Ad

Tag: akhilesh yadav

उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री अखिलेश यादव के दर्शनाभिलाषी ७ अगस्त को मायूस रहेंगे

उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री के दर्शनाभिलाषी ७ अगस्त को मायूस रहेंगे| एक सरकारी प्रवक्ता के अनुसार सी एम् अखिलेश यादव के लखनऊ के ५. कालीदास मार्ग पर स्थित सरकारी निवास पर जनता दर्शन कार्यक्रम का आयोजन बुधवार ७ अगस्त को स्थगित रहेगा|
प्रवक्ता के अनुसार रमजान के मुक़द्दस महीने और ९ अगस्त को संभावित ईद को देखते हुए जनता दर्शन को ७ अगस्त के लिए स्थगित किया गया है|

मुलायम सिंह यादव अब खुल्लम खुल्ला लाल कृषण आडवाणी से कांग्रेस के खिलाफ कुश्ती के दाव सीखने लग गए

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक दुखी कांग्रेसी

ओये झल्लेया ये माननीय मुलायम सिंह यादव को क्या हो गया ?बुढापे में भी राजनितिक कुश्ती के लिए ताल ठौक रहे हैं|अच्छे खासे हसाड़े साथ रह कर सी बी आई का सुख भोग रहे थे|अब अचानक हमारे खिलाफ ही लंगर घुमाने लग गए| और तो और अपनी धुर्र विरोधी भाजपा से हाथ मिलाने में भी गुरेज नहीं कर रहे ओये अब तो खुल्लम खुल्ला लाल कृषण आडवाणी से हमारे खिलाफ कुश्ती के दाव सीखने लग गए हैं| ८० सांसदों वाली यूं पी के अखाड़े में हमें ही चित करने को डंड पैलने गए हैं |

 मुलायम सिंह यादव अब खुल्लम खुल्ला लाल कृषण आडवाणी से कांग्रेस के खिलाफ कुश्ती के दाव सीखने लग गए

मुलायम सिंह यादव अब खुल्लम खुल्ला लाल कृषण आडवाणी से कांग्रेस के खिलाफ कुश्ती के दाव सीखने लग गए


झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजाण जी अब आप जी ने भी तो बची खुची ३ सांसदों वाली रालोद के साथ मिल कर २२ सांसदों के नेता अखिलेश यादव की सरकार के खिलाफ यूं पी के दंगल में उतर आये हो|पीछे से २१ सांसदों वाली मायावती को भी लगा लिया है|ऐसे में सपा को भी तो अपने लिए नए समीकरण तलाशने जरुरी हैं| बकौल मुलायन सिंह यादव भय के बिना प्रीत’ नही होती सो पुत्र को सत्ता प्रेम सिखाने के लिए सत् के छिन्न जाने के भय भी दिखाते रहना जरुरी है| मैं ठीक हूँ या क्या में ठीक हूँ ?

पोलिस की शिकायत पेटियों वाला प्रयोग लगता है असफल हो गया

पोलिस की शिकायती पेटियों वाला प्रयोग लगता है असफल हो गया

पोलिस की शिकायती पेटियों वाला प्रयोग लगता है असफल हो गया

[मेरठ]उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार ने एक साल पूरा कर लिया है|इसीलिए उपलब्धियों के ड्रम पीट कर इस परिपाटी को आगे बढ़ाया जा रहा है|इसीके साथ ही कमियों की आलोचना की ओपचारिकता भी निभाई जा रही है| इसीलिए यहाँ सरकार की असफलता में लिपटी उपलब्धता का जिक्र करना जरुरी है|
उत्तर प्रदेश के मेरठ में महिलाओं से छेड़ छाड़+चैन लूट आदि अपराधों की रोक थाम के लिए यहाँ की पोलिस ने बीते साल की १३-१४ जुलाई को शहर में २५ स्थानों को चिन्हित किया और शिकायत पेटियां लगवाईं |इन पेटियों के माध्यम से शिकायतें आमंत्रित की गई|शिकायत कर्ता का नाम पता गुप्त रखे जाने का आश्वासन भी दिया गया| प्रत्येक रविवार को एस एस पी कार्यालय में इन्हें खोल कर इनमे प्राप्त जानकारी पर तत्कालीन एस एस पी के सत्यनारायण [अब डी आई जी]द्वारा कार्यवाही किये जाने का आश्वासन दिया गया था| शुरुआती दौर में पेटियों का पेट भरने लगा फिर पोलिस को उत्तेजित करने के लिए इनमे उलटे सीधे सन्देश डाले जाने लगे |पोलिस भी इस झांसे में आ गई|उत्तेजित होने के साथ ही हतोत्साहित भी हुई|इसके फलस्वरूप पेटियों से मोह भंग होने लगा और अब ये आलम है कि जगह जगह पेटियां खुली पड़ी है और व्यवस्था का मज़ाक उड़ा रही है|
|कहते चलें की छेत्र में इस किस्म की चैन लूट + छेड़ खानी की घटनाएँ +प्यार के नाम पर धोके की घटनाएँ हो रही है इससे कानून व्यवस्था की भी समस्या बनती जा रही हैं|इसके प्रति पोलिस पर अनदेखी के आरोप भी लगते हैं| इस सब की रोक थाम के लिए ये शिकायत पेटिओं की व्यवस्था की गई थी|फिल्मो और टी वी सीरियल्स से प्रेरणा लेकर किया गया यह प्रयोग सराहनीय था | अनिल कपूर स्टारर फिल्म नायक और फिर सीरियल अफसर बिटिया में ऐसा ही प्रयोग किया गया था जिसकी सराहना भी हुई थीप्रदेश सरकर के मात्र तीन माह की यह उपलब्धि सराहना थी लगने लगा था कि पूर्व कि गलतियों से सबक ले कर अखिलेश यादव की सरकार अपरोधों पर नियंत्रण के पार्टी गंभीर है लेकिन मात्र एक साल में ही इस छेत्र में किया गया पहला प्रयोग इन पेटियों के माध्यम से असफलता की कहानी कहने लगा हैयह तब है जब इसके जनक |एस एस पी अब यहीं डी आई जी है और बढ़ते अपराधों से शहर चीखने लगा है

अखिलेश यादव और अजित सिंह के चौधराहट खेल में एयर पोर्ट की लुटिया मेरठ में डूबती नज़र आ रही है

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक हवाई यात्री

ओये झल्लेया मुल्क में क्या मज़ाक हो रहा है? ये तो आये दिन का रोना हो गया |सयापा ही हो गया|भई हमने तो ओनली मेरठ की मौजूदा हवाई पट्टी को प्रोमोट करके यहाँ बड़ा एयर पोर्ट बनाये जाने की मांग की थी लेकिन यार हम तो हवाई पट्टी से भी गए | एयर पोर्ट तो जब मिलेगा तब मिलेगा अभी तो हवाई पट्टी से भी गए ये तो वोही गल्ल हो गई|

आधी छोड़ पूरी मांगोगे तो आधे से भी हाथ गवाओगे

अब ये बात हमारी समझ से परे है के प्रदेश सरकार विकास कराना चाहती है और केंद्र सरकार विकास करना चाहती है|सिविल एविएशन मिनिस्ट्री हवाई अड्डे के लिए जमीन लेने को तैयार है और यूं पी गवर्नमेंट जमीन देने को तैयार है ऐसे में एयर पोर्ट की लुटिया कैसे डूब रही है|पहले तो अखिलेशी युवा सरकार और केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय में बैठे घाघ मंत्री चौधरी अजित सिंह में खतोखिताबत होती रही फिर जुबानी जंग शुरू हो गई अब फिर से पत्राचार +कॉरेस्पोंडेंस +खातोखिताबत चालू हो गई है|| इन दो बड़ों की लड़ाई में छोटों का नाश होता दिखने लगा है|

अखिलेश यादव और अजित सिंह के चौधराहट के खेल में एयर पोर्ट की लुटिया मेरठ में तो डूबती नज़र आने लग गई है

अखिलेश यादव और अजित सिंह के चौधराहट के खेल में एयर पोर्ट की लुटिया मेरठ में तो डूबती नज़र आने लग गई है


झल्ला

दरसल प्रदेश सरकार को बेशक एक साल ही हुआ है मगर केंद्र सरकर के चो.अजित सिंह का तो कार्यकाल ही मात्र एक साल का रह गया है|इसीलिए उन्हें यह चिंता सता रही होगी के अपनी रालोद के बचे खुचे ५ सांसदों की संख्या अगर बड़े नहीं तो कम भी ना हो | इसीलिए मेरठ का एयर पोर्ट चौधराहट बचाए रखने के लिए बेहद जरुरी है| उधर प्रदेश में सत्ता रुड समाज वादी पार्टी के सुप्रीमो की आँखें पी एम् की कुर्सी पर हैं इसीलिए प्रदेश में कांग्रेस और उसकी सहयोगी रालोद को चौधराहट नहीं करने देना है|इसके अलावा किसानो को भी अपनी जमीन का भाव और उसके असली खरीदारों की हेसियत का पता चल गया है|अब सर्किल रेट पर नहीं बाज़ार भाव पर जमीन देने की बात करने लग गए हैं इतने पैसे देने के लिए मंत्रालय को अपने बड़ों की आज्ञा लेनी जरुरी है|
इसके अलावा एयर पोर्ट के लिए 433 एकड़ अतिरिक्त भूमि अधिग्रहण करने में किसानों के विरोध का सामना कौन करेगा|

अखिलेश यादव ने चुनावी वायदे पर अम्ल शुरू कर दिया :लखनऊ में १० हज़ार लैपटाप बांटे

[लखनऊ ] कॉल्विन ताल्लुकेदार कॉलेज में आज मुख्य मंत्री अखिलेश यादव ने राजधानी के 15 उच्‍च शिक्षण संस्‍थानों के 10 हजार छात्रों को लैपटॉप बंटवा कर अपनी समाज वादी पार्टी के चुनावी घोषणा पत्र का पालन करना शुरू कर दिया| कार्यक्रम में सीएम ने स्वयम 51 लैपटॉप अपने हाथों से बांटे। इस दौरान सीएम के साथ, शिवपाल सिंह यादव और राजेंद्र चौधरी आदि मौजूद थे।लैपटाप पर अखिलेश यादव के साथ पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव का चित्र छापा गया है|
गौरतलब है कि चुनावी घोषणा के अनुसार वर्ष 2012 में उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद, उप्र माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद, उप्र मदरसा शिक्षा परिषद, सीबीएसई, आईसीएसई सहित सभी मान्यता प्राप्त बोर्डों से 12वीं अथवा समकक्ष परीक्षा पास कर मान्यता प्राप्त उच्च शैक्षणिक संस्थाओं में अध्ययनरत सभी वर्गों के 15 लाख छात्र-छात्राओं को लैपटॉप उपलब्ध कराया जाना है|
एचपी कम्पनी द्वारा सप्लाई किये जा रहे इस लैपटाप में 14 इंच आकार की स्क्रीन + हार्ड डिस्क 600 जीबी तथा रैम दो जीबी की क्षमता है डीवीडी राइडर तथा हिन्दी,अंगे्रजी एवं उर्दू भाषाओं में टाइप करने की सुविधाओं से युक्त है। सभी लैपटॉप के साथ कैरी बैग तथा यूजर मैनुअल की आपूर्ति भी की जाएगी|

:लखनऊ में १० हज़ार लैपटाप [free]बांटे

:लखनऊ में १० हज़ार लैपटाप [free]बांटे

है।

प्रो. रामगोपाल यादव से उद्यमियों ने मांगा मेरठ में एयर पोर्ट

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और सांसद प्रो. रामगोपाल यादव से उद्यमियों ने मांगा मेरठ में एयर पोर्ट

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और सांसद प्रो. रामगोपाल यादव से उद्यमियों ने मांगा मेरठ में एयर पोर्ट

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और सांसद प्रो. रामगोपाल यादव ने चलते संसद से कुछ समय निकाल कर मेरठ का दौरा किया |इस दौरे के दौरान उन्होंने कुछ समय उद्यमियों को भी दियाऔर उद्यमियों ने अवसर का लाभ उठाते हुए मुख्यत: मेरठ में एयरपोर्ट की स्थापना की मांग भी उठा दी|
बाई पास स्थित बांके बिहारी इंस्टीटयूट में आयोजित दीक्षांत समारोह के समापन के बाद मीडिया को एवोयड करते रहे लेकिन उद्यमियों से भेंट करने के लिए एक अलग कक्ष में पहुंचे|प्रो.रामगोपाल यादव को अलग-अलग वाणिज्यिक व व्यापारिक संगठनों ने मांग पत्र व ज्ञापन सौंपे। मुख्य रूप से इनका जोर करों में ढ़ांचागत सुधार और मेरठ में एयरपोर्ट की मांग रही। उनका कहना था कि एयरपोर्ट की स्थापना से न सिर्फ देश के बड़े शहरों से मेरठ की दूरी कम होगी बल्कि रोजगार के भी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष मौके मिलेंगे। गौरतलब है कि मेरठ की मौजूदा हवाई पट्टी को प्रोमोट करके यहाँ एयर पोर्ट बनाने के लिए अरसे से मांग उठाई जा रही है जिसके लिए सिविल एविएशन मंत्री चो.अजित सिंह द्वारा अतिरिक्त भूमि की मांग की जारही है जबकि मुख्य मंत्री अखिलेश यादव का कहना है कि किसानो की बहुमूल्य भूमि को केंद्र सरकार का यह मंत्रालय फ्री में लेना चाहता है |इस पर सपा द्वारा पूर्व में एक तल्ख टिपण्णी भी की जा चुकी है कि अगर एक जहाज़ की खरीद में से कमीशन नहीं ली जाये तो यहाँ मेरठ में एयर पोर्ट बनाया जा सकता है|