Ad

Category: Murder

सैय्यद शुजात बुखारी की हत्या के पीछे आर्मी ने पाकिस्तानी हाथ

[जम्मू]सैय्यद शुजात बुखारी की हत्या के पीछे आर्मी ने पाकिस्तानी हाथ बताया | संदिग्ध चार हत्यारों को गिरफ्तार करने का दावा किया जा रहा है|वरिष्ठ पत्रकार बुखारी को आज उनके पैतृक गावं में सपुर्दे ख़ाक किया गया|
गुरूवार की रात श्रीनगर के बेहद सुरक्षित पत्रकार कालोनी में तीन अज्ञात बाइक सवारों ने राईसिंग कश्मीर के चर्चित सम्पादक बुखारी को निशाना बनाया|
सेना के सूत्रों के अनुसार यह हत्या पाकिस्तानी एजेंसियों द्वारा कराई गई है|

पुलिस चौकीदार की हत्या , ग्राम प्रधान गिरफ्तार

[बलरामपुर,यूपी] पुलिस चौकीदार की हत्या के आरोप में ग्राम प्रधान गिरफ्तार
बलरामपुरजिले में सिसई गांव निवासी पुलिस चौकीदार राजेन्द्र यादव (45) की हत्या के मामले में एक ग्राम प्रधान राम किशुन गुप्ता को गिरफ्तार किया गया है।बताया जा रहा है के विकास कार्यों में बंदरबांट को लेकर दोनों में वैमनस्य था|

आतंकवाद रोधी दस्ते के अधीक्षक राजेशसाहनी की कार्यालय में संदिग्ध मौत

[लखनऊ,यूपी] आतंकवाद रोधी दस्ते के पुलिस सहायक अधीक्षक राजेशसाहनी की कार्यालय में संदिग्ध मौत
उत्तर प्रदेश के आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी की मृत्यु की जांच होगी
अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) आनंद कुमार के अनुसार सहायक पुलिस अधीक्षक राजेश साहनी ने सरकारी हथियार से खुद की कनपटी पर गोली मार ली। उन्होंने अपने कार्यालय में दोपहर लगभग पौने एक बजे खुदकुशी कर ली। साहनी 1992 बैच के प्रांतीय पुलिस सेवा के अधिकारी थे।
कुमार ने बताया कि यह पता लगाया जा रहा है कि साहनी ने ऐसा कदम क्यों उठाया।

हत्या के मामले में दोषी सिद्धू और संधू दोनों बच गए

[नई दिल्ली] हत्या के मामले में दोषी सिद्धू और संधू दोनों बच गए सिद्धू को कोर्ट ने ३० साल पुराने हत्या के मामले में दोषी तो ठहराया लेकिन सजा नहीं दी |सिद्धू के सहयोगी रुपिंदर सिंह संधू को भी बरी कर दिया गया है|
उच्चतम न्यायालय ने पंजाब के पर्यटन मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को वर्ष 1988 के रोड रेड मामले में 65 वर्षीय एक व्यक्ति को जानबूझकर चोट पहुंचाने का आज दोषी ठहराया। हालांकि सिद्धू को न्यायालय ने इस मामले में जेल की सजा से बख्श दिया। इस रोड रेज में सीनियर सिटीजन की मृत्य हो गई थी|तभी से सिद्धू दोषी हैं
न्यायमूर्ति जे चेलामेश्वर और न्यायमूर्ति संजय किशन कौल की पीठ ने कहा कि सिद्धू भारतीय दंड संहिता की धारा 323 ( जानबूझकर चोट पहुंचाना ) के तहत दोषी हैं और उन पर 1,000 रूपये का जुर्माना लगाया जाता है।
पीठ ने कहा , ‘‘ ए 1 ( सिद्धू ) को दोषी करार दिया जाता है। उन्हें कोई सजा नहीं दी जा रही है लेकिन 1,000 रूपये का जुर्माना लगाया जाता है। ए 2 ( रूपिंदर सिंह संधू ) को बरी किया जाता है। ’’
रूपिंदर सिंह संधू सिद्धू के सहायक थे।

समाजवादी प्रभु साहनी की वाराणसी में गोली मार कर हत्या

[वाराणसी,यूपी]सपा के स्थानीय नेता प्रभु साहनी की गोली मार कर हत्या
प्रभु साहनी आज संकठा मंदिर से दर्शन करने के बाद सिंधिया घाट पहुंचे थे। जहां पहले से ही घात लगाकर बैठे दो अज्ञात बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी। स्थानीय निवासी उन्हें घायल अवस्था में अस्पताल ले गये, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
प्राप्त जानकारी केअनुसार मृतक के रिश्तेदार पर हत्या करने का आरोप लगाया जा रहा है।

राजेश नामक वकील की हत्या,आक्रोशित वकीलों ने बस फूंकी

[इलाहाबाद ,यूपी]राजेश नामक वकील की हत्या ,आक्रोशित वकीलों ने बस फूंकी |
प्राप्त जानकारी के अनुसार राजेश कुमार श्रीवास्तव सुबह बाइक पर कोर्ट जा रहे थे, मनमोहन पार्क के समीप अज्ञात बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी| अस्पताल में उन्हें मृत घोषित किया गया
इस अपराध के पश्चात् वकीलों ने जम कर हंगामाँ किया | पोलिस कप्तान के कार्य्य के सामने एक बस भी फूंकी गई|आक्रोशित वकीलों ने तत्काल हत्यारों की गिरफ़्तारी की मांग की है |समाचार लिखे जाने तक कातिल और कत्ल के उद्देश्य की जानकारी नहीं मिल सकी है |

सिद्धू के खिलाफ पार्किंग ठेकेदार को मारने के केस में एससी का फैंसला सुरक्षित

[चंडीगढ़,दिल्ली] सिद्धू के खिलाफ पार्किंग ठेकेदार को मारने के केस में एससी का फैंसला सुरक्षित |सुप्रीम कोर्ट ने नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ एक पार्किंग ठेकेदार को मारने के केस में अपना फैंसला सुरक्षित रख लिया है|३० साल पुराने इस अपराध में निचली अदालत ने सिद्धू को आरोपमुक्त कर दिया था लेकिन हाई कोर्ट ने आरोपी को गैरइरादतन हत्या का दोषी करार दे दिया और ३ वर्ष की सजा सुनाई थी |सिद्धू ने अब सुप्रीम कोर्ट में हाई कोर्ट के फैंसले को चुनौती दी है|
२७ दिसंबर १९८८ को पटिआला में ६५ वर्षीय गुरनाम सिंह को कार पार्किंग विवाद में आवेश में आकर सिद्धू ने मुक्का मार कर गिरा दिया था जिसके पश्चात् उसकी मृत्यु हो गई थी |सिद्धू वर्तमान में पंजाब में कांग्रेस की सरकार के लोकल बॉडी मिनिस्टर हैं

Realtor Moti Goyal Shot Dead in Noida

[Noida,UP]Realtor Moti Goyal Shot Dead in Noida He was supervising construction on a disputed plot
Baraula area of Noida witnessed a hienous Crime .
Unidentified assailants fired seven bullets at the realtor, identified as Moti Goyal. Three bullets hit him, killing him on the spot around 4 pm.
He was supervising the construction of a boundary wall on a disputed land at Baraula when the assailants came and fired at him

Capt,Batting for Sidhu,Turn Down Action In Rd Rage Case

[Chd,Pb] Capt,Batting for Sidhu,Turn Down Action In Road Rage Case
Chief Minister Amarinder Singh today scotched speculation that the Congress leader would be resigning from the state cabinet.
The Chief Minister said there was no question of asking Sidhu, the Tourism, Culture and Local Government minister, to quit.
Last week, the state government in the Supreme Court had favoured the Punjab and Haryana High Court verdict convicting and awarding a three-year jail term to Sidhu in the 1988 case. Gurnam Singh, a Patiala resident, had died after he was given fist blow by Sidhu.
Amarinder pointed out that the apex court had stayed Sidhu’s conviction in 2007 and was yet to pronounce its final verdict on his petition challenging the high court order.
The question of the minister resigning, merely because the state government had repeated its stand of 30-years in the case before the Supreme Court, did not arise,
The categorical clarification from the Chief Minister came amid reports suggesting that Sidhu had been asked to resign, and also in the wake of the demand from the opposition that he should step down.
In September 1999, a trial court had acquitted Sidhu of the murder charge. However, the High Court reversed the verdict and held him and co-accused Rupinder Singh Sandhu guilty of culpable homicide not amounting to murder in December, 2006.
The high court sentenced them to three-year imprisonment and imposed a fine of Rs 1 lakh each on the convicts.
Opposition mounting attack on Punjab Local Body Minister Navjot Singh Sidhu in this 30 years old case

बदमाशों ने टीवी पत्रकार+पार्षद पति पर गोलियां चलायी

[गाजियाबाद,यूपी]बदमाशों ने टीवी पत्रकार +पार्षद पति पर गोलियां चलायी
हेलमेट पहने बाइक सवार बदमाशों ने एक टीवी पत्रकार के घर में घुसकर उन्हें गोली मार दी । घायल पत्रकार को अस्पताल में भर्ती कराया गया है हिंदी न्यूज चैनल में काम करने वाले अनुज चौधरी की पत्नी बसपा से पार्षद हैं ।
चौधरी की पत्नी बसपा के टिकट पर पार्षद निर्वाचित हुयी थीं। है