Ad

Tag: NewSatire

केजरीवाल के दरबार में मौजजिम नमाज बख्शवाने आये और रोज़े गले पढ़ गए

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां
भाजपाई चेयर लीडर औए झल्लेया ! ये आपियों ने क्या षटराग फैला रखा है? आये दिन अपनी सुरक्षा को लेकर नया नया षड्यंत्र रचते रहते हैं| जूते से लेकर स्याही फिर मिर्ची और अब खाली कारतूस दिखा कर अरविन्द केजरीवाल की जान को खतरे में बताया जा रहा है |कोई इनसे पूछे के इन चीजों से कोई मारा जा सकता है क्या ?
झल्ला चतुर सेठ जी ! झल्ले विचारअनुसार करोलबाग की बावली वाली मस्जिद के मौजजिम मोहम्मद इमरान बेचारे केजरीवाल के जनता दरबार में अपनी नमाज बख्शवाने आये होंगे और ये रोज़े और गले डाल दिए गए |दान में मिली बुलेट को बिना पिस्टल को अपने पर्स में लिए दिनदहाड़े तनख्वाह बढ़वाने आये और इल्जाम लग गया केजरीवाल को मारने का
.

राहुल गाँधी शब में राजनितिक मयकशी और सुबह को तौबा करने में उलझे

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां
कांग्रेसी नेता औए झल्लेया ये क्या हो रहा है?औए इन भाजपाईयों के बाद अब चुनाव आयोग ने भी हसाड़े पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री सी पी जोशी जी को नोटिस जारी कर दिया है |माना उन्होंने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी =साध्वी ऋतुम्भरा +उमा भारती की जाति पूछ ली लेकिन हसाड़े सर्वोच्च नेता श्री राहुल गांधी के आदेश पर उन्होंने खेद भी प्रगट कर दिया इसके बावजूद मामले को लम्बा खींचा जा रहा है

झल्ला

मेरे चतुर सुजान जी| इस घटनाक्रम से मुझे पुराना शेर याद आ रहा है
शब् में मयकशी की और सुबह को तौबा करली
रिन्द के रिन्द रहे और जन्नत भी हाथ से ना गई

सिद्धू के बरी होने के बाद पार्किंग के झगड़े में क़त्ल अब अपराध रहेगा ?

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां
एक कांग्रेसी औए झल्लेया ये हसाडी दिल्ली में अपराधों की बाढ़ आ गई लगती है
देख तो अब स्कूटर पार्किंग को लेकर मर्डर होने लग गए |औए १५ नवम्बर को सुल्तानपुरी में स्कूटर पार्किंग के लिए एक १९ वर्षीय निर्दोष युवा को मौत के घात उतार दिया गया|पुलिस अभी तक कातिलों को पकड़ भी नहीं पाई है
झल्ला ओ मेरे चतुर सुजान जी |सिद्धू के बरी होने के बाद पार्किंग के झगड़े में क़त्ल अब अपराध रहेगा ?
पार्किंग के झगड़े में क़त्ल अब अपराध नहीं रह गया |आपलोगों ने सुप्रीम कोर्ट से नवजोत सिंह सिद्धू को इस अपराध में बचवा कर यह पुण्य तो कमा ही लिया है

करतारपुर कॉरिडोर पर पकिस्तान+भारत चुप मगर कांग्रेसी ठोक रहे ताली

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है? औए हसाड़े लाफिंग जट्ट नवजोत सिंह सिद्धू ने पकिस्तान जाकर अपने मित्रता का हवाला देकर बाबा नानक की पवित्र कर्मस्थली करतारपुर साहब का मार्ग खुलवाने का इंतजाम कर दिया मगर ये भाजपाई सब गुड़गोबर किये दे रहे हैं | औए मुसलमानों को हज जाने के लिए दुनिया भर की सुविधाएं और हसाड़े सिखों को उनके मक्का करतारपुर साहब जाने के लिए एक कॉरिडोर भी नहीं |ये तो सरासर नाइंसाफी है|

झल्ला

औ मेरे चतुर सुजान! करतारपुर कॉरिडोर पर पकिस्तान+भारत चुप मगर कांग्रेसी ठोक रहे ताली
भाजपाइयों के अनुसार अभी तक पाकिस्तान की तरफ से करतारपुर कॉरिडोर खोलने के लिए कोई अधिकृत प्रस्ताव तो आया नहीं |यहाँ से कोई निवेदन गया नहीं इसके बावजूद आपलोग ठोकेजा रहे हो ताली पे ताली

माल्या का आरोप!जैटली का खंडन !! कांग्रेस में लट्ठम लट्ठ !!!

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कांग्रेसी चीयरलीडर

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है?शराब कारोबारी विजय माल्या ने लन्दन में पत्रकारों के सामने बता दिया है के पिछले साल भारत से भागने से पहले वोह[माल्या]वित्त मंत्री अरुण जैटली से मिले थे |औए इन भाजपाइयों ने ९००० करोड़ रु का फ्रॉड करने वाले माल्या को जान बूझ कर भगा दिया |अब इस विदेश मंत्री से इस्तीफा ले कर इन्क्वायरी करानी चाहिए

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजान !भगोड़े फ़्राडी माल्या ने आरोप लगाया |वित्त मंत्री ने तत्काल उसका खंडन कर दिया|इसके बावजूद आश्चर्यजनक रूप से आपलोगों ने लट्ठम लट्ठ शुरू कर दिया

कैप्टेन के चक्रव्यूह से निकले तो कांग्रेसियों की गालियां:एसऐडी बनाम कांग्रेस

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

पंजाबी कांग्रेसी चेयर लीडर

औए झल्लेया इन हारे हुए अकालियों ने क्या बखेड़ा खड़ा किया हुआ है |गुरु ग्रन्थ साहब की बेअदबी पर जब विधान सभा में बहस शुरू हुई तो जीजा साले समेत सारे के सारे अकाली भाग खड़े हुए और अब टकसाली नेताओं की शरण में जा पहुंचे हैंऔए ये लोग पैसे लेकर अपने टिकट बेचने के अलावा कुछ नहीं करते | प्रदेश हो या केंद्र के मंत्री पद ,सभी पर अपने परिवार को ही स्थापित कराते हैं
cartoon Congress Cheeyar Leader

झल्ला

मेरे चतुर सुजाना !जिस तरह से आपजिओन ने विधान सभा में अकालियों को घेरने के लिए गालियों और आरोपों की व्यूह रचना की थी उससे बच निकलने के लिए इनके लिए सदन की कार्यवाही अलग से करना जरुरी हो गई थी और उसमे सोने पे होगा लगाया PTCने अब आप लोग बौखला कर सडकों पर भी गालियां देने पर उतर आये

कांग्रेस राज में ही सरकारी स्टाफ की कटौती शुरू कर दी गई थी[व्यंग]

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

औए झल्लेया! इस सरकार में ये कया हो रहा है? युवाओं को नौकरियां नहीं मिल रही है और ये हुकुमरान अपने सीने का विकास दिखते फिर रहे हैं \औए आज तो हसाड़े पी चिदंरम साहिब ने भी लेख लिख कर इनके विकास की पोल खोल कर रख दी है

झल्ला

मेरे चतुर सुजान !ये तो सत्य है आजकल सरकारी नौकरियों का अकाल है और जो नौकरियां निकलती भी हैं उनके पेपर पहले ही लीक हो जाते हैं लेकिन झललेविचारअनुसार कांग्रेस की सरकार में ही सरकारी दफ्तरों से स्टाफ की कटौती शुरू कर दी गई थी |बढे ऑफिसर्स के बजट के लिए सेविंग एंड मैचिंग की योजना के अंतर्गत सी और डी कर्मियों की संख्या पर कैंची चलाई गई

सपा अब साइकिल के बजाय भगवान विष्णु के गरुड़ सवारी करेगी

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

सपाई चीयर लीडर

औए झल्लेया! ये भाजपाई तो ओनली षड्यंत्र रचने में ही माहिर हैं असली विकास तो हम कर रहे हैं|ध्यान से सुनो ,हसाड़े अखिलेश यादव जी ने फर्मा दिया है के उत्तर प्रदेश में भगवान विष्णु के नाम पर एक विशाल नगर विकसित किया जाएगा और अपने २००० एकड़ के बीहड़ में कम्बोडिया की तर्ज पर भव्य मंदिर बनाया जाएगा
Jamos cartoons

झल्ला

ो मेरे चतुर पहलवान जी ! आ गए ना मंदिर की शरण में |
दावा कर रहे हो विकास का लेकिन साइकिल छोड़ कर गरुड़ पर सवार होने के लिए बनवाओगे एक और मंदिर
अरे बाबा भगवान विष्णु भी तो अयोध्या वाले भगवान राम के ही अवतार हैं

पाकिस्तान में कांग्रेसी मणि से ज्यादा चमकने वाला सिद्धू आ गया

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

औए झल्लेया! देखा हो गया न दूध का दूध और पानी का पानी|औए हसाड़े राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी जी ने मणि शंकर अय्यर के ८ महीने के निलंबन को रद्द कर दिया है

झल्ला

मेरे चतुर सुजान! पाकिस्तान के आकाश में आपकी मणि से ज्यादा चमकने वाला सिद्धू आ गया है इसीलिए अब मणि की चमक फीकी ही रहेगी

यूपी और पंजाब में मेरी स्वयं की दो आरटीआई ऍप्लिकेशन्स बरसों से अटकी हुई

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया ! हसाड़े पी एम ऑफिस के मंत्री डॉ जीतेन्द्र सिंह जी ने भी फर्मा दिया हे के “सूचना का अधिकार” को खत्म करने या नियंत्रित करने को आ रही सभी आशंकाएं और भय पूर्णतया निराधार हैं| औए ऐसा पहली बार हुआ है| हमने तो केंद्रीय सूचना आयोग के सभी ११ रिक्त पदों को भरने का प्रयास किया है| इसी भावना के अंतर्गत 2000 के लगभग के अधिकांश सार्वजनिक प्राधिकरणों को सूचना का अधिकार अधिनियम के अधिकार क्षेत्र के तहत लाया गया है

झल्ला

ठीक है बाऊ जी! खुश होलो!! लेकिन मेरी दो आरटीआई ऍप्लिकेशन्स यूपी और पंजाब में बरसों से अटकी हुई हैं|अर्थार्त ना अपील न वकील और न ही कोई दलील |