Ad

Category: Tourism

कॉमनवेल्थ कन्ट्रीज क्लब की सदस्यता में नफा नुकसान देखने का समय आ गया

                                                   झल्ली गल्लां

राष्ट्रवादी चिंतक 

ओए झल्लेया! स्वाद आ गया।ये ब्रिटेन वाले अपनी ग्रेटनेस का रुआब झाड़ते हुए हसाडे मुल्क की विश्व स्वीकृत मानव मात्र की रक्षक वैक्सीन की उपलब्धि का अपमान कर रहे है।हसाडी सरकार ने भी टिट फ़ॉर टेट का इनका ही नियम इन पर लागू करते हुए ब्रिटेन से आ रहे 700 हवाई यात्रियों का RTPCR करवा के 10 दिन के क्वारंटाइन के लिए इनके चॉइस प्लेस पर भेज दिया।हमारी देसी भाषा मे इसे कहते है “जैसे को तैसा”

झल्ला

ओ भापा जी!कॉमनवेल्थ कन्ट्रीज क्लब की सदस्यता में नफा नुकसान देखने का समय आ गया

ये ब्रिटेन एक व्यापारी मुल्क है। इसीलिए इनकी ना के पीछे भी कोई व्यवसायिक कारण छुपा होणा है।आपको मालूम होणा चाहिए कि भारत को आजादी देते समय इसे अपने चंगुल के कॉमन वेल्थ कन्ट्रीज के क्लब में शामिल रखने को  ब्रिटिश क्राउन ने देश के दो टुकड़े करवा दिए।बिना पर्याप्त व्यवस्था के ही देश विभाजित कर दिया जिसने विश्व की सबसे बड़ी त्रासदी को जन्म दिया। दस लाख निर्दोष मारे गए और सवा करोड़ के लगभग विस्थापित हो गए।इतने बड़े बलिदान के बावजूद भारत का अपमान अब नही सहेगा हिंदुस्तान।कॉमन वेल्थ  कन्ट्रीज क्लब में रहने का नफा नुकसान देखना जरूरी हो गया है।जल्द ही गुणा भाग जरूरी हो गया है।

PM Modi Opens His Treasure Of Gifts+Momentos For Auction

(New Delhi)PM Modi Opens His Treasure Of Gifts+Momentos For Auction 

The Prime Minister, of India Narendra Modi has called citizens to take part in the auction of gifts and mementos. He said that the proceeds would go to the Namami Gange initiative.

In a tweet, the Prime Minister said;

“Over time, I have received several gifts and mementos which are being auctioned. This includes the special mementos given by our Olympics heroes. Do take part in the auction. The proceeds would go to the Namami Gange initiative.”

Afghan Nationals Asked to Travel to India only on e-Visa

(New Delhi)Afghan Nationals Asked to Travel to India only on e-Visa

Keeping in view some reports that certain passports of Afghan nationals have been misplaced, previously issued visas to all Afghan nationals, who are presently not in India, stand invalidated with immediate effect.  Afghan nationals wishing to travel to India may apply for e-Visa

अक्सर ठप्प संसद भवन भी किराए पर उठा दें तो अच्छी खासी कमाई हो जाएगी

                                                       झल्लीगल्ला

भाजपाइचिंतक

ओए झल्लेया!मुबारकां!! ओए अब हसाडा मुल्क फिर से कहलायेगा “सोने की चिड़िया”

हसाडी होनहार वित्तमंत्री श्रीमती निर्मला सीतारामन जी ने  उपयोग में नही आ रही सम्पत्तियों को किराए पर उठाने का निर्णय ले लिया है।पहले चरण में रेलवे+ स्टेडियम+ऊर्जा+सड़कों को किराए पर दिया जाएगा।ओए हसाडी जनसेवा को  समर्पित सरकार ने जनसेवा के लिए छह लाख करोड़ ₹जुटाने को कमर कस ली है।अब तो भारत का बुनियादी ढांचा मजबूत होवे हीहोवे

झल्ला

हाँ जी

अब सरकारी सम्पत्तियों पर कब्जे के डर से निजात मिल जाएगी।किरायेदार जाने और जाने आंदोलनकारी

वैसे झल्लानुसार अगर अक्सर ठप्प रहने वाले संसद (पुराना)भवन को भी किराए पर उठा दिया जाए तो यहां शादी ब्याह+पार्टी+मीटिंग्स से अच्छी खासी कमाई हो सकती है।

मोदीभापे !बेशक ट्रस्ट को ना निकाल,बैनामे के आरोप सिरे से अनसुने तो न कर

#मोदीभापे
अयोध्या में श्रीराम की मर्यादा का मामला है,अनदेखा मत कर
न्यास को ना निकाल,लगे आरोप भी सिरे से अनसुने तो न कर
www.jamosnews.com
#कम्पेनसशन/#रिहैबिलिटेशन क्लेम की सरकारी लूट
#PMOPG/E/2016/0125052

अयोध्या में बैनामे का गोरखधंधा,कांग्रेस का पाला पोसा

झल्लीगल्लां
उत्साहितकांग्रेसी

Ram Mandir

Ram Mandir

राम! राम !!राम !!!
घोर अनर्थ।ओए झल्लेया !राम के नाम पर इतनी बड़ी लूट।अयोध्या मे बन्न रहे भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए बनाए गए राममंदिरट्रस्ट ने दो करोड़ ₹ की भूमि साढ़े अठारह करोड़ में खरीद डाली।ये तो घोर कलयुग है ।राम के नाम पर केंद्र और यूपी में सत्ता कब्जाने वालों का असली चेहरा सामने आ गया।
झल्ला
चतुरसुजाण जी।
झल्लाचलो मौके की इंतज़ार में बैठे आपलोगों को बैठे बिठाए 2022 तक चिल्लाने के लिए मौका मिल गया लेकिन झल्लेविचारानुसार यह सारा गोरखधंदा बैनामे का है जिसे आपलोगों की सरकारों ने ही पाला पोसा है।
बैनामे रूपी रुमाल रख कर पहले जमीत घेर लो फिर वहां यौजनाएँ बनाओ और मनचाहा लूट लो

अमेरिका ने अपने नागरिकों को जल्द भारत छोड़ने की सलाह दी;कोविड

(वाशिंगटन, 29,अप्रैल) अमेरिका ने अपने नागरिकों को जल्द भारत छोड़ने की सलाह दी;कोविड
यह ऐसा किया गया है क्योंकि भारत में कोविड-19 के मामले बढ़ने के बीच सभी तरह की चिकित्सीय देखभाल के संसाधन सीमित हो गए हैं।
अमेरिका ने भारत पर चौथे चरण का यात्रा परामर्श जारी किया है जो विदेश विभाग द्वारा जारी किए जाने वाला सबसे अधिक स्तर का परामर्श होता है।
विदेश विभाग ने ट्वीट किया, ‘‘भारत में कोविड-19 के मामलों के कारण चिकित्सीय देखभाल के संसाधन बेहद सीमित हैं। भारत छोड़ने की इच्छा रखने वाले अमेरिकी नागरिकों को अभी उपलब्ध वाणिज्यिक विकल्पों का इस्तेमाल करना चाहिए। अमेरिका के लिए रोज चलने वाली उड़ानें और पेरिस तथा फ्रैंकफर्ट से होकर आने वाली उड़ानें उपलब्ध हैं।’’
भारत मे दूतावास ने एक बयान में कहा, ‘‘भारत में कोविड-19 के नए मामले और मौत की संख्या रिकॉर्ड स्तर तक बढ़ गई है। कई स्थानों पर कोविड-19 जांच का बुनियादी ढांचा बाधित हो गया है।’’
इसमें कहा गया है, ‘‘अस्पतालों में कोविड-19 और गैर कोविड-19 मरीजों के लिए चिकित्सा सामान, ऑक्सीजन और बिस्तरों की कमी हो गई है। कुछ शहरों में जगह न होने के कारण अमेरिकी नागरिकों को अस्पतालों में भर्ती करने से इनकार करने की खबरें हैं। कुछ राज्यों में कर्फ्यू और अन्य पाबंदियां हैं जिससे गैर आवश्यक कारोबारों का संचालन रुक गया है और आवाजाही सीमित हो गई है।’’

Capt Would Offer Ardas From Residence;Guru Teg Bahadur Prakash Purb

(Chd,Pb)Capt Would Offer Ardas From Residence;Guru Teg Bahadur Prakash PurbPunjab Chief Minister Captain Amarinder Singh would virtually join the people in offering ‘Ardas’ from his residence on the auspicious occasion of 400th Prakash Purb celebrations of  Sri Guru Tegh Bahadur Sahib on May 1 (Saturday).Gurpurab celebrations would begin from the residence of Tourism and Cultural Affairs Minister Charanjit Singh Channi at Morinda from 11 am with Gurmat Sangeet by Bhai Gurmeet Singh Shant followed by Path Sri Anand Sahib, Ardas and Hukamnama at the residence of the Chief Minister at 11:45 am.  The Chief Minister had also appealed to the people to watch the events on TV and offer ‘Ardas’ from their homes and avoid congregating at the religious places in view of the crisis situation.

राष्ट्रहित मे शोधकार्यों के लिए हो जाये जवानी और अनुभव में प्रतिस्पर्धा

झल्लीगल्लां

Education Policy

Education Policy

चिंतितशिक्षाविद ओए झल्लेया!हसाडे मुल्क में शिक्षा और शोध पर जो भी खर्च हो रहा है उसका पर्याप्त लाभ देश को नही मिल पा रहा।डॉक्टर/इंजीनियर/ टेक्नोक्रेट्स आदि आदि अनुदान वाले शिक्षण संस्थाओं से महंगी महंगी डिग्रियां लेकर उनका उपयोग जनता के लाभ के लिए नही करते।शोधकर्ता तो (अधिकांश)राजनीति में आने को ही लालायित रहते हैं।होस्टल में जवानी खपाने वाली प्रतिभाओं का राजनीतिक शोषण भी हो रहा है।अब देख तो कोरोना नाशक वैक्सीन के लिए भी रशियाँन स्पुतनिक और अमेरिकन पफिज़र की तरफ देखना पढ़ रहा है।किसान डिग्रियां लेकर भी खेत बेच कर कंक्रीट के जंगल विकसित करने में जुटा है।जनलाभः वाले शोध कुछ व्यवसायियों की चारदीवारी से बाहर केवल उनकी तिजोरी भरने के लिए ही निकाले जाते हैं।
झल्लाभापा जी!राष्ट्रहित मे शोधकार्यों के लिए हो जाये जवानी और अनुभव में प्रतिस्पर्धा
शिक्षाआप जी की गल और उसमे लिपटी पीड़ा वाकई जायज है। लेकिन अनेकों नाम ऐसे हैं जो अपनी शिक्षा और व्यवसाय से पूर्णतया न्याय कर रहे है।डॉ हर्षवर्धन+डॉ महेशशर्मा+मनीषतिवारी+कपिल सिब्बल+रविशंकरप्रसाद जैसे अनेकों नाम गिनाए जा सकते हैं ।फिर भी चूंकि आपने जायज सवाल उठाया है सो झल्लेविचारानुसार सेवानिवृत होने वाले सरकारी/गैर सरकारी लोगों को भी शोध के लिए एक प्लेटफॉर्म दिया जाना चाहिए।हो जाये जवानी और अनुभव में प्रतिस्पर्धा

MoRTH Achieves Record ;Daily Construction of Highways 37 Kms

(New Delhi) MoRTH Achieves Record-Breaking Milestone of Daily Construction of Highways
Tremendous progress has been achieved in building of National Highways across the country in the last few years by the Ministry of Road Transport and Highways. The Ministry has achieved the record-breaking milestone of constructing 37 kilometres highways per day in year 2020-21, which is unprecedented. Minister for Road Transport & Highways and MSME,
Average annual construction (average annual construction length) during FY2015 to FY2021 has increased by 83% compared to FY2010 to FY2014
Cumulative cost of ongoing project works has increased by 54% at the end of Financial Year 2021 compared to Financial Year 2020 (as on March 31st)