Ad

Category: Crime

मेरठ में नासूर बनते जा रहे छोटे मोटे गड्डे तक भरने के लिए कोई तैयार नहीं है

मेरठ में नासूर बनते जा रहे छोटे मोटे गड्डे तक भरने के लिए कोई तैयार नहीं है

मेरठ में नासूर बनते जा रहे छोटे मोटे गड्डे तक भरने के लिए कोई तैयार नहीं है

मेरठ एक एतिहासिक शहर है |यहाँ के विकास के लिए बातों की और बड़ी बड़ी बातें करने वालों की कोई कमी नहीं है|एक ढूंढो हज़ार मिल जायेंगे लेकिन यहाँ नासूर बनते जा रहे छोटे मोटे जख्म भरने के लिए कोई तैयार नहीं है|छावनी परिषद् और नगर निगम की तो छोड़ो मिलिट्री इंजीनीयरिंग सेवा की सड़कें भी केवल मार्च महीने का इंतज़ार तो करती हैं मगर उसके बाद फिर अपनी बेनूरी पर रोने को विवश हो जाती हैं|यात्रियों+वाहनों का दुर्घटना आम हो चला है|ऐसा ही कुछ पॉश साकेत में एक गड्डे में फंसा यह ट्रक बयान कर रहा है |दूसरे चित्र में गंगा नगर में नाला बेहाल दिख रहा है|

नौसेना के 5 मार्च को दुर्घटनाग्रस्त चेतक हेलीकॉप्टर के चालक दल के दो सदस्य अभी भी लापता :तलाश जारी

नौसेना के 5 मार्च को दुर्घटनाग्रस्त चेतक हेलीकॉप्टर के चालक दल के दो सदस्य अभी भी लापता :तलाश जारी

नौसेना के 5 मार्च को दुर्घटनाग्रस्त चेतक हेलीकॉप्टर के चालक दल के दो सदस्य अभी भी लापता :तलाश जारी

विशाखापत्तनम बंदरगाह के पास 5 मार्च मंगलवार को नौसेना का चेतक हेलीकॉप्टर ट्रेनिंग के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हो गया।चालक दल के दो सदस्य लापता बताये जा रहे हैं|इनके लिए तलाश जारी है|
नेवी अधिकारियों के अनुसार हेलीकॉप्टर में उस समय चार लोग सवार थे।चालक दल के दो सदस्यों को तुरंत बचा लिया गया, गोवा के पणजी में भी इसी तरह का हादसा बीते वर्ष हुआ था, जिसमें दो पायलट समेत तीन नौसेना कर्मियों की दुखद मौत हो गई थी।

भाजपा के फायर ब्रांड नेता वरुण गांधी को संयम में रहने का आज पुरूस्कार मिला :Varun Gandhi Exonerated

भाजपा के फायर ब्रांड नेता वरुण गांधी को संयम में रहने का आज पुरूस्कार मिला :Varun Gandhi Exonerated

भाजपा के फायर ब्रांड नेता वरुण गांधी को संयम में रहने का आज पुरूस्कार मिला :Varun Gandhi Exonerated

भाजपा के फायर ब्रांड नेता वरुण गांधी को संयम में रहने का आज पुरूस्कार मिल गया | भड़काऊ भाषण के दूसरे मामले में भी आज ५ मार्च , मंगलवार को उन्हें बरी कर दिया गया है|
पीलीभीत की अदालत के न्यायाधीश अब्दुल कयूम ने यह फैसला सुनाया है| वरुण गांधी को साक्ष्यों के अभाव में बरी किया गया है|
अदालत ने जब वरूण गांधी को बरी करने का फ़ैसला सुनाया तब वरूण अदालत में मौजूद थे. फ़ैसले के बाद वरूण शांत भाव से अदालत से बाहर निकले.
शुरू से ही वरुण कहते आ रहे हैं कि जिस सी डी के आधार पर मुकद्दमा दर्ज़ हुआ है उसे छेड़ चाड करके उनके विरुद्ध बनाया गया है|
इस सी डी के अलावा वरूण ख़िलाफ़ पेश किये गए गवाह भी मुकर गए , पुलिस कर्मियों का बयान भी बदलता रहा है|
स्वर्गीय संजय गाँधी और संसद मेनका गाँधी के पुत्र वरुण गांधी पर 2009 में चुनाव प्रचार के दौरान एक ख़ास समुदाय के खिलाफ़ भड़काऊ भाषण देने का आरोप था|वरुण के विरुद्ध वर्ष २००९ के १७ और १८ मार्च को दो प्राथमिकी [ऍफ़ आई आर]दर्ज़ की गई थी वरुण गांधी के कोर्ट के सामने समर्पण करने के पश्चात उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था|वरुण पर एन एस ऐ लगा कर जेल में भेजा गया | वर्ष २००९ की मई में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद एनएसए हटा लिया गया था और जेल में 19 दिन रहने के बाद उन्हें ज़मानत दे दी गई|
इन सभी विवादों के बावजूद वरुण गांधी ने पीलीभीत संसदीय सीट का चुनाव जीता मगर उन्हें पार्टी प्रचार से अलग रखा गया . अब वे दोनों आरोपों में दोषमुक्त ठहराए जा चुके हैं.ऐसे में २०१४ के चुनावों में विशेष कर उत्तर प्रदेश में इनका उपयोग किया जा सकेगा |[FILE PHOTO]

कृषि ऋण माफी योजना के अमल में गंभीर अनियमितताओ को उजागर करने वाली कैग की रिपोर्ट पर भाजपा ने जांच की मांग उठाई

नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की किसानों की कर्ज माफी के लिए केंद्र सरकार की योजना में अनियमितताओं की ओर इशारा करती रिपोर्ट को चौंकाने वाली करार देते हुए प्रमुख विपक्षी पार्टी भाजपा ने मामले में तत्काल सीबीआई जांच कराने की मांग की है।भाजपा ने आरोप लगाया है कि पात्र किसानो के बजाय अज्ञात अपात्रों को इसका लाभ दिया गया |

 कृषि ऋण माफी योजना के अमल में गंभीर अनियमितताओ को उजागर करने वाली कैग की रिपोर्ट पर भाजपा ने जांच की मांग उठाई

कृषि ऋण माफी योजना के अमल में गंभीर अनियमितताओ को उजागर करने वाली कैग की रिपोर्ट पर भाजपा ने जांच की मांग उठाई


भाजपा के प्रवक्ता प्रकाश जावड़ेकर ने आज प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि ऐसे वंचित पात्र किसानों का 31 मार्च 2013 तक का बकाया कर्ज भी तत्काल माफ किया जाना चाहिए उन्होंने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा कि टेस्ट चेकिंग के अधर पर प्रस्तुत कैग की रिपोर्ट में अनियमितताएं सामने आई हैं और सरकार को इस मामले में सभी 3.5 करोड़ खातों की सीबीआई जांच करानी चाहिए।
वर्ष 2008 में शुरू की गई कृषि ऋण माफी तथा ऋण राहत योजना की लेखा परीक्षा संबंधी कैग की मंगलवार को संसद में पेश की गई रिपोर्ट में बताया गया है कि नौ राज्यों में लेखा परीक्षा जांच में 9334 खातों में से 1257 (13.46 प्रतिशत) खाते वे थे जो कि योजना के तहत लाभ के पात्र थे, लेकिन जिन्हें ऋण देने वाली संस्थाओं द्वारा पात्र किसानों की सूची तैयार करते समय शामिल नहीं किया गया। जावड़ेकर ने कहा कि कैग ने 3.5 करोड़ खातों में से केवल 90 हजार की पड़ताल की है और तब ये नतीजे निकले हैं। सभी खातों की जांच में और अधिक अनियमितताएं सामने आ सकती हैं।
उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगते हुए कहा कि कांग्रेस भ्रष्टाचार का पर्याय बन गयी है। [१]राष्ट्रमंडल खेल घोटाला[२] 2जी घोटाला[३]कोयला घोटाला[४] हेलीकॉप्टर घोटाला और अब [५]किसानों को कर्ज माफी योजना में घोटाला सामने आया है जिसमें अनेक अपात्र लोगों ने फायदा उठाया जिससे सरकारी खजाने को नुकसान हुआ।
संप्रग सरकार के पहले कार्यकाल में लागू की गई कृषि ऋण माफी योजना के अमल पर गंभीर सवाल खड़े करते हुए लेखा परीक्षक कैग ने कहा है कि कई मामलों में उन किसानों को फायदा पहुंचाया गया जो इसके हकदार नहीं थे तथा कई मामलों में लाभ के पात्र किसानों को वंचित रखा गया।कैग ने संबंधित अधिकारियों और बैंकों के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की है। इस योजना पर कैग की रिपोर्ट आज संसद पटल पर रख दी गई है | इसमें कहा गया है कि उसने जितने खातों की जांच की उनमें 22 % से अधिक मामलों में चूक या गड़बड़ी हुई जिससे इस योजना के क्रियान्वयन पर गंभीर चिंता होती है।रिकॉर्डों से छेड़-छाड़ का हवाला देते हुए कैग ने सुझाव दिया है कि वित्तीय सेवा विभाग को ऐसे मामलों की समीक्षा करनी चाहिए और गलती करने वाले अधिकारियों और बैंकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।
जावडेकर ने कैग की रिपोर्ट के हवाले से कहा कि कई मामलों में जिन किसानों ने गैर कृषि उद्देश्य से ऋण लिया था या जिनका ऋण इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने योग्य नहीं था उन्हें लाभ पहुंचाया गया है।

घनी आबादी वाले शहरी छेत्र में व्यापारी नेता के घर में लाखों की डकैती

घनी आबादी वाले शहरी छेत्र में लाखों की डकैती

घनी आबादी वाले शहरी छेत्र में लाखों की डकैती

[मेरठ] घनी आबादी वाले शहरी छेत्र भी अब डकैतों के निशाने पर आ गए हैं|ऐसे ही सराय लाल दास में व्यापारी सुभाष मांगलिक के घर को निशाना बनाया गया |वृद्धा को बुरी तरफ पीट कर आतंकित करके लाखों रुपयोंकी लूट को अंजाम दिया गया|
थाना दिल्ली गेट के लक्ष्मी नारायण मंदिर के निकट साबुन व्यापारी और व्यापारी नेता सुभाष मांगलिक सुबह कोटला में अपनी दुकान पर चले गए पत्नी सविता पूजा पर बैठ गई|इसी बीच दरवाजे पर नोकिंग हुई खोलने पर समाने दो नकाब पोश दिखाई दिए|उन्होंने सविता को धक्का दिया और मकान के अन्दर घुस गए| विरोध करने पर वृद्धा को बुरी तरह से मारा गया |प्राप्त जानकारी के अनुसार ८००००/=की नकदी और ढाई तीन लाख के जेवर लूटे गए हैं|

भारतीय विदेश मंत्रालय की कूटनीति को धत्ता बताते हुए आज मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति नशीद को हिरासत में ले लिया गया

भारतीय विदेश मंत्रालय की कूटनीति को धत्ता बताते हुए आज मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति नशीद को हिरासत में ले लिया गया

भारतीय विदेश मंत्रालय की कूटनीति को धत्ता बताते हुए आज मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति नशीद को हिरासत में ले लिया गया

भारतीय विदेश मंत्रालय की कूटनीति को धत्ता बताते हुए आज मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति नशीद को हिरासत में ले लिया गया |भारतीय विदेश मंत्रालय की कूटनीति को धत्ता बताते हुए आज मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति नशीद को हिरासत में ले लिया गया है| इससे पूर्व बताया गया था कि मालदीव की वर्तमान सरकार और भारतीय डिप्लोमेट्स के बीच अंडर स्टेंडिंग बन गई थी जिसके चलते भारतीय दूतावास में ग्यारह दिन शरण लेने के बाद नशीद बाहर निकले थे| नशीद पर चीफ जज को हिरासत में लेने के आदेश दिए थे इन्हें उनके निवास से हिरासत में लिया गया है|यह खबर सारे टीवी चैनल्स पर दिखाई जा रही है |इस प्रकार से हिरासत में लिए जाने से उन्हें सितम्बर में होने वाले चुनावों से बाहर रखा जा सकता है और नशीद की जान को भी खतरा बताया जा रहा है||अगर थोड़ा इतिहास में नज़र डाले तो इसी प्रकार की कूटनीति बँगला देश में भी असफल हो चुकी है उस समय इस गलती का खामियाजा शैख़ मुजीबुर्र रहमान की जान से चुकाया गया था |

समाज में सरकार के डर को दूर करने के लिए२३ मार्च से होगा अरविन्द केजरीवाल का उपवास और अवज्ञा आन्दोलन

समाज में सरकार के डर को दूर करने के लिए२३ मार्च से होगा अरविन्द केजरीवाल का उपवास और अवज्ञा आन्दोलन

समाज में सरकार के डर को दूर करने के लिए२३ मार्च से होगा अरविन्द केजरीवाल का उपवास और अवज्ञा आन्दोलन

विसंगतियों के विरुद्ध अवज्ञा आन्दोलन के लिए समाज को जागरूक किया जाना जरुरी है|लेकिन समाज में सरकार का प्रति अनावश्यक डर बैठा हुआ है |लोगों के दिलों में बैठे इसी अनावश्यक डर को दूर करने लिए “आप” के सर्वोच्च नेता अरविन्द अरविन्द केजरीवाल 23 मार्च से दिल्ली में अनिश्चितकालीन उपवास पर बैठेंगे। यह उपवास बिजली के बढ़े हुए बिलों के लिए होगा|यद्यपि यह एलान बीते दिन कर दिया गया था मगर सत्ता पर बैठे नेताओं की तरफ से इस घोषणा का मजाक उड़ाते हुए कहा गया कि अरविन्द केजरीवाल का ग्रुप पहले भी कई बार आमरण अनशन कर चुके हैं मगर उसका कोई इफेक्ट नहीं हुआ|इस पर प्रतिक्रया जानने के लिए जब आप के कार्यालय फोन किया गया तो मीडिया को देख रहीं अस्वती मुरलीधरन ने बताया कि पहले अन्ना हजारे के साथ भी अनशन किया जा चुका है मगर सरकार ने हमेशा धोखा दिया है|आश्वासन के बावजूद भी जन लोकपाल नहीं लाया गया |अब संसद में जो लोक पाल लाया जा रहा है वह जनता की उम्मीदों पर खरा नहीं उतरता|इसी परिपेक्ष्य में अब हमें इस सरकार से कोई उम्मीद नहीं रह गई है| उन्होंने कहा कि वर्तमान में जनता सरकार की दमन कारी नीतियों से बेहद डरी हुई है उस डर को दूर करने के लिए ही यह उपवास किया जाएगा|
इससे पुर्व बीते दिन सामाजिक कार्यकर्ता से नेता बने आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि वह बिजली और पानी की बढ़ती कीमतों के खिलाफ आंदोलन करेंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित बिजली कंपनियों के साथ मिली हुई हैं। उसी का परिणाम है कि बिजली कंपनियां मनमाना ढंग से बिल बढ़ा रही हैं। उन्होंने लोगों से इसके खिलाफ सविनय अवज्ञा आंदोलन की अपील की है। उन्होंने कहा कि लोग बिजली बिल देना बंद करें।
अरविंद ने कहा है कि दिल्ली में पानी और बिजली के बिल बढ़ने का सिर्फ एक कारण है करप्शन। उन्होंने कहा कि दिल्ली की जनता डरी हुई है और एकजुट नहीं है। इसी का फायदा सरकार उठा रही है।उन्होंने कहा कि दिल्ली में पानी और बिजली के बिल नाजायज तरीके से आ रहे हैं। जनता महंगाई की वजह से कराह उठी है।
अरविन्द केजरीवाल का कहना है कि मजदूर की बिजली ४६००/= का भुगतान नहीं होने पर काट दी जाती है। मंत्रियों और सांसदों के ऊपर लाखों का बकाया है फिर भी उनसे कोई बकाया की रकम मांगता नहीं।

लोक सभा में हफ्ते के पहले दिन की कार्यवाही हंगामे की भेंट

लोक सभा में हफ्ते के पहले दिन की कार्यवाही हंगामे की भेंट

लोक सभा में हफ्ते के पहले दिन की कार्यवाही हंगामे की भेंट

[दिल्ली] लोक सभा में हफ्ते के पहले दिन की कार्यवाही हंगामे की भेंट चढ़ गई| प्रश्न काल भी नहीं चलने दिया गया |पेट्रोल की कीमत में की गई बढ़ोतरी वापस लेने की मांग को लेकर विपक्षी दलों ने सोमवार को लोकसभा में हंगामा किया| इसके फलस्वरूप सदन की कार्यवाही दोपहर तक के लिए स्थगित कर दी गई।लोकसभा की कार्यवाही पूर्वाह्न 11 बजे शुरू होते ही भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) तथा अन्य पार्टियों के सदस्यों ने इस मुद्दे पर हंगामा किया। लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने प्रश्नकाल चलने देने का अनुरोध किया, मगर हंगामा बंद नहीं हुआ| इसके बाद उन्होंने सदन की कार्यवाही दोपहर तक के लिए स्थगित कर दी।
पेट्रोल की कीमत में एक मार्च से विभिन्न करों के अतिरिक्त 1.40 रुपये की वृद्धि हुई है। पिछले दो सप्ताह में पेट्रोल की कीमत में यह दूसरी वृद्धि है। इससे पहले 15 फरवरी को भी पेट्रोल की कीमत में 1.50 रुपये की वृद्धि की गई थी।

स्कूल जर्जर भवन में चल रहा है :इसकी न तो कोई मरम्मत करवा रहा है और न ही इसे तोड़ने दिया जा रहा है

 स्कूल जर्जर भवन में चल रहा है :इसकी न तो कोई मरम्मत करवा रहा है और न ही इसे तोड़ने दिया जा रहा है

स्कूल जर्जर भवन में चल रहा है :इसकी न तो कोई मरम्मत करवा रहा है और न ही इसे तोड़ने दिया जा रहा है

[मेरठ] बेसिक शिक्षा अधिकारी और नगर निगम में टकराव को लेकर छात्रों का भविष्य और जीवन से खिलवाड़ किया जा रहा है| पॉश साकेत के गंगानगर मोहल्ले में एक स्कूल पर ताला जड़ने पर ४ मार्च ,सोमवार को जमकर हंगामा हुआ। मकान मालिक ने नगर निगम के जर्जर भवन का हवाला देते हुए स्कूल खाली करने को कहा। एडीएम सिटी आरके सिंह ने जांच के आदेश दिए हैं।
नगर निगम ने साकेत के भवन संख्या 185 मोहल्ला गंगानगर में चल रहे बाबूलाल कन्या पाठशाला की बिल्डिंग जर्जर बताते हुए तोड़ने का आदेश दिया था। भवन स्वामी ने सोमवार को स्कूल में ताला जड़ दिया। जब स्कूल पहुंचे तो वहां हंगामा शुरू हो गया। मौके पर पहुंचे एडीएम सिटी ने स्कूल खोलने का आदेश दिया, तो भवन स्वामी ने नगर निगम का आदेश दिखाया। भवन स्वामी ने कहा कि नगर निगम कार्रवाई करेगा तो कौन जवाब देगा। हालांकि बाद में एडीएम सिटी आरके सिंह के मौखिक आदेश से स्कूल शुरू हो गया। वहां सिटी मजिस्ट्रेट, सीओ सिविल लाइंस, बेसिक शिक्षा अधिकारी आदि भी वहां पहुंच गए। बीएसए जीवेंद्र सिंह ऐरी का कहना है कि भवन ठीक हालत में है। यदि स्कूल की बिल्डिंग को छेड़ा गया तो आगे की कार्रवाई की जाएगी।  

मेरठ में ट्रेफिक जाम एक संस्कार बन चुका है

मेरठ में ट्रेफिक जाम एक संस्कार बन चुका है |एक कार्नर से लेकर दूसरे कौने तक जन जीवन इस टेरिफिक ट्रेफिक से त्रस्त है|यह कचहरी रोड का द्रश्य है यहाँ सुबह से लेकर

मेरठ में ट्रेफिक जाम एक संस्कार बन चुका है

मेरठ में ट्रेफिक जाम एक संस्कार बन चुका है

शाम तक ऐसे सीन आम हो चले हैं |