Ad

Tag: Satire

पंजाब में भजपा को दुश्मन के दुश्मन (कैप्टेन) का मिलेगा साथ

                                                 झल्ली गल्लां

भाजपाई चेयरलीडर

ओए झल्लेया ये तो कमाल हो गया।पंजाब में हुण दो राष्ट्रीय दल मिल कर राष्ट्र विरोधी शक्तियों को हसाडे सोण पंजाब से बाहर निकाल फेकेंगे।ओए पटियाला के राष्ट्रवादी महाराजा कैप्टेन अमरिन्दर सिंह जी ने विश्व की सबतों वड्डी भजपा पार्टी नाल मिल के पंजाब में चुनाव लड़ने की संभावनाओं को हवा दे दी है।।ओये अब तोपंजाब में भी  हसाडी सरकार बने ही बने

झल्ला

ओ मेरे चतुर सेठ जी

कैप्टेन की कांग्रेस की आला कमानऔर पंजाब प्रदेश के विवादित अध्यक्ष  से नवी नवेली  नाराजगी जगजाहिर है।चूंकि  राजनीति में दुश्मन का दुश्मन दोस्त होता है इसीलिए भाग्य से  छींका टूट सकता है।पंजाब में भजपा को दुश्मन के दुश्मन (कैप्टेन) का मिलेगा साथ

सिद्धू के दिल मे चर्चिल की आत्मा का डेरा (व्यंग)

                                                      झल्लेदीगल्लां

पंजाबीचिंतक

ओए झल्लेया! ये लाफिंग जट्ट नवजोतसिंह सिद्धू को कौन से दिल/हृदय/हार्ट का वरदान मिला हुआ है।एक के बाद दूसरी असफलता मिलने के बावजूद पंजाब की राजनीति में मजबूती से खड़ा हुआ है।पहले बादलों से पंगा,फिर आप के केजरीवाल को ना फिर भजपा के मोदी को टाटा बाय बाय । कैप्टेन अमरिन्दर से अदावत फिर कांग्रेस से बगावत।ये सिलसिला कब खत्म होगा।

झल्ला

ओ भापा जी! सिद्धू के दिल मे ब्रिटेन के प्रधान मंत्री रहे विंस्टन चर्चिल की मजबूत  आत्मा ने डेरा डाल लिया होणा है।तभी विफलताओं में भी सफलता तलाशने में लगे हुए हैं।अरे भाई !चर्चिल ने भी कभी कहा था कि सफलता की परिभाषा है , एक विफलता से दूसरी विफलता इसीलिए अपने लक्ष्य की और लगातार अग्रसर सिद्धू को विफल कहना प्रतिभाओं का अपमान होगा।

कस्टोडियन जी! कृपया Evacuee प्रॉपर्टी की भी जांच कर लीजिए

                                                   झल्लीगल्लां

विभाजन विभीषिका पीड़ित

ओए झल्लेया! मोदी जी ने आज दिल खुश कर दिया ! कस्टोडियन विभाग को नींद से जगा दिया गया है। कस्टोडियन/अमानती ने अपने अधीन शत्रु सम्पत्ति की जांच शुरू कर दी है।ओए आज केंद्र सरकार के इस विभाग के अधिकारियों ने मेरठ  शहर और देहात में करोड़ों ₹ मूल्य की सम्पत्ति का निरीक्षण किया।अब जल्द ही देश भर में शत्रु सम्पत्ति को  एक लाख करोड़ में  नीलाम करके राष्ट्र हित के कार्य किये जायेंगे।

झल्ला

भापा जी! Evacuee प्रॉपर्टी की भी जांच जरूरी है

 भापा जी!! ठीक है लेकिन जो सम्पत्तियों को एलॉट करके पीड़ितों को कब्जे नही दिए गए उस सम्पत्ति  को ना तो शत्रु सम्पत्ति में डाला गया और ना ही evacuee प्रॉपर्टी में ही दर्ज किया गया ।इसकी जांच भी तो करवाओ

 

कैप्टेन ने कप्तानी ही छोड़ी है अभी सियासी तलवार नही टांगी (व्यंग)

                                                  झल्लीगल्लां

कांग्रेसीचेयरलीडर 

ओए झल्लेया! हसाडी हाईकमान ने हथेली पर सरसों उगा के दिखा दी।ओए बगावती तेवर दिखा रहे कैप्टेन अमरिन्दर सिंह के नीचे से मुख्यमंत्री की कुर्सी खींच ली।अब तो 2022 को होने जा रहे चुनांवों में लगने जा रहे अनहोनी के ग्रहण से मुक्ति मिल जानी है।नया चेहरा ! नया चुनाव !! नई जीत

झल्ला

चतुर सुजाणा!बेशक एआप लोगों ने नवजोत के लिए इस पुरानी जोत को बुझा दिया मगर ये याद रखना की  कैप्टेन ने 79 वर्ष में भी अभी तलवार दीवार पर टांगी नही है।चुनांवों में नवजोतसिंहसिधू के खिलाफ म्यान से बाहर निकल भी सकती है

आप लोग सिद्धू बनाम कैप्टेन की लड़ाई में कूदे हो तो यह जान लो कि कैप्टेन ने कप्तानी ही छोड़ी है अभी सियासी तलवार नही टांगी ।समझे ?? के नही समझे???

राष्ट्र नायक राजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय से कई सियासी लकीरें छोटी हुई

झल्लीगल्लां

जाटभजपाई

ओए झल्लेया !

इबलो तो घणा मज़्ज़ा आ गया।उरे म्हारे धाकड़ पीएम माननीय नरेंद्र भाई दामोदर दास मोदी जी ने म्हारे भुलाए जा चुके राष्ट्र नायक राजा महेंद्र प्रताप सिंह जी को सम्मान देते हुए राजा जी के नाम पर अलीगढ़ में राज्यविश्वविद्यालय का शिलान्यास कर दिया।म्हारा सीना और चौड़ा हो गया

झल्ला

चौधरी साहब!

आपके मोदी जी ने राष्ट्र नायक राजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय से कई सियासी लकीरें छोटी कर दी

(1)AMU में  पाकिस्तान के संस्थापक और विभाजनविभिषिका के अपराधी मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर की पूजा करने वालों को आईना दिखा दिया

(2)प्रदेश में आपलोगों की 6% आबादी, जिसमे अनेकों विधायक जिताने की क्षमता है ,को अपनी तरफ मौड़ लिया

(3)रालोद के अध्यक्ष जयंत चौधरी को जाट वोटबैंक में भागदौड़ में पछाड़ दिया

(4)अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का नाम बदले बगैर दूसरा नया विश्वविद्यालय खोल कर मुस्लिमो के दिल से भजपा का डर भी कम कर लिया

रक्षा बजट में 16000 करोड़ के उछाल से ₹1500000 की उम्मीद को भी पलीता लग ही गया

                                                    झल्लीगल्लां

भजपाईचेयरलीडर

ओए झल्लेया! मुबारकां !! ओए हसाडी सरकार बहुत जल्द अतिआधुनिक मिसाइल और हेलीकॉप्टर आदि खरीदने जा रही है।इसके लिए ₹ 16000 करोड़ खर्च करने को कमर कस ली गई है।ओये अब हसाडी रक्षा व्यवस्था ने चीन और पाकिस्तान के साथ ही तालिबानियों को नानी और दादी याद करा देणी है

झल्ला

चतुर सेठ जी!

अभी ₹ पांच लाख करोड़ की वसूली तो हुई नही कि उसमें छेद शुरू हो गए। आप लोगों के ये  तेवर देख कर लगता है कि ₹ 1500000 की उम्मीद को भी पलीता लग ही गया।

 

अफगान शरणार्थियों की सम्पत्ति का मुआवजा भी तालिबानी सरकार से वसूलो

                                                     झल्लीगल्ला

भारतीय गुरसिख

ओए झल्लेया!हिन्दू और सिखों को और कितने ज़ुल्म सहने होंगे!1947 में शुरू हुई पीड़ा का दर्द अभी भी हमे रुलाता है ।ऐसे में अब अफगानिस्तान से हसाडे लोगों का विस्थापन शुरू हो गया।ये तो भला हो भारत मे मोदी सरकार का जो ना केवल बचाव अभियान चलाए है बल्कि पीढ़ियों को शरण दे रही है और भारतीय नागरिकता भी देने के रास्ते साफ करती जा रही है।

झल्ला

अब समय आ गया है ।अब और विस्थापन रोकने को कमर कसनी ही होगी।इसके लिए

(1)पंजाब में होने जा रहे चुनांवों में सिख वोट बैंक और अंतराष्ट्रीय छवि मोह छोड़ कर शरणार्थी और घुंसपैठियो की  पहचान बारीकी से करनी होगी

(2)सीएए को तुरन्त लागू करना होगा

(3) पड़ोसी मुल्कों से भारत आ रहे शरणार्थियों की वहां छूट रही सम्पत्तियों का मुआवजा भीवसूलना होगा

(4)विस्थापितों को नागरिकता देने के साथ ही उन्हें बसाने के लिए तत्काल पर्याप्त ,सुरक्षित  यौजना बनानी होगी।

पँजांब के गन्ना किसान राज्य सरकार के असली दांत देख कर ही आंदोलन जारी रखें

अफगान शरणार्थी और घुसपैठियों की जांच परख में काईयाँपन दिखाना होगा

झल्लीगल्लां

चिंतित हिंदूवादी

ओएJhalla Cartoon झल्लेया! ये मोदी सरकार की मति मारी गई है जो अफगानिस्तान से शरणार्थियों को भारत के लिए e visa देने को  उदारता दिखा रहा है।देख तो  एनशिएन्ट Ancient राजा पोरस ने सिकन्दर के विरोधियों को  शरण दी और झेलम चिनाब की जंग हार बैठे। आधुनिक भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने दलाईलामा को शरण दी तो चीन का ड्रैगन आज तक फुंकार रहा है।अब अफगानिस्तान के तालिबान को भी उंगली करनी शुरू हो गई है।ये तो वोही बात हुई कि पैर पर कुल्हाड़ी नही लगी तो कुल्हाड़ी पर ही पैर दे मारो।

झल्ला

झल्लाओ भापा जी! खातिर जमीत रखो! शरणागत को शरण देने की परिपाटी का तो  आपने स्वयम बखूबी  बखान कर ही दिया ।वैसे एआप जी की चिंतावामिब है जिसके निराकरण के लिए भारत सरकार को शरणार्थी और  उनके भेष में घुसपैठियों की जांच परख में उदारता के बजायकाईयाँपन दिखाना होगा।

उन्हें एक स्थल पर ही पर्याप्त सुरक्षाघेरे में रख कर मूवमेंट पर सक्षम लगाम लगानी होगी।वरना तो समझो गई भैंस पानी में

अफगान शरणार्थी और घुसपैठियों की जांच परख में काईयाँपन दिखाना होगा
Read more

रजिस्ट्रेशन प्लेट आई नही,फ्री की सर्विस से फ्री करो (व्यंग)

(#व्यंग) महान मुल्क भारत में बेशक 80 करोड़ लोग मुफ्त के सरकारी राशन को मोहताज़ है लेकिन अच्छी कंडीशन की महज महीने में 20 किलोमीटर चलने वाली पेंशनर की स्कूटी महज 15 वर्ष पुरानी होने पर वाहनकमेले में भिजवा कर हुकूमतें विकासविकास का गान कर गौरान्वित होती है।

व्यंग

व्यंग

अब हमारी स्कूटी किसी आंदोलनरत किसान  के ट्रेक्टर सरीखा तो है नही सो अभयदान का पात्र नही है।इसी अपमानजनक तमगे से निजात दिलाने को श्रीमती जी ने 83 हजार ₹ की नई स्कूटी का वरदान दे दिया।अब चुनांचे नोटबन्दी के पश्चात सब कुछ चल रहा है सो डेबिट कार्ड से भुगतान करने पर 1 %अतिरिक्त का भुगतान लाजमी है।

नए का पूरा सम्मान है।सो कुर्सी और दीवान के मध्य स्थान है।पेट्रोल 100 के पार है सो हौंसले की दरकार है

ईमानदार शासन और प्रशासन को भी सलाम है इसीलिए एक माह से रजिस्ट्रेशन नंबर और प्लेट का धैर्य से इन्तेजार है।वाहन कंपनी की पिल रही है इसीलिए या तो रजिस्ट्रेशन के बगैर वाहन चलाओ और चलान कटवाओ ।और  तो और 15 दिन में गाड़ी चलाओ या ना चलाओ शुरू की फ्री सर्विस से फ्री होना लाजमी है

Vikas

Vikas

जहां तक विकास की बात है तो वाकई में विकास के दावों कोझुटलाया नही जा सकता।मैंने जब सरकारी नॉकरी शुरू की टाओ दूसरी तनख्वाह पर ही एक  साईकल (बिना घण्टी+लाइट) ले पाया था, सुपरनुअशन तक महज साईकल से लूना,स्कूटर,स्कूटी तक ही पहुंच पाया। ।पिछले  दिनों उसी (जो कभी अपना था)विभाग की रिहायशी कॉलोनी में जाने का अवसर मिला तो देखा कि जितने फ्लैट्स हैं उनके सामने उससे ज्यादा चौपहिया खड़े हैं।