Ad

Category: Politics

मोदीभापे !आरक्षण नही तो ना सही हक तो मिलना चाहिए

#मोदीभापे !

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभीषिकास्मृतिदिवस

आरक्षण नही तो ना सही हक तो मिलना चाहिए

वरना तुम्हारी तारीफों पर गुस्सा आना लाज़मी है

www.jamosnews.com

#Rehabilitation क्लेम की लूट

मोदीभापे ! हुकूमतों के तमाशाई अहले करम किसके लिए है ?

#मोदीभापे

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभीषिकास्मृतिदिवस

कष्ट सहे अपमानित हुई पीड़ितों की तीन पीढ़ियां

हुकूमतों के तमाशाई अहले करम किसके लिए है

#Rehabilitation

यूट्यूब लिंक

मोदीभापे !रावणों की नाभि भेदनार्थ फरियादें भेजना ही जीने का बहाना है

#मोदीभापे !

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभिषिकास्मृतिदिवस

नाराज नही हो तुमने 15 अगस्त को बता दिया

तो क्या दुनिया के डर से पीड़ितों को भुला दिया

दुनिया से हमारा हक यूं कब तक छुपाओगे ?

हम पीड़ित अकेले हैं और सर्वत्र अनगिनत रावण हैं

नाभि भेदनार्थ फरियादें भेजना ही जीने का बहाना है

#रिहैबिलिटेशन क्लेम की लूट

 

 

 

गतिशक्ति से कुछ लोगों की गति जरूर हो जाएगी

                                                                     झल्ले दी गल्लां

भाजपाई चेयरलीडर

ओए झल्लेया! वोह मारा पापड़ वाले को।हसाडे धाकड़ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्रमोदी जी ने मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी के लिए ₹ 100 लाख करोड़ का नेशनल मास्टर प्लान गतिशक्ति लांच कर दिया है।

 ओए इससे लॉजिस्टिक की लागत कम  हो जाएगी,अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा और  बुनियादी ढांचे का विकास होगा।इसके अलावा 
लॉजिस्टिक्स की लागत में कमी आएगी।कार्गो हैंडलिंग क्षमता बढ़ जाएगी और कार्यान्वयन तेज  हो जाएगा।

मानता है ना कि मोदी है तो ही मुमकिन है

झल्ला 

ओ मेरे चतुर सेठ जी! ये विकास की गाड़ी पुराने निरन्तर घटाए जा रहे पहियों पर ही चलेगी ।ये पहिये आपकी गाड़ी को सात बरसों में 24 कोस पीछे ले जा चुके है।हाँ इस गतिशक्ति से आप लोगों के कुछ अपनों की गति जरूर हो जाएगी।

Ex PM Dr Manmohan Admitted to AIIMS,PM Modi Wished Speedy Recovery

(New Delhi)Ex PM Dr Manmohan Admitted to AIIMS,PM Modi Wished Speedy Recovery 

Dr Manmohan Singh was admitted to the All India Institute of Medical Sciences  on Wednesday evening after he complained of weakness following a fever.

Prime Minister Narendra Modi on Thursday wished his predecessor Dr Manmohan Singh, a speedy recovery.

Modi tweeted, “I pray for the good health and speedy recovery of Dr. Manmohan Singh Ji.” 
Earlier, Union Health Minister Mansukh Mandaviya visited the former prime minister and enquired about his health from the doctors treating him.

मोदीभापे !बुढापे में भी तरस रहे हक के #कम्पनसेशनक्लेम के लिए

#मोदीभापे

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभिषिकास्मृतिदिवस

बुढापे में भी तरस रहे हक के  #कम्पनसेशनक्लेम के लिए

,लगता है अर्थी पर साथ ही जाएगी हम पीड़ितों की हसरत

www.jamosnews.com

#Compensation/#Rehabilitation Claim की लूट

 

मोदीभापे !जिनसे फरियाद की वोही टाट में लपेट कर जूते मारते हैं

#मोदीभापे !

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभीषिकास्मृतिदिवस

इन्तेहा है !अपने वजीरों की जरा फुरस्त निकाल के देखो,

हुक्मरानों की वादाखिलाफी,हुक़ूम्बरदारों की सीना जोरी,

जिनसे फरियाद की वोही टाट में लपेट कर जूते मारते हैं 

आगाज़ दर्दीला है,जहां छोड़ने से पहले इन्तेहा भी देखेंगे

 

लखीमपुर हिंसा को हिन्दू बनाम सिख बनाना निंदनीय;वरुण गांधी

लखीमपुर हिंसा को हिन्दू बनाम सिख बनाना निंदनीय;वरुण गांधी

किसानों की पैरोकारी कर रहे  वरूण गांधी ने आरोप लगाया है कि लखीमपुर खीरी में पिछले दिनों हुई हिंसा की घटना को हिन्दू बनाम सिख बनाए जाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि यह कोशिश ना सिर्फ ‘‘अनैतिक व गलत धारणा’’ पैदा करने वाली है बल्कि ‘‘खतरनाक’’ भी है।वरूण गांधी किसानों के मुद्दे पर लगातार अपनी राय रख रहे हैं। लखीमपुर खीरी में पिछले दिनों हुई हिंसा को लेकर भी उन्होंने वीडियो साझा किए थे और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।
इसके बाद भाजपा की नवगठित राष्ट्रीय कार्यसमिति से वरूण को बाहर कर दिया गया था। 
उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘लखीमपुर खीरी की घटना को हिन्दू बनाम सिख की लड़ाई बनाने की एक कोशिश हो रही है। यह ना सिर्फ अनैतिक व गलत विमर्श पैदा करने वाली है बल्कि ऐसी कोई रेखा खींचना और उनके घावों को हरा करने का प्रयास, जिसे भरने में पीढ़ियां खप गईं, खतरनाक है। हमें राजनीतिक फायदे के लिए राष्ट्रीय एकता को ताक पर नहीं रखना चाहिए।’’ 
गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में गत रविवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे का विरोध करने के दौरान हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।
उत्तर प्रदेश पुलिस के एक विशेष जांच दल (एसआईटी) ने हिंसा के सिलसिले में आशीष मिश्रा को शनिवार को करीब 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया।
वरूध गांधी ने कहा कि लखीमपुर खीरी में न्याय के लिए संघर्ष गरीब किसानों की निर्दयी हत्या को लेकर है और इसका किसी धर्म विशेष से कोई लेनादेना नहीं है।
उन्होंने कहा, ‘‘प्रदर्शनकारी किसानों को खालिस्तानी बताया जाना ना सिर्फ हमारी सीमाओं की सुरक्षा के लिए लड़ने और खून बहाने वालों देश के महान सपूतों का अपमान है बल्कि राष्ट्रीय एकता के लिए खतरनाक भी है, यदि इससे गलत प्रकार की प्रतिक्रया हो जाए तो।’’

मोदीभापे !तुम्हे हुकूमत चाहिए, तुम हुक्मरां ही बने रहो

#मोदीभापे !

#दिलकेफफोले

#विभाजनविभीषिकास्मृतिदिवस

पीड़ितों को तो सिर्फ इंसाफ मायने रखता है

तुम्हे हुकूमत चाहिए, तुम हुक्मरां ही बने रहो

#रिहैबिलिटेशन/#कंपनसेशन क्लेम की लूट

 

 

भजपा सरकार आउटसोर्सिंग से न चलने लगे:अखिलेश यादव

(सहारनपुर)भजपा सरकार आउटसोर्सिंग से न चलने लगे:अखिलेश यादव 

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार की विनिवेश नीति पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि ‘‘कहीं ऐसा न हो जाए कि ईस्ट इंडिया कंपनी की तरह देश पर उद्योगपतियों का राज हो जाए और सरकार आउटसोर्सिंग से चलने लगे।’’ अखिलेश ने यहां एक रैली में कहा, ‘‘केंद्र की भाजपा सरकार सब कुछ बेचती चली जा रही है। याद होगा कि अंग्रेज कारोबार करने आए थे। ईस्ट इंडिया कंपनी दो-तीन चीजों का कारोबार करती थी। धीरे-धीरे करके उसने कारोबार बढ़ा लिया और अंग्रेजों ने एक कानून पास किया जिससे ईस्ट इंडिया कंपनी खुद सरकार बन गई।’’ समाजवादी सुप्रीमो ने  आरोप लगाया, ‘‘भाजपा एक-एक करके सब कुछ निजी हाथों में बेच रही है। हो सकता है कि एक दिन सरकार ही कंपनी के हाथों बिक जाएगी और सरकार आउटसोर्सिंग से चलने लगेगी। जब सब चीजें बिक जाएंगी तो बाबा साहब भीमराव आंबेडकर ने संविधान में हमें जो अधिकार दिए हैं, वे सब छिन जाएंगे।’’ उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य का आगामी विधानसभा चुनाव देश की तकदीर का चुनाव है, यह नौजवानों और किसानों के भविष्य को तय करने का चुनाव है।
अखिलेश ने उपस्थित लोगों से अपील की, ‘‘अगर देश को बचाना है तो भाजपा को हराना होगा। हमने भाजपा को रोकने के लिए पिछले लोकसभा चुनाव में बसपा के साथ गठबंधन किया। जो भी समझौते कर सकते थे, वो किए लेकिन उत्तर प्रदेश से भाजपा ज्यादा सीटें जीत गई। अगर 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को हरा दिया जाता तो ये तीन काले (केंद्रीय कृषि) कानून नहीं आते।’’