Ad

Category: Unrest Strikes

कांग्रेस के साथ ही चुनाव आयोग भी पंजाब में लोक तंत्र का हत्यारा:वरिष्ठ बादल

[चंडीगढ़,पंजाब] कांग्रेस के साथ ही चुनाव आयोग भी लोक तंत्र का हत्यारा:वरिष्ठ बादल
पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री [बाबा बोड] प्रकाश सिंह बादल ने राज्य में बुधवार को हुए जिला परिषद और पंचायत समिति के चुनावों को ‘लोकतंत्र की नृशंस और दिन दहाड़े हत्या’ करार दिया।
बादल ने कहा कि 19 सितंबर 2018 को पंजाब में लोकतंत्र के लिए ‘सबसे काले दिनों में से एक’ रूप में याद किया जाएगा जब कांग्रेस ने ‘बिहार के सबसे बुरे समय के जैसी’ स्थितियां राज्य में भी पैदा कर दीं।
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि यह ‘‘बेहद दर्दनाक और खेदजनक’’ था कि राज्य चुनाव आयोग ने कल अपनी संवैधानिक जिम्मेदारी पूरी तरह त्याग दी।
गौरतलब हे के २२ जिला परिषद और १५० पंचायत समितियों के लिए हुए चुनावों में बढ़ी संख्या में गड़बड़ियों के आरोप लगे हैं
जिसके फलस्वरूप ८ जिलों की परिषद और पंचायत समितियों के ५० बूथों पर पुनः मतदान करवाया जा रहा है|अमृतसर +मोगा+फाजिल्का+पटिआला + फरीदकोट +बठिंडा+
लुधियाना+मुक्तसर आदि में चुनाव दुबारा होने हैं |इससे पूर्व अकाली नेताओं ने नामांकन के समय अपने नुमायंदे निर्विरोध चुनवाने के लिए कांग्रेस पर धक्केशाही का भी आरोप लगाया है

Cong Demands Withdrawal Of Stamp Duty Hike in Haryana

[Chd,Haryana] Congress Demands Withdrawal Of Hike in 65 Stamp Duty
Randeep Singh Surjewala has demanded immediate withdrawal of “steep hike” in 65 types of stamp duty services in Haryana.
He said recently “massive hike” has been effected in
agreement deed,
power of attorney and partnership deed.
“By effecting massive hike in the stamp duty rates for 65 types of deeds
This, the MLA from Kaithal claimed, was due to fallacious policies of the BJP governments at the state and the Centre.
Notably, the Indian Stamp (Haryana Amendment) Bill, 2018 was passed by the state Assembly recently to revise the rates of stamp duty of small denominations fixed since 1967.
Congress Spokesperson Surjewala said the Khattar government has imposed a massive 267 per cent increase in partnership deed stamp duty while increasing it from Rs 3.75 to Rs 1,000 and 889 per cent increase in stamp duty for agreement deeds by increasing it from Rs 2.25 to Rs 2,000.
“Similarly, the stamp duty for power of attorney has been increased by 333 per cent by increasing this duty from Rs 300 to Rs 1,000. For power of attorney, a person will now have to shell out Rs 100 instead of Rs 37.50,”

BJP Cuts Sidhu,s Laugh For Speaking as Pak Agent

[New Delhi]BJP Cuts Sidhu,s Laugh For Hugging Pak General Bajwa
The BJP Tuesday accused Congress leader Navjot Singh Sidhu of demeaning India and speaking as an agent of Pakistan by attempting to “justify” hugging Pakistani Army chief Qamar Javed Bajwa and claiming that Pakistan is willing to allow Sikh pilgrims access to a gurudwara on its territory.
At a press conference, BJP spokesperson Sambit Patra also demanded a response from Congress president Rahul Gandhi over the issue, saying Sidhu has been speaking on the matter with his permission as Punjab Chief Minister Amarinder Singh has already condemned him over his conduct in Pakistan during the swearing-in ceremony of Imran Khan recently.
He also accused Sidhu of meeting External Affairs Minister Sushma Swaraj deceptively as she had given appointment to former Union minister M S Gill with whom, Patra alleged Sidhu tagged along.
The BJP spokesperson said Swaraj reprimand Sidhu in their meeting on Monday for his conduct in Pakistan.
Defence Minister Nirmala Sitharaman said Tuesday that Sidhu’s gesture of hugging Pakistan’s army chief impacted soldiers back home and asserted that the Punjab minister could have “avoided it”.
Sidhu had courted controversy by hugging Bajwa during his visit to Pakistan for the swearing-in of Imran Khan as Prime Minister. He had claimed that he did so as Bajwa told him that the Pakistan government was working for opening of the Kartarpur corridor for Sikh pilgrims from Indian state of Punjab.
Sidhu Monday met Swaraj and urged her to help initiate dialogue with Pakistan on the opening up of the Kartarpur Sahib corridor.
Union minister and Akali leader Harsimrat Kaur Badal, however, claimed that Swaraj “reprimanded” Sidhu for “messing up” the issue of the Kartarpur Sahib corridor dialogue and accused him of “misusing” the political clearance granted to him in visiting Pakistan recently.

नितीश अस्पताल में एडमिट,आरजेडी भी बिहार की सत्ता पर दावा ठोकेगी?

[नई दिल्ली] नितीश अस्पताल में एडमिट,आरजेडी भी बिहार की सत्ता पर दावा ठोकेगी?
भाजपा के सहयोगी बिहार के सीएम नितीश भी अस्पताल में एडमिट |क्या अब विपक्षी आरजेडी सत्ता पर दावा ठोकेगी ? जे डी यूं के ६७ वर्षीय नितीश कुमार को आज प्रातः एम्स के प्राइवेट वार्ड में भर्ती कराया गया है| गौरतलब हे के भाजपा के गोवा में मुख्य मंत्री मनोहर पर्रिकर भी अस्पताल में भर्ती हैं उनकी अनुपस्थिति पर गोवा की विपक्ष में कांग्रेस पार्टी ने सत्ता पर दावा ठोका है|अब बिहार में भी मुख्य मंत्री की अनुपस्थिति को मुद्दा बना कर कांग्रेस की सहयोगी आर जे डी भी सत्ता पर दावा ठोक सकती है
फाइल फोटो

बादलों की पोल खोल रैली में पूर्व सीएम ने १९४७ के पीड़ितों से अन्याय को स्वीकारा

[फरीदकोट,पंजाब] बादलों की पोल खोल उर्फ़ जबर रैली में पूर्व सीएम ने भी स्वीकारा के १९४७ के पीड़ितों को न्याय नहीं मिला| सत्तारूढ़ कांग्रेस की सरकार की तरफ से तमाम रुकावटों के बावजूद हाई कोर्ट के आदेश पर आयोजित इस रैली में हमहुंआ के संगत पहुंची |जिससे सत्ता से बाहर हुए अकालियों में विशेष उत्साह देखने को मिला |विशाल एकट्ठ को सम्बोधित करते हुए पांच बार मुख्य मंत्री रहे साबका मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बादल ने जम कर कांग्रेस पर हमला बोला |उन्होंने कांग्रेस के धरम और पंजाबी विरोधी गतिविधियों को भी गिनाया|
वरिष्ठतम नेता ने यह भी बताया के १९४७ में एक गलत आत्मघाती निर्णय से जो कत्लेआम हुआ वोह उन्होंने स्वयं देखा है
पांच लाख पंजाबी प्रभावित हुए जिन्हें अपनी जमीन जायदाद भी खोनी पड़ी |भारत में इन्हें न्याय नहीं दिया गया | जो जमीने वोह छोड़ कर आये थे उनके आग्रह के बावजूद वोह भी नहीं दी गई |
गौरतलब हे के पाकिस्तान में छोड़ी गई भूमि के बदले भारत सरकार ने पाकिस्तान सरकार मुआवजा वसूल लिया था जिसे भारत में छोड़ी गई भूमि से एडजस्ट किया गया लेकिन दुर्भाग्य से पीड़ितों की पीढ़ियां गुजरें के बावजूद अभी भी हजारों उत्तराधिकारियों को उनके हक के रिहैबिलिटेशन क्लेम नहीं दियगए| अनेक लोग हाई कोर्ट और पंजाब ओल्ड लैंड रिकॉर्ड कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं
इनके हक मारने के लिए तत्कालीन पंजाब सरकार द्वारा २००५ में काला एक्ट लाया गया| आश्चर्यजनक रूप से प्रधान मंत्री और मुख्य मंत्री कार्यालय से फॉरवर्ड ग्रिएवान्सेस भी इधर उधर भटकाई जा रही है |

Quota Leader Hardik Surrenders:Unconditionally Ends Fast

[Ahmedabad]Quota Leader Hardik Surrenders:Unconditionally Ends Fast
Hardik Patel ended his indefinite fast Wednesday after 19 days He broke the fast by having lemonade from the hands of Patidar community leaders Naresh Patel and C K Patel. There were no talks between him and the Gujarat government over the leader’s demands for reservation to Patidars and farm loan waiver.
Quota Leader had begun his indefinite hunger strike on August 25 at his residence demanding reservation for Patidars under the Other Backward Classes (OBC) category and loan waiver for Gujarat farmers.
Later, a demand for release of his aide Alpesh Katheria, who was arrested on charges of sedition, was also added.
The 25-year-old quota agitation leader was admitted to a hospital after his health deteriorated last Friday – the 14th day of his fast.
After spending two days in hospital, he had returned to his house and continued the hunger strike.
While he had started taking liquids and was administered glucose at the hospital, the Patidar leader claimed he did not take any solid food during the fast.
On September 4, the Bharatiya Janata Party (BJP)-led Gujarat government had reacted to the agitation and claimed that Hardik’s quota movement was a “politically-motivated” agitation with the backing of the Congress.
State Energy Minister Saurabh Patel had then said that the government’s door were open for talks, but no negotiations were held

34 Agitating Journos Detained Outside Gujrat CM’s Office

[Ahmedabad,Guj]34 Agitating Journos Detained Outside Gujrat CM’s Office
They tried to forcibly enter the office of Gujarat Chief Minister Vijay Rupani in Gandhinagar,
The journalists, representing small and medium size local newspapers, wanted to meet the chief minister to register their protest against the recent change made in the Advertisement Policy, The detainees were released after an hour.

स्वराजइंडिया ने दैनिक सफाईकर्मियों के वेतन घटाने पर दिल्लीसरकार को लताड़ा

[नई दिल्ली].स्वराजइंडिया ने दैनिक सफाईकर्मियों के वेतन में ४००० की घटौती करने पर दिल्लीसरकार को लताड़ा
स्वराज इंडिया ने दिल्ली सरकार द्वारा दिल्ली नगर निगम के दैनिक वेटनभोगी स्वच्छता कर्मचारियों के वेतन को घटाकर 13,820 से 9724 किए जाने का कड़ा विरोध किया है।
स्वराज इंडिया के अनुसार एक ओर दिल्ली के विधायकों की वेतन में अभूतपूर्व वृद्धि की गई है तो वहीं दूसरी ओर सफ़ाई कर्मचारियों के वेतन को घटाकर सरकार द्वारा ही निर्धारित मिनिमम वेज से भी कम कर दिया गया है।
नवगठित राजनितिक पार्टी स्वराज इंडिया ने दमनकारी फैसले को तुरंत वापस लेने की मांग की है

यूपी में एक साल में १५२ को नौकरियां,कांग्रेस का सदन से वाकआउट

[लखनऊ,यूपी] यूपी में एक साल में १५२ युवाओं को नौकरियां मिली लेकिन एक लाख ८९ हजार को स्वरोजगार के लिए प्रशिक्षित किया गया
जिसे लेकर कांग्रेस सदस्यों ने आज विधानसभा से वाकआउट किया।
कांग्रेस नेता अजय कुमार लल्लू ने प्रश्नकाल के दौरान सरकार से जानना चाहा कि पिछले वित्त वर्ष में सरकार ने युवाओं को कितनी नौकरियां दीं।
श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने बताया कि
2017—18 में 63, 152 युवाओं को रोजगार मेलों के जरिए निजी क्षेत्र में नौकरियां उपलब्ध करायी गयीं।
कौशल विकास मिशन के तहत एक लाख 89 हजार 936 लोगों को प्रशिक्षित किया गया। इनमें से 67, 003 रोजगार कर रहे हैं।
मौर्य ने बताया कि 60 हजार करोड़ रूपये की परियोजनाओं की ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरेमनी हो चुकी हे और इन परियोजनाओं से रोजगार के बड़े अवसर पैदा होंगे।
उन्होंने कहा कि सरकार शिक्षकों और पुलिसकर्मियों की भी व्यापक पैमाने पर भर्ती करने जा रही है। मंत्री के जवाब से असंतुष्ट कांग्रेस सदस्य सदन से वाकआउट कर गये

Khattar Govt Invokes ESMA to Stop Tpt Deptt’s Strike

[Chd,Hry]Khattar Govt Invokes ESMA to Stop Tpt Deptt’s Strike
BJP Led Haryana government has invoked the Essential Services Maintenance Act (ESMA) to stall a one-day strike by bus workers on September 5,
The same law is being invoked to end a continuing strike by a section of government health workers.
Haryana Roadways workers had given the strike call to protest against the government’s move to allow private buses to run within and from the state.
During the past year, the Haryana Roadways workers have gone on strike on a few occasions in support of different demands.
The multi-purpose health workers are demanding the status of a technical cadre and also want an anomalies in pay between men and women employees removed.