Ad

Tag: झल्ले दी झल्ली गल्लां

वेस्ट बंगाल की अनदेखी करने वाले पी एम् को मारूं तो कहोगे दीदी गुंडी है

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

ममता के ममत्व का मारा एक बेचारा त्रिमुली कांग्रेसी

ओये झाल्लेया ये क्या हो रहा है ?ओये हसाडा पश्चिमी बंगाल दाने दाने को मोहताज़ हो रहा है और केंद्र सरकार आर्थिक मदद देने के बजाय उलटे पुराने कर्ज़ की अदायगी के लिए प्रेशर बनाए जा रही है|ओये इसीलिए हसाडी दीदी ने भी गुस्से का इज़हार करते हुए कह दिया है कि राज्यों के साथ कोआपरेशन का दावा करने वाले प्रधान मंत्री उनकी कोई बात नहीं सुन रहे |उन्होंने तो मैदान में घूम घूम कर यहाँ तक कह दिया है कि अब पी एम् को मारूं क्या अगर मारू तो मुझे[ममताबनर्जी] गुंडी कहा जाने लगेगा|

वेस्ट बंगाल की अनदेखी करने वाले पी एम् को मारूं तो कहोगे दीदी गुंडी है


झल्ला

ऐ बाबू मोशाय चैरिटी बिगिन्स एट होम्स और आपकी दीदी ने सत्ता रूड कांग्रेसी घर छोड़ दिया है |इसके अलावा उस सत्ता घर वालों को २०१४ में अपने बाएं हाथ को मजबूत भी करना है और उसके लिए आपकी सी एम् की ममता से दूरी जरुरी है|और ये जो आपने गुंडई की बात कही है तो बाबु मोशाय आप लोगों ने तो सोशल साईट्स के एक कार्टूनिस्ट की ऎसी तैसी करके बहुत कुछ साबित कर ही दिया है
फाइल फोटोस

पुराने कानूनों का कडाई से पालन करा लो देश और दिशा बदल जायेगी

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक सोश्लाईट

ओये झाल्लेया देखा बेचारी दामिनी के साथ क्या जुल्म हुआ है|मरने के बाद भी धरा १४४ लगा कर गुपचुप तरीके से उस बेचारी का अंतिम संस्कार कर दिया गया|इसके बाद भी लड़कियों से छेड़छाड़ के मामले रुक नहीं रहे हैं |अब दोषियों को फांसी देदेनी चाहिए या फिर इन्हें नपुंसक बना कर जिल्लत भरी जिन्दगी जीने का श्राप दे देना चाहिए| चलती चार्टर्ड बस में दरिन्दगी की शिकार इस 23 वर्षीय पीडिता की मौत और उसके बाद उसकी गोपनीय अंत्येष्टि से सुशासन के लिए चिंगारी एक बार फिर सुलग उठी है और अब की बार यह चिंगारी शोला बन कर भड़क भी जायेगी| ओये अब इस दामिनी का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा|अब तो कुछ हो कर ही रहेगा

पुराने कानूनों का कडाई से पालन करा लो देश और दिशा बदल जायेगी


झल्ला

हां बाऊ साहब उस बेचारी के साथ तो बहुत बुरा ही हुआ है तभी पूरी मानवता रो रही है|और बदलाव की आग भड़क उठी है मगर शोले रूपी इस गरल को धारण करने के लिए अभी कोई कोई सुपात्र दर्शनीय नही है ।| रेपिस्ट को नपुंसक बना कर उनके अंग भंग करने से ये भिखारियों की संख्या बड़ा कर नेताओं के वोट बैंक बनेंगे और उलटे सीधे लाभ पाने के हक़दार कहलाये जायेंगे |फांसी की मांग जायज़ है मगर इसी दिल्ली में नाबालिग भाई बहन संजय, गीता चोपड़ा के हत्यारों [रंगा बिल्ला ] को भी १९८२ में फांसी दी गई थी मगर अपराध फिर भी नही रुके उलटे अब तो प्रति दिन एक की औसत से दिल्ली में ही बलात्कार दर्ज़ किये जा रहे हैं|| झल्लेविचारानुसार कानून बेशक नए नए बनाए जाएँ मगर जोकानून बने हुए हैं उनका पालन कड़ी से करा लो देश और दिशा बदल जायेगी

रहमान मलिक ने केवल अपने पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के शब्दों को ही अपनी आवाज़ दी है

झल्ले दी झाल्लियाँ गल्लां

एक भारतीय नागरिक

ओये झल्लेया ये पकिस्तान कब सुधरेगा? पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मालिक भारत आये लेकिन अथिति धर्म भुला कर हसाड़े मुल्क को ही आतंकवाद का दोषी करार देने लग गए | अबू जिंदाल को भारतीय बता दिया |समझौता एक्सप्रेस में बम और अयोध्या काण्ड के मुकाबिले मुम्बई के एटैक की बात करने लग गए |ये कैसा पाकिस्तानी भाई चारा है?

रहमान मलिक ने केवल अपने पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के शब्दों को ही अपनी आवाज़ दी है


झल्ला

ओ बाऊ जी इसमें कुछ भी नया नहीं है| उन्हें पता है कि गुजरात में चुनावों के मध्य नज़र रहमान मालिक को कोई करार जवाब नहीं देगा|इसीलिए जनाब रहमान मालिक साहेब ने अपने पुराने राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ की बात को ही दोहरा दिया है|आप शायद भूल गए कि जनाब परवेज ने भी एक बार भारत पर जवाबी तोहमत लगाई थी |जब मीडिया ने उनसे पूछा कि पाकिस्तान से आकर आतंकवादी भारत में गडबडी क्यूं फैलाते हैं?इस पर जनरल परवेज ने कहा था कि भारत भी कोई दूध का धुला नहीं है|अब वोही तोहमत को नए शब्दों में प्रस्तुत किया गया है|