Ad

Tag: Paytm

मोदी के पेटीएम् मार्का “मोदक”तो ग्राहकों के भी पेट में मरोड़ डालने लग गए

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

क्रुद्ध व्यापारी

ओऐ झल्लेया!ये पेटीएम वालों ने क्या गोरखधंधा फैला रखा है ?इन्होंने पहले कहा के फ्री में डिजिधन मुहैय्या करवाएंगे लेकिन नोटबंदी के तुरंत बाद जब डिजिधन की जरुरत बढ़ गई तो अपने असली दांत दिखाने शुरू कर दिए| दुकानदारों के साथ ही ग्राहकों की जेब भी अनाप शनाप ढंग में काटी जाने लग गई है| ओऐ अनेकों वेबसाईटों पर पेटीएम् के खिलाफ शिकायतों की बाढ़ लग गई है| मोदी के ये पेटीएम् मार्कामोदक तो दुकान्दारोंके साथ ही ग्राहकों के भी पेट में मरोड़ डालने लग गए

झल्ला

ओ मेरे चालाक सेठ जी! |बाजार में अनेकों डिजिधन मुहैय्या करवाने वाले हैं लेकिन आपलोगों की भेड़ चाल का फायदा उठाते हुए पेटीएम् वालों ने अपनी समानांतर अर्थ व्यवस्था सफल कर ली और अपना बैंक स्थापित कर लिया है |अब जब आधा अरब रूपया उसकी जेब में चला गया तो सभी रोने लग गए |अरे भापा जी अब तो चिड़िया खेतों को चुग गई |शारदा+माल्या+कुबेर+गरुड़+सहारा जैसों का कुछ नहीं हुआ तो अब इस पे टी एम् का क्या बिगड़ेगा ?

जेटली जी!व्यापारियों को डिजिटलाइज्ड करने के लिए नेट के सिग्नल तो दिलवाओ

जेटली जी!व्यापारियों को डिजिटलाइज्ड करने के लिए नेट के सिग्नल तो दिलवाओ

जेटली जी!व्यापारियों को डिजिटलाइज्ड करने के लिए नेट के सिग्नल तो दिलवाओ


झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

ओऐ झल्लेया ! अब तो खुश होजा
ओऐ! हसाड़े छोटे व्यापारियों को डिजिटलाइज्ड करने के लिए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने टैक्स में छूट की सौगात दे दी है |ओऐ! अब २० करोड़ के कारोबारियों को २% की छूट दी जाएगी

झल्ला

ओ मेरे चतुर सेठ जी !फाइनेंसियल ट्रांजेक्शन के लिए आवश्यक इन्टरनेट की सुविधा भी तो मुहैय्या करवाओ| ऍन सीआर में आमजन अपने मोबाइल से कत्थक डांस करते दिख जायेंगे | गुरुग्राम के बहुसितारा “मेदांता”अस्पताल की पार्किंग में भी पेटीएम के सिग्नल पाने के लिए कसरत करनी पड़ती है| इसीलिए जेटली जी!व्यापारियों को डिजिटलाइज्ड करने के लिए नेट के सिग्नल तो दिलवाओ

Paytm to Merge Its Wallet Business with Payments Bank

[New Delhi] Paytm to Merge Its Wallet Business with Payments Bank,Chinese Alibaba May not Hold Direct Shares
One97 Communications, the firm that owns Paytm, is restructuring its business ahead of the launch of its Payments Bank, merging the wallet business with payments bank operation.
Company claims increase of 35 mn online recharges after demonetisation
As per Paytm spokesperson.”It is transfer of business. Wallet business will move to payments bank while One97 will be managing the sales part for the wallet business. The transfer will be complete once payment bank licence is obtained,”
The company had incorporated Paytm E-commerce and Paytm Payments Bank as separate companies earlier this year.
Reserve Bank of India had awarded `in-principle’ approval to Vijay Shekhar Sharma, the founder of One97 Communications, to set up a Payments Bank.
Paytm Payments Bank is in the process of obtaining the final licence from the RBI and would commence its operations after obtaining due approvals, the spokesperson added.
Sharma will hold the majority share in the new Payments Bank entity, with the rest being held by One97 Communications.
Alibaba Group and its affiliate Ant Financial pumped in USD 680 million into Paytm’s parent One97 Communications last year, taking its total shareholding to over 40 per cent in the country’s largest mobile wallet operator Paytm with close to 160 million customers. However, the Chinese entity will not have a direct shareholding in the payments bank.
Paytm has not given a fresh timeline for the launch of its payment bank services, which was earlier slated to begin operations around Diwali.
Later, three entities — Tech Mahindra, Cholamandalam Investment and Finance Company and a consortium of Dilip Shanghvi, IDFC Bank and Telenor Financial Services — backed out of the payments bank licensing.
Last month, Airtel became the first payments bank to go live in the country when it rolled out a pilot of its banking services in Rajasthan.