Ad

Tag: Satire

सुप्रीम कोर्ट की तरफ ट्रेक्टर मुड़ गए तो भैंस तो पानी मे जाए ही जाए

#पीड़ितनागरिक
ओए झल्लेया!ये किसानों के नाम पर दिल्ली को क्या गधीघेड़ में डाल रखा है।ओए इनके नेता गुरनाम सिंह चढूनी और शिव कुमार कक्का के उजागर होते आपसी स्वार्थों की तरफ से ध्यान बांटने के लिए 26 जनवरी को दिल्ली में ट्रेक्टरमार्च निकालने की धमकी दी जा रही है और सर्वोच्च न्यायालय इसे रोकने के बजाय याचकों को दिल्ली पुलिस के पास भेज रही हैवोही दिल्ली पुलिस को आंदोलनकारियों को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन तक नही करा पाई।
#झल्ला
भापा जी!अभी तो निशाना रिपब्लिकडे परेड है अगर खुदा नाखास्ता कल को किसी ने उंगली करके सुप्रीम कोर्ट की तरफ ट्रेक्टर मौड़ दिए तो भैंस तो पानी मे जाए ही जाए

रामभक्त दान संग समस्याएं भी एकत्रित करें ,दानकर्ता पीड़ित को पुण्य मिले तुरन्त

#रामभक्त
ओए झल्लेया! जय श्री राम!
ओए राष्ट्रीय राम मन्दिर निर्माण के लिए भारतीयों ने खुले मन से चंदा/दान देना शुरू कर दिया है। अब तो पहले से ज्यादा धन एकत्रित होगा और मंदिर भव्य बनेगा
श्रीराम इन सबका कल्याण करें।इन्हें स्वर्ग में स्थान दें ।
#झल्ला
भापा जी!
चंदे/दान के साथ ही आम जन की शिकायतें+जरूरतें+समस्यायों को भी एकत्रित किया जाना चाहिए ताकि धन श्री राम के चरणों मे और समस्याएं मोदीसरकार की डेस्क पर पहुंचे और समस्याओं का तुरन्त निबटारा हो सके ।झल्लेविचारानुसार अगला जन्म किसने देखा है । पुण्य मिलना चाहिए तुरन्त

देश को लूट खाने वाले अब (सत्तारूढ़)बाड़ को ही (वैक्सीन)खेत खाने का उपदेश दे रहे हैं

#उत्तेजितभजपाई
ओए झल्लेया ! ये विपक्ष ने क्या भसुडी डाल रखी है।पहले कहते थे कि कोरोना वैक्सीन सुरक्षित नही है ।विश्व मे सबसे वड्डी हसाडी पार्टी की निष्ठा पर यकीन नही हैं। और अब कह रहे हैं कि पहले भजपा के मंत्रियों को यह वैक्सीन लगवानी चाहिए।ओये देश को लूट खाने वाले अब बाड़ को ही खेत खाने का उपदेश दे रहे हैं
#झल्ला
चतुर सेठ जी!
अगर भजपाइयों ने पहले टीका लगवाना शुरू किया तो इन्होंने ही तुरन्त कहना है कि लोजी सेवक ही मलाई
चाटने लगे
सोर्स लिंक
http://www.ptinews.com-www.ptinews.com/news/12113865_PM-Modi-should-get-himself-vaccinated-first–Ambedkar.html

3 महीने पहले ही तो मुल्क को बर्डफ्लू मुक्त घोषित किया था

#भाजपाईचेयरलीडर
ओए झल्लेया!हसाडी सरकार हर मुसीबत भरे मोर्चे पर मुस्तैद जूझ रही है।#कॉरोनानुसरों को परास्त करने के लिए जहां दो वैक्सीन ईजाद कर ली वही अब पांच राज्यों में नई मुसीबत #बर्डफ्लू को भी बहादुरी से झेल रहे है लेकिन हमने इससे निबटने के लिए दिल्ली में कंट्रोल रूम बना लिया है।पॉल्ट्री उत्पादों को लाने लेजाने पर तत्काल पाबन्दी लगा दी है।वाहनों को बॉर्डर पर सेनिटाइज़ किया जा रहा है।
#झल्ला
ओ मेरे चतुर सेठ जी!
आप जी की इसी सरकार ने महज तीन माह पूर्व ही मुल्क को बर्डफ्लू से मुक्त घोषित किया था ।अब जान छुड़ाने के लिए प्रवासी पक्षियों को दोषी बताया जा रहा है।अरे भाई प्रवासी पक्षियों से देसी कौवों+पॉल्ट्रीफॉर्म उत्पादों पर संक्रमण कुछ समझ से परे है।अगर आप की बात मान भी ली जाए तो प्रवासियों का परीक्षण की व्यवस्था क्यूँ नही हुई।वैसे तीन माह पूर्व बनी छत मुरादनगर के श्मशान में गिर चुकी है
सोर्स लिंक
https://www.pib.gov.in/PressReleseDetailm.aspx?PRID=1686587

संसद भवन में नए विचारों वाले परोपकारी सांसद भी तो चाहिए ,वरना तो तो तो

#भजपाईचेयरलीडर
ओए झल्लेया!मुबारकां!! ओए उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को बहुमत से फैसला सुनाते हुए सेंट्रल विस्टा परियोजना की खातिर पर्यावरण मंजूरी और भूमि उपयोग में बदलाव की अधिसूचना को बरकरार रखा है अब तो नए संसद भवन का निर्माण कोई माई का लाल भी रोक नही सकेगा ।
इस सेंट्रल विस्टा परियोजना की घोषणा सितंबर 2019 में की गई थी। त्रिकोण के आकार वाले नए संसद भवन में 900 से 1,200 सांसदों के बैठने की व्यवस्था होगी। इसका निर्माण अगस्त 2022 तक पूरा होना है। उसी वर्ष भारत 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाएगा। ओए इसमे 1000 करोड़ ₹ की बचत भी होगी
#झल्ला
चतुर सेठ जी!नए संसद भवन में नए विचारों वाले परोपकारी सांसद भी तो आने चाहिए वरना तो कहा जायेगा
अपना नाम कमाए खातिर,खज़ाना दिया लुटाए
सांसद कोई आवे नही,जो आवे भिड़ भिड़ जाए

पेड़ के नीचे बैठे बैठे ही कांग्रेस को कपिलदेव जैसे भ्र्ष्टाचार के मुद्दे मिलने शुरू हो रहे हैं

#अवसरतलाशताकांग्रेसी
ओए झल्लेया!
देखा इन भाजपाईयों की परतें खुलने लग गई।ओए सन्तरी तो सन्तरी इनके मंत्री भी सीएम और पीएम तक को बेच के खा रहे हैं
यूपी के राज्यमंत्री #कपिलदेवअग्रवाल के परिवार ने #इनब्लॉक मोबाइल कम्पनी से सांठगांठ करके विज्ञापनों में सीएम और पीएम की फोटुएं लगा कर मोबाइल बेच डाले।और अब कहलवा रहे हैं कि इस पहले कथित देसी स्मार्टफोन से उनका कोई सरोकार नही है
#झल्ला
पेड़ के नीचे बैठे बैठे ही कांग्रेस को कपिलदेव जैसे भ्र्ष्टाचार के मुद्दे मिलने शुरू हो रहे हैं
पेड़ के नीचे बैठे रहों ।ऐसे मुद्दे गिरने शुरू हो रहे हैं
चतुर सुजाण जी! वाकई अब मुल्क में दूध देने वाले नही बल्कि खून चूसने वाले नेताओं की भरमार हैं

पंजाब सरकार ने पडौसार्थ गड्डा खोदा तो खुद के लिए जीएसटी की खाई तैयार कर ली

#पीड़ितनागरिक
ओए झल्लेया ये क्या हो रहा है?32 दिन से आंदोलन के नाम पर #किसानों ने पँजांब में 1400 मोबाइल टावर्स के कनेक्शन काट दिए।#हरियाणा का #टोल फ्री करवा रहे हैं ओए इस नुकसान की भरपाई के लिए सरकारों ने हम पर और टैक्स लाद देने हैं
#झल्ला
भापा जी !पँजांब सरकार ने हरियाणा और केंद्र सरकार के लिए गड्डा खोदा और किसानों को उनकी तरफ डाइवर्ट कर दिया ।अब खुद पँजांब के लिए भी खाई खुद रही हैं।मोबाइल और टोल से प्राप्त होने वाला #जीएसटी भी घटेगा सो उसमें राज्य का हिस्सा भी तो घटेगा

फ़ास्टटैग से तो प्लाज़ाओं पर टोल फ्री करवाने का हथियार हाथ से निकल गया।

#भाजपाईचेयरलीडर
ओए झल्लेया!मुबारकां!!
ओये हुण टोलप्लाजाओं पर वाहनों का जमावड़ा झेलना नही पड़ेगा।नए साल की पहली तारीख से वाहनों पर #फास्टटैग स्टिकर लाजमी हो जाएगा।इससे वाहन वेरोकटोक आ जा सकेंगे।
#झल्ला
चतुर सुज़ान जी
फ़ास्टटैग से तो प्लाज़ाओं पर टोल फ्री करवाने का हथियार हाथ से निकल गया।
ये तो वक्त पढ़ने पर विपक्ष और आन्दोलरत किसानों पर एक और कुठाराघात है। प्लाज़ा से निकलने वाले वाहनों से ऑनलाइन वसूली ऑटोमैटिक हो जाएगी।रब्बा!अब सरकार का विरोध करने के लिए टोल फ्री करवाने का हथियार हाथ से निकल गया।

बेदी लेफ्टी क्रिकेटर हैं और मौजूदा केंद्र सरकार लेफ्टिस्ट मूवमेंट से त्रस्त हैं

#क्रिकेटर
ओए झल्लेया! क्रिकेट के नाम पर दिल्ली में ये क्या जुल्म कमाया जा रहा है!!
ओए हसाडे सीनियर क्रिकेटरों को छोड़ कर स्वर्ग सिधार चुके राजनीतिक #अरुणजेटेली जी का 6 फुटा स्टेचू #फिरोज़शाहकोटला में लगाया जा रहा है बेशक जेटली जी ने 14 साल तक डीडीसीए की अध्यक्षता की लेकिन वर्ल्ड प्रसिद्ध हसाडे लेफ्टी #बिशनसिंहबेदी और हरफनमौला #मोहिंदरअमरनाथ को ओनली स्टैंड पर नाम लिख ही टरका दिया ।अब बेदी जी ने भी अपना नाम हटवाने को कह दिया है
#झल्ला बेदी लेफ्टी क्रिकेटर हैं और मौजूदा केंद्र सरकार लेफ्टिस्ट मूवमेंट से त्रस्त हैं
हक है! हक है!! हक है!!! प्रतिष्ठित खिलाड़ियो को स्टेडियमों में अपने पुतले लगवाने का हक है
लेकिन झल्लेविचारानुसार बेदी भापा लेफ्टी है और मौजूदा केंद्र सरकार वामपंथियों/ लेफ्टिस्ट्स से त्रस्त है ऐसे में आप खुद ही सोच सकते हो कि क्यूँ बेदी साहब को अलग थलग किया गया होगा

शीर्ष अदालत ने फाइलें दबाने वालों पर ओनली नाराजगी व्यक्त करके ही इतिश्री कर ली

IMG-20201016-WA0018#1947कापीडित
ओए झल्लेया! अब तो #सुप्रीमकोर्ट ने भी फाइलें दबा कर रखने वाले अधिकारियों को लताड़ दिया ।ओए ये करप्शन का दाग कब मिटेगा?कब हमे न्याय मिलेगा??
#झल्ला
भापा जी !शीर्ष अदालत ने फाइलें दबाने वालों पर ओनली नाराजगी व्यक्त करके ही इतिश्री कर ली
आप जी की ये पीड़ा जायज़ है।लेकिन शीर्ष अदालत ने भी इन भृष्टाचारियों पर ओनली नाराजगी व्यक्त करके इतिश्री कर ली।काश विभागों/मंत्रालयों/राज्यों से ब्यौरा मांग कर न्याय का पहिया आगे खिसका दिया होता