Ad

Tag: Today Satire

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को रुकवाने को लामबंद,छत्तीसगढ़ असेंबली निर्माण रुकवा देते

झल्लीगल्लां
काँग्रेसीचीयरलीडर

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट

ओए झल्लेया!ये क्या हो रहा है? ओए मुल्क में देशवासी कोरोना से त्रस्त हैं।दवाएं नही मिल रही+डॉक्टर्स नही दिख रहे+चिकित्सीय उपकरणों के भाव आसमान छू रहे हैं और तो और वैक्सीन तक नही लग पा रही और ये मोदी सरकार सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर अरबों रुपये फूंक रही है।हसाडे नेर्तत्व में विपक्ष ने तुरन्त विस्टा प्रोजेक्ट को रोकने और कोरोना के खात्मे के लिए खजाने खोलने को कह दिया है
झल्ला
Jhallaa Cartoonओ मेरे चतुर सुज़ान ! गल तो आपजी की दुरुस्त है लेकिन आपकी पार्टी की सरकार छत्तीसगढ़ में हैं और वहां भी पौने तीन सौ करोड़ ₹ की लागत से असेंबली भवन बन रहा है अगर उसे पहले रुकवा कर सेंट्रल विस्टा की बात करते तो लोगों को अधिक अपील करता

ये कैसा लोकतंत्र?विधायकों को केंद्र तो सीएम को संयुक्तराष्ट्र ही बचाने आएगा क्या ?

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर
Jamos Cartoon ओए झल्लेया । मजा आ गया।ओए बेशक वेस्ट बंगाल में हसाडी सरकार नही बनी लेकिन हसाडे सारे 77 के 77 विधायकों को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जी सुरक्षा मुहैया करवा रहे हैं।अब तो सीआरपीएफ और सीआईएसएफ आदि के ज्वान टीएमसी के गुंडों से हसाडे विधायकों की रक्षा कर लेंगे।
झल्लाझल्ला
चतुर सुजाणा! ये कैसा लोकतंत्र है???विधायकों को केंद्र तो सीएम को संयुक्त राष्ट्र ही बचाने आएगा क्या ???

कोरोना के भमबड़भूसे से त्रस्त सियासतदां मुल्क को लॉक डाउन की गदिघेड़ में डाल रहे

झल्लीगल्लां
चिन्तितनागरिक
Corona Lock Downओए झल्लेया! ये क्या हो रहा है? सियासतदां तो हसाडे सोण मुल्क को किस गदिगेड़ में डाले जा रहे हैं??
पहले कहते तो कि लॉकडाउन नही लगेगा ,और अब दिल्ली,उत्तरप्रदेश,हरियाणा,पंजाब ,राजस्थान आदि में किसी न किसी छद्म नाम से 17 मई तक लॉक डाउन बढ़ा दिया गया।ओये मजदूर बेचारे फिर पलायन को मजबूर होने लग गए
झल्ला
भापाझल्ला जी! कोरोना किसी के भी काबू में नही आ रहा शायद इसीलिए भम्भडभूसे में डाले रखना चाहते हैं।

O2 अलॉटमेंट को गठित टास्क फोर्स चरमराई व्यवस्था पर ही निर्भर रहेगी ?

झल्लीगल्लां
रिटायर्डन्यायाधीश
Judiciaryओए झल्लेया! आखिरकार अदालतों ने ही लोक तन्त्र की रक्षा करनी है ।कोरोना महामारी में तीनों स्तम्भ बेशक धाराशाई हो गए लेकिन सुप्रीमकोर्ट ने ऑक्सीजन अलॉटमेंट के लिए 10 डॉक्टरों वाली 12 सदस्यीय स्पेशल टास्क फोर्स बना कर सबको राहत दी है।ओए हुण ऑक्सीजन के लिए हायतौबा बन्द हो जाणी है
झल्ला
झल्लाभापा जी!ये तो सराहनीय है लेकिन टास्क फोर्स निर्भर तो उपलब्ध चरमराई व्यवस्था पर ही रहेगी

कोरोना संकट को सेना के पाले में डालने को सियासी उधेड़बुन शुरू

झल्लीगल्लां
चिंतितबुद्धिजीवी
ओए झल्लेया!ये क्या भम्बड़भूसे में मुल्क को धकेला जा रहा है।पहले तो सियासतदां मीलों लम्बे दावे करके सत्ता कब्जा लेते हैं फिर जरा सी मुसीबत गले पड़ते ही सेना की मदद की गुहार लगाने लगते है।यहां तक माननीय न्यायालय भी सेना की बात करने लग गए।दिल्ली राज्य और हरयाणा पहले ही हाथ खड़े कर चुके है।
झल्ला
भापा जी!
मुश्किल वक्तों में सेना ने हमेशा मुल्क को उबारा है और कॉरोनानुसरों के वर्तमान संकट में तो सेवानिवर्त डिफेंस डॉक्टर्स ने e संजीवनी पर ओ पी डी भी सम्भाल ली है लेकिन ये कोरोना संकट किसी एक छेत्र में आये भूकम्प/बाढ़ आदि का नही वरण समूचे राष्टीय आपदा का है और पूरे राष्ट्र की कमान आर्मी को देने के दुष्परिणाम भी हो सकते है।इसीलिए विपक्ष+सरकारों और जनता को मिल कर ही कोरोना से मुकाबिला करना होगा ।

भारत सरकार को बदनाम करने वाली कोरोना मदद से हाथ जोड़ लेने चाहिए

झल्लीगल्लां
आक्रोशितएनआरआई
Corona Help from USAओए झल्लेया! भलाई का कोई जमाना हिनहीँ रह गया।देख तो भारत ने संकट के समय अमेरिका की भरपूर मदद की।अब जब भारत मे छाए कोरोना संकट में अमेरिका मदद भेज रहा है तो प्रेजिडेंट बिडेन के प्रतिनिधि से उल्टे सीधे सवाल पूछ कर भारत को बदनाम करने का षड्यंत्र शुरू हो गया।ये लोग पूछ रहे हैं कि उनके टैक्स के पैसे से भेजी गई मदद कहां है और किस किस राज्य की दी गई।
झल्ला

Jhallaa Cartoonभापा जी! हसाडे मुल्क में तो दानकर्ता का एक हाथ देता है तो दूसरे को खबर नही होती और ये लोग हमें ही बदनाम करने पर तुल गए।झल्लेविचारानुसार भारत सरकार को ऐसी मदद से हाथ जोड़ लेने चाहिए

जमीनी मुद्दों को पहचान कर बंजर चेलों के गुणगान से परहेज लाभकारी होगा

झल्लीगल्लां
भजपाई चेयरलीडर
Elections ओए झल्लेया! हसाडे मुल्क में अब अच्छाइयों का जमाना ही नही रहा।ओए हसाडे देवतुल्य प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई दामोदर दास मोदी जी ने जनता के सभी वर्ण+धर्म+सम्प्रदायों के साथ आर्थिक वर्गों के कल्याण के लिए दिन रात एक किया हुआ है लेकिन चुनांवों में इन्हें हराने के लिए इनके विरुद्ध दुष्प्रचार किया जा रहा है।इसी के फलस्वरूप बंगाल+तमिलनाड में हार हो गई।उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव में भी विपक्षी दुष्प्रचारी एकट्ठा हो गए।ये तो शुक्र है के असम और पुडुचेरी में इज्जत बच गई वरना इन्होंने तो कोई कसर बाकी नही छोड़ी थी
झल्ला
झल्लाओ मेरे चतुर सेठ जी !अंतराष्ट्रीय ख्याति पाने के लोभ में आपलोगों के पावँ जमीनी हकीकत से उठ चुके है।खैर इसे चेतावनी समझ कर असली मुद्दों को पहचान कर अपने बंजर चेलों के गुणगान से परहेज लाभकारी होगा

सुप्रीमकोर्ट जी!निरन्तर महंगी हो रही न्याय व्यवस्था को मुफ्त कराने को भी प्रयास जरूरी

झल्लीगल्लां
चिन्तितनागरिक
Judiciaryओए झल्लेया!ये क्या हो रहा है? ओए मुल्क में नोटों के बंडल लेकर घूम रहे कोरोना मरीजों को पर्याप्त उपचार नही मिल रहा प्राइवेट अस्पतालों में 250 ₹ में भी टीका नही लग रहा और माननीय सुप्रीम कोर्ट फ्री में सभी को टीके लगवाने का फरमान जारी कर रही है।
झल्ला
झल्लाभापा जी!बेशक जान बचाने को सभी विकल्प खुले रहने चाहिए लेकिन कहा गया है कि “चैरिटी बिगिन्स एट होम” सो माननीय सर्वोच्च न्यायालय जी को स्वत संज्ञान में लेकर दिनों दिन महंगी होती जा रही न्याय व्यवस्था को मुफ्त कराने को भी प्रयास करने चाहिएं।

कैप्टेन और लाफिंग जट्ट दोनों सिद्धू लेकिन इनमें सीधा कोई भी नही

strong>झल्लीगल्लां
कांग्रेसीचिंतक
ओए झल्लेया! ये हसाडे पंजाबी शेर किस गदिघेड़ में फंस गए।मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिन्दरसिंह और लाफिंग जट्ट सिद्धू ने एक दूसरे पर शब्द बाण चलाने शुरू कर दिए।ओए इससे तो भगवा वालों ने बढ़त हासिल कर लेणी है।
झल्ला
झल्लाचतुर सुजाणा!कैप्टेन और लाफिंग जट्ट दोनों ही सिद्धू हैं लेकिन इनमें सीधा कोई भी नही है।नवजोत सिंह ने अकालियों के नाम पर कैप्टेन को घेरा तो सीएम ने बेअदबी+गोलीकांड+ड्रग्स माफिया+रेत माफिया और नवीनतम कॉरोनानुसरों के विरुद्ध अपनी असफलताओं को दरकिनार करते हुए व्हिसल ब्लोअर नवजोत को चुनाव लड़ने की चुनोती दे दी।और तो और नवजोत को अनुशासनहीन कांग्रेसी बता कर नवजोत के दिल्ली में बैठे कैप्टेन को भी चेतावनी दे डाली

नगर निकायों में बेशक कोविड हेल्प डेस्क बनाओ लेकिन गले मे घण्टी भी बांधो

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर
Jamos Cartoonओए झल्लेया!देखा हसाडी सरकार हर मोर्चे पर मुस्तैद है। कोरोना के विरुद्ध सुरक्षात्मक व्यवस्था खड़ी करने में हम सबसे आगे हैं।उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री श्री आशुतोष टण्डन जी ने सभी नगर निकायों में कोविड हेल्प डेस्क बनाने के आदेश जारी कर दिए है।ओये अब दफ़्तरों में भीड़ भाड़ नही होगी हेल्प डेस्क पर ही हेल्थ सम्बन्धी सभी मदद मुहैया करवा दी जाएगी।
झल्ला
झल्लाओ भोले सेठ जी!नगर निकायों में बेशक कोविड हेल्प डेस्क बनाओ लेकिन गले मे घण्टी भी बांधो
इन बिल्लियों के गले मे घण्टी बांधने की भी तो कोई व्यवस्था होनी चाहिए क्योंकि अभी तक अधिकांश हेल्प डेस्क के खिलाफ ही खबरें आ रही हैं।