Ad

Category: Economy

ट्रेवल एक्सपो एंड ट्रेड शो -2019 में राजस्थान के पर्यटक उत्पादों ने आकर्षित किया

[ग्रे,नॉएडा,जयपुर] ट्रेवल एक्सपो एंड ट्रेड शो -2019 में राजस्थान के पर्यटक उत्पादों ने आकर्षित किया ट्रेवल एक्सपो एंड ट्रेड शो -2019 में राजस्थान पर्यटन ने आकर्षित किया
ग्रेटर नोएडा में आयोजित तीन दिवसीय ट्रेवल एक्सपो एंड ट्रेड शो -2019 ( साटे ) में दर्शकों को राजस्थान पर्यटन के पेवेलियन की ओर खींच रहा है|
राजस्थान पर्यटन की अतिरिक्त निदेशक डॉ.गुंजित कौर के अनुसार साटे के इस 26 वें संस्करण में साउथ एशिया के 50 देशों के एक हज़ार से भी अधिक संभागियों ने भाग लिया। राजस्थान पर्यटन पेवेलियन में देश विदेश के पर्यटक उद्यमियों एवं टूर ऑपरेटर्स ने राजस्थान के पर्यटन स्थलों विशेष कर हेरिटेज की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थलों एवं पैलेस ऑन व्हील्स जैसे पर्यटक उत्पादों में गहरी रूचि दर्शाई
राजस्थान पर्यटन विकास निगम के प्रबंध निदेशक श्री एच. एल. गुइटे और पैलेस ऑन व्हील्स के महाप्रबंधक श्री प्रदीप बोहरा एवं श्री संजीव शर्मा ने दुनिया की सर्वश्रेष्ठ शाही रेल गाड़ियों में शुमार लग्जरी ट्रेन की लोक प्रियता की जानकारी दी। साथ ही प्रदेश के अन्य लोकप्रिय पर्यटन पैकेज टूयर की जानकारी भी दी।
केंद्रीय पर्यटन सचिव श्री योगेंद्र त्रिपाठी ने भी राजस्थान पवेलियन का अवलोकन किया

Capt Allots100Acre Land To Hero Cycles To Attract Investment of Rs 400 Crore

[Chd,Pb]Capt Govt Allots 100 Acre Land To Hero Cycles in Village Dhanasu Of Punjab This Project may Attract Investment of Rs 400 Crore and Would Create 1000 Direct Employment
Munjals Hero Group was alone producing ten million cycles annually, which accounts for 7.5 percent of the World production,
An MoU to this effect was signed today between Rahul Bhandari, MD, PSIEC, and Pankaj Munjal, Chairman, Hero Cycles Ltd. in the presence of the Punjab Chief Minister, Captain Amarinder Singh, and Industry Minister, Sunder Sham Arora. Several MPs and MLAs were also present along with top government officials on the occasion.
There was a demand from the Industry, CII, PHD Chamber of Commerce, and other representative bodies of investors for setting up a New Industrial Park around Ludhiana, with modern infrastructure facilities. Accordingly, the state government approved the project for setting up of the Hi-Tech Cycle Valley through PSIEC over 380 acres of land at Village Dhanansu, located very close to the industrial city of Ludhiana.
The Chief Minister said that the project shall attract around Rs. 400 crore investment by Hero Cycles Ltd. and its suppliers/ ancillaries, and generate close to 1000 direct employment opportunities. He said the industrial park will have a production capacity of 4 million bicycles per annum and the project shall be implemented within 36 months.
Vini Mahajan, ACS (Industries & Commerce) , Chairman Hero Cycles Pankaj Munjal also addressed the gathering

भाजपा के कटारिया बने नेता प्रतिपक्ष,रालोपा ने मूंग पर राज्यपाल के भाषण को रोका

[जयपुर]भाजपा के कटारिया बने नेता प्रतिपक्ष बनाया और रालोपा के बेनीवाल ने मूंग की मांग उठाई
राजस्थान विधानसभा के पहले सत्र के तीसरे दिन बृहस्पतिवार को राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के विधायक हनुमान बेनीवाल ने राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान किसानों से मूंग की खरीद की मांग उठा कर हंगामा किया।
राज्यपाल कल्याण सिंह ने जैसे ही अपना अभिभाषण शुरू किया] बेनीवाल ने किसानों का मूंग दाल का मुद्दा उठाया। राज्यपाल ने अपना संबोधन जारी रखा और नवनिर्वाचित विधायकों को बधाई दी। इस बीच संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने राज्यपाल से अपना अभिभाषण सदन के पटल पर रखने का आग्रह किया।
हालांकि कुछ पंक्तियां पढने के बाद राज्यपाल ने अपना अभिभाषण पटल पर रख दिया और सदन से चले गए।वहीं बेनीवाल व विपक्ष के उपनेता राजेंद्र राठौड़ के बीच एक बार फिर नोक झोंक देखने को मिली।
इसके अलावा भाजपा के वरिष्ठ नेता गुलाब चंद कटारिया को नेता प्रतिपक्ष बनाये जाने की घोषणा की गई।
विधानसभा अध्यक्ष सी पी जोशी ने सदन में बताया कि भाजपा ने कटारिया को नेता प्रतिपक्ष बनाये जाने के बारे में सूचित किया था जिसे स्वीकार कर लिया गया है।आठवीं बार विधायक बने कटारिया एक बार सांसद भी रह चुके हैं। वह उदयपुर विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं।

वाइब्रेंट गुजरात में पाकिस्तान नहीं मगर राजस्थान के मसाला मेले में निमंत्रण की संभावना

[जयपुर] वाइब्रेंट गुजरात में पाकिस्तान नहीं मगर राजस्थान के मसाला मेले में निमंत्रण की संभावना | राजस्थान में मई माह में आयोजित होने जा रहे राष्ट्रीय सहकार मसाला मेले को अंतराष्ट्रीय स्वरुप देने के लिए सार्क देशों की सहकारी समितियों को भी आमंत्रित किया जायेगा जिनमे पाक भी शामिल है|इससे पूर्व रजिस्ट्रार, सहकारिता डॉ. नीरज के. पवन ने पाकिस्तान की सहभागिता को नकारा था | उसके पश्चात् एक नै पोस्ट अपलोड की गई जिसमे पाकिस्तान शब्द को हटाया गया है जिसका अभिप्राय लगाया जा सकता है के अब पाकिस्तान को आमंत्रित किया जाएगा|उधर वाइब्रेंट गुजरात में पाकिस्तान की भागेदारी को नकारा जा चूका है|
राजस्थान की वेबसाइट पर अपलोड की गई नई पोस्ट के अनुसार
सार्क देशों की सहकारी समितियों को भी किया जायेगा आमंत्रित
रजिस्ट्रार, सहकारिता डॉ. नीरज के. पवन ने बुधवार को बताया कि सहकारिता विभाग इस वर्ष मई माह में जयपुर के निवासियों को राजस्थान ही नहीं भारत के अन्य प्रदेशों के उत्कृष्ट मसालों की सौगात उपलब्ध कराने जा रहा है। आयोजित किये जा रहे राष्ट्रीय सहकार मसाला मेले को इस बार अन्तरराष्ट्रीय स्वरूप प्रदान करने का निर्णय किया गया है और इस मेले में सार्क देशों की सहकारी समितियों को भी आमंत्रित किया जायेगा।
रजिस्ट्रार ने बताया कि प्रदेश के अधिकतर जिलों में विशिष्ट मसालों की उपज होती है जो उन जिलों की पहचान है। उन्होंने बताया कि नागौर की मैथी एवं कैर सांगरी, सोजत की अथाना मिर्च एवं मेंहदी, जालोर भीनमाल का जीरा, कोटा रामगंजमण्डी का धनिया, मथानिया की मिर्च, कोटा-बूंदी का चावल एवं पोहा, प्रतापगढ़ की हींग व आम पापड़ की अपनी पहचान है। हमारी सहकारी संस्थायें उनकी उपज के क्षेत्र से ही उनका संधारण एवं प्रसंस्करण कर उपभोक्ताओं को उपलब्ध करायेंगी ताकि उनकी महक एवं शुद्धता बरकरार रहे।
डॉ. पवन ने बताया कि मेले में केरल की लोंग, कालीमिर्च, इलायची सहित लिक्विड मसाले, तमिलनाड़ु की हल्दी, कुंकुम, धनिया, मिर्च के पाउडर, गुंटूर आन्ध्र प्रदेश की मिर्च, नार्थ ईस्ट प्रदेशों के मसाले, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा एवं उत्तरप्रदेश के नामचीन उत्पाद उपलब्ध होंगे। उन्होंने बताया कि जयपुर वासियों को दक्षिण भारतीय व्यंजनों के स्वाद से रूबरू कराने के लिये रेडिमेड सांभर एवं रसम के मसाले भी उपलब्ध करायें जायेंगे।
उन्होंने बताया कि मेले में प्रदेश के सभी संभागों तथा अन्य राज्यों से आने वाली सहकारी संस्थाओं को अलग-अलग डोम में स्टॉल आवंटित की जायेंगी। उन्होंने बताया कि मेले में मसालों की फ्लेवर एवं शुद्धता बनाये रखने के लिये पिसाई मशीन लगाई जायेंगी ताकि उपभोक्ता साबुत मसालों की अपने सामने पिसाई करवा सकेगा। यह निःशुल्क होगी।
रजिस्ट्रार ने बताया कि मेले में भुसावर के अचार एवं मुरब्बे, आगरा का पैंठा एवं दालमोठ, राजसमन्द की ठण्डाई, सवाईमाधोपुर का खस का शरबत, कोटा का शरबती गेहूं, सीकर का प्याज भी उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि महिलाओं को बच्चों के साथ मसालों की खरीददारी में किसी प्रकार की परेशानी न हो इसके लिये किड्स जोन भी बनाया जायेगा। उन्होंने बताया कि मेले में सायं 7 बजे से सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया जायेगा जिससे आगन्तुक खरीददारी के साथ-साथ दिन भर की थकावट को दूर कर सके।
डॉ. पवन ने बताया कि मेले का आयोजन भव्य तरीके से करने तथा जयपुर के वासियों को मसालों एवं खाद्य सामग्री के उत्ककृष्ट उत्पाद उपलब्ध कराने में किसी प्रकार की कमी न रहे इसके लिये कमेटियों का गठन कर दिया गया है।

No Pakistan Delegation at Vibrant Gujarat Summit: Rupani

[Ahmedabad]No Pakistan Delegation at Vibrant Gujarat Summit: Rupani.Rajasthan Govt has alsodecided not to invite Pakistan in its Masala Mela
As per Chief Minister Vijay Rupani ,Heads of state of some countries are expected to reach Gandhinagar for the 9th edition of the Vibrant Gujarat Summit beginning January 18.
Prime Minister Narendra Modi will inaugurate the event and hold one-on-one meetings with the leaders on the sidelines of the summit.
There was a controversy when the Gujarat Chamber of Commerce and Industry (GCCI), while inviting global trade bodies for the investors’ meet, had also invited the Karachi Chamber of Commerce for the mega event.
Indo-Pak diplomatic ties have been strained in recent times over the issue of terrorism.
No Pakistani delegation was invited for the investor meets held in 2015 and 2017.
The summit was initiated in 2003 by Modi when he was the chief minister, to promote investment in Gujarat and to establish it as the preferred investment destination in India.

पंजाब के राजनीतिक आकाश में सुखबीर बादल भी उत्तरायण में आये

[चंडीगढ़,पंजाब]पंजाब के राजनीतिक आकाश में पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर बादल भी उत्तरायण में आये |
आज की प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने जम कर मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर और केबिनेट मिनिस्टर नवजोत सिंह सिद्धू पर करप्शन के आरोप लगाए
प्रेस कांफ्रेंस में शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा के पंजाब में कांग्रेस की सरकार ने मात्र दो वर्षों में पंजाब में करप्शन को अधिकृत कर दिया है|चूँकि सभी विधायकों को मंत्री पद नहीं दिए जा सकते इसीलिए अधिकांश विधायकों को कमाई के मार्गों पर एडजस्ट किया गया है | विज्ञापन+शराब माफिआ+रेतखनन माफिआ पकड़ने के बजाय उन्हें विधायकों द्वारा सुरक्षा दी जा रही है और रिश्वत का बाजार गर्म किया जा रहा है|श्री बादल ने बताया के पूर्व में नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा विज्ञापन से २००० से ३००० करोड़ रु की आमदनी का दावा किया गया था| लेकिन अब मात्र २० करोड़ की आमदनी दर्शाई जा रहीहै| उन्होंने आरोप लगाया के इस तरह तो २००० से ढाई हजार करोड़ रु की चोरी की जा रही है| इसके अलावा विधायकों की मिलीभगत से आबकारी विभाग की आमदनी में गिरावट आई है|
फाइल फोटो

Branding of Art of Master Artisans is Important :Jaitely

[New Delhi] India is Full of Heritage of Master Artisans :Jaitely
FM Arun Jaitley and Mukhtar Abbas Naqvi Inaugurated Hunar Haat in New DelhI at State Emporia Complex, Baba Kharak Singh Marg, Connaught Place, New Delhi from 12th to 20th January, 2019.
Jaitley said that India is full of heritage of master artisans. Programmes such as “HunarHaat” are playing an important role in national and international branding of this heritage.
Jaitley said that branding of art of master artisans of the country is very important and programmes such as “HunarHaat” are playing an important role in this direction. Such programmes will benefit lakhs of people associated with this sector.
On the occasion, Shri Mukhtar Abbas Naqvi said that “HunarHaat” has proved to be a “credible brand” of “Indigenous Talent” of Indian artisans and craftsmen. “HunarHaat” has ensured “Development with Dignity” of artisans and craftsmen of the country.

PM “Modi”Attacks Congress on Kartarpur Sahib+1984 Sikh Genocide

[New Delhi]PM”Modi”Attacks Congress on Kartarpur Sahib+1984 Sikh Genocide
Prime Minister Narendra Modi Sunday attacked the previous Congress government for its inability to bring Kartarpur Sabib under India during partition.
Releasing a commemorative coin as part of the 350th birth anniversary celebrations of 10th Sikh guru Guru Gobind Singh, Modi also came down on the Congress for the 1984 riots that took place following the assassination of the then Prime Minister Smt Indira Gandhi.
He said now devotees do not have to look at the shrine in Pakistan using binoculars and they could visit the place without visa using the corridor.
Guru Nanak passed away in Kartarpur on September 22, 1539.
Former prime minister Manmohan Singh, former chief justice of India J S Khehar and several Sikh leaders were present at the Prime Minister’s residence to participate in the event.
Modi said be it Guru Nanak or Guru Gobind Singh, they have taught us to be on the side of justice.
Following the path shown by them, the central government is trying to get justice for the people who suffered during the 1984 anti-Sikh riots, Modi said.
“The central government is making efforts to get justice for the period of injustice which started in 1984. For decades, mothers, sisters, daughters and sons have shed tears, the law will deliver justice, wipe (their) tears,” the PM said referring to the riots that took place following the assassination of then prime minister Indira Gandhi.
The PM released a Rs 350 denomination commemorative silver coin to mark the 350th birth anniversary of Guru Gobind Singh.

Jaitely Exempt GST Limit to Rs 40 Lac ;Relief to Small Businesses

[New Delhi]Jaitely Exempt GST Limit to Rs 40 Lac ;Relief to Small Businesses
GST Council doubled the GST exemption limit to
Rs 20 lakh for north eastern states and
Rs 40 lakh for the rest of the country, Finance Minister Arun Jaitley told reporters
The scope of the GST Composition Scheme, under which small traders and businesses pay a small tax based on turnover rather than value addition, was raised to Rs 1.5 crore from Rs 1 crore.
The twin move would give relief to micro, small and medium enterprises (MSMEs)
The council also allowed Kerala to levy 1 per cent calamity cess on intra-state sales for a period of up to two years.
On including real estate and lottery under the Goods and Services Tax, the council decided for form a seven-member group of ministers after differences of opinion emerged at the meeting
Photo Caption
The Union Minister for Finance and Corporate Affairs, Shri Arun Jaitley addressing a press conference on the 32nd GST Council meeting, in New Delhi on January 10, 2019.
The Minister of State for Finance, Shri Shiv Pratap Shukla and the Revenue Secretary, Dr. Ajay Bhushan Pandey are also seen.

Shiromani Akali Dal Seeks Production Subsidy For Farmers

[Bathinda,Pb]Shiromani Akali Dal[ SAD] Seeks Production Subsidy For Farmers
Shiromani Akali Dal (SAD) chief Sukhbir Singh Badal Wednesday sought production subsidy for farmers on the pattern of investment subsidy being given to the industry.
Former Punjab deputy chief minister said he had already requested Prime Minister Narendra Modi to introduce production subsidy concept for farmers.
“Production subsidy should be given to farmers on the pattern of investment subsidy given to the industry,” he said after interacting with party workers at Goniana
.Badal also accused Punjab Chief Minister Amarinder Singh of committing a fraud with farmers, claiming he had given “a signed affidavit” to farmers that the Congress government would wave their entire debt.
Meanwhile, Union Minister Harsimrat Kaur Badal alleged that Amarinder Singh was trying to “befool” the people of Punjab by stating that central funds had not been received to initiate work on the Kartarpur corridor.
On Kartarpur She said Punjab government does not acquire land, but blame the Centre for its failure,
file photo