Ad

अमिताभ बच्चन के नाम ग्रीन फील्ड में अनाधिकृत प्रॉपर्टी : हैं ?

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक सोश्लाईट

ओये झल्लेया देखा हसाड़े स्वयम सेवको का कमाल|ओये सबको कर रहे हैं बेहाल|अन्ना बाबु राव हजारे ने महात्मा गांधी की शहादत को नमन करते हुए पटना में अपने जन लोक पाल को लेकर रैली निकाल रहे हैं यूं पी ऐ की अध्यक्ष श्री मति सोनिया गांधी को घेरने की तैय्यारी में हैं तो आई पी एस अधिकारी से खोजी स्वयम सेवक बने वाई पी सिंह ने बालीवुड स्टार अमिताभ बच्चन और उनकी पत्नी श्री मति जया बच्चन द्वारा ९ करोड़ रुपये के इन्वेस्टमेंट करके भवन निर्माण कम्पनी [ Ecstacy Reality Private Ltd.]के माध्यम से अंधेरी की एक ग्रीन फील्ड में अनाधिकृत बिल्डिंग्स[माल्स] बनवाने का भांडा फोड़ दिया है |ओये वड्डे वड्डे आदर्शवादी बातें करने में माहिर अमिताभ बच्चन के ऐसे कारनामे |हैं?

अमिताभ बच्चन के नाम ग्रीन फील्ड में अनाधिकृत प्रॉपर्टी : हैं ?


झल्ला

बाबू साहब मैंने तो सुना है कि बच्चन परिवार की इस मॉल में कोई हिस्से दारी नहीं है और न ही उन्होंने कोई लोन ही दिया है हाँ प्रोपटी जरूर खरीदी होगी| बी एम् सी या वहां कि सरकार तो वैसे भी अमिताभ जैसों के पीछे दूरबीन लेकर पड़ी रहती है उन्होंने भी माल को बनाने दिया ऐसे में तो जानब यकीं कर लीजिये कि इन पायजामा सिलवाने वालों ने नाड़े का इंतज़ाम कर ही लिया होगा | अब ये तो आप भी मानेंगे कि इन सारे पंगों को झेलने में माहिर ठाकुर अमर सिंह तो अब उनके साथ हैं नहीं और स्वयम अमिताभ बच्चन साहब की हाईट बोले तो कद बहुत ज्यादा है उन्हें ऎसी छोटी छोटी बातों का या फार्मेलिटीज को देखने में दिक्कत तो होती ही होगी|

कजाकिस्तान में SCAT एयर लाइन्स का जेट प्लेन क्रैश हुआ:सभी सवारों की मृत्यु की आशंका

कजाकिस्तान में २९ जनवरी की सुबह एक एयर क्रैश में यात्री विमान में सवार सभी लोगों की मृत्यु हो गई है| कजाकिस्तान की व्यावसायिक राजधानी अल्माटी के पास हुए इस हादसे का कारण घना कोहरा बताया जा रहा है। १९९७ से कार्यरत एससीएटी[SCAT] एयरलाइन के इस जेट विमान में मरने वालों की संख्या २१

कजाकिस्तान में SCAT एयर लाइन्स का जेट प्लेन क्रैश हुआ:सभी सवारों की मृत्यु की आशंका

बताई जा रही है जिनमे ५ स्टाफ सदस्य थे | स्कैट एयरलाइन का यह दुर्भाग्यपूर्ण विमान कनाडा निर्मित बोंम्बार्डियर चैलेंजर सीआरजे 200 था।
बताया गया है कि यह यात्री विमान उत्तरी कजाकिस्तान के कोकशेतु से दक्षिण पूर्व में अल्माटी आ रहा था।
कजाकिस्तान में इससे पहले 25 दिसंबर को खराब मौसम के कारण एक सैन्य मालवाही विमान भी दुर्घटनाग्रस्त हुआ था। उसमें 27 लोगों की मृत्यु हुई थी|एससीएटी[SCAT] एयरलाइन का यह जेट विमान अल्माटी एयरपोर्ट पर पहुंचने के पहले क्रेश हो गया।
हवा में विमान का क्रैश के पीछे ख़राब मौसम को कारण बताया जा रहा है मगर किसी भी एजेंसी ने अभी तक किसी प्रकार की टक्कर + या फैलउर की जानकारी नहीं दी है विमान के ब्लैक बाक्स की ढूढ़ जारी है|

राम नाम के जाप से सद्गुणों की वृद्धि होती है और अज्ञानता समाप्त होजाती है

राम नाम जप-पाठ से ,
हो अमृत संचार।
राम-धाम में प्रीती हो ,
सुगुण – गुण का विस्तार ।।

Amrit Vani

भावार्थ : संतजन समझाते हैं कि परमात्मा के पावन नाम राम नाम का जाप बड़ी श्रधा, भावना , प्रेम से कीजिये तो उससे आप में अमृत , प्रेम तथा सुभाव नाओं का संचार होता हैं तथा धीरे धीरे उस प्रभु के पावन धाम , उसके निवास स्थान से प्रीति हो जाती है । हमारे अन्दर सद्गुणों के समूह की वृद्धि होती है । जब सद्गुण रुपी सूर्य हमारे अन्दर अवतरित होता हैं तो अवगुण तथा अज्ञान रुपी अँधेरा समाप्त हो जाता है ।
संत शिरोमणि स्वामी सत्यानन्द जी द्वारा रचित अमृतवाणी बगिया का एक पुष्प
प्रस्तुती राकेश खुराना

हाइकोर्ट बेंच के लिए वकील १३ फरवरी को रेल रोकेंगे और न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे

पश्चिमी उत्तर प्रदेश हाइकोर्ट बेंच स्थापना के लिए बेशक केंद्र और उत्तर प्रदेश की सरकारों में नूर कुश्ती जारी है मगर वकीलों ने अभी उम्मीद नही छोड़ी है अब वकीलों ने कचहरी परिसर से बाहर निकल कर रेल रोकने के घोषणा की है| 13 फरवरी को पश्चिमी उत्तर प्रदेश की सभी जिला एवं तहसील बार एसोसिएशन के सदस्य गाजियाबाद में एकत्रित होकर रेलवे ट्रैक पर धरना देकर रेल रोकेंगे और न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे|वहीं पश्चिम के जिलों में बेंच आंदोलन में तेजी लाने के लिए जिला संघर्ष समिति का गठन करने का प्रस्ताव भी पारित किया गया है ।

Unrest Among Advocates


मेरठ बार एसोसिएशन के नानक चंद सभागार में २९ जनवरी को आहत केंद्रीय संघर्ष समिति की बैठक में वेस्ट की लगभग सभी बार एसोसिएशन के पदाधिकारी मौजूद रहे। करीब चार घंटे से अधिक चली इस बैठक में पांच प्रस्ताव पास किए गए। चेयरमैन अशोक कुमार शर्मा की अध्यक्षता में हुई बैठक में आंदोलन में तेजी लाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उपाध्यक्ष राहुल गांधी, दिग्विजय सिंह, केन्द्रीय कानून मंत्री से मिलने का निश्चय किया गया । 13 फरवरी को पश्चिमी उप्र की सभी जिला एवं तहसील बार एसोसिएशन के सदस्य वकील, आम जनता, जनप्रतिनिधि गाजियाबाद में रेलवे ट्रैक पर धरना दे कर रेल रोकेंगे और उस दिन पूरे वेस्ट यूपी के वकील न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे। रजिस्ट्री कार्यालय भी बंद रहेंगे अगली बैठक 20 फरवरी को बिजनौर बार एसोसिएशन में होगी। उस दिन भी पश्चिमी उत्तर प्रदेश के वकील न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे। बैठक में बिजनौर बार अध्यक्ष एस के अग्रवाल+ बागपत अध्यक्ष विजय पाल तोमर+मुजफ्फरनगर अध्यक्ष राजेश्वर त्यागी + सिविल बार संघ अध्यक्ष सुनील गर्ग+ सहारनपुर के अध्यक्ष ईसम सिंह+ गौतम बुद्धनगर से अध्यक्ष विपिन भाटी+ गाजियाबाद के अध्यक्ष राकेश त्यागी काकडा आदि मौजूद रहे

शाहरुख़ को कोई समस्या नहीं है रहमान मलिक चाहें तो कमल हासन की विश्वरूपम को पाकिस्तान में रिलीज करवा लेवें

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक सिने प्रेमी

ओये झल्लेया ये क्या नया शाहरुख़ खान का पंगा पड़ गया? जमात उद दावा के आतंकवादी नेता हाफ़िज़ सईद और पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मलिक एक ही भाषा बोलने लग गए हैं|अभी महाराष्ट्र सरकार शाहरुख़ की सुरक्षा व्यवस्था को रिव्यू कर ही रहे है कि पाकिस्तान और वहां के आतंकवादी भी हमारे इस प्यारे डॉन को अपना कहने लग गए हैं| भारत में भी सारी मुसीबतों को ठन्डे बसते में डाल कर पक्ष +विपक्ष सभी शाहरुख़ खान की माला जपने लग गए और पाकिस्तान को कोसने लग गए हैं| पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ हो रही दुर्गति को सब भूल गए ये नई शाहरुखी घरेड शुरू हो गई| बेचारे शाहरुख़ ने बेवजह राजनीतिक नेताओं के निशाने पर वाला साक्षात्कार आउटलुक टर्निंग प्वाइंट्स को क्या दिया कि अब सारे शाहरुख़ को लुक करने के लिए आउट हुए जा रहे हैं

Sharukh Khan,s Security


झल्ला

बाऊ जी पाकिस्तान की पुरानी आदत है जब ही हमारा पानी शांत होता है तभी वोह उसमे कंकर फैंकता है और कंकर से पैदा होने वाली लहरों को देख देख कर मजे लेता है|अब चूंकी शाहरुख़ खान की दिल्ली से नजदीकियां हैं+पाकिस्तान क्रिकेटरों से दोस्ती है और पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ के शहरी हैं सो लहरें कुछ ज्यादा दूर तक ही उठ रही हैं|माफ़ करना झल्लेविचारानुसार शाहरुख़ को अमेरिका के हवाई अड्डों पर दो बार खान होने के लिए अपमानित होना अपने यहाँ तो उसकी कोई फिल्म भी पब्लिसिटी के लिए नहीं रुकी हुई है |हाँ इस्लाम के नाम पर हमारे कमाल हासन की फिल्म ९५ करोड़ की विश्वरूपम कोरिलीज करवाने में समस्या हो रही है इसीलिए पाकिस्तान चाहे तो कमाल हासन की फिल्म को पाकिस्तान में रिलीज करवा कर उसका भला करा देवे |

कैरियर कान्शियश युवाओं के लिए मेरठ में युवा क्लासेज

प्रतियोगिता की तैय्यारी में जुटे करियर कान्शियश को समर्पित युवा क्लासेज ने मेरठ में दस्तक दे दी है| इस संस्था का उद्घाटन आज पद्म श्री डाक्टर रविंदर कुमार [पूर्व कुलपति]ने किया|और युवाओं को यह विश्वास दिलाया की यह संस्थान जमीनी स्तर पर शिक्षा को बढावा देगा|भविष्य को सुरक्षित तथा बौधिकता से परिपूर्ण कर सुनहरे सपनों को साकार करेगा|

Padam shri ravinder kumar inaugurating yuva classes


शारदा रोड स्थित इस संस्था के प्रबंध निदेशक कपिल अग्रवाल ने यह आश्वासन दिया कि शिक्षा के छेत्र में धन की कमी को आड़े नहीं आने दिया जाएगा|यहाँ मौक-इंटरव्यू +पर्सनालिटी डेवलपमेंट+मेमोरी तकनीक से शिक्षा दी जायेगी|निदेशक रिंकू प्रजापति, एडवोकेट रोहताश अग्रवाल,विजय अरोरा,सुनील गुप्ता,हरिओम शर्मा,प्रवीण गोयल अदि उपस्थित थे

आर बी आई ने खजाना खोला: रेपो रेट ,सीआरआर में चौथाई फीसदी कटौती:18 हजार करोड़ रुपये फ्लोट होंगें

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने आखिर कर खजाने का मुह खोल कर मंगलवार को रेपो रेट और सीआरआर में चौथाई फीसदी की कटौती के साथ बाज़ार में 18 हजार करोड़ रुपये डालने की घोषणा कर दी है|
आरबीआई के गवर्नर डी. सुब्बाराव ने आज मौद्रिक नीति की तीसरी तिमाही समीक्षा पेश करते हुए लघु अवधि की ऋण दर (रेपो दर) में चौथाई फीसदी की कटौती की घोषणा की है| बताया जा रहा है कि मौजूदा दशक में सबसे धीमी वृद्धि का सामना कर रही अर्थव्यवस्था को सहारा देने के लिए यह फैसला किया है|.बैंकों को अपनी जमा का एक निश्चित अनुपात केंद्रीय बैंक के पास रखना होता है, जिससे सीआरआर कहा जाता है और बैंक अपनी लघु अवधि की जरूरत के लिए केंद्रीय बैंक से जिस दर पर उधारी लेते हैं, वह रेपो दर है|
रिजर्व बैंक के इस फैसले के बाद लघु अवधि की ब्याज दर 0.25 % घटाकर 7.75 % हो गई है. वहीं नकद आरक्षित अनुपात (सीआरआर) में चौथाईफीसदी की कटौती के बाद 4 % हो गया है.इस कटौती से 18 हजार करोड़ रुपये आएंगे। आरबीआई के फैसले के बाद कर्ज के सस्ता होने के अनुमान लगाये जा रहे हैं आर बी आई ने समय समय पर सीआरआर में कटौती कर थोड़ी राहत देने की कोशिश जरूर की है मगर अप्रैल 2012 से लेकर अबतक आरबीआई ने रेपो रेट में कोई राहत नहीं दी थी। इससे पहले रिजर्व बैंक ने अप्रैल 2012 में रेपो और रिवर्स रेपो दर में 50 आधार अंकों की कटौती की थी.

रेपो रेटक्या है?

Governor of R B I D. Subba rao


आर बी आई जिस दर पर कम वक्त के लिए बैंकों को कर्ज देता है, उसे रेपो रेट कहते हैं. जिस दर पर रिजर्व बैंक को बैंकों से कर्ज मिलता है, उसे रिवर्स रेपो रेट कहते हैं. रेपो रेट घटने से बैंको को रिजर्व बैंक से छोटी अवधि के फंड पर घटी दरों पर कर्ज मिलेगा. इससे बैंक ब्याज दरें घटाकर सकते हैं, जो उनके कस्टमर्स के लिए फायदेमंद साबित होगा.

सीआरआर में कटौती के लाभ

बैंक रेट वह रेट है, जिस पर आरबीआई लंबी अवधि के लिए बैंको को उधार देता है. कैश रिजर्व रेशो के रेट के हिसाब से बैंक अपनी कुल जमा और देनदारियों का कुछ फीसदी हिस्सा रिजर्व बैंक के पास रखते हैं.

ट्रैफिक बीमार हो गया है: महामहिमजी इसके उद्धार के लिए भी एक अदद क्रान्ति बिगुल बजवा ही दीजिये

आज मुझे मेरठ ऐसा बीमार शहर लगा जिसकाइलाज अगर जल्द नही ढूंडा गया तो यह लाईलाज हो जाएगा| अब ढाई किलोमीटर का सफ़र २५ मिनट्स में करना पड़े तो इसे बीमारी ही कहा जाएगा|और अगर इस समय माननीय गवर्नर महोदय का आगमन हो तो इसे अति गंभीर कहा जाएगा|गवर्नर बी एल जोशी ने मेरठ में आयोजित दीक्षांत समारोह मेंएक और कृषि क्रांति की जरूरत पर बल दिया है कृषि विश्वविध्यालय के दीक्षांत समारोह में कृषि क्रान्ति की जरुरत पर बल दिया जाना ही चाहिए लेकिन अगर महामहिम राज्यपाल शहर के बीच में एक नज़र ट्रैफिक पर डाल लेते तो यहाँ के बीमार ट्रैफिक के उद्धार के लिए भी क्रान्ति को जरूरी बताते | आजएस एस डी चौराहा + बेगमपुल +बच्चा पार्क+हापुड़ चौराहा पर ट्रैफिक जाम से रूबरू होना पड़ा |यहाँ तक की जाम में एम्बुलेंस भी अपने सायरन बजाती रही मगर ट्रैफिक पोलिस महज अपनी वी आई पी ड्यूटी ही निभाने में लगी रही|हापुड़ अड्डा चौराहे पर दो पोलिस वाले आम यात्रियों से गाली गफ़्तोर करते देखे गए लेकिन ये लोग मात्र अपनी विभागीय जीप निकलवाने में ही मशगूल रहे | दरअसल शहर के बीचों बीच अनेको रुकावटें खड़ी हैं और दिनी दिन ये रुकावटें नासूर बनती जा रही हैं| भीड़ भाड़वाले चौराहों पर [१]अनाधिकृत वाहन स्टैंड [२]अतिक्रमण[३] ऑटो दोपहिये और तिपहिये छोड़ भी दें तो भी बस और ट्रक जाम की स्थिति पैदा करते दिखाई देते हैं पहले सेना के वाहन छावनी से बाहर कम ही दीखते थे मगर आज कल सेना के ३ टन ट्रक भी कचहरी+ बेगम पुल आदि में दिखाई दे जायेंगे| [४] आये दिन असंतोष व्यक्त करते जुलूस निकलना शहर का नसीब बन गया है |कमिशनरी पार्क तो एक तरह से कोप पार्क बन गया है आये दिन यहाँ कोई न कोई नाराज़ दल या समूह या गुट डेरा डाले रहता है |तिपहिया वाहनों की एक एतिहासिक मानसिकता है जिसके अनुसार अगला पहिया घुसा दो रास्ता अपने आप मिल जाएगा और ये द्रुत गति के दोपहिया वाले तो न जाने कहाँ से निकल कर सामने आ जाते हैं और दिल को धडका कर फुर्र से न जाने कहाँ निकल जाते हैं|वैसे यहाँ ट्रैफिक का मिजाज दुरुस्त करने के लिए इचा शक्ति का भी अभाव नज़र आता है क्योंकि खूनी पुल के किनारे रोज़गार तलाश कर रहे झुग्गी वालों को उजाड़ कर सड़क को चौड़ी करने का काम चल रहा है मगर शहर के दूसरे हिस्सों में शायद भीड़ तंत्र या फिर निज़ी स्वार्थ आड़े जाता है |आये दिन स्टाफ की कमी का रोना भी रोया जाता ही है| माफ़ कीजिये में मेरठ के ट्रैफिक का रोना रो रहा हूँ और उधर टी वी की खबरों में डी एन डी[नोयडा] पर जाम का रौना रोया जा रहा है
इसीलिए महामहिमजी ट्रैफिक की बीमारी को दूर करने के लिए एक अदद क्रान्ति के लिए बिगुल बजवा दीजिये

मोह,माया,ममता,अहम, फरेब को त्यागे बगैर अगर कहूं परमात्मा नहीं मिलता तो झल्ली ही कह्लाउंगी

तांघ माहि दी जली आं
नित काग उडावां खली आन
नै चन्दन दे शोर किनारे
घुम्मन घेरा ते ठाठा मारे
डुब डुब मोहे तारु सारे
शोर करा ते मैं झल्ली आं ।

Rakesh khurana

भाव: आत्मा की सबसे बड़ी इच्छा सद्गुरु परमात्मा को पाने की चाह होती है । सद्गुरु परमात्मा को पाने के लिए खुद को खोना भी पड़ता है तभी परमात्मा की समीपता प्राप्त हो सकती है । जीवन की सबसे बड़ी सार्थकता यही है ।
बुल्ले शाह फरमाते हैं कि हे प्रियतम मैं तेरी चाह में विरह की आग में जल रही हूँ , कागों[क्रो] के रूप में सांसारिक वासनाओं को अपने समीप नहीं आने देती,
संसार के तमाम रिश्ते नाते, कामनाएँ , वासनाएं प्रेम नदी के किनारे इतना शोर मचा रही हैं जिसके कारण आत्मा नदी में उतर ही नहीं पा रही है । तथा नदी भी इतनी भयानक है कि मोह , माया एवं ममता की भँवरे इतनी तेज पड़ती हैं कि तैरने वाला तो तैरने वाला कभी कभी दूसरों को पार पहुँचाने वाली लकड़ी की नाव भी इस में डूब जाती हैं । कितने ज्ञानी विज्ञानी इस नदी में डूब कर मर गए ऐसे में मेरा क्या होगा ? एक तरफ तो मैं तो इन मोह , माया, ममता, अहम्, फरेब, का त्याग नहीं कर पा रही , तथा दूसरी तरफ मैं शोर मचा रही हूँ की मुझे सद्गुरु परमात्मा की समीपता नहीं मिल पा रही, तो लोग तो मुझे झल्ली ही कहेंगे नां ।
सूफी संत बुल्ले शाह का कलाम
प्रस्तुति राकेश खुराना

चीन में अभी तक आदमी और सबसे छोटे अंडे ही बनते थे अब यकायक सबसे बड़े सैनिक एयर ट्रांसपोर्ट प्लेन कैसे बना ?

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक चीनी सैनिक

ओये झाल्लेया देखा हमारी फौज का कमाल| हमारी शिन्हुआ ने बताया है की हमारी फौज ने अपने सबसे बड़े सैनिक एयर ट्रांसपोर्ट प्लेन का टेस्ट सफलता पूर्वक कर लिया है। द यन-20 /ट्रांसपोर्ट-20 नाम का यह प्लेन पूरी तरह से स्वदेशी है | एक बार में 66 टन वजन का सामान ढो सकता है।
यात्री और सामान के ट्रांसपोर्टेशन के अलावा जरुरत पड़ने पर ऐड टू सिविल पावर [राहत और बचाव संबंधी ]कई कामों में मदद दे सकता है|अब तो विश्व में खलबली मच जायेगी|

चीन में अभी तक आदमी और सबसे छोटे अंडे ही बनते थे अब यकायक सबसे बड़े सैनिक एयर ट्रांसपोर्ट प्लेन कैसे बना ?


झल्ला

वाकई भाई इस यां से आपजी की फौज की ताकत कई गुना बढ जायेगी इसके लिए मुबारक|लेकिन एक बात सच्ची सच्ची बताना की अभी तक आपके मुल्क में आदमी छोटे घर छोटे खेत छोटे होते थे और तो और मुर्गी ने अगर सबसे छोटा अंडा [ दो सेंटीमीटर ऊंचा और 2.58 ग्राम वजनी] दिया भी तो वह भी आपके मुल्क शपिंग्बा जिले में दायु नाई के यहाँ दिया था अब ये भीमकाय+ विशाल काय+काल का्य जहाज़ देश में ही कैसे बनने लग गए|