साबरमती आश्रम से पदयात्रा (स्वतंत्रता मार्च) का नेतृत्व करेंगे।महान भारत के महान प्रधानमंत्री नरेन्द्र भाई दामोदरदास मोदी पदयात्रा को झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। ।ओए महात्मा गांधीजी ने नमक कानून के खिलाफ 81 पदयात्रियों के साथ 12 मार्च, 1930 को साबरमती आश्रम से दांडी मार्च की शुरुआत की थी।
झल्ला भापा जी!आपजीकी गल सोलह आने सच्च और चंगी है।आजादी के दीवानों को याद रखना ही चाहिए । कांवड़ यात्रा की तरह यह दांडी यात्रा भी टूरिज्म के नए द्वार खोल सकती है।लेकिन एक बात समझाओ कि भारत सरकार इस महोत्सव में अमृत बटोरेगी या फिर
1947 के बचे खुचे पीड़ितों के सूख चुके हलक में को न्याय अमृत की चंद बूंदे डालेगी????????

गडकरी जी! स्कैनिया के खिलाफ मानहानि का दावा कब कर रहे हो?

झल्लीगल्लां
तपाहुआभजपाई
Jamos Cartoonओए झल्लेया! ऐ की हो रेया? अब स्वीडन की स्कैनिया भी हम पर रिश्वतखोरी का कीचड़ उछालने लगी।राज्यों में चुनाव होने जा रहे हैं और एन वक्त पर हसाडे मंत्री पर रिश्वत के रूप में बसें लेने की बात कही जाने लगी गी।ये तो हसाडे खिलाफ कोई नया षड्यन्त्र ही है । बताओ !कह रहे हैं कि मंत्री की बेटी की शादी में बस दी ।अरे भाई बेटी की शादी में तो लोग पता नही क्या क्या दे जाते हैं और ये स्वीडिश बस के पैसे की बात कर रहे है।हसाडे कर्मठ मंत्री नितिन गडकरी जी ने तत्काल इसका खण्डन कर दिया है
Jhallaa Cartoonझल्ला मेरे भोले सेठ जी!गडकरी जी अपनी और पार्टी की छवि बचाने के लिए स्कैनिया पर कब मान हानि का दावा ठोंक रहे हैं और तब तक बसों के अस्तित्व से इनकार की प्रतीक्षा भी रहेगी।वरना विपक्ष इन अति आधुनिकबसों के हॉर्न चुनांवों में बजायेंगे ही बजायेंगे