Ad

Tag: Partition Horrors Remembrance Day

मोदीभापे !विभाजन का जहर हिंदुस्तान पी गया,वोही जहर दिलों में घुल गया

#विभाजनपश्चातविभीषिकास्मृतियाँ
#दिलकेफफोले
#रिहैबिलिटेशन क्लेम
#विभाजनपीड़ितकल्याणार्थआयोग
#मोदीभापे !
विभाजन का जहर हिंदुस्तान पी गया,वोही जहर दिलों में घुल गया
भारतीयता की अलख जगाते सभी,आये दिन एक भारतीय मर रहा
www.jamosnews.com

मोदीभापे!विभाजनविभिषिका पीड़ितों का रत्ती भी हक नही ?

#विभाजनपश्चातविभीषिकास्मृतियाँ
#दिलकेफफोले
#रिहैबिलिटेशन/#कम्पनसेशन क्लेम
#मोदीभापे !
हिन्दू हैं,चैन से सुनहरे ख्वाबों में जीते थे
विभाजन के पश्चात तो नींदे भी छिन गई
जो कुछ पल्ले था सब कुछ लूट लिया
अब कहते हैं,तुम्हारे लिए तो रत्ती भी नही

 

मोदीभापे !विभाजनपीड़ितों के लिए तुम्हारा सिस्टम डाउन क्यूँ हो जाता है

#विभाजनपश्चातविभीषिकास्मृतियां

#विभाजनपीड़ितकल्याणार्थआयोग

#दिलकेफफोले

#मोदीभापे !

यूंतो हर किसी के लिए कुछ ना कुछ रौजाना  बांटा जा रहा है

विभाजनपीड़ितों के लिए ये सिस्टम ही डाउन क्यूँ हो जाता है

#रिहैबिलिटेशन /#कम्पेनसेशन क्लेम की लूट

 

 

 

मोदीभापे ! हुक्मरां नमक के ढेले फेंकते है हमारे जख्मो पर ये तो जान लो

#विभाजनपश्चातविभीषिका

#दिलकेफफोले

#मोदीभापे !

हमारे विरुद्ध प्रपंच है, अब तो मान लो

प्रपंचकारी हुक्मरां, यह भी एक कटु सत्य

नमक के ढेले फेंकते है हमारे जख्मो पर

जख्म नासूर बन चुके है अब तो जान लो

#रिहैबिलिटेशन/#कम्पेनसेशन क्लेम की लूट

 

मोदीभापे !मुल्क में तंत्र के लिए ही अब लोक जिंदा है

विभाजन पश्चात विभीषिका की स्मृतियां

दिल के फफोले

मोदीभापे !

लोकतंत्र के जुमले से अब ‘लोक’ हटा लो,

मुल्क में तंत्र के लिए ही अब लोक जिंदा है

रिहैबिलिटेशन क्लेम

मोदीभापे !पीड़ित की फरियाद बेशकीमती दस्तावेज होती है

मोदीभापे !

दिल के फफोले

विभाजन विभीषिका स्मृति

पीड़ित की फरियाद बेशकीमती दस्तावेज होती है

चंद लफ्जों में पीड़ितों की चीत्कार बेशुमार होती हैं

मोदीभापे !मतलब तो पीड़ित से भी निकल सकता है,गर भरोसा हो इत्तेफाक से

मोदीभापे

दिलकेफफोले

विभाजनविभिषिकास्मृतिदिवस

माना तुम्हारी  सियासत मतलब की, यहां मतलबी मिलते हैं तपाक से

मतलब तो पीड़ित  से भी निकल सकता है,गर भरोसा हो इत्तेफाक से

 

भारत के प्रधानमंत्री मोदी के नाम विभाजनपश्चात विभीषिका पीड़ित का खुला पत्र

Post Partition Horrors सेवा में
श्री नरेन्द्र भाई दामोदर दास मोदी
प्रधान मंत्री भारत सरकार
नई दिल्ली

विषय :भारत के प्रधानमंत्री मोदी के नाम विभाजन विभीषिका पीड़ित का खुला पत्र

आदरणीय
विभाजन विभीषिका स्मृतिदिवस की घोषणा के लिए कृपया विभाजन विभीषिका पीड़ित परिवारों का हृदय से प्रेषित धन्यवाद स्वीकार करें ।
विश्व की सबसे बड़ी विभीषिका के साढ़े सात दशकों पश्चात आपने हमारी पीड़ा को महसूस करके सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया।इसके लिए हम हृदय से आपका आभार मानते हैं।आपने ट्विटर और फिर लाल किले की प्राचीर और उसके पश्चात जलियांवाला बाग स्मारक के पुनरद्धार वर्चुअल समारोह में भी हमारी पीड़ा को शेयर किया।इससे हमारे दुखों के प्रति आपकी गंभीर प्रतिबद्धता साफ दिखाई देती है।
माननीय,
सर्व विदित है कि विश्व की इस सबसे बड़ी त्रासदी पर तत्कालिक अनेकों राजनीतिक और साहित्यक पुरोधाओं ने इतिहास से छेड़छाड़ की है जिसके फलस्वरूप हजारों पीड़ितों को उनके हक के रिहैबिलिटेशन/कम्पेनसेशन क्लेम तक लूट लिए गए। उनकी तीसरी पीढ़ी न्याय के लिए आज भी दर दर भटक रही है।मालूम हो कि तत्कालीन भारत सरकार द्वारा पाकिस्तान से evacuee प्रॉपर्टी के रूप में मुआवजा लिया जा चुका है लेकिन अमानती सरकार द्वारा उस मुआवजे को पीड़ितों तक नही पहुंचाया गया।

जाहिर है इसी कारण वर्तमान पीढ़ी तक विभाजन और उसके पश्चात की विभीषिका के   वास्तविक पृष्ठ इतिहास में नही आ पाए
आपसे कर बद्ध अनुरोध है कि विश्व के सबसे पढ़े त्रासद पलायन और उसके पश्चात मची सियासी लूट पर संसद में शवेत पत्र ला कर कृतार्थ करें धन्यवाद

जगमोहन सबलोक

(विभाजनविभिषिका पीड़ित परिवार का सदस्य)

मोदीभापे !समाधि तुम्हारी टूटे बस इसका ही इंतज़ार है

मोदीभापे!

दिलकेफफोले

विभाजनविभीषिकास्मृतिदिवस

हम अपने दिल के फफोले किसे दिखाएं?,

अपने सिसकते दिल की टीस किसे सुनाएं?

गोवर्धन पर्वत से तुम्हारे हाथ कब फारिग हों

समाधि तुम्हारी टूटे बस इसका ही इंतज़ार है

मोदीभापे !अब तो विग के बाल भी सफेद हो चुके

मोदीभापे !

दिल के फफोले

विभाजनविभिषिका स्मृति दिवस

खेलने की उम्र से लड़ते हुए आया हूँ

अब तो विग के बाल भी सफेद हो चुके

अब इससे बढ़ी सजा और क्या होगी

 जख्मो की खातिर मल्हम नसीब नही