Ad

Category: Politics

खुदरा व्यापार में अमेरिकी निवेश की फिराक में बराक

खुदरा व्यापार में निवेश की फिराक में अमेरिकी बराक
[जमोस सबलोक ]अमेरिका में चुनावों का महीना नवम्बर आने को ही है इसीलिए वहां की सल्तनत अभी से जुगाड़ भिडाने की जुगत में लग गई है|राष्ट्रपति बराक ओबामा जहां भारत के रिटेल मार्केट में अपने बेरोजगारों को खपाना चाह रहे है वहीं विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन सीरिया जैसे मुल्कों में वास्तविक डेमोक्रेसी के पाठ पढाने लग गई है|
बराक ओबामा ने हमेशा की तरह भारतीय प्रधान मंत्री डाक्टर मन मोहन सिंह को अपना अच्छा मित्र बता कर अपने मित्र को आर्थिक सुधारों के लिए नया दौर शुरू करने की सलाह दे दी है|विश्व में आई आर्थिक मंदी से अमेरिका भी बचा नहीं है इसीलिए उसे अब भारत में ही सुरक्षित व्यापार की उम्मीद है|भारत में विदेशी निवेश विशेष कर खुदरा व्यापार में विदेशी निवेश के लिए फूंक फूंक कर कदम रखे जा रहे हैं|विपक्ष के साथ यूं पी ऐ में भी विदेशी निवेश के लिए एक राय नहीं बन पाई है जबकि अमेरिका को इसकी वर्तमान में बहुत ज्यादा जरुरत है| कभी टाईम मैगजीन और कभी भारत पाक के रिश्तों को लेकर दबाब बनाया जा रहा है|अब स्वयम बराक ओबामा ने प्रत्यक्ष रूप से कमान संभाल ली है |
भारत में आई आर्थिक सुधारों में कमी से ओबामा भी चिंतित हैं|विदेशी निवेश पर रोक से निराश भी हैं|ओबामा सीधे मोर्चा खोलने के बजाये तारीफों के पुल बांधने से भी गुरेज़ नहीं कर रहे लेकिन इसके साथ ही अपने देश के व्यापारिओं की इच्छा के माध्यम से विदेशी निवेश के प्रति भारत की उदासीनता पर निराशा प्रकट करने से भी नहीं चूक रहे उनका कहना है की भारत में आर्थिक सुधारों में कमी जरूर आई है मगर यह वैश्विक मंदी का ही असर है|इस पर भी भारत की आर्थिक व्यवस्था प्रभावी तरीके से काम कर रही है|और विकास की गति बनाये रखने के लिए ऐसा किया जाना बहुत जरुरी है|
अब विदेश से कोई आलोचना या तारीफ आ जाए तो भारत में हंगामा होना स्वाभाविक ही है |विपक्ष ने इसे भारत की आंतरिक नीतियों में विदेशी दखल बताने में देरी नहीं लगाई|भाजपा ने मल्टी ब्रेंड निवेश पर अपना विरोध प्रकट किया तो वाम पंथियों ने इसे आर्थिक ओप्निवेश्वाद बताया |
मुझे याद आता है की स्वर्गीय राजीव गांधी ने एक बार अमेरिका की संसद को संबोधित किया था उसमे उन्होंने ऐसी ही एक समस्या का सामना बेहद सादगी और बिना किसी आडम्बर के किया और तालियाँ भी बटौरी थी राजीव गाँधी ने कहा था की हमारा देश में सुधारों के लिए एक दम स्विच ओवर करने के बजाये स्टेप बाई स्टेप चलना ही उचित और सही कदम होगा

जगदीश शेत्तर =जब तक साबित ना हो जाये कोई कसूरवार नहीं

कर्नाटक के नए मुख्य मंत्री जगदीश शेट्टार ने आज कहा की जब तक अदालत किसी को कसूरवार नहें मानती तब तक उसे कसूरवार कहना या मानना उचित नहीं होगा| मुख्यमंत्री राज्यपाल एच आर भरद्वाज के उस बयाँ का जवाब दे रहे थे जिसमे भारद्वाज ने नए मंत्री मंडल में अनेक मंत्रिओं को दागी बताया था
उन्होंने कहा की जब तक साबित ना हो जाये तब तक कोई भी दोषी नहीं हो सकता
इससे पूर्व एच आर भरद्वाज ने १३ जुलाई को यह सलाह दी थे की जिन विधायकों के विरुद्ध मुकद्दमा चल रहा है उन्हें मंत्री नहीं बनाया जाए मगर उस सलाह को नहीं माना गया है|जगदीश शेत्तार ने मंत्रिमंडल में अल्पसंख्यक और पिछड़ों को प्राथमिकता देने के संकल्प को दोहराया|
“..
.

प्रणव ने जे &के और संगमा ने उड़ीसा में चुनाव अभियान चलाया

यूं पी ऐ के राष्ट्रपति के लिए उम्मीदवार पूर्व वित् मंत्री प्रणव मुखर्जी ने आज जे & के में चुनाव अभियान चलाया |
पी डी पी के अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद से भी मुलाक़ात की और सभी वोटरों से सहयोग माँगा| इस अवसर पर संविधान के दायरे में उन्होंने राज्य के विकास में सहयोग की बात भे कही|
प्रणव के अपने प्रदेश वेस्ट बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी ने अभी तक सहयोग का आश्वासन नहीं दिया हैममता के झुकाव को १९ तारिख को खुलेगा|
इससे पूर्व प्रणव कह चुके हैं की यदि ममता उन्हें सपोर्ट नहीं करती तो उन्हें कोई आश्चर्य नहीं होगा|
विपक्ष की भूमिका निभा रहे पी ऐ संगमा ने उड़ीसा के मुख्य मंत्री नवीन पटनायक से मुलाक़ात करके सबसे सहयोग मांगा\

मो. हामिद अंसारी को भाजपा नहीं देगी वाकओवर

उपराष्ट्रपति के लिए यूं पी ऐ के उम्मीदवार मोहम्मद हामिद अंसारी को भाजपा वाक् ओवर देने के मूड में नहीं है|कल हुई पार्टी की मीटिंग में यह निर्णय लिया गया उम्मीदवार के नाम की घोषणा एन डी ऐ की मीटिंग के बाद की जायेगी|राजनितिक हलकों में जे डी यूं के शरद यादव के नाम की चर्चा हो रही है|
यूं पी ऐ ने बेशक हामिद अंसारी को राष्ट्रपति की दूसरी पारी देने का मन बना लिया है|वोटों के गणित से हामिद अंसारी की जीत भी निश्चित ही है मगर भाजपा अब अपना विपक्ष का धर्म भी निभाना चाहता है इसीलिए एक हारी हुई लड़ाई में उतरने का एलान कर दिया गया है| अभी उम्मीद वार के नाम की घोषणा नहीं हुई है इसके लिए एन डी ऐ की बैठक आगामी सप्ताह में आहत की जानी है उसके बाद ही की नाम पर सहमती बन पायेगी |
वोटों का गणित विपक्ष के पक्ष में अभी तक इस प्रकार है ;
कुल वोट ५४५+२४५=७९०
यूं पी ऐ=सहयोगी ४२३
एन डी ऐ +सहयोगी १८५
बीजे डी +अन्ना द्रुमुक ८७
कुल वोट २९२ २९२
टी एम् सी +लेफ्ट+जे डी यूं ९५
इस गणित के हिसाब से यूं पे ऐ की जीत निश्चित है

यशवंत सिन्हा ने की मनरेगा की आलोचना

विश्व की सबसे बड़ी और सफल यौजना महात्मा गांधी नरेगा की रिपोर्ट कार्ड पर अपनी पीठ थप थपाने पर भाजपा के पूर्व वित् मंत्री यशवंत सिन्हा ने कड़ी आलोचना की है |श्री सिन्हा ने इस यौजना से फायदे को सिरे से नकार कर इसे नुकसानदायक बताया

हामिद अंसारी की उपराष्ट्रपति की दूसरी पारी निश्चित

यूं पी ऐ अध्यक्षा सोनिया गांधी ने आज हामिद अंसारी को उपराष्ट्रपति की दूसरी पारी देने की ओउप्चारिक घोषणा कर दी है|इसके साथ ही हामिद अंसारी के दुबारा उपराष्ट्रपति बनना लगभग तय माना जा रहा है|
हामिद अंसारी को राष्ट्रपति नहीं बना पाने के बाद से ही उपराष्ट्रपति के लिए दूसरी पारी की तैय्यारी शुरू हो चुकी थी |श्रीमती सोनिया गाँधी ने घटक दलों से सलाह मशविरा प्रारम्भ भी कर रखा था |आज यूं पी ऐ की बैठक में इसकी ओउप्चारिक घोषणा कर दी गई है |वोटों के गणित से हंसारी की जीत निश्चित है|
कुल ७९० वोट है जीत के लिए ३९६ वोट चाहियें
यूं पी ऐ के पास अपने ३२९ वोट है इसके आलावा मुलायम सिंह यादव की सपा पार्टी के ३१
माया वती की बसपा पार्टी के ३६
लालू प्रशाद यादव की पार्टी आर जे डी के ०६
और जे डी एस के ०३ वोट हैं
कुल वोट ३२९+३१+३६+०६+०३ ४०५ जीत के लिए आवश्यक ३९६ से यह आंकड़ा ०९ वोट अधिक है
इसके आलावा कोलकत्ता में जन्मे हामिद अंसारी के लिए वाम पंथी जो की आज कल यूं पी ऐ के साथ खड़े दिखाई देते हैं के ३८ वोट है तथा शरद यादव पहले ही हामिद अंसारी के फेवोर में बोलते रहे हैं
अब चूँकि भाजपा की सुषमा स्वराज और ममता बेनर्जी पहले ही हामिद अंसारी की क़ाबलियत पर सवाल उठा चुकी हैं इसीलिए संभवत यूं पी ऐ ने इस मामले में विपक्ष से सलाह मशविरा भी नहीं किया यह दीगर बात है की ममता बेनर्जी के प्रतिनिधि के रूप में मुकुल राय मीटिंग में मौजूद रहे|

१० जनपथ में डिनर डिप्लोमेसी

राष्ट्रपति के चुनावों में किसी सेंधमारी से अपने वोटरों को बचाने और अंत तक एक जुट रखने के लिए सभी उपाय किये जा रहे है इसी कड़ी में यूं पी ऐ की अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गाँधी ने चुनाव की पूर्व संध्या पर एक डिनर का आयोजन किया है इसमें सभी घटक दल और सहयोगिओं को आमंत्रित किया जा रहा है |इसमें स्थाई और सरकार में शामिल कुछ दल की अनुपस्थिति की आशंका है मगर इसके साथ ही बाहर से समर्थन दे रहे दल शामिल होकर गुड फील करा सकते हैं|
पश्च्मि बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस अध्यक्षा ममता बेनर्जी ने तो साफ़ लफ़्ज़ों में असमर्थता जता दी है|चुनाव १९ को है डिनर १८ की रात्री को है मगर इस फायर ब्रांड नेत्री ने बंगाल में २१ तारीख को आयोजित किये जाने वाली पार्टी की रैली को आधार बना कर डिनर से किनारा कर लिया है|इसके आलावाएन सी पी के भारी भरकम और सरकार को अपने बयानों से लगातार मुश्किलों में डालते आ रहे सुप्रीमो शरद पवार के भाग लेने पर भी प्रश्न चिन्ह लग रहे हैं|
सपा+बसपा+के साथ बिहार की जे डी[यूं] की उपस्थिति कांग्रेस की हाई कमान को गुड फेल करा सकती है |खैर कुछ भी हो अभी तक तो यूं पी ऐ के प्रत्याशी प्रणव मुखर्जी की जीत के ही आसार बने हुए हैं\

स्विस बैंकों में प्रधान मंत्री पता लगाये राष्ट्रपति का काला धन =पाक

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की मुश्किलें और बड़ती जा रही है अब सुप्रीम कोर्ट ने नए प्रधान मंत्री को यह आदेश दिया है की जरदारी की स्विस बैंकों में दौलत का पता लगाया जाए इसके लिए स्विस सरकार से ख्तोखिताबत के भी आदेश दिए गए है|इससे पूर्व जरदारी को लेकर एक प्रधानमंत्री गिलानी को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर हटाया भी जा चुका है \आसिफ अली जरदारी स्वर्गीय बेनजीर भुट्टो के पति है और बेनजीर के प्रधानमंत्रितत्व काल में ज़रदारी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे इन्हें मिस्टर १०% तक कहा जाने लगा था

कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री भी भूमि घौटाले में लिप्त

लगता है की कर्नाटक में अभी सब कुछ ठीक नहीं हुआ क्योंकि मुख्यमंत्री बनते ही जगदीश शैततर के सर पर भ्रष्टाचार के आरोपों के ओउले पड़ने शुरू हो गए हैं \
लोकायुक्त को लिखे एक पत्र में जगदीश पर जमीन घोटाले में लिप्त होने का आरोप लगा दिया गया है|
कर्नाटक में इस प्रकार के घटना क्रम को देखते हुए भाजपा को कोई कठोर निर्णय नहीं ले पाने का खामियाजा उठाना पड़ सकता है|

जगदीश शैत्तार दो उप के साथ बने कर्नाटक के नए मुख्य मंत्री

कर्नाटक की राजनीति में फिलहाल सभी हंगामाई किन्तु परंतुओं का अंत करते हुए ५६ वर्षीय लिगायत लीडर जगदीश शेततार को राज्यपाल हंसराज भरद्वाज ने मुख्य मंत्री की शपथ दिला दी| इससे पूर्व गौडा और वाई एस आर रेड्डी ने मुक्यमंत्री के लिए शेततार के नाम का प्रस्ताव रखा था |
राज्य में अब दो उपमुख्य और ३१ मंत्री होंगे |सदानद गौडा के समर्थक मंत्रिमंडल में रहेंगे मगर कुछ नए चेहरे भी मन्त्री बनाए जा रहे है|गौडा समर्थकों ने ५० विधायकों की सपोर्ट दिखाते हुए अपने मंत्रिओं को मंत्रिमंडल में रखने में सफलता प्राप्त कर ली|
फ़िलहाल भाजपा का संकट राज्य में समाप्त दिख रहा है इसके बावजूद भी बगावती तेवरों का समापन नहीं हुआ है|बीते ४ सालों में तीन मुख्य मंत्रिओं के बदले जाने से रेड्डी के हौसले बुलंदी पर ही हैं |