Ad

Category: Tourism

मेरठ का1वाहन कमेला तो कंट्रोल नही हो रहा,देश भर में कमेले खोलने चले

झल्लीगल्लां
व्यंगकार
 ओए झल्लेया !ये क्या हो रहा है? ओए मोदी सरकार स्क्रैप पालिसी थोप कर पुरानी एंटीक गाड़ियों के दर्शन दुर्लभ करने जा रही है।ओए अब एंटीक गाड़ियों का प्रदर्शन/रेस नही होगी । वाहन निर्माता भी अपने वाहन की लंबी लाइफ का दावा नही कर पाएंगे
झल्ला
झल्ला भापा जी!मेरठ का1वाहन कमेला तो कंट्रोल नही हो रहा,देश भर में कमेले खोलने चले
मेरठ के सोतीगंज में एक वाहन कमेला लखनऊ से लेकर दिल्ली के शासन+प्रशासन के काबू नही आ रहा और ये परिवहन मंत्री नितिन गडकरी पूरे देश मे वाहन कमेले खोलने जा रहे हैं और उम्मीद है कि इन कमेलों को पर्यटन केंद्र बना कर प्रवेश टिकट भी लगा दिया जाएगा

गडकरी जी !वाहन कमेले और स्क्रैप पालिसी राष्ट्र में लागू हो पाएगी?

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर
ओए झल्लेया! मुबारकां!!ओए हसाडे मुल्क में चमचमाती साफ सुथरी सड़कों पर नई नवेली गाड़ियां ही फर्राटा भरेंगी।हसाडे कर्मयोगी परिवहन मंत्री नितिन गडकरी जी ने पार्लियामेंट में एलानिया कह दिया है किपुरानेवाहनों का बोझ अब राष्ट्र सहन नही करेगा। उन्होंने पूरे देश मे स्क्रैप पालिसी की भी बात कह दी है।अब 15-20 ,साल पुराने वाहन स्वेच्छा से कटवाएँ जाएंगे।इससे नॉकरियाँ मिलेंगी+इकॉनमी तो दौड़ेगी साथ ही पर्यावरण भी सुधरेगा।
झल्ला चतुर सेठ जी! ठीक ही है।पूरे राष्ट्र में वाहन कमेले खुलने से शायद चोरी चकारी के वाहनों का गैरकानूनी कटान रुक जाए लेकिन झल्लेविचारानुसार एआप लोग किसानों के पुराने ट्रैक्टर ट्रालियों पर तो यू टर्न ले लेते हो ऐसे में पूरे राष्ट्र में इस पालिसी को लागू करने की बात क्यूँ करते हो

हेमामालिनी ने अयोध्या की तर्ज पर मथुरा के लिए फंड्स मांगे ; मथुरा कार्ड

झल्लीगल्लां
कृष्णभक्त
ओए झल्लेया! राधे राधे !!
ओए हसाडी सोणी सांसद श्रीमती हेमा मालिनी जी ने लोक सभा मे अनुदान मांग पर हो रही चर्चा में भाग लेते हुए धर्म नगरी मथुरा के विकास और यमुना जी की सफाई के लिए अयोध्या की तर्ज पर विशेष फंड्स की मांग की है।राधे राधे
झल्ला
Jhallaa Cartoonभापा जी!राधे राधे!!आपकी धार्मिक नगरी मथुरा पर्यटन का भी मुख्य केंद्र है इसीलिए वहां का विकास होना ही चाहिए लेकिन चुनावी बेला में ऐसी मांग उठाने से कहीं ना कहीं लगता है कि अयोध्या के बाद अब मथुरा की तैयारी है।

गडकरी जी!पर्यटक वाहन यौजना से स्कैनिया बस वालों को कितना फायदा होगा ?

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर
ओए झल्लेया! हसाडे सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी जी ने अपने कांधों पर एक और सितारा अर्जित कर लिया।ओए उन्होंने पर्यटक वाहन संचालकों के लिए नई योजना की घोषणा की है जिसके अंतर्गत अब 1 एप्रिल से ऑनलाइन आवेदन जमा करने के 30 दिनों के भीतर परमिट जारी कर दिया जाएगा। इससे बिना किसी बाधा के पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और राज्यों का राजस्व बढ़ेगा
झल्ला
चतुर सेठ जी!बेशक यह परमिट वाली स्कीम 3 महीने के लिए है। इसके परिणाम देखने के लिए यह पर्याप्त समय है लेकिन झल्ले दिमाग मे एक शक की सुई चुभने लग गई है।शक ये है कि इस परमिट स्कीम से स्कैनिया की लक्ज़री बस /फॉक्सवेगन वालों को कितना फायदा होगा?

मोदीभापे !तुम्हें दौरों से ही नही फुर्सत ,कह दोगे एक दिन कहीं और जा मरो

#मोदीभापे
खुशी मिलती गर तुम्हारे राज में किसी पीड़ित को न्याय मिला होता
तुम्हें दौरों से ही नही फुर्सत,कह दोगे एक दिन कहीं और जा मरो
बंगाल से बंगलादेश का टूर
#कंपनसेशन/#रिहैबिलिटेशन क्लेम की सरकारी लूट
#PMOPG/E/2016/0125052

मोदीभापे!अमृतमहोत्सव में 1947 के पीड़ितों के सूखे हलक में न्यायअमृत की चंद बूंदे डालोगे

#वयोवृद्धस्वतंत्रसेनानी ओए झल्लेया!मोदी सरकार ने हसाडे कलेजे में ठंडक पा दित्ती ।ओए आज 12 मार्च से हसाडी अपनी भारत सरकार द्वारा ‘ आजादी का #अमृतमहोत्सव’ (#India75) मनाया जाएगा । केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रहलाद सिंह पटेल स्वयम अहमदाबाद के साबरमती आश्रम से पदयात्रा (स्वतंत्रता मार्च) का नेतृत्व करेंगे।महान भारत के महान प्रधानमंत्री नरेन्द्र भाई दामोदरदास मोदी पदयात्रा को झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। ।ओए महात्मा गांधीजी ने नमक कानून के खिलाफ 81 पदयात्रियों के साथ 12 मार्च, 1930 को साबरमती आश्रम से दांडी मार्च की शुरुआत की थी।
झल्ला भापा जी!आपजीकी गल सोलह आने सच्च और चंगी है।आजादी के दीवानों को याद रखना ही चाहिए । कांवड़ यात्रा की तरह यह दांडी यात्रा भी टूरिज्म के नए द्वार खोल सकती है।लेकिन एक बात समझाओ कि भारत सरकार इस महोत्सव में अमृत बटोरेगी या फिर
1947 के बचे खुचे पीड़ितों के सूख चुके हलक में को न्याय अमृत की चंद बूंदे डालेगी????????

गडकरी जी! स्कैनिया के खिलाफ मानहानि का दावा कब कर रहे हो?

झल्लीगल्लां
तपाहुआभजपाई
Jamos Cartoonओए झल्लेया! ऐ की हो रेया? अब स्वीडन की स्कैनिया भी हम पर रिश्वतखोरी का कीचड़ उछालने लगी।राज्यों में चुनाव होने जा रहे हैं और एन वक्त पर हसाडे मंत्री पर रिश्वत के रूप में बसें लेने की बात कही जाने लगी गी।ये तो हसाडे खिलाफ कोई नया षड्यन्त्र ही है । बताओ !कह रहे हैं कि मंत्री की बेटी की शादी में बस दी ।अरे भाई बेटी की शादी में तो लोग पता नही क्या क्या दे जाते हैं और ये स्वीडिश बस के पैसे की बात कर रहे है।हसाडे कर्मठ मंत्री नितिन गडकरी जी ने तत्काल इसका खण्डन कर दिया है
Jhallaa Cartoonझल्ला मेरे भोले सेठ जी!गडकरी जी अपनी और पार्टी की छवि बचाने के लिए स्कैनिया पर कब मान हानि का दावा ठोंक रहे हैं और तब तक बसों के अस्तित्व से इनकार की प्रतीक्षा भी रहेगी।वरना विपक्ष इन अति आधुनिकबसों के हॉर्न चुनांवों में बजायेंगे ही बजायेंगे

ताजमहल में बम की सूचना अफवाह निकली

(आगरा)ताजमहल में बम की सूचना अफवाह निकली
उत्तर प्रदेश पुलिस के आपात सेवा नंबर 112 नंबर पर एक अज्ञात व्यक्ति ने सुबह करीब नौ बजे फोन कर दावा किया कि ताज महल में बम है।
आगरा के ताज महल में बम होने की सूचना मिलने पर उसे खाली कराया गया, हालांकि फोन पर मिली यह जानकारी बाद में अफवाह साबित हुई।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शरारती फोन उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद से किया गया था।
बम होने की झूठी सूचना देने के आरोप में एक व्यक्ति को फिरोजाबाद से हिरासत में लिया गया है
फ़ाइल फ़ोटो

पासपोर्ट सेवा केंद्र या उपभोक्ता को लूटने के केंद्र

20/1/2021
(मेरठ,यूपी)पासपोर्ट बने दस वर्ष बीत गए तो अब इसे रिन्यू कराना लाज़मी हो गया।हम ठहरे पढ़े लिखे अनपढ़ सो बढ़े बेटे ने अमेरिका से ऑनलाईन फॉर्म भर कर PassPort Loot Kendr
20/1/2021 का अपॉइंटमेंट लेलिया।निश्चित तारीख को सुबह नहा धो कर आई डी प्रूफ +पुराना पासपोर्ट और 2 फोटो उठाये चेहरे पर कोरोना मास्क लगा कर सुबह दस बजे मुख्यडाक घर परिसर में सपरिवार पहुंच गए।बेशक सपरिवार का न्यौता नही था लेकिन पत्नि और छोटे पुत्र का भी पासपोर्ट रिन्यू होना था सो सपरिवार ही पहुंच गए।परिसर में प्रवेश द्वार से सेवा केंद्र का बोर्ड तलाशते तलाशते निकासी द्वार तक पहुंच गए लेकिन असफलता ही हाथ लगी।छावनी में पैदा हुए और कई बार परिसर में स्थित बीएसएनएल कार्यालय और डाकघर मे आना भी हुआ सो आज की असफलता पर कुछ स्वाभाविक आत्मग्लानि भीहुई ।हमारी निराशा देख कर श्रीमती जी ने कमान हमेशा की तरह,हथियाई और सड़क पर उपलब्ध एक मात्र महिला से पासपोर्ट आफिस की लोकेशन पूछी।उस भद्र महिला ने कहा कि आप मुख्य प्रवेश द्वार से बाहर निकलिए और बिल्डिंग के अंत मे जाईये।हम खरामा खरामा कदम दर कदम बढ़ते हुए पासपोर्ट सेवा केंद्र के बोर्ड पर निगाह डालने में सफल हो ही गये

भ्र्ष्टाचार के केंद्र

भ्र्ष्टाचार के केंद्र

इस सारी प्रक्रिया में लगभग 45 मिनट लग गए
मियां बीबी दोनों वरिष्ठ नागरिक ठहरे सो कोरोना कोरोना जपते जपते अपने बैग से सेनिटाइज़र निकाल कर हाथ धोकर छोटे से गेट से अंदर प्रवेश कर गए।यह शायद हमारा ही दुर्भाग्य रहा होगा कि गेट पर कोई बॉडी टेम्प्रेचर मापक यंत्र लिए किसी श्रेणी के कर्मी के दर्शन नही हुए। अंदर सामने ही मेज के पीछे दो महानुभाव बैठे थे।एक बुजुर्ग और एक युवा शेष कुर्सियां खाली थी । दुआसलाम के पश्चात हमने आदेश मिलने पर कागजात युवा अधिकारी(हेमंत)के सामने रख दिए।हेमंत बाबू शायद घर से लड़ कर आये थे या फिर सुबह सुबह सूखा ग्राहक देख कर असहज थे सो एक एक नजर तीनों फॉर्म पर डाली और बाल पेन से फॉर्म केकॉलम पर टिक करके यह कहते हुए लौटा दिए कि श्रीमती जी की माता का नाम दर्ज नहीँ है। मेरे और पुत्र केफॉर्म में पुराना रिफरेन्स नही है।मैंने लगभग मिमयाते हुए निवेदन किया कि यह तो आप भी लिख सकते हो तो जवाब आया कि यहां नही कर सकते,आप अपने एजेंट से ही करवाइये।श्रीमती जी ने फिर कमान हथियाते हुए कहा कि भाई साहब यह सेवा केंद्र है और हमने किसी एजेंट से नही बल्कि अमेरिका में बैठे पुत्र से भरवाए है।अब वोह साहब तो अपनी बोनी खराब करने के मूड में कतई नही दिखाई दे रहे थे।और एप्लीकेशन फॉर्म को रिशेड्यूल करवाने पर अड़ गए।इसी बीच झाड़ू लगाने वाले कर्मी ने झाड़ू फेरना शुरू कर दिया।सो बैरंग लौटने में ही भलाई थी।
फॉर्म भरने वाले बेटे को जब यह व्रतांत सुनाया तो उसे कही रिशेड्यूल करने का कोई कालम नही मिला सो ₹4500 दोबारा जमा करवा कर नया अपॉइंटमेंट 8/22021 का लिया गया
Screenshot_20210219-150250पेंशनर की जेब से ₹4500 व्यर्थ निकलने का गम कुछ कम नही होता सो टीसीएस+विदेशमंत्रालय को ऑन लाइन लिखना शुरू किया। पासपोर्ट बनाने के लिए मेजबान अर्थार्त विदेश मंत्रालय और टीसीएस आदि को कई बार सोशल मीडिया में टैग करने पर भी कोई सुनवाई नही हुई।पैसा लौटाना तो दूर हमारा दुखड़ा टालने में ही सभी व्यस्त है।
अभी समस्या का समाधान नही हुआ। तमाम डाक्यूमेंट्स देने के उपरांत भी पुलिस वेरिफिकेशन आवश्यक बताई गई है।अब उसी की प्रतीक्षा है उसका किस्सा अगले संस्करण में।यकीन मानिए वोह इससे अधिक रोचक होगा क्योंकि पुलिस का मामला होगा।

Nitin Sablok (1) GZ 3075195227421
(2) GZBZ32016110
Application. (A) 20-0007562182
Shashi. (1) GZ 3075195309221
Sablok (2)GZBZ 32016010
Application. (A)20-0007562138
Jagmohan (1)GZ3075195413821
Sablok. (2)GZBZ32196107
Application. (A)20-0007561996

अल्पकालिक नेताओं ने चौरीचौरा छोड़ तत्कालिक वोटलाभार्थ अपने शहीद बना लिए

#भाजपाइचिंतक
ओए

चौरी चौरा

चौरी चौरा

झल्लेया!पक्षपाती इतिहासकारों ने भोजपुरी चौरी चौरा भौपा के शहीदों को सम्मानित स्थान नही दिया।
इतिहास के पन्नों में चौरी चौरा के शहीदों को यथोचित प्रमुखता नहीं दी गई है।
देश आजादी के 75वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है लेकिन अफसोस है कि शहीदों और स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में लोग बहुत कम जानते हैं ।ओए हसाडे धाकड़ मोदी जी और योगी जी ने भोजपुर की पवित्र धरती के शहीदों के सम्मान में पूरे राष्ट्र को जागृत कर दिया
#झल्ला
अल्पकालिक नेताओं ने चौरीचौरा छोड़ तत्कालिक वोटलाभार्थ अपने शहीद बना लिए

Chori Choura

चतुर सेठ जी!राष्टीय एकता जगाने के लिए ऐसे प्रयास स्वागतयोग्य है लेकिन वर्तमान अल्पकालिक नेताओं ने तो तत्कालिक वोट लाभ के लिए अपने शहीद बना लिए है।नही समझे? अरे भाई! टीएमसी के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने चौरी चौरा के बजाय किसान आंदोलन में मर रहे प्रदर्शकारियों के सम्मान में दो मिनट का मौन रखवा दिया।पँजांब के सीएम ने मृतकों के परिजनों के लिए 500000 ₹ और एक नॉकरी की घोषणा कर दी है।इन सबको पीछे छोड़ते हुए एक महानुभाव ने हरियाणा में उनकी सरकार के बनते ही मृतकों के परिजनों को 10000000 ₹ देने का एलान कर दिया है।
प्रियंका गांधी वाड्रा रामपुर के विलासपुर नवरीत सिंह को श्रद्धांजलि देने पहुंच गई तो लोक सभा छोड़ कर 15 सांसद गाजीपुर सीमा पर जा पहुंचे