Ad

टेलीकाम स्पेट्रम की रिसर्व प्राईस २२% कम है =भाजपा

भाजपा ने आज टेलिकाम स्पेक्ट्रम के दामो को टी आर ऐ आई द्वारा घोषित दामों से २२% कम तय किये जाने पर सरकार को कटघरे में घसीटा है \
स्पेक्ट्रम के दाम १८००० करोड़ से घटा कर १४००० करोड़ तय किये जाने को २२% कम दाम बताया गया है राजीव प्रताप रूडी ने आज की प्रेस कांफ्रेंस में केबिनेट के निर्णय पर सवाल उठाये
श्री रूडी ने कहा की प्रधान मंत्री और गृह मंत्री द्वारा ५ एम् एच जेड एयर वेज को [१८०० एम् एच जेड बेंडमें ] के लिए १४००० करोड़ रिसर्व प्राईस तय किया जाना उचित नहीं है| इसके लिए टी आर ऐ आई ने १८००० करोड़ रुपये तय किये हैं|
श्री रूडी ने टेलिकाम मिनिस्टर कपिल सिब्बल से पुछा कि श्री सिबल ने पूर्व में स्पेक्ट्रम वितरण में जीरो लॉस बताया था अगर वोह जीरो लोस था तब अब १४००० करोड़ तय करने का क्या अर्थ है|
२००८ में ऐ राजा द्वारा तय दामो से यह ७ गुना अधिक है|

बेंगलोर में ६०० डाक्टरों ने इस्तीफा दिया

बेंगलोर में ६०० डाक्टरों ने इस्तीफा दे दिया है \वेतन और सेवा सुविधाओं में सुधार को लेकर यह कदम उठाया गया है \अभी अगले हफ्ते तक डियूटी पर रहेंगे

तीन दिन की महामंडलेश्वर राधे माँ निलंबित

गुपचुप तरीके से बनाई गई महामंडलेश्वर राधे माँ को महज़ तीन दिनों के बाद ही इस प्रतिष्ठित पद से निलंबित कर दिया गयाहै |जूना अखाड़े ने आज राधे मां को महामंडलेश्वर पद से निलंबित कर दिया। अखाड़े ने इस बात की जांच के आदेश दिए हैं कि वे इस पद के योग्य हैं या नहीं। जांच पूरी होने तक वह पद से निलंबित रहेंगी। गौरतलब है कि मंगलवार रात को राधे मां को गुपचुप तरीके से जूना अखाड़े का महामंडलेश्वर बना दिया गया था। उनके अचानक महामंडलेश्वर बनने से कई सवाल उठ खड़े हुए थे। आरोप यहां तक लगे कि जूना अखाड़ा ने मोटी रकम लेकर राधे मां को य‌ह पद दिया है।
राधे मां मंगलवार की रात बेहद गुपचुप तरीके से हरिद्वार आई थीं। जूना अखाड़े में आचार्य महामंडलेश्वर और संत अवधेशानंद गिरि की उपस्थि‌ति में उन्हें महामंडलेश्वर पद पर आसीन किया गया था। राधे मां की नियुक्ति के कार्यक्रम को भी जूना अखाड़े ने गुप्त रखा था। माना जा रहा था कि राधे मां प्रयाग महाकुंभ में जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर के रूप में भाग भी ले सकती हैं।
पद की महिमा
अखाड़ा परंपरा में महामंडलेश्वर का पद काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। उससे ऊपर सिर्फ आचार्य महामंडलेश्वर होते हैं। कुंभ और दूसरे धार्मिक आयोजनों में महामंडलेश्वर को काफी महत्व दिया जाता है। वे हाथी अथवा रथ पर सवार होकर अपने शिष्यों के साथ स्नान के लिए निकलते हैं। उन्हें संतों के साथ स्नान करने का अवसर भी मिलता है। हरिद्वार में लगभग 20 महिला महामंडलेश्वर हैं। पिछले कुंभ में कुछ विदेशियों को भी अखाड़ों द्वारा महामंडलेश्वर का सम्मान दिया गया था
राधे मां’ की सच्चाई
राधे मां को महामंडलेश्वर बनाए जाने के बाद जूना अखाड़ा सवालों के घेरे में आ गया था। मीडिया से बातचीत में अखाड़े के राष्ट्रीय मंत्री श्रीमहंत हरि गिरि महाराज ने कहा था कि राधे मां को अखाड़ों की परंपरा के अनुसार महामंडलेश्वर बनाया गया है।रात में नियुक्ति की बाबत उन्होंने कहा था कि अखाड़े पहले भी रात में महामंडलेश्वर बनाते रहे हैं। इसके लिए केवल शुभ मुहूर्त देखा जाता है। केवल कुंभ में ही महामंडलेश्वर बनाने की परंपरा नहीं है। उन्होंने बताया था कि किसी भी संत को महामंडलेश्वर की उपाधि देने से पहले उससे हलफनामा लिया जाता है, जिसमें वह अपने जीवन की सभी बातें बताता है। राधे मां के मामले की जांच के लिए अखाड़े ने 11 संतों की जांच कमेटी बनाई है।

सानिया नेहवाल ने बेड मिन्टन में जीता कांस्य

सानिया नेहवाल ने आज ओलंपिक्स २०१२ में सिंगल वोमेन बेड मिन्टन का कांस्य पदक भारत की झोली में डाला |तीसरे पायदान के लिए आज सानिया का मुकाबिला चीन की वेंग जिंग से हुआ|१८-२१ से पहला मैच हारने के बाद सानिया ने अपोनेंट के खेल का स्टेमिना तोड़ दिया |नतीज़न वेंग अनफिट होकर गेम से बाहर हो गई तब सानिया को वाकओवर मिल गया |
इससे पूर्व इसी खिलाडी को सानिया दो बार दूसरी प्रतियोगिताओं में हरा चुकी है| पहले यद्यपि सानिया सेमी फायनल में हार कर गोल्ड या सिल्वर से चूक गई थी मगरओलंपिक्स में बेड मिन्टन के सेमी फायनल में आने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी का सम्मान भी पा चुकी हैं\
भारत में सानिया के पिता ने सानिया की इस सफलता के लिए तिरुपति जी को धन्यवाद दिया और बताया की कड़ी मेहनत और संकल्प के कारण ही सानिया को सफलता मिली है|
अब भारत के खाते में दो कांस्य और एक सिल्वर को मिला कर कुल तीन मेडल हो गए हैं |

घर में देसी घी की पेकिंग

शुक्रवार देर रात मेरठ के कंकर खेडा श्रधा पूरी ई ब्लॉक स्थित एक घर पर छापा मारते हुए सीओ कैंट ने देसी घी की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। मौके से बरामद लगभग 125 किलो देसी घी नकली बताया जा रहा है।
इस मामले में एक दंपति को हिरासत में लिया गया है।
मकान में नकली घी बनाकर उनकी नामी कंपनियों के नाम से पैकिंग की जाती है। प्राप्त सूचना के आधार पर मारे गए इस छापे में लगभग 125 किलो नकली देसी घी बरामद किया गया, जिनकी तीन बड़ी कंपनियों के नाम से पैकिंग की जा रही थी। घर से एक दंपति को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। खाद्य विभाग को इस संबंध में जानकारी दे दी गई है। जांच के बाद ही आधिकारिक रूप से पता चल पाएगा कि बरामद घी नकली है या असली।

आर एस एस ने पी एम् पर साधा निशाना

राष्ट्रीय स्वयम सेवक संघ [आर एस एस] ने आज प्रधान मंत्री डाक्टर मन मोहन सिंह पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाये हैं
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने अपने मुखपत्र ‘आर्गेनाइजर’ के संपादकीय में लिखा गया है कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की नाकामियों की फेहरिश्त लंबी होती जा रही है और वह अपनी असफलताओं का जश्न मनाने में व्यस्त हैं। संघ ने कहा कि इंतहा यह है कि देश में बदइंतजामी, भ्रष्टाचार और कुप्रबंधन के दोषी नेताओं को दंडित करने का कोई जरिया नहीं रह गया है |सुशील कुमार शिंदे को गृहमंत्री और पी चिदंबरम को वित्‍तमंत्री बनाए जाने पर नाराजगी जताते हुए कहा गया है कि 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले में संदेह के घेरे में आए चिदंबरम को वित्त मंत्री और देश की बत्‍ती गुल होने के तुरंत बाद सुशील कुमार शिंदे को गृहमंत्री बनाए जाने से यह सच्चाई सामने आ गई है कि प्रधानमंत्री खुद भ्रष्टाचार में शामिल हैं।
संघ का मानना है कि भ्रष्टाचार केवल व्यक्तिगत लाभ प्राप्त करना ही नहीं होता बल्कि सार्वजनिक जीवन में कोई भी ऐसा कार्य जिससे देश को आर्थिक, सामाजिक, राजनीतिक एवं नैतिक रूप को नुकसान पहुंचे, भ्रष्टाचार के दायरे में आता है।
संघ के अनुसार ऊर्जा मंत्री के रूप में शिंदे का कार्यकाल बहुत ही खराब रहा है लेकिन राजनीतिक हथकंडों का इस्तेमाल कर वह ऊंची कुर्सियां हासिल करने में सफल रहे।

सैंट थामस में अनुशासन समिति

सैंट थामस इंग्लिश मीडियम स्कूल में आज अनुशासन समिति को एक समारोह में शपथ दिलाई गई
जिसका उद्घाटन मुख्य अथिति अल्पना बैजल ने किया | प्रधानाचार्य एस मोहन और उप प्रधाना चार्य ऐ दीन ने अथितियों का स्वागत किया \हैड बॉय चेतन्य रस्तोगी और हेड गर्ल श्रुति सिंघल को शपथ दिलाई गई |उसके बाद इन्होने समिति के सदस्यों को शपथ दिलाई|

सोनिया की अनुपस्थिति में प्रियंका रायबरेली के लोगों से मिलेंगी

प्रियंका गांधी वढेरा अब श्रीमति सोनिया गांधी के चुनावी छेत्र राय बरेली के लोगों की समस्याएं सुनेगीं और उनका समाधान कराएंगी | वैसे तो प्रियंका हमेशा अपने माँ श्रीमति सोनोया और अपने भाई राहुल गांधी के चुनावी छेत्रों में जाती रहती हैं मगर अब आफिशियली घोषणा की गई है

केशुभाई पटेल और कांशीराम राणा ने भाजपा छोड़ी अब नई पार्टी बनायेंगे

गुजरात में भाजपा के स्ताल्वर्ट्स केशुभाई पटेल और कांशी राम राणा ने भाजपा से इस्तीफा दे दिया है और निकट भविष्य में नई पार्टी बनाने का एलान भी कर दिया है|
गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी की लगातार मुखालफत करने वाले केशु भाई पटेल और कांशी राम राणा को काफी समय से सत्ता के हाशिये पर बैठाया गया है इनका आरोप है की इनसे कोई सलाह मशविरा तक नहीं किया जाता |पार्टी व्यक्तिवादी हो गई है|इससे नाराज़ होकर इन दोनों नेताओं ने पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी को अपना इस्तीफ़ा भेज दिया है |इस्तीफा देने के बाद अब समजौते की गुंजाइश बेहद काम दिखाई दे रही है| आने वाले एक दो दिन में नई पार्टी का एलान भी किया जाएगा |इससे जाहिर है मोदी की मुश्किलें बढेंगी

बादल आखिर फटते क्यूं हैं

बादलों के फटने से उत्तरकाशी और कुल्लू मनाली में तबाही मची है राहत कार्य जारी हैं लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा रहा है |कई लोगों ने बादलों के फटने के विषय में जानना चाहा है कि ये बादल आखिर फटते क्यूं हैं| विशेषज्ञों के अनुसार संघनित बादलों का नमी बढ़ने पर बूदों की शक्ल में बरसना बारिश कहलाता है। पर अगर किसी क्षेत्र विशेष में स्थित बादल में इक्कठा हुई बूंदों का भार बढ जाता है तब भारी बारिश की संभावनाओं वाला बादल एकाएक बरस जाता है, तो उसे बादल का फटना कहते हैं। इसमें थोड़े समय में ही असामान्य बारिश होती है।
भारत में बादल फटने की घटनाएं तब होती हैं, जब बंगाल की खाड़ी या अरब सागर से मानसूनी बादल हिमालय की ऊंचाइयों तक पहुंचते हैं और तेज तूफान से बने दबाव के कारण एक स्थान पर ही पानी गिरा देते हैं।बरसने से पहले बादल पानी से भरी एक ठोस वस्तु का आकार लिए होता है, जो आंधी की चपेट में आकर फट जाता है। किसी एक स्थान पर एकाएक तेज दबाव में पानी गिरता है। मानो नदी का मुहाना खुल गया है। ये बहाव इतना तेज होता है कि इसके साथ रास्ते के पत्थर और मलबा भी बह जाता है और रास्ते में आने वाली हर चीज बह जाती है। जमीन तक कट जाती है|
बादल फटने की घटनाएं अक्सर पहाड़ी क्षेत्रों में ही होती है।नवंबर, 1970 में हिमाचल के बरोत में (भारत में रिकॉर्ड 38 मिमी तक) दर्ज कि गई थी
पर इसके अपवाद के रूप में जुलाई, 2005 में मुंबई में बादल फटने के कारण आठ-दस घंटे में करीब 950 मिमी तक बारिश हुई थी।
विदेशों में भी बादल फटने कि घटनाएँ इतिहास में दर्ज़ हैं |अगस्त, 1906 में अमेरिका के गिनी वर्जीनिया में बादल फटने से 40 मिनट में 9.2 इंच बारिश हुई थी।इसी तरह नवंबर, 1911 में पनामा के पोर्ट बेल्स में (पांच मिनट में 2.43 इंच), जुलाई, 1947 के रोमानिया के कर्टी-डी-आर्जेस में (20 मिनट में 8.1 इंच), और कराची में पिछले साल जुलाई में तीन घंटे के अंदर 250 मिमी बारिश हुई थी।
बादल फटने से बचाव के उपाय
बादल को फटने से रोकने के कोई ठोस उपाय नहीं हैं मगर , वन क्षेत्र की मौजूदगी और प्रकृति से सामंजस्य बनाकर चलने पर इससे होने वाला नुकसान कम हो सकता है।
जम्मू एवं कश्मीर में बेटे दिनों बादल फटने से कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई और कई लापता हो गए। इस हादसे में राजमार्ग का एक बड़ा हिस्सा भी बह गया, जिससे वहां पहुंचना काफी कठिन हो गया है। यह हादसा जम्मू से करीब 140 किलोमीटर उत्तर-पूर्व में बगार इलाके में बातोते-किश्तवाड़ राजमार्ग पर हुआ। बादल फटने से सड़क का एक बड़ा हिस्सा और कई वाहन बह गए। अधिकारी अभी तक जानमाल के नुकसान का आकलन नहीं कर पाए हैं।
पुलिस उपायुक्त (डोडा) फारुक खान ने कहा, ने कहा कि बचाव अभियान चलाने के लिए सेना से सहायता मांगी गई है। पुलिस के मुताबिक घटना के बाद से ही तीन लोग लापता हैं जबकि स्थानीय लोगों का कहना है कि कई लागों से सम्पर्क नहीं हो पा रहा है। बादल फटने के बाद सड़क का एक बड़ा हिस्सा बह जाने से वहां पहुंचना भी कठिन हो गया है क्योंकि उस इलाके में जाने के लिए कोई दूसरी सड़क भी नहीं है।

0
0 0 0