Ad

Tag: Political Satire

पँजांब में माहिरों का विलक्षण समूह फिर भी मृत्यु दर सबसे अधिक

झल्लीगल्लां
पंजाबसरकारकाचेयरलीडर
ओए झल्लेया!हसाडे मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिन्दर सिंह जी की दूरदर्शिता में सीएस विनी महाजन और डॉ के के तलवार की निगरानी में बनाये गए माहिरों के विलक्षण समूह ने कोरोना मरीजों की देखभाल सम्बन्धी उल्लेखनीय कार्य करते हुए एक साल पूरा कर लिया।ओए इनके सुझावों से बहुत लाभ हुआ है।
यह समूह नियमित तौर पर हर मंगलवार, गुरूवार और रविवार शाम 7.30 बजे प्रशिक्षण और विचार-विमर्श संबंधी सैशन करवाता है। अब तक 50 से अधिक सैशन किये जा चुके हैं।
इन सैशनों के दौरान माहिरों द्वारा अमृतसर और पटियाला के जी.एम.सीज़, जी.जी.एस.एम.सी. फरीदकोट, डी.एम.सी. लुधियाना, सी.एम.सी. लुधियाना और निजी अस्पतालों में दर्मियाने से लेकर गंभीर मरीज़ों बारे विचार-विमर्श किया गया और मरीज़ों के स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिए विचारों का आदान-प्रदान किया गया।झल्ला
ओ भा जी!
मन मे दूने मन मे तीने मन मे रह गए आधे
वोह आधे भी कोविड अस्पतालों में नही दीखे
इतने माहिरों के होते हुए भी किसान आंदोलन से फैले कोविड को भांपा नही जा सका।ऑक्सीजन के उत्पादन में पँजांब को आत्म निर्भर नही बनाया जा सका।चिकित्सकों की कमी को पूरा नही किया गया।कोविड से हुई मृत्यु दर देश मे सबसे अधिक और आप माहिरों की महारत की गल कर रहे हो
भा जी!पँजांब में माहिरों का विलक्षण समूह फिर भी मृत्यु दर सबसे अधिक ऑक्सीजन उत्पादन में शून्य
टीकाकरण में फिसड्डी।

काश! सीएम योगी को तूफानी दौरे में दिव्यदृष्टि से कोरोनालूट दिख जाए

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर

कोरोनाकाल मेसीएम योगी का दौरा

कोरोनाकाल मेसीएम योगी का दौरा

ओए झल्लेया! ऐवें लोगी हसाडी सरकार के नाम पर नाक मुंह सिकोड़ते रहते हैं।देख मेरठ में कोरोना मरीजों की भलाई के लिए पहले माननीय स्वास्थ मंत्री सुरेश कुमार खन्ना जी आये फिर मेरठ के प्रभारी मंत्री जी आए और अब स्वयम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी आ रहे हैं।थोड़ा सब्र रखो सब ठीक हो जाणा है
झल्ला
झल्लाचतुर सेठ जी! काश आपके योगी जी की दिव्यदृष्टि प्राइवेट अस्पतालों में जम कर लूट के बावजूद हो रही मौतों के कारण और सरकारी अस्पतालों के बाहर एड़िया रगड़ते मरीज और शवों को कांधों पर ढोते परिजन और कालाबजारी दिख जाए तो शायद कुछ सुधार हो जाये।

बादल गरजे मगर बरसे नही ,मोदी भी टीवी पर उपदेश देकर निकल लिए

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर
ओएJamos cartoon झल्लेया!देखा हसाडे कर्मठ+समर्पित पी एम नरेंद्र भाई दामोदर दास मोदी जी की सक्रियता। कोरोना के विरुद्ध संघर्ष में वोंह फ्रंट पर लड़ाई लड़ रहे हैं।उन्होंने एक ही दिन में जहां कोरोना वैक्सीन निर्माताओं से वार्ता की तो रात्रि में देश के नाम सन्देश देकर सबका हौंसला बढाया।ओये है कोई इन जैसा नेता देश में?
झल्ला
Jhallaa Cartoonचतुर सेठ जी!रात दो बातें समान हुई।
रात को बादल गरजे और बिजली भी खूब चमकी मगर निकल ली सूखे सूखे।ऐसे ही आपके मोदी जी भी टीवी पर जोरदार उपदेश दे कर निकल गए बिना कुछ दिए

छोटी बचत वालों की हाय+सोशलमीडिया पर आई आलोचनाओं की सुनामी से यू टर्न

झल्लीगल्लां
वरिष्ठनागरिक
U Turnओए झल्लेया!रब्ब का लाख लाख शुक्रिया।ओए केंद्र सरकार को जल्द ही सुबुद्धि आ ही गई।इन्होंने समय रहते अपनी गलती स्वीकार कर ली।
केंद्रीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को कह दिया है कि सरकार पीपीएफ तथा एनएससी जैसी छोटी बचत योजनाओं में की गई बड़ी कटौती वापस लेगी और कहा कि ऐसा गलती से हो गया था।
झल्ला
झल्लाभापा जी!आप लोगों की हाय और सोशल मीडिया पर आलोचनाओं की सुनामी के साथ
पश्चिम बंगाल, असम और तीन अन्य राज्यों में चल रहे विधानसभा चुनावों में किये कराए पर पानी फिरने के डर ने छोटीबचत में कटौती से हुक्मरानों को यूंटर्न के लिए मजबूर कर दिया

कोरोना पीड़ितों !हुकूमतों पर भरोसा करके जान जोखिम में मत डालो

झल्लीगल्लां
चिन्तितनागरिक
Vaccinationओए झल्लेया! ये कोरोना क्या मुसीबत है।दोबारा लौट आया। पूरा देश इस महामारी की जद में आ चुका है
लेकिन ये सियासतदां हुकूमत कब्जाने को मोह में अवाम इकट्ठा करने में लगे हैं।ओये अगर ऐसा ही चलता रहा तो अक्लमंदों के अनुसार मुल्क की माली हालत भी धाराशाई हो जाणी है।
झल्ला
झल्लाभापा जी! आप जी की चिंता वाजिब है,लेकिन असलियत ये है कि कोरोना कहीं गया ही नही था,उसे तो कुछ समय के लिए दबा दिया गया था जो अब फिर निकल आया है।इसीलिए हुकूमतों पर भरोसा करके जान जोखिम में डालने के बजाय खुद जानकार बाणिये,खुद सुरक्षित रहिये,

पीयूष गोयल जी!अब समझ आया कि टॉयलेट में डिब्बा क्यूँ बंधा होता है

झल्लीगल्लां
उत्साहितरेलवेकर्मी
Ludhiana Railway Stationओए झल्लेया! मुबारकां!! ओए हसाडे सोने ते कर्मठ मंत्री श्री पीयूष गोयल जी ने लोक सभा मे जबरदस्त भाषण में साफ कर दिया कि भारतीय रेलवे का निजीकरण नही होने जा रहा। अनुदान मांग पर चर्चा के दौरान उन्होंने रोजगार के अवसर बढाने के लिए सार्वजनिक और निजी छेत्र के सहयोग की ना केवल वकालत की बल्कि रेलवे को प्रत्येक भारतीय की सम्पत्ति तक बता डाला और ये विपक्ष वाले बेफालतू में निजीकरण का नित जाप करके रेलवे के सम्पूर्ण बिजलीकरण में रोड़े अटका कर हमे डराते जा रहे हैं।
झल्ला
झल्लाओहो!अब समझ आया कि बोग्गी के टॉयलेट में रखा डब्बा रस्सी से क्यूँ बंधा होता है।रेलवे प्रत्येक भारतीय की सम्पत्ति है ऐसे में कोई भारतीय अपना हिस्सा घर लें जाने लगे तो धोते वक्त रोना पढ़ सकता है।शायद इसीलिए अपनी ट्रैन को प्रतीक्षारत यात्रियों को स्टेशन के बाहर पार्किंग के फर्श पर सुलाया जाता है

गडकरी जी!पर्यटक वाहन यौजना से स्कैनिया बस वालों को कितना फायदा होगा ?

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर
ओए झल्लेया! हसाडे सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी जी ने अपने कांधों पर एक और सितारा अर्जित कर लिया।ओए उन्होंने पर्यटक वाहन संचालकों के लिए नई योजना की घोषणा की है जिसके अंतर्गत अब 1 एप्रिल से ऑनलाइन आवेदन जमा करने के 30 दिनों के भीतर परमिट जारी कर दिया जाएगा। इससे बिना किसी बाधा के पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और राज्यों का राजस्व बढ़ेगा
झल्ला
चतुर सेठ जी!बेशक यह परमिट वाली स्कीम 3 महीने के लिए है। इसके परिणाम देखने के लिए यह पर्याप्त समय है लेकिन झल्ले दिमाग मे एक शक की सुई चुभने लग गई है।शक ये है कि इस परमिट स्कीम से स्कैनिया की लक्ज़री बस /फॉक्सवेगन वालों को कितना फायदा होगा?

पुलिसिये ने हड़काया तो एमपी में जंगलराज दिखा,काश!मंत्री जज को हड़काये …

झल्लीगल्लां
न्यायविद
ओएJudiciary झल्लेया!ये मध्यप्रदेश में क्या जंगलराज चल रहा है?हत्यारे नेता को दो वर्षों मे भी गिरफ्तार नही किया जा सका । भृष्ट+हत्यारोपियों को भी शासन के इस प्रकार के संरक्षण से तो वहां जंगल राज ही कहा जायेगा।
झल्ला
Jhallaaभापा जी! कांग्रेसी नेता को बसपाई ने मार डाला। पुलिसिये ने जज को हड़का डाला तो माननीय सुप्रीम कोर्ट को मध्यप्रदेश में जंगलराज दिखने लग गया।यहां 7 दशकों से पँजांब राज्य और केंद्र में अपने हक के कंपनसेशन/रिहैबिलिटेशन क्लेम के लिए भटक रहे हैं कहीं कोई सुनवाई नही हो रही।ऊपर वाले से दुआ है कि पँजांब या केंद्र का कोई मंत्री किसी जज को हड़का दे तो शायद सम्माननीय सुप्रीम कोर्ट को लोक तन्त्र की परिभाषा बदलने की जरूरत महसूस होने लगे

सुरेशखन्ना जी !फिर तो धर्म से राजनीति होनी चाहिए ,राजनीति से धर्म नही

झल्लीगल्लां
पंजाबीखत्री

UP Budget

UP Budget

ओए झल्लेया! मुबारकां!ओये हसाडे धाकड़ वित्तमंत्री श्री सुरेश खन्ना जी ने विधान सभा के बजट सत्र में यूपी के विकास वाला साढ़े पांच लाख करोड़ ₹ ,का भारी भरकम बजट मात्र दो मिनट्स में पास करा लिया। और तो और खन्ना साहब ने विपक्ष को राजनीति को धर्म से अलग ना करने का उपदेश भी पिलाते हुए कहा दिया कि ईश्वर की कृपा से हम पुरुषार्थ में विश्वास करते हैं।
झल्ला
UP Budget

UP Budget

भापा जी !फिर तो धर्म से राजनीति होनी चाहिए ,राजनीति से धर्म नही ।वैसे बजट में धर्म नही ओनली राजनीति ही झलक रही है

रामभक्त दान संग समस्याएं भी एकत्रित करें ,दानकर्ता पीड़ित को पुण्य मिले तुरन्त

#रामभक्त
ओए झल्लेया! जय श्री राम!
ओए राष्ट्रीय राम मन्दिर निर्माण के लिए भारतीयों ने खुले मन से चंदा/दान देना शुरू कर दिया है। अब तो पहले से ज्यादा धन एकत्रित होगा और मंदिर भव्य बनेगा
श्रीराम इन सबका कल्याण करें।इन्हें स्वर्ग में स्थान दें ।
#झल्ला
भापा जी!
चंदे/दान के साथ ही आम जन की शिकायतें+जरूरतें+समस्यायों को भी एकत्रित किया जाना चाहिए ताकि धन श्री राम के चरणों मे और समस्याएं मोदीसरकार की डेस्क पर पहुंचे और समस्याओं का तुरन्त निबटारा हो सके ।झल्लेविचारानुसार अगला जन्म किसने देखा है । पुण्य मिलना चाहिए तुरन्त