Ad

Category: Pakistan

Capt Lambaste Sampla For Denying Travel Permit For Kartarpur Sahab

[Chd,Pb] Capt Lambaste Sampla For Denying Travel Permit to Sangat For Kartarpur Sahab
Punjab Chief Minister Captain Amarinder Singh has lambasted Union Minister and former Punjab State BJP President Vijay Sampla for trying to scuttle the dreams of the Sikh community by unnecessarily complicating the process of travel and darshan at the historic Kartarpur Sahib Gurdwara.Earlier Capt wrote a letter to Union Home minister for Passport Waiver For Sangat To Cross Kartarpur Corridor
The statement of Vijay Sampla rejecting the possibility of Passport waiver and making visa mandatory for the poor and illiterate pilgrims crossing the Kartarpur Sahib Corridor had once again shown that neither the ruling Bhartiya Janata Party (BJP) nor its ally SAD were interested in facilitating the devotees by making travel hassle-free, said the Chief Minister.
Sampla’s claim that all Punjabis had Passports was highly irresponsible and wrong, and showed how misinformed and disconnected from the masses the Minister was,
Capt Said,A Travel Permit could suffice to regulate entry and exit through the Kartarpur Corridor, with any official document, like the Aadhar card (which has biometric details of the citizens), as identification proof for those seeking to travel through the Corridor,

वाइब्रेंट गुजरात में पाकिस्तान नहीं मगर राजस्थान के मसाला मेले में निमंत्रण की संभावना

[जयपुर] वाइब्रेंट गुजरात में पाकिस्तान नहीं मगर राजस्थान के मसाला मेले में निमंत्रण की संभावना | राजस्थान में मई माह में आयोजित होने जा रहे राष्ट्रीय सहकार मसाला मेले को अंतराष्ट्रीय स्वरुप देने के लिए सार्क देशों की सहकारी समितियों को भी आमंत्रित किया जायेगा जिनमे पाक भी शामिल है|इससे पूर्व रजिस्ट्रार, सहकारिता डॉ. नीरज के. पवन ने पाकिस्तान की सहभागिता को नकारा था | उसके पश्चात् एक नै पोस्ट अपलोड की गई जिसमे पाकिस्तान शब्द को हटाया गया है जिसका अभिप्राय लगाया जा सकता है के अब पाकिस्तान को आमंत्रित किया जाएगा|उधर वाइब्रेंट गुजरात में पाकिस्तान की भागेदारी को नकारा जा चूका है|
राजस्थान की वेबसाइट पर अपलोड की गई नई पोस्ट के अनुसार
सार्क देशों की सहकारी समितियों को भी किया जायेगा आमंत्रित
रजिस्ट्रार, सहकारिता डॉ. नीरज के. पवन ने बुधवार को बताया कि सहकारिता विभाग इस वर्ष मई माह में जयपुर के निवासियों को राजस्थान ही नहीं भारत के अन्य प्रदेशों के उत्कृष्ट मसालों की सौगात उपलब्ध कराने जा रहा है। आयोजित किये जा रहे राष्ट्रीय सहकार मसाला मेले को इस बार अन्तरराष्ट्रीय स्वरूप प्रदान करने का निर्णय किया गया है और इस मेले में सार्क देशों की सहकारी समितियों को भी आमंत्रित किया जायेगा।
रजिस्ट्रार ने बताया कि प्रदेश के अधिकतर जिलों में विशिष्ट मसालों की उपज होती है जो उन जिलों की पहचान है। उन्होंने बताया कि नागौर की मैथी एवं कैर सांगरी, सोजत की अथाना मिर्च एवं मेंहदी, जालोर भीनमाल का जीरा, कोटा रामगंजमण्डी का धनिया, मथानिया की मिर्च, कोटा-बूंदी का चावल एवं पोहा, प्रतापगढ़ की हींग व आम पापड़ की अपनी पहचान है। हमारी सहकारी संस्थायें उनकी उपज के क्षेत्र से ही उनका संधारण एवं प्रसंस्करण कर उपभोक्ताओं को उपलब्ध करायेंगी ताकि उनकी महक एवं शुद्धता बरकरार रहे।
डॉ. पवन ने बताया कि मेले में केरल की लोंग, कालीमिर्च, इलायची सहित लिक्विड मसाले, तमिलनाड़ु की हल्दी, कुंकुम, धनिया, मिर्च के पाउडर, गुंटूर आन्ध्र प्रदेश की मिर्च, नार्थ ईस्ट प्रदेशों के मसाले, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा एवं उत्तरप्रदेश के नामचीन उत्पाद उपलब्ध होंगे। उन्होंने बताया कि जयपुर वासियों को दक्षिण भारतीय व्यंजनों के स्वाद से रूबरू कराने के लिये रेडिमेड सांभर एवं रसम के मसाले भी उपलब्ध करायें जायेंगे।
उन्होंने बताया कि मेले में प्रदेश के सभी संभागों तथा अन्य राज्यों से आने वाली सहकारी संस्थाओं को अलग-अलग डोम में स्टॉल आवंटित की जायेंगी। उन्होंने बताया कि मेले में मसालों की फ्लेवर एवं शुद्धता बनाये रखने के लिये पिसाई मशीन लगाई जायेंगी ताकि उपभोक्ता साबुत मसालों की अपने सामने पिसाई करवा सकेगा। यह निःशुल्क होगी।
रजिस्ट्रार ने बताया कि मेले में भुसावर के अचार एवं मुरब्बे, आगरा का पैंठा एवं दालमोठ, राजसमन्द की ठण्डाई, सवाईमाधोपुर का खस का शरबत, कोटा का शरबती गेहूं, सीकर का प्याज भी उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि महिलाओं को बच्चों के साथ मसालों की खरीददारी में किसी प्रकार की परेशानी न हो इसके लिये किड्स जोन भी बनाया जायेगा। उन्होंने बताया कि मेले में सायं 7 बजे से सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया जायेगा जिससे आगन्तुक खरीददारी के साथ-साथ दिन भर की थकावट को दूर कर सके।
डॉ. पवन ने बताया कि मेले का आयोजन भव्य तरीके से करने तथा जयपुर के वासियों को मसालों एवं खाद्य सामग्री के उत्ककृष्ट उत्पाद उपलब्ध कराने में किसी प्रकार की कमी न रहे इसके लिये कमेटियों का गठन कर दिया गया है।

No Pakistan Delegation at Vibrant Gujarat Summit: Rupani

[Ahmedabad]No Pakistan Delegation at Vibrant Gujarat Summit: Rupani.Rajasthan Govt has alsodecided not to invite Pakistan in its Masala Mela
As per Chief Minister Vijay Rupani ,Heads of state of some countries are expected to reach Gandhinagar for the 9th edition of the Vibrant Gujarat Summit beginning January 18.
Prime Minister Narendra Modi will inaugurate the event and hold one-on-one meetings with the leaders on the sidelines of the summit.
There was a controversy when the Gujarat Chamber of Commerce and Industry (GCCI), while inviting global trade bodies for the investors’ meet, had also invited the Karachi Chamber of Commerce for the mega event.
Indo-Pak diplomatic ties have been strained in recent times over the issue of terrorism.
No Pakistani delegation was invited for the investor meets held in 2015 and 2017.
The summit was initiated in 2003 by Modi when he was the chief minister, to promote investment in Gujarat and to establish it as the preferred investment destination in India.

Shiromani Akali Dal Seeks Production Subsidy For Farmers

[Bathinda,Pb]Shiromani Akali Dal[ SAD] Seeks Production Subsidy For Farmers
Shiromani Akali Dal (SAD) chief Sukhbir Singh Badal Wednesday sought production subsidy for farmers on the pattern of investment subsidy being given to the industry.
Former Punjab deputy chief minister said he had already requested Prime Minister Narendra Modi to introduce production subsidy concept for farmers.
“Production subsidy should be given to farmers on the pattern of investment subsidy given to the industry,” he said after interacting with party workers at Goniana
.Badal also accused Punjab Chief Minister Amarinder Singh of committing a fraud with farmers, claiming he had given “a signed affidavit” to farmers that the Congress government would wave their entire debt.
Meanwhile, Union Minister Harsimrat Kaur Badal alleged that Amarinder Singh was trying to “befool” the people of Punjab by stating that central funds had not been received to initiate work on the Kartarpur corridor.
On Kartarpur She said Punjab government does not acquire land, but blame the Centre for its failure,
file photo

Naqvi Returns Imran’s Coin Engraving Pak a Land of Atrocities Against Minorities

[New Delhi]Naqvi Returns Imran’s Coin Terming Pak a Land of Atrocities Against Minorities
In hard-hitting remarks against Pakistan, Naqvi said that number of minorities like Hindus, Sikhs and Christians have fallen by almost 90 per cent in that country since its birth in 1947
The BJP Sunday lashed out at Pakistan Prime Minster Imran Khan over his barb at India on treatment of minorities, terming his country “a land of atrocities against minorities” who have been “persecuted” there since its birth in 1947.
Minorities Affairs Minister Mukhtar Abbas Naqvi used a Hindi proverb and described Khan’s comments as a case of a cat going on a pilgrimage after eating 100 mice (Sau chuhe khake bill Haj ko chali).Minister also had a word of advice for veteran Indian actor Naseeruddin Shah, whose comments expressing concern over mob violence in the country were seized upon by Imran Khan to claim on Saturday that he will show the Indian government how to treat minorities.
“Naseeruddin Shah should also consider that such a sweeping statement that is also factually incorrect causes a lot of harm and is used by anti-India forces to target our country,” Naqvi said.
Shah had cited the murder of a police inspector in Uttar Pradesh’s Bulandshahr by a mob protesting alleged slaughter of cow to express his concern.

महात्मा गाँधी को श्रद्धांजलि देने के लिए १९४७ के बंटवारे में हुई गलती को सुधारो

महात्मा गाँधी को श्रद्धांजलि देने के लिए १९४७ के बंटवारे में हुई गलती को सुधारो

महात्मा गाँधी को श्रद्धांजलि देने के लिए १९४७ के बंटवारे में हुई गलती को सुधारो

[नई दिल्ली ] महात्मा गाँधी को श्रद्धांजलि देने के लिए १९४७ के बंटवारे में हुई गलती को सुधारो
महात्मा गांधी बने मोहन दास की आज जयंती है सो सबको बधाई| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी+विपक्ष के श्रीमती सोनिया गाँधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी इनकी समाधि पर श्रद्धा सुमन अर्पण कर स्वयं को धन्य कर रहे हैं |
विलायत पास मोहन दास ने आधी धोती और एक कमजोर सी लाठी लेकर अपने मुल्क में शक्तिशाली अंग्रेजों के खिलाफ आजादी की मुहीम छेड़ी |
लेकिन इसके साथ ही 1947 में एक गलत निर्णय लेकर बिना किसी तैयारी के देश का बंटवारा स्वीकार कर लिया
यह विभाजन सबसे बढ़ी त्रासदी के रूप में सामने आया| बंटवारे से दोनों तरफ के लाखों भारत वासियों के जान माल को हानि पहंची | दोनों तरफ के दबंगों ने संपत्ति की लूट मचाई लेकिन इसके पश्चात् भारत में पुनर्वास के लिए तैनात अधिकारीयों ने भी कोई कसर नहीं छोड़ी |दोनों तरफ के विस्थापितों द्वारा अपनी चल अचल सम्पत्ति को त्याग कर दूसरे अनजान देश में असहाय जाना पढ़ा
इनको अचल सम्प्पति को एक दुसरे की संपत्ति से एडजस्ट किया गया |मसलन पाकिस्तान में छोड़ कर आये हिन्दुओं की सम्पत्ति को भारत में छोड़ी गई मुस्लिमों की सम्पत्ति से एडजस्ट किया गया |यह सब सरकारी स्तर पर हुआ |लुटे पिटे आये हिन्दुओं ने अपनी रोजी रोटी के जुगाड़ में जुट गए ऐसे अधिकांश लोगों को केवल कागजों में ही संपत्ति दी गई और कुछ समय पश्चात् उसे भी कागजों में ही निरस्त कर दिया गया |पकिस्तान में छोड़ी गई सम्पत्ति की एवज में भारत में मुआवजा लेने के पश्चात् भी पीड़ितों को नहीं दिया जाना किसी भी सामाजिक आर्थिक और कानूनी अपराध से कम नहीं आंका जा सकता मगर दुर्भाग्य से इस अपराध पर पर्दा डालने के लिए २००५ में काला एक्ट ला कर इस व्यवस्था को ही समाप्त कर दिया गया| प्रधान मंत्री और हरियाणा +पंजाब के मुख्य मंत्रियों द्वार संचालित ग्रीवांस सेल्ल भी कोई न्याय नहीं दिला पा रहे हैं |इसी के नतीजतन शिकायतें केवल कम्प्यूटरों में रखे हैं और आज भी बढ़ी संख्या में पीड़ित अदालतों और ओल्ड लैंड रिकॉर्ड कार्यालय में चक्कर लगा रहे हैं |
गलती पर पर्दा डालने को आज भी हजारों पीड़ितों को उनके हक के रिहैबिलिटेशनक्लेम से वंचित रखा जा रहा है
इसी एक महा गलती को सच्चे मन से सुधार कर बापू को सच्ची श्रद्धांजलि देनी होगी |
फाइल फोटो

सुषमा स्वराज के पाक के खिलाफ तीखे तेवर:विदेश मंत्रियों की बैठक बीच में छोड़ी

[न्यूयोर्क] सुषमा स्वराज के पाक के खिलाफ तीखे तेवर:विदेश मंत्रियों की बैठक बीच में छोड़ी
भारत की विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज पाकिस्तान की उपेक्षा करते हुए दक्षेस देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक बीच में ही छोड़ कर चली गईं। बैठक में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी भी आए थे।
विदेश मंत्री अपना बयान देने के बाद बैठक से जल्दी चली गई। इसके बाद कुरैशी ने उनकी आलोचना करते हुए पत्रकारों से कहा, ‘‘नहीं, मेरी उनसे (स्वराज) कोई बात नहीं हुई। सकारात्मक तौर पर मैं कह सकता हूं कि वह बैठक के बीच से ही चली गयीं, शायद उनकी तबीयत ठीक नहीं रही होगी।’’
अफगानिस्तान और बांग्लादेश के विदेश मंत्री भी चले गए थे।
भारत ने जम्मू कश्मीर में तीन पुलिसकर्मियों की क्रूर हत्या और इस्लामाबाद द्वारा कश्मीरी आतंकवादी बुरहान वानी का ‘‘महिमामंडन’’ करने वाली डाक टिकटें जारी करने का हवाला देते हुए गत सप्ताह बैठक रद्द कर दी थी।

Pak PM Imran Rattles On India for Cancellation Of Talks

[Islamabad,Pak] Pak PM Imran Rattles On India for Cancellation of Proposed Talks in NewYork.
India’s decision to cancel the foreign minister-level meeting in New York was “arrogant”, Pakistan Prime Minister Imran Khan said Saturday, asserting that he was “disappointed” by the New Delhi’s “negative” response.
India on Friday cited the “brutal” killing of three policemen in Jammu and Kashmir as well as the release of the postal stamps “glorifying” Kashmiri militant Burhan Wani for calling off the meeting between External Affairs Minister Smt Sushma Swaraj and her Pakistani counterpart Shah Mehmood Qureshi on the sidelines of the United Nations General Assembly (UNGA) in New York this month.
Announcing the cancellation of the meeting, External Affairs Ministry Spokesperson Raveesh Kumar said in New Delhi that the incidents “exposed” the “true face” of Pakistan’s new Prime Minister Imran Khan to the world as well as Islamabad’s evil agenda behind the proposal for talks.
“The latest brutal killings of our security personnel by Pakistan-based entities and the recent release of a series of 20 postage stamps by Pakistan glorifying a terrorist and terrorism confirm that Pakistan will not mend its ways,” Kumar said.
“Disappointed at the arrogant and negative response by India to my call for resumption of the peace dialogue,” Prime Minister Khan said in a tweet.
“However, all my life I have come across small men occupying big offices who do not have the vision to see the larger picture,” he said in a sharp reaction to India’s cancellation of the meeting.
Kumar said talks with Pakistan after the “two deeply disturbing” developments would be “meaningless”.
“In view of the changed situation, there will be no meeting between the Foreign Ministers of India and Pakistan in New York,” he said.
Reacting to india’s remarks, Pakistan Foreign Office spokesman Mohammad Faisal said Friday that the “so-called ‘disturbing developments'” alluded to in the Indian statement predated the Indian agreement to hold the bilateral meeting in New York.
He said the alleged killing of a BSF soldier took place two days prior to the Indian announcement of its agreement to hold the bilateral meeting.

करतारपुर कॉरिडोर पर पकिस्तान+भारत चुप मगर कांग्रेसी ठोक रहे ताली

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है? औए हसाड़े लाफिंग जट्ट नवजोत सिंह सिद्धू ने पकिस्तान जाकर अपने मित्रता का हवाला देकर बाबा नानक की पवित्र कर्मस्थली करतारपुर साहब का मार्ग खुलवाने का इंतजाम कर दिया मगर ये भाजपाई सब गुड़गोबर किये दे रहे हैं | औए मुसलमानों को हज जाने के लिए दुनिया भर की सुविधाएं और हसाड़े सिखों को उनके मक्का करतारपुर साहब जाने के लिए एक कॉरिडोर भी नहीं |ये तो सरासर नाइंसाफी है|

झल्ला

औ मेरे चतुर सुजान! करतारपुर कॉरिडोर पर पकिस्तान+भारत चुप मगर कांग्रेसी ठोक रहे ताली
भाजपाइयों के अनुसार अभी तक पाकिस्तान की तरफ से करतारपुर कॉरिडोर खोलने के लिए कोई अधिकृत प्रस्ताव तो आया नहीं |यहाँ से कोई निवेदन गया नहीं इसके बावजूद आपलोग ठोकेजा रहे हो ताली पे ताली

BJP Cuts Sidhu,s Laugh For Speaking as Pak Agent

[New Delhi]BJP Cuts Sidhu,s Laugh For Hugging Pak General Bajwa
The BJP Tuesday accused Congress leader Navjot Singh Sidhu of demeaning India and speaking as an agent of Pakistan by attempting to “justify” hugging Pakistani Army chief Qamar Javed Bajwa and claiming that Pakistan is willing to allow Sikh pilgrims access to a gurudwara on its territory.
At a press conference, BJP spokesperson Sambit Patra also demanded a response from Congress president Rahul Gandhi over the issue, saying Sidhu has been speaking on the matter with his permission as Punjab Chief Minister Amarinder Singh has already condemned him over his conduct in Pakistan during the swearing-in ceremony of Imran Khan recently.
He also accused Sidhu of meeting External Affairs Minister Sushma Swaraj deceptively as she had given appointment to former Union minister M S Gill with whom, Patra alleged Sidhu tagged along.
The BJP spokesperson said Swaraj reprimand Sidhu in their meeting on Monday for his conduct in Pakistan.
Defence Minister Nirmala Sitharaman said Tuesday that Sidhu’s gesture of hugging Pakistan’s army chief impacted soldiers back home and asserted that the Punjab minister could have “avoided it”.
Sidhu had courted controversy by hugging Bajwa during his visit to Pakistan for the swearing-in of Imran Khan as Prime Minister. He had claimed that he did so as Bajwa told him that the Pakistan government was working for opening of the Kartarpur corridor for Sikh pilgrims from Indian state of Punjab.
Sidhu Monday met Swaraj and urged her to help initiate dialogue with Pakistan on the opening up of the Kartarpur Sahib corridor.
Union minister and Akali leader Harsimrat Kaur Badal, however, claimed that Swaraj “reprimanded” Sidhu for “messing up” the issue of the Kartarpur Sahib corridor dialogue and accused him of “misusing” the political clearance granted to him in visiting Pakistan recently.