Ad

Category: Unrest Strikes

डिप्टी सीएम “शर्मा” ने चुनिंदा पत्रकारों के सभा में स्वस्थ पत्रकारिता की वकालत की

[मेरठ,यूपी]डिप्टी सीएम “शर्मा” ने चुनिंदा पत्रकारों के सभा में स्वस्थ पत्रकारिता की वकालत की|
प्रदेश के सक्रिय डिप्टी सीएम डा0दिनेश शर्मा ने शनिवार को अपने मेरठ में तूफानी दौरे में विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लिया ।
डिप्टी सी एम ने चैंबर आफ कामर्स में आईडियल पत्रकार समिति द्वारा आयोजित कार्यशाला में भी भाग लिया।
इस कार्यशाला में उन्होने कहा कि हमें स्वस्थ पत्रकारिता करने की जरूरत है।
उन्होंने मीडिया कर्मियों का शोषण रोकने और उनके लिए कल्याणकारी नीतियों में सकारात्मक भूमिका निभाने का भी आश्वासन दिया | मालूम हो के नए अखबारों के शीर्षक के लिए बढ़ी संख्या में आवेदन वर्षों से मेरठ के सूचना विभाग की फाईलों में दबे हुए हैं | आर टी आई और फिर उसपर अपील का भी कोई जवाब नहीं दिया जा रहा

सिद्धू साहिब!जालंधर में अवैध निर्माणों पर आपके पिछले दौरे के अपडेट्स क्या है

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

पंजाब कांग्रेस का चेयर लीडर

औए झल्लेया मुबारकां!हसाड़े हरफनमौला नवजोत सिंह सिद्धू जी ने जालंधर में भी अपनी धाक जमा ली है|औए अब तो उनके आगमन क खबर मात्र से अधिकारियों की सुत्थणे गीली हो जाती है |अब तो इस ऐतिहासिक शहर की काया कल्प हो जानी है |भ्र्ष्टाचार गायब हो जाना है|

झल्ला

मेरे चतुर सुजान जी ! आपजी की सारी गल्लां सर मत्थे लेकिन ये बता दो के सिद्धू साहिब को जब पिछला दौरा पढ़ा था तब उन्होंने अवैध कालोनी में प्रेस कॉनफेरेन्स करके लगभग ३५ अवैध कालोनियों+अवैध निर्माणों के खिलाफ कार्यवाही का शंखनाद करते हुए ८ अफसरों को सस्पेंड किया था |उस प्रकरण का अपडेट्स क्या है?

१९४७ में छोड़ी गई जमीन और रेफुजियों को अलॉटमेंट की जांच आवश्यक

[चंडीगढ़,दिल्ली]१९४७ में छोड़ी गई जमीन और उसकी रेफुजियों को अलॉटमेंट की जांच आवश्यक
१९४७ के विभाजन के दौरान देश में छोड़ी गई जमीन और फिर उसे रेफुजियों को अलॉटमेंट प्रक्रिया की जांच
आवश्यक है|
आजादी के बाद से ही इस अलॉटमेंट प्रक्रिया पर सवाल उठते आ रहे हैं |
1947 में बढ़ी संख्या में मुस्लिम परिवार अपनी उपजाऊ जमीनों+मूलयवान सम्पत्ति को भारत सरकार के भरोसे छोड़ कर पाकिस्तान जाने को मजबूर हुए|उनकी उस सम्पत्ति को भारत में आ रहे हिन्दू शरणार्थियों को अलॉट किया गया लेकिन दुर्भाग्यवश आज तक उन जमीनों+सम्पत्ति का लेखा जोखा नही है| केंद्रीय गृह मंत्रालय से लेकर पंजाब हरियाणा और यूपी की सरकारें इस दिशा में बचती फिर रही है |तमाम सरकारें इसकी जांच भी करवाने को तैयार नही है |२००५ में पंजाब में बाकायदा एक्ट जारी करके रेफुजियों के सारे हक़ जब्त कर लिए गए,जिसके फलस्वरूप ओल्ड लैंड रिकॉर्ड कार्यालयों से लेकर उच्च अदालतों में भी हजारों केस अपनी तारीखों के लिए जूतियां रगड़ रहे हैं|पीएमओ भी महज पोस्ट ऑफिस की भूमिका निभाने में व्यस्त है |तीन साल से इसके ग्रीवांस सेल्ल के पोर्टल पर कोई प्रगति अपलोड नहीं की जा रही है|पंजाब के मुख्य सचिव के पोर्टल का भी कमोबेश यही हाल है|१९८४ के पीड़ितों को मुआवजे के लिए बंद पढ़े कानून की कतबों को खुलवाने के लिए वर्तमान पंजाब सरकार पूरा जोर लगा रही है लेकिन २००५ के एक्ट को खुलवाने के लिए उसमे कोई रूचि नहीं है |
मेरे अनुभव के अनुसार ये जमीन बढ़ी संख्या में भारत आने वाले हिंदुओं को महज कागजों में ही अलॉट की गई |अधिकांश को केंसिल दिखा कर टरका दिया गया| केंसिल की गई जमीनों का पुनः अलॉटमेंट की कोई सूचना देने को तैयार नहीं है| व्यक्तिगत प्रयासों से ज्ञात हुआ है के पटवारियों के खातों में अभी भी ऐसी भूमि पढ़ी हुई है| जिन पर अवैध कब्जे कराये गए हैं|इसी से स्वाभाविक शक पैदा होता है के बढ़ी मात्रा में बंदरबांट की गई है |
इसी के मध्यनजर क्यूँ ना पंजाब और हरियाणा के साथ यूपी में भी 1947 की जमीनों की जांच हो जाये

Trump Allows Joint Family Detention Of Illegal Migrants

[WashingtonDC] Trump Allows Joint Family Detention Of Illegal Migrants
President Donald J Trump Signs Executive Order Allowing Joint Family Detention
Trump Hits headlines again by signing an executive order to end the practice of separating children from parents accused of illegally crossing the border
Migrant children are kept in cages photos which disturbed many friendly countries also
British Prime Minister Theresa May said images from the United States of migrant children kept in cages were “deeply disturbing” and that she would press President Donald Trump on the issue
Chief Minister of Punjab India Capt Amarinder Singh on Twitter requested Smt Sushma Swaraj MEA for intervention regarding media reports of detention of Sikhs & other illegal immigrants held in alleged inhuman conditions at Oregon detention centre in US and to provide necessary help.
Local Media says that 52 illegal migrants mostly Sikhs are held in custody Their children are kept in separate cages

मेरा स्वास्थ्य तेरे स्वास्थ्य से गिरा:दिल्ली में अहंकारी राजनिति की नौटंकी

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

दिल्ली वासी

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है? यारा दिल्ली राज्य में सत्तारूढ़ “आप” और केंद्र में राज कर रही भाजपा के आपस के कॉम्पिटिशन में हम तो पिसे जा रहे हैं |
गर्मी में प्यासे+बिना बिजली के भीषण प्रदुषण में मरे जा रहे हैं और ये आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी वाले एयर कंडीशंड कमरों में हफ्ते से पावँ पसारे पढ़े हुए है|वहीँ से एक दूसरे पर बयानबाजी में समय नष्ट कर रहे हैं|

झल्ला

भापा जी! फ़िक्र नॉट!! अभी ये कम्पटीशन इनके स्वास्थ्य को लेकर भी शुरू होगा |आप के कद्दावर मगर दागी मंत्री सत्येंद्र जैन, जिनका एल जी ऑफिस में आमरण अनशन के दौरान वजन बढ़ रहा था , अस्पताल में पहुंचाए जा चुके हैं |
दिल्ली सी एम् के ऑफिस में धरनारत भाजपा के विजेंदर गुप्ता+मनजिंदर सिरसा + जगदीश प्रधान +पश्चिम दिल्ली के सांसद परवेश वर्मा और आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा की तबियत भी बिगड़नेके समाचार आने लगे है |
इस राजनीतिक नौटंकी +अहंकार के चलते अब टैक्स पयेर्स का पैसा इनके स्वास्थ्य पर भी खर्च होगा|

केजरीवाल सुरक्षा की नौटंकी छोड़ ,पिटे आईऐएस से माफ़ी भर मांगलें

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

आप पार्टी चेयर लीडर

औए झल्लेया अब तो हसाड़े सीएम केजरीवाल साहिब ने भी हड़ताली आई ऐ एस अधिकारीयों को सुरक्षा का भरोसा दे दिया अब तो दिल्ली वासिये के लिए इन्हें काम पर लौट आना चाहिए

झल्ला

मी चतुर महाराज ! केजरीवाल सुरक्षा की नौटंकी छोड़ कर पिटे आईऐएस से माफ़ी भर मांगलें
आप तो कहते फिर रहे हो के पुलिस आपके अंडर नहीं है ,ऐसे में कैसे सुरक्षा का भरोसा दे रहे हो|हाँ पिटे आई ऐ एस से केजरीवाल जी माफ़ी भर मांगलें तो सात दिन से चली आ रही नौटंकी समाप्त हो जाएगी

Rahul Pleads Not Guilty in Defamation Case :RSS Episode

Rahul Gandhi[Bhiwandi,Mumbai] Rahul Gandhi Pleads Not Guilty in Defamation Case :RSS Episode
Congress President Rahul Gandhi today pleaded not guilty in a defamation case filed against him by a Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS) worker
Gandhi arrived at the court in Bhiwandi at 11.10 am amid heavy security cover and was greeted by hordes of people raising slogans in his support.
Inside the court, when Judge A I Sheikh, read out charges against him, Gandhi said, “I am not guilty.”
The court had on May 2 asked Gandhi to appear before it today to record his plea in the defamation case filed by RSS worker Rajesh Kunte in 2014.
Kunte had filed the case after watching Rahul Gandhi’s speech at an election rally in which he had alleged that the RSS was behind the killing of Mahatma Gandhi.

“आप”ने केंद्र के खिलाफ बयानबाजी के लिए किससे सुपारी उठाई

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

दिल्ली में सत्तारूढ़ आप पार्टी चेयर लीडर

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है?औए इस प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) कार्यालय को हमारे सिवा कुछ दिखता है के नहीं?? देख तो केंद्र सरकार की सारी एजेंसियों को हसाड़े खिलाफ लगा रखा है |आये दिन आई ऐ एस+सी बी आई+ईडी +इनकम टैक्स के साथ ही दिल्ली पुलिस को भी हम पर ही छोड़ रखा है|राज्यपाल अनिल बैजल को तो विशेष रूप से हमारे खिलाफ कार्य करने के आदेश दिए गए हैं | ऐसे कैसे चलेगा लोक तंत्र ???

झल्ला

ओ मेरे चतुर शतुरमुर्ग ! आप लोगों ने ही केंद्र के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है|अब तो आप की सरकार ही धरना -धरना खेलने लग गई है |इसीलिए पहले ये बताओ के केंद्र के खिलाफ आये दिन बयानबाजी के लिए आप लोगों ने किस्से सुपारी ली हुई है????

सीएम ‘केजरीवाल’ के खिलाफ असंतुष्ट विधायक “मिश्रा” की याचिका सूचीबद्ध

[नई दिल्ली]सीएम ‘केजरीवाल’ के खिलाफ असंतुष्ट विधायक “मिश्रा” की याचिका सूचीबद्ध
दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ आप से अलग किये गए विधायक कपिल मिश्रा की उस याचिका को सूचीबद्ध करने की मंजूरी दी है जिसमें दावा किया गया है कि मुख्यमंत्री की विधानसभा में 10 प्रतिशत से भी कम उपस्थिति है

शिमला+पंजाब+दिल्ली के नेताओं में पानी समाप्त

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

आम पीड़ित नागरिक

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है? औए अभी तक तो रेगिस्तानों में पानी की कमी की सुनते आये थे अब ये खुशहाल शहरों में भी पानी के लिए हाहाकरा मच रही है |हिमांचल प्रदेश के शिमला+पंजाब के लुधियाना+दिल्ली में पानी के लिए मारामारी हो रही है और ये भाजपा+कांग्रेस +आप की सरकारें एक दूसरे पर दोषारोपण में ही लिप्त हैं

झल्ला

भापा जी ये पानी की कमी किसी एक प्रदेश या किसी एक राजनितिक पार्टी की सरकार में नहीं हैं| ऐसा लगता है के राजनितिक दलों के अंदर पानी समाप्त होने लगा गया है|