Ad

Category: Unrest Strikes

कैप्टन अमरिन्दर सिंह अकालियों और आप पर बरसे

(चंडीगढ़,पँजांब)कैप्टन अमरिन्दर सिंह अकालियों और आप पर बरसे
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज तीन संशोधन बिलों के सम्बन्ध में शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि ये दोनों राजनैतिक पक्ष विधानसभा में इन बिलों का समर्थन करने के कुछ घंटों बाद ही इनकी निंदा करने लग पड़े।
सदन को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने के बाद पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों ने इन बिलों के खि़लाफ़ कुछ भी नहीं कहा जिनके हितों की सुरक्षा और राज्य के कृषि क्षेत्र को बचाने के लिए यह बिल बनाए गए हैं।
अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया और आप की लीडरशिप के बयानों पर प्रतिक्रया देते हुए कैप्टन ने कहा कि यदि वह सोचते हैं कि मैं और मेरी सरकार लोगों को मूर्ख बना रहे हैं तो फिर उन्होंने सदन में यह बात क्यों नहीं कही? उन्होंने हमारे बिलों का समर्थन करते हुए वोट क्यों दिया? इन दोनों राजनैतिक पक्षों के नेताओं ने मुख्यमंत्री पर बिलों को राज्यपाल/राष्ट्रपति द्वारा दस्तख़त न करने की संभावना बारे की गई टिप्पणी का हवाला देते हुए लोगों को गुमराह करने का दोष लगाया है।
अकाली दल और आप नेताओं की तरफ से मीडिया /सोशल मीडिया पर की गई टिप्पणियों के हवाले के साथ मुख्यमंत्री ने कहा कि दोनों विरोधी पक्षों ने राज्य सरकार के किसान पक्षीय प्रयासों की अहमीयत को घटाने की कोशिश करके अपना असली रंग दिखा दिया है जबकि इन दोनों पार्टियों ने पहले सदन में बिलों के समर्थन का दिखावा किया। उन्होंने कहा कि विरोधी पार्टियों के नेताओं ने केंद्र सरकार के खेती कानूनों को प्रभावहीन बनाने के लिए इन कानूनों को रद्द करने का प्रस्ताव पास करने में उनकी सरकार का साथ दिया और यहाँ तक कि राज्यपाल को कापियां सौंपने के लिए भी साथ गए और बाद में किसानी को बचाने के लिए राज्य सरकार की तरफ से उठाए गए कदमों की निंदा करना शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि स्पष्ट तौर पर इनमें कोई शर्म बाकी नहीं रही।
एक सवाल के जवाब में कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि अन्य राजनैतिक पार्टियाँ ख़ास तौर पर आप, जिसकी दिल्ली में सरकार है, को पंजाब जैसे कानून लाने चाहिएं ताकि केंद्रीय खेती कानूनों के घातक प्रभावों को प्रभावहीन बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि अरविन्द केजरीवाल को भी पंजाब के रास्ते पर चलना चाहिए।
मुख्यमंत्री ने दोहराते हुए कहा कि यदि केंद्र सरकार उनकी सरकार बखऱ्ास्त कर देती है तो उनको इसकी कोई परवाह नहीं परन्तु वह आखिरी दम तक किसानों के हकों की रक्षा के लिए लड़ते रहेंगे। एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि केंद्र सोचता है कि मैने कुछ गलत किया है तो वह मुझे बखऱ्ास्त कर सकते हैं। मैं डरने वाला नहीं हूँ। मैं पहले भी दो बार इस्तीफ़ा के चुका हूँ और दोबारा भी दे सकता हूँ।
एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि कानूनी तौर पर बहुत से रास्ते मौजूद हैं परन्तु उनको उम्मीद है कि राज्यपाल लोगों की आवाज़ सुनते हुए अपनी जि़म्मेदारी निभाएंगे। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि पंजाब की आवाज़ राज्यपाल के पास पहुँच चुकी है और वह भारत के राष्ट्रपति को बिल भेजेंगे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति राज्य के लोगों की भावनाओं और अपील को दरकिनार नहीं कर सकते।
इस दौरान मीडिया के साथ बातचीत के दौरान एक सवाल के जवाब में कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि वह खुश हैं कि नवजोत सिंह सिद्धू बीते दिन सदन में आए और खेती बिलों पर अच्छी बहस की।

योगीजी! हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट निर्माण में कोई विशेष घराना है ???

#भजपाई चेयर लीडर
ओए झल्लेया ! हसाडे मुख्यमंत्री महंत आदित्यनाथ योगी जी महाराज ने फरमान जारी कर दिया है कि अब उत्तर प्रदेश में #हाईसेक्यूरिटीनम्बरप्लेट के बगैर कोई वाहन सड़कों पर नही चलेगा।ओए इस नम्बर प्लेट से वाहन मालिक का पूरा विवरण एक क्लिक में ही मिल जाता है।
#झल्ला
चतुर सुजान जी!पहले ये दस्सो कि इस नम्बर प्लेट के निर्माण में कौन सा घराना है क्योंकि नए वाहनों के लिए पर्याप्त हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट उपलब्ध नही है इसके बावजूद पुराने वाहनों के लिए भी यह #एचएसआरपी लाज़िम कर दी गई है

Ministry of MSME Has No Association With MSME Export Promotion Council

(New Delhi) Ministry of MSME Has No Association With MSME Export Promotion Council
Ministry of MSME, Government of India has said that it is noticed that certain messages are being circulated in Media and Social Media regarding issuance of appointment letter to the post of ‘Director’ by MSME Export Promotion Council. It is also seen that this organization is using the name of Ministry of MSME.
It is hereby clarified that Ministry of MSME, Government of India is not associated with the MSME Export Promotion Council in any way. Also, the Ministry of MSME has not authorized any posting or appointment to any post related with this council. The Public is informed and advised not to fall prey to such messages or such elements.

Mehbooba Draws Bigger Line Then Farooq Over Art 370

(SrinagarJ&K ) Mehbooba Draws Bigger Line Then Farooq Over Art 370
Former Jammu and Kashmir chief minister and PDP president Mehbooba Mufti, has vowed to continue her struggle for the restoration of Article 370 and the resolution of the Kashmir issue.She was released yesterday from detention after 14 months,
She said the Centre’s decision of August 5 was a “daylight robbery”.
Mehbooba also demanded the release of Kashmiri people languishing in various jails.
Mehbooba was released on Tuesday night after the Union Territory administration revoked the Public Safety Act charges against her, more than a year after she was detained following the abrogation of the special status of Jammu and Kashmir.
The development came barely two days before the Supreme Court was to hear the matter related to her detention.
Mehbooba, 60, who was initially put under preventive custody on August 5 last year and later booked under the stringent PSA on February 6, was shifted to her official residence on April 7 after it was declared a subsidiary jail by the authorities.Earlier Farooq Abdullah who was also released has said that to get Art 370 removed, He will get China’s support
File Photo

नॉकरियाँ के अकाल में यह व्यवस्था मृगतृष्णा से कम नही

#बेरोजगार युवा
ओए झल्लेया! मुबारकां
ओए अब सरकारी नॉकरियों के लिए इंटरव्यू के चक्रव्यूह में फंसना नही पड़ेगा
केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह के अनुसार अब भारत के 23 राज्यों 8 केंद्र शासित प्रदेशों में नौकरियों के लिए साक्षात्कार की प्रक्रिया समाप्त कर दी गयी है
#झल्ला
काका जी! नॉकरियाँ के अकाल में यह व्यवस्था मृगतृष्णा से कम नही है

सोने का अंडा पैदा करने वाले थानेदार को बिजली चोरी में किया सस्पेंड

यूपी #पुलिसाधिकारी
ओए झल्लेया! #यूपीपुलिस की ईमानदारी देख!!
हमने अपने ही थानेदार श्री धर्मेंद्र सिंह को निलंबित कर खुड्डे लेण लगा दिया ।अब इसके पूरे खानदान से सारी काली कमाई निकलवा लेनी है
#झल्ला
मामा गल सुण ध्यान से । चुभेगी दिलोदिमाग में! आप लोगों ने अपने थानेदार को अकूत सम्पत्ति अर्जन पर नही बल्कि बिजली चोरी पर सस्पेंड किया है । अर्थार्त जंगल मे मंगल मनाने के लिए नाजायज फार्म हाउस जायज है लेकिन दबाब पढ़ने पर बिजली चोरी पकड़ना मजबूरी है ।और सोने का अंडा पैदा करने वाले अपने खुद के अधिकारी को सस्पेंड करने के लिए कोई दूसरा आधार बनाना भी तो जरूरी है।

कांग्रेसियों का बस चले तो ट्रेक्टर छोड़ो राजपथ को ही फूँकवा देते

#भाजपाई चेयर लीडर
ओए झल्लेया! इन कांग्रेसियों ने फिर से देश मे अराजकता फैलाणी शुरू कर दी।ओये यूथ #कांग्रेस के कथित सदस्यों ने अति सुरक्षित राजपथ पर दिनदहाड़े ट्रेक्टर फूंक कर सुरक्षा व्यवस्था को चुनोती दे डाली तो पँजांब के मुख्यमंत्री#कैप्टेनअमरिन्दरसिंह ने आग में घी डालते हुए शहीदे भगत सिंह के गाँव मे जाकर धरना दिया और यह कह डाला कि अपना ट्रेक्टर फूंकने का हक सबको है ।ओए इससे इनका मुख़ौटा उतर गया है ।ये लोग ओनली किसानों को गुमराह करने में ही तुले हैं
#झल्ला
सेठ जी ! कांग्रेसियों का बस चले तो ट्रेक्टर छोड़ो राजपथ को ही फूँकवा देते
आपजी की केंद्र में सरकार ने जो कृषि कानून बनाये हैं उनसे सीधे सीधे पँजांब में कांग्रेसियों की सरकार को मंडियों से होने वाली 3000 करोड़ ₹ की इनकम पर हमला हुआ है ।इनका बस चला तो ये तो राजपथ को ही फूँकवा सकते है।

सियासी गठजोड़ की भी अब एक्सपायरी डेट फिक्स होनी चाहिए

#पंजाबी
ओए झल्लेया ये क्या हो रहा है?
ओए कृषिबिलों को लेकर हसाडा पँजांब सुलगने लगा है और ऐसी संकट की घड़ी में शिरोमणि अकाली दल और भजपा एक साथ हसाडे जख्मो पर मल्हम लगाने के बजाय तीन तलाक बोल रहे हैं
#झल्ला
भापा जी! आप जी ठीक ही फरमाते हो । सियासी गठजोड़ की भी अब एक्सपायरी डेट फिक्स होनी चाहिए ताकि सनद रहे और वक्त पर काम आए

वाह! पँजांब सरकार वाह! फण्ड के लिए रौना और खुद ही पँजांब बन्द कराना

#टैक्स पेयर
ओए झल्लेया! ये क्या हो रहा है?
ओए ये पँजांब में #कांग्रेस सरकार की मति मारी गई है जो खुद ही #पँजांबबन्द करवा रही है।एक ही दिन के बन्द में करोड़ों ₹ का नुकसान हो गया।जनता हलकान हुई सो अलग
#झल्ला#टैक्स पेयर
#झल्ला। वाह! पँजांब सरकार वाह! फण्ड के लिए रौना और खुद ही पँजांब बन्द कराना
भापा जी! ये तो हसाडे पंजाबियों का ही जिगरा है के उनके खुद की चुनी हुई सरकार फण्ड की कमी का रौना रोती है और पंजाबी खुद ही आर्थिक बन्द में शामिल हो जाते है

पँजांब में 5 राजनीतिक दल भी कोरोना के ख़िलाफ़ एक जुट नही

(चंडीगढ़,पँजांब)पँजांब में 5 राजनीतिक दल भी कोरोना के ख़िलाफ़ एक जुट नही
#कोरोना ने एक दिन में 64 #पंजाबियों के जीवन को ग्रास बनाया। कोरोना से मरने वालों की संख्या 2990 पर पहुंच चुकी है।
#कृषिबिलों में उलझे #पँजांब में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या चिंताजनक 103464 पर पहुंच चुकी
है । सत्तारूढ़ कांग्रेस +विपक्ष में आये शिरोमणि अकालीदल,सहयोगी भजपा और मुख्यविपक्ष के रूप में उभरी आप पार्टी के अलावा अनेक राजनीतिक जत्थेबंदियों ने सुर्खियां बटौरने के लिए अलग अलग बहना स्वीकर कर लिया है अब स्थिति यह हो गई कि ऑक्सीजन के लिए भी केंद्र से गुहार लगाई जा रही है।
5 राजनीतिक दल मिल कर भी पँजांब को महामारी से बचाने के बजाय
सुर्खियां बटौरने, दूसरे की जड़ों में प्रहार करने में व्यस्त हैं
#कोरोना ने दिन में 64 #पंजाबियों के जीवन को ग्रास बनाया ,मरने वालों की संख्या 2990 पर पहुंची
नेता #कृषिबिलों में उलझे हैं