Ad

Tag: White Paper on Partition Horrors

मोदीभापे ! विभाजनविभिषिकास्मृतिदिवस सम्बंधित खुला e निवेदन

मोदीभापे ! विभाजनविभिषिकास्मृतिदिवस सम्बंधित खुला e निवेदन

निवेदन

आदरणीय श्री नरेन्द्रमोदी जी

प्रधानमंत्री भारत सरकार

नई दिल्ली

Claimसर्वप्रथम विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस की घोषणा के लिए धन्यवाद स्वीकार करें

आपने हमारे दर्द को महसूस किया उसे स्वीकार किया ,इसके लिए दिल से धन्यवाद

इस संदर्भ में निवेदन है कि अब हमें दशकों से लम्बित हमारे हक के अलॉटमेंट क्लेम दिलवा कर कृतार्थ करें ।इसके लिए 5 सितंबर 2005 को ब्लैक संशोधन एक्ट 38 को समाप्त किया जाए

विश्व की इस सबसे बड़ी दुःखद त्रासदी के हजारों पीड़ित आज भी अपने हक के कम्पेनसशन/रिहैबिलिटेशन क्लेम के लिए दर दर भटक रहे है।जबकि भारत सरकार द्वारा evacuee property के जरिये पाकिस्तान से वसूला जा चुका है राज्य सरकारों एवम अधिकारियों द्वारा केवल लटकाया,टरकाया,भटकाया  जा रहा है। इस कथन के समर्थन में कुछ पत्र ध्यानाकर्षण हेतु  संलग्न है

आपने काले माह अगस्त में राष्ट्र को  तीन  अवसरों पर सम्बोधित करके विभाजनविभिषिका पीड़ितों को कुछ राहत पहुंचाई

(1) ट्विटर

(2)लाल किले की प्राचीर

(3)जलियांवाला बाग का  वर्चुअल लोकार्पण

इन तीनो सम्बोधनों में आपने विभाजनविभिषिका की पीड़ा को सांझा किया।इससे आपकी हमारे कल्याण के प्रति प्रतिबद्धता साफ प्रगट होती है

वर्ष का यह आठवाँ महीना सोलह कला सम्पूर्ण श्री कृष्ण के जन्म  से विभोर कर रहा है ।आपका अमृतमहोत्सव भी जन कल्याणकारी हो रहा है।

इसीलिए आपसे करबद्ध निवेदन है कि इस अमृत महोत्सव में न्याय अमृत की चंद बूंदें विभाजनविभिषिका पीड़ितों को देकर कृतार्थ करें

कृपया

(1)देश  विभाजन से लम्बित हमारा रिहैबिलिटेशन/कम्पेनसशन/अलॉटमेंट क्लेम दिलवा कर हमारी दशकों की तृष्णा को तृप्ति प्रदान करें

(2)5 सितंबर 2005 के काले संशोधन( 38 )को समाप्त कराएं

(3)विभीषिका के पश्चात आज़ाद भारत मे दी गई evacuee property  लूट की आज़ादी को पाठ्यक्रम में शामिल किया जाए।

(!)Evacuee Property (!!)अलोटटेड (!!!)परंतु कब्जा नही दिए गए

आदि प्रॉपर्टी को  on line करवाएँ

(!!!!) रिहैबिलिटेशन / कम्पेनसशन सम्बंधित लम्बित मामलों के निबटारे को एक केंद्रीय संस्था का गठन हो

अपराध/गलती की स्वीकारोक्ति तो आपने कर ली अब इसके प्रायश्चिय स्वरूप कृपया

(A)भारत सरकार द्वारा 14 अगस्त 1947 के निर्णय के लिए क्षमा याचना पश्चाताप करे और संसद में श्वेत पत्र ला कर चर्चा कराएं

अपने दिल के इस फफोले के साथ

पुनः धन्यवाद

आपका

जगमोहन सबलोक

185 ग्लोबल सिटी गंगानगर

मेरठ उत्तरप्रदेश 250001

मोदीभापे

“भादों गरज रहा है,कान्हा भी चमक रहा है

तुम हो अमृतमहोत्सव में,पीड़ित तरस रहा है “

यूट्यूब लिंक

https://youtu.be/ZRJLEmI8Tvo