Ad

Category: Unrest Strikes

मोदीभापे !हर एक सिंहासन पर ढेरों यहां ध्रतराष्ट्र बैठे है

#मोदीभापे
इंसाफ नही मिल रहा तुम्हारे भी हस्तिनापुर में
एक नही हर सिंहासन पर यहां ध्रतराष्ट्र बैठे है
#कंपनसेशन/#रिहैबिलिटेशनक्लेम की सरकारी लूट
#PMOPG/E/2016/0125052

सुप्रीम कोर्ट की तरफ ट्रेक्टर मुड़ गए तो भैंस तो पानी मे जाए ही जाए

#पीड़ितनागरिक
ओए झल्लेया!ये किसानों के नाम पर दिल्ली को क्या गधीघेड़ में डाल रखा है।ओए इनके नेता गुरनाम सिंह चढूनी और शिव कुमार कक्का के उजागर होते आपसी स्वार्थों की तरफ से ध्यान बांटने के लिए 26 जनवरी को दिल्ली में ट्रेक्टरमार्च निकालने की धमकी दी जा रही है और सर्वोच्च न्यायालय इसे रोकने के बजाय याचकों को दिल्ली पुलिस के पास भेज रही हैवोही दिल्ली पुलिस को आंदोलनकारियों को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन तक नही करा पाई।
#झल्ला
भापा जी!अभी तो निशाना रिपब्लिकडे परेड है अगर खुदा नाखास्ता कल को किसी ने उंगली करके सुप्रीम कोर्ट की तरफ ट्रेक्टर मौड़ दिए तो भैंस तो पानी मे जाए ही जाए

UP Govt+Custodian Deptt are Alive But Not For Victims of 1947

UP Govt+Custodian Deptt are Alive But Not For Victims of 1947 @narendramodi @HMOIndia @mannkibaat @kishanreddybjp @nityanandraibjp @SupremeCourtIND @CVCIndia
Office #Custodian is Alive in #GovtJammuKashmir
@UPGovt Announces Jobs 4 Latest #Refugees From #Pakistan +#Myanmar +#Bangladesh
But @PunjabGovtIndia & @HMOIndia Trashes Grievances of Refugees of 1947

मोदीभापे !1947के पीड़ित कंपनसेशन क्लेम के लिए सियासी करुणा+दया से महरूम है

#प्रसन्नचितभाजपाई
ओए झल्लेया !लोहड़ी दियां लख लख वधाइयाँ। ओए अब तो मुल्क के आला वजीर ने भी लोहड़ी के अवसर पर आपलोगों कोहैप्पी लोहड़ी कहना शुरू कर दिया
#झल्ला
आपजी को भी लख लख वधाइयाँ जी
आपके वजीरेआला श्रीमान नरेन्द्रमोदी साहिब ने ट्विटर पर बेशक लोहड़ी की बधाई ट्वीट करते हुए करुणा और दया में बढ़ोतरी की कामना की है
लेकिन 1947 के पीड़ित आज भी अपने हक के #कंपनसेशन/#रिहैबिलिटेशन के लिए सियासी करुणा और दया से महरूम है
सोर्स लिंक
https://www.pib.gov.in/PressReleseDetailm.aspx?PRID=1688412

Punjabi Farmers Burn Copies of Farm Laws on Lohri

(Chd,Pb)Punjabi Farmers Burn Copies of Farm Laws on Lohri
Farmers in Punjab on Wednesday burnt copies of the Centre’s three new farm laws at several places on the festival of Lohri as a mark of protest against the legislations.
Bonfires are an important part of this harvest Festival
Farmers also shouted slogans against the BJP-led Centre and slammed the government for not acceding to their demands. They demanded that the new farms laws should be repealed.
Farmers including women under the banner of Kisan Mazdoor Sangharsh Committee held a protest at Pandherkalan village in Amritsar.
Farmers also burnt copies of the new farm laws at many places including Hoshiarpur, Sangrur and Kapurthala in the state.
Farmers, who have been camping at the Delhi borders, are demanding a repeal of the farm laws and a legal guarantee to the minimum support price for crops.
The Supreme Court on Tuesday had stayed the implementation of controversial new farm laws till further orders and decided to set up a 4-member committee to resolve the impasse over them between the Centre and farmers’ unions protesting at Delhi borders.

Farmers Protesting Should End Their Agitation Now ;Khattar

(Chd,Hary) Farmers Protesting Should End Their Agitation Now ;Khattar
Chief Minister Manohar Lal Khattar on Tuesday said the farmers protesting at Delhi’s borders should end their agitation now following the formation of a committee by the Supreme Court over the new farm laws.
The ball is now in the court of the SC and I feel whatever is its decision, it will be acceptable to all, he said, welcoming the SC order.
The Supreme Court stayed till further orders the implementation the three central agri-marketing laws over which farmers from Punjab and Haryana have been protesting for weeks.
The court also announced the formation of a four-member committee to resolve the deadlock over the new laws between the Centre and farmers’ unions.
On the farmer unions’ refusal to call off their protest after the SC order, Khattar said there was no reason now for them to continue with it.
Khattar has been targeted by farmer unions for supporting the new laws enacted at the Centre in September.
On Sunday, protesters in Karnal vandalised the venue of the kisan mahapanchayat the chief minister had planned to address in support of the laws.

Capt Deputes His AG to Examine SC Order Staying Farm Laws

(Chd,Pb)Capt Deputes His AG to Examine SC Order Staying Farm Laws
Punjab Chief Minister Capt Amarinder Singh on Tuesday asked the state Advocate General to examine in detail the Supreme Court order staying the new farm laws
CM has convened a cabinet meeting on Thursday to discuss the implications of the apex court order.
Earlier in the day, the top court stayed the implementation of the new agricultural laws till further orders and decided to set up a four-member committee to resolve the impasse over the legislation between the Centre and farmers’ unions protesting at Delhi’s borders.
The four members of this committee are
Bhupinder Singh Mann,
President of Bhartiya Kisan Union; Anil Ghanwat,
President of Shetkari Sanghatana, Maharashtra;
Pramod Kumar Joshi,
director for South Asia, International Food Policy Research Institute, and agriculture economist Ashok Gulati.

मोदीभापे!लोहड़ी देयो लोहड़ी

#लोहड़ी देयो #लोहड़ी
#मोदीभापे ! होए
हसाडा कौन विचारा? होए
पीड़ा जग छाई होए
पीड़ा कौन हरेसी? होए
तू तो पीएम हमारा होए
रोज ही चूरी कूटें होए
जिम्मादार ही लूटें होए
जे तूं देवें जवाब लाइक मिलन हजार
जे तू करें इंसाफ तेरी महिमा अपरंपार

मनोहारी खट्टर तो हरियाणवी कांग्रेस की आंखों में शुरू से ही खटक रहा है

#हरियाणवीभजपाई
ओए झल्लेया!ये कांग्रेस और वामपंथियों की मति मारी गई है क्या?#किसानआंदोलन के नाम पर हसाडे कर्मठ और समर्पित सीएम श्री #मनोहरलालखट्टर जी का अपमान करने के लिए करनाल में सी एम की महापंचत मंच ही तोड़ डाला+कुर्सियां उछाल डाली और तो और हेलीपेड पर भी कब्जा कर लिया
ओए !सुप्रीम कोर्ट में किसानी कानूनों पर सुनवाई चल रही है+केंद्र सरकार नोवीं वार्ता के लिए तैयारी कर रही है और इधर गुरनाम सिंह चढूनी समर्थकों ने केमला महापंचायत ही नही होने दी जिसमे खट्टर साहिब 100 करोड़ ₹ की विकास यौजनाओं की घोषणा करने वाले थे।ओए ये लोग हिंसा से जमीन हथिया पाएंगे??
#झल्ला
चतुर सेठ जी!तवाडा खट्टर साहब तो इनकी आंखों में शुरू से ही खटक रहा है!याद करो कि जब मनोहरलालखट्टर ने हरियाणा के मुख्यमंत्री का कार्यभार संभाला था तब ऐसे ही लोगों ने कितनी तोड़ फोड़+लूटमार मचाई थी ।करनाल हाइवेज के ढाबों से गुजरने वाले आज भी सिहर जाते होंगे
सोर्स लिंक http://www.bhasha.ptinews.com/news/2110640_bhasha

मोदीभापे !इंसाफ उन्हें जिनकी लकीरें मिलें तुम्हारे हाथ से ???

9th January 2021
इंसाफ उन्हें जिनकी लकीरें मिलें तुम्हारे हाथ से
इधर पीड़ित हाथों से लकीरें ही मिटती जाती हैं
#कंपनसेशन/#रिहैबिलिटेशन क्लेम की सरकारी लूट
#PMOPG/E/2016/0125052
नोट;(1) विभाजन के पश्चात आ रहे रिफ्यूजियों को रेहबिलिलिटेट किया जा रहा है।
(2)जम्मूकश्मीर में हक़ दिए जा रहे है
(3) बिजनोर में कब्जेदारों को जमीनों के हक देने की बात हो रही है