Ad

Tag: Indigo airlines

Passengers of Budget Carrier IndiGo Suffered Flight’s Usual Delays In Jan Also

[New Delhi]Passengers of Budget Carrier IndiGo And National Carrier AI Suffered Delays Of Flights As Usual During Jan Also
Passengers of no-frill+ Budget carrier IndiGo,And National Carrier Air India Suffered Delays Of Flights By Over Two Hours
Indigo has best on-time performance record among the domestic airliners, were most affected due to delays of flights by over two hours in January, according to the DGCA data.
The number of Air India passengers affected due to flight delays beyond two hours stood at 96,232 in January while of IndiGo was 75,034
Previous Year’s Record Of ,Indigo Was 58449

इंडिगो सहित तीन निजी एयर लाइन्स से,यात्रियों के प्राणोंके साथ खिलवाड़ के लिए,टाइम स्लॉट वापिस लिए गए

इंडिगो[Indigo] सहित तीन एयर लाइन्स को सुरक्षा से सम्बंधित निर्देशों का उल्‍लंघन करने के लिए दिल्‍ली से निर्धारित समय अवधि[ time slots ] को वापस लिया गया |बीते दिन घने कोहरे के कारण दृश्‍यात्‍मकता बेहद कम थी जिसके फलस्वरूप इन एयर लाइन्स को उड़ान सतहजीत करने के आदेश दिए गए थे लेकिन यात्रियों के प्राणों को संकट में डाल कर उड़ाने भरी गई|
नागरिक विमानन महानिदेशालय[ DGCA ] ने दिल्‍ली से संचालित होने वाली निम्‍न विमान कंपनियों की उड़ानों की दिल्‍ली से निर्धारित समय अवधि(टाइम स्‍लॉट) को तत्‍काल प्रभाव से वापस ले लिया है।
[१] इंडिगो ========= 6E-024
[२]. इंडिगो==== 6E-316
[३]. जेट एअरवेज [Jet Airways ] 9W-2452
[४] जेट एअरवेज [Jet Airways ] 9W-2794
[५]. गो एअर [ Goair ] == G8-343
६] गो एअर [Goair ] === G8-164
इंदिरा गांधी अंतर्राष्‍ट्रीय हवाई अड्डे, दिल्‍ली पर 29 जनवरी को दृश्‍यात्‍मकता शाम 1730 बजे के बाद कम होने लगी थी जबकि रनवे की दृश्‍यात्‍मकता दूरी रात 2030 बजे के बाद कम होनी शुरू हो गई थी। इस प्रवृत्‍ति को सभी एअरलाइनों के ध्‍यान में लाया गया। डीजीसीए, कोहरे के समय सभी एअरलाइनों के साथ लगातार संपर्क में रह कर सीएटी III अनुवर्ती विमानों और सीएटी III प्रशिक्षित पायलटों की तैनाती सुनिश्‍चित करता है। लेकिन इस संबंध में बार-बार प्रयासों के बावजूद जेट एअरवेज, गो एअर और इंडिगो की दो-दो फ्लाइटों का मार्ग बदलकर दिल्‍ली से जयपुर भेजा गया।
भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण के संचालन नियंत्रण ने जानकारी दी कि इन फ्लाइटों का एक कर्मचारी सीएटी III प्रशिक्षण युक्‍त नहीं था। इसी वजह से इन एअरलाइनों ने सीएआर सेक्‍शन 3 के पैरा 10.18, सीरीज सी, पार्ट II और 2009 के एआईसी 11 के पैरा 14 के प्रावधानों का उल्‍लंघन किया है।
डीजीसीए ने इसे काफी गंभीरता से लेते हुए कहा है कि बार-बार दिशा-निर्देश जारी किए जाने के बाद भी एअरलाइनों ने इनका पालन नहीं किया है।.

पिछले महीने एयर इंडिया के खाने में से कीड़े निकले तो कल इसी कंपनी के ड्रीम लाइनर के पेनल ही निकल गए

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

चिंतित हवाई यात्रीओये झल्लेया ये सिविल एविएशन में क्या हो रहा है? प्राइवेट एयर लाइन्स वाले अपनी देन दारी सरकार को नहीं चुका रहे सरकारी एयर इंडिया में प्रशासनिक कुशलता की तरफ किसी का ध्यान नहीं है ओये पिछले महीने एयर इंडिया के खाने में से कीड़े निकले तो कल इसी कंपनी के ड्रीम लाइनर[७८७]के पेनल ही निकल गए ओये ऐसा कैसा चलेगा?
झल्ला
दरअसल आप जी इनकी मजबूरी नहीं समझ रहे भाई साहब इनकी सरकार के दिन जा रहे हैं इसीलिए इनका समय घडी और तिजोरी को देखने में ही बीत रहा है ऐसे में आप ही बताओ के इंडिगो +स्पाइस जेट आदि से कर्जा वसूली +यात्रियों के खाने की गुण वत्ता+और ड्रीम लाइनर की सुरक्षा जांच करने के लिए समय ही किस के पास है|जब समय मिलेगा तो ड्रीम लाइनर के बोइंग वाले मालिकों से भी कर्जा वसूली के लिए ब्यान दे दिए जायेंगे

प्रॉफिट मेकिंग इंडिगो एयर लाइन्स से हर्जाना वसूलने में देरी तो अन्दर की बात ही हो सकती है

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक हवाई यात्री

ओये झल्लेया ये क्या हो रहा है ?सबसे सस्ती+सुरक्षित +समयबद्ध हवाई यात्रा कराने के बड़े बड़े ड्रम पीटने वाली प्राईवेट एयर लाइन्स लगातार यात्रियों की सुरक्षा से खिलवाड़ करने लग गई है| नंबर वन प्रॉफिट मेकिंग इंडिगो एयर लाइन्स की फ्लाईट ६ ई ४३३ को ही ले लो | इस महीने के प्रारम्भिक दूसरे हफ्ते के वीक एंड में चंडीगढ़ से मुम्बई आ रही इस फ्लाईट में सवार १४० यात्रियों की जान जाते जाते बची | ओये ये भारी भरकम जहाज़ एयर पोर्ट पर ही फिसल गया और रन वे की लाईटें वाईटें तोड़ दी | आधे घंटे से अधिक समय तक ट्रेफिक प्रभावित रहा | नागरिक उड्डयनमहानिदेशक[डी जी सी ऐ] ने जांच करने के बात कही थी मगर की जांच शुरू होने के कोई आसार नज़र नहीं आ रहे|प्रॉफिट मेकिंग इंडिगो एयर लाइन्स कम्पनी से लाईटों के डैमेज कास्ट के साथ ही आधे घंटे तक प्रभावित हुए ट्रेफिक का हर्जाना भी वसूलना चाहिए लेकिन इनका मंत्रालय चुप्पी ही नही तोड़ रहा |लगता है के इन चेतावनियों से कोई सबक नही लिया जा रहा |कोई बड़ी दुर्घटना होने पर ही इनका सम्मोहन टूटेगा|

प्रॉफिट मेकिंग इंडिगो एयर लाइन्स से हर्जाना वसूलने में देरी तो अन्दर की बात ही हो सकती है

प्रॉफिट मेकिंग इंडिगो एयर लाइन्स से हर्जाना वसूलने में देरी तो अन्दर की बात ही हो सकती है


झल्ला

भापा जी आप जी की चिंता वाजिब है+दुरुस्त है+सही है+उचित है| प्रॉफिट मेकिंग प्राईवेट इंडिगो एयर लाइन्स अगर सरकारी रनवे को डैमेज करते है और एयर ट्राफिक को प्रभावित करते है इस पर भे उससे जुर्माना वसूलने में डी जी सी ऐ ढिल मिठाईयां कर रहा है तो ये अन्दर की ही बात हो सकती है

भारतीय सेना और निजी एयर लाइन्स के अधिकारियों की अपराधिक गठबंधन की जड़ों तक जाना जरुरी है

भारतीय सेना अनुशासन में रहने के लिए विश्व भर में प्रसिद्द है और एयर लाइन्स [नागरिक उड्डयन ] में इंडिगो एयर लाइन्स को सस्ती और प्रॉफिट मेकिंग के लिए नंबर वन कहा जा रहा है मगर पिछले सप्ताह मणि पुर पोलिस ने सीमांत[पल्लेल] गाँव के समीप से 20 करोड़ की ड्रग्स के साथ कुछ ड्रग्स तस्करों को भी पकड़ा ।दुर्भाग्य से इनमे से एक भारतीय सेना में कर्नल रैंक के अजय चौधरी और इंडिगो एयर लाइन्स के सहायक प्रबंधक ब्रिजेन्द्र सिंह भी पकडे गए हैं।सेना ने अपनी साख बचाने के लिए कार्यवाही के आदेश भी दे दिए हैं। Law , no doubt, will take its own course लेकिन प्रॉफिट मेकिंग एयर लाइन्स इंडिगो की तरफ से कोई ब्यान या स्टेटमेंट या स्पष्टिकरण ही नहीं दिया गया है।सिविल एविएशन मंत्रालय भी किंकर्तव्य विमुड दिख रहा है।यह बार्डर पर घटी एक सामान्य तस्करी के घटना नहीं है वरन राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ी है | एक कर्नल की अशांत छेत्र में चार साल से पोस्टिंग और एक निजी एयर लाइन्स के एसिस्टेंट मैनेजर का यह अपराधिक गठबंधन की जांच निश्चित समय सीमा में पूर्ण की जानी चाहिए इसके लिए सेना को महज़ छेत्रिय पोलिस के भरोसे जांच को छोड़ कर अपनी जिम्मेदारी से बचने के बजाय स्वयम इसकी जड़ों तक जाने की जरूरत है|