Ad

Tag: NewSatire

देशद्रोह की परिभाषा तय करने के लिए केजरीवाल ने भी चुनावी मौसम पर ही नजरें गढ़ाई

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

आम आदमी पार्टी चेयर लीडर

औए झल्लेया! ये तो सरासर अलोकतांत्रिक है
देख तो! चुनावी फायदे के लिए कन्हैया कुमार के खिलाफ देश द्रोह की चार्जशीट दायर कर दी गई है |क्या ऐसे चुनाव जीते जाते है?

झल्ला

मेरे चतुर साहिब जी! आप भी तो देश द्रोह की परिभाषा तय करने के लिए चुनावी मौसम पर ही नजरें गढ़ाए हुए हो

‘लाल किताब’ को दफ़नाने के लिए “ममता” ने क्रूरता अपनाई

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

चिंतित बुद्धिजीवी

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है? अपने ही सोनार बंगाल में प्रदेश सरकार भ्र्ष्टाचारी अधिकारी को बचाने के लिए सडकों पर उत्तर आई है|औए ये लोक तंत्र के कथित रक्षक संवैधानिक संस्थाओं को तोड़ने पर तुले हुए हैं||बंगाल की सडकों को जाम करने के पश्चात टीएमसी के सांसदों ने लोक सभा और राज्य सभा कोभी स्थगित करवा दिया

झल्ला

सर जी ! बेशक बंगाल में फिलहाल लालरंग के पूजकों की सरकार नहीं है लेकिन बुद्धिजीविओं के प्रदेश में लाल रंग का महत्व अभी कम नहीं हुआ है| इसीलिए एक किताब जिसका रंग लाल बताया जा रहा है उसी को ही दफनाने के लिए मुख्य मंत्री ममता ने क्रूरता अपना ली है क्योंकि गरीबों का पैसा हड़पने वाली सारदा चिटफंड के करप्शन से जुडी किताब[लाल] खुल गई तो sabhi राज भी खुल जाएंगे और ममता के गरीबी हितकारी नारों की पोल खुल जाएगी |

मोदी भापे! बजट में जब हसाड़ा कुछ नहीं तो फिर हसानू कि ??????????

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया ये कांग्रेसियों ने क्या मखौल बनाया हुआ है? औए हसाड़े सोणे पीएम नरेंद्र भाई दामोदर दास मोदी ने इतना बढ़िया सर्व सुख हिताय बजट पेश किया और राष्ट्रीय कांग्रेसियों के तो समझ ही नहीं आ रहा|इनके सीएम भी इसे जुमला बजट बता कर अपनी नग्न विवेकहीनता का परिचय दे रहे हैं |

झल्ला

मेरे चतुर सेठ जी!
पुराने सयानों का अखांण है !हसाड़ा कि ? जब हसाड़ा कुछ नहीं तो
हसानू कि ??????????

हर हर गंगे+नहीं रहे गंदे+सभी हुए चँगे+डटे रहो नंगें

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई उत्तेजित चेयर लीडर

औए झल्लेया ! ये कांग्रेसी तो अब हसाड़े धर्म आस्था पर भी कुठाराघात करने लग गए |देख तो ये शशि थरूर ने क्या अपमानजनक ट्वीट कर दिया |
“गंगा भी स्वच्छ रखनी है
और पाप भी यहीं धोने हैं।
इस संगम में सब नंगे हैं!
जय गंगा मैया की!”

झल्ला

हर हर गंगे
नहीं रहे गंदे
सभी हुए चँगे
डटे रहो नंगें

मोदी भापे! न्यूनतम आय वाला पेपर आउट हो गया ,राहुल ने सॉल्व भी करा लिया

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चीयर लीडर

औए झल्लेया !ये राहुल गाँधी ने क्या नया जुमला छोड़ दिया ? औए राजस्थान+मध्य प्रदेश+छतीससगढ़ में किसानों का कर्जा तो माफ़ करा नहीं पाए अब सबको न्यूनतम आय की गारंटी दे रहे हैं |औए इस योजना के लिए एक लाख करोड़ रु आएंगे कहा से?

झल्ला

मेरे चतुर सेठ जी १ मैंने तो सुना है के आप लोग भी बजट में यश जुमला छोड़ने वाले थे | अबतो पेपर आउट हो गया | और राहुल गाँधी ने पासिंग मार्क्स वाला महत्वपूर्ण प्रश्न को सॉल्व भी करा लिया | अब ढूंढते रहो पेपर लीक गैंग+पेपर सॉल्वर गैंग नहीं तो बजट पेपर को दोबारा तैयार करवा लो

योगी जी! किसानों का लोटा -नमक होने से पहले ही तिजोरियों से रेवड़ियां बाहर निकाल लो

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया! मुबारकां!! औए हसाड़े कर्मठ मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने प्रदेश के गन्ना किसानों के बचे खुचे बकाये के भुगतान के भी आदेश जारी कर दिए हैं | औए हसाड़े उत्तर प्रदेश में ५० हजार करोड़ रु का भुगतान किया भी जा चुका है इसके बावजूद जो बचा रहा गया उसका भुगतान भी जल्द से जल्द हो जायेगा |मानता है ना के हमारे नेतागण सबके विकास के लिए सबके साथ हैं|

झल्ला

ओ मेरे चतुर सेठ जी !जब सामने वाला मुफ्त में शतप्रतिशत कर्ज माफ़ी का आश्वासन दे रहा हो तो आपकी ये घोषणाएं कहाँ ठहर पाएंगी? पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गन्ना व्यवसाय अधिकतर जाटों के हाथो में हैं और इसे पहले इनका भी लौटा नमक हो जाये मई २०१९ से पहले तिजोरियों से रेवड़ियां निकाल लो

इवीएम का मतलब कहीं विटामिन इलेक्शन एंड मनी तो नहीं

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

उत्तेजित भाजपाई

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है? कांग्रेसी आये दिन EVM को लेकर हो हल्ला मचाने लग जाते हैं ऐसा लगता है के २०१९ में इनका दावं उलटा इन्ही पढ़ ही पढ़ गया होगा तभी ये लोग बिलबिलाये फिर रहे हैं

झल्ला

ओ मेरे चतुर सेठ जी ! ये इ वी एम का मतलब कहीं विटामिन इलेक्शन और मनी तो नहीं ???तभी ए दिन इसे दोहने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है

कर्नाटक विसा अब जीतने वाला ही २०१९ में लोकसभा की २५ सीटों पर सिकंदर कहलायेगा

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कर्नाटकी वोटर

औए झल्लेया! ये क्या हो रहा है? औए हसाड़े कर्नाटक की सियासत में खरीद फरोख्त का नंगा नाच फिर शुरू हो गया| कांग्रेस और भाजपा अपने अपने विधायकों को ताले में बंद रख कर अपने आप को सुरक्षित तो बता रहा है लेकिन दूसरे पर उनके विधायक खरीदने के आरोप भी लगा रहे हैं|

झल्ला

भोले बादशाहो ! जो जीता वही लोक सभा की २५ सीटों पर २०१९ में सिकंदर कहलायेगा

केजरीवाल के दरबार में मौजजिम नमाज बख्शवाने आये और रोज़े गले पढ़ गए

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां
भाजपाई चेयर लीडर औए झल्लेया ! ये आपियों ने क्या षटराग फैला रखा है? आये दिन अपनी सुरक्षा को लेकर नया नया षड्यंत्र रचते रहते हैं| जूते से लेकर स्याही फिर मिर्ची और अब खाली कारतूस दिखा कर अरविन्द केजरीवाल की जान को खतरे में बताया जा रहा है |कोई इनसे पूछे के इन चीजों से कोई मारा जा सकता है क्या ?
झल्ला चतुर सेठ जी ! झल्ले विचारअनुसार करोलबाग की बावली वाली मस्जिद के मौजजिम मोहम्मद इमरान बेचारे केजरीवाल के जनता दरबार में अपनी नमाज बख्शवाने आये होंगे और ये रोज़े और गले डाल दिए गए |दान में मिली बुलेट को बिना पिस्टल को अपने पर्स में लिए दिनदहाड़े तनख्वाह बढ़वाने आये और इल्जाम लग गया केजरीवाल को मारने का
.

राहुल गाँधी शब में राजनितिक मयकशी और सुबह को तौबा करने में उलझे

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां
कांग्रेसी नेता औए झल्लेया ये क्या हो रहा है?औए इन भाजपाईयों के बाद अब चुनाव आयोग ने भी हसाड़े पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री सी पी जोशी जी को नोटिस जारी कर दिया है |माना उन्होंने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी =साध्वी ऋतुम्भरा +उमा भारती की जाति पूछ ली लेकिन हसाड़े सर्वोच्च नेता श्री राहुल गांधी के आदेश पर उन्होंने खेद भी प्रगट कर दिया इसके बावजूद मामले को लम्बा खींचा जा रहा है

झल्ला

मेरे चतुर सुजान जी| इस घटनाक्रम से मुझे पुराना शेर याद आ रहा है
शब् में मयकशी की और सुबह को तौबा करली
रिन्द के रिन्द रहे और जन्नत भी हाथ से ना गई