Ad

Tag: Today Satire

रामभक्त दान संग समस्याएं भी एकत्रित करें ,दानकर्ता पीड़ित को पुण्य मिले तुरन्त

#रामभक्त
ओए झल्लेया! जय श्री राम!
ओए राष्ट्रीय राम मन्दिर निर्माण के लिए भारतीयों ने खुले मन से चंदा/दान देना शुरू कर दिया है। अब तो पहले से ज्यादा धन एकत्रित होगा और मंदिर भव्य बनेगा
श्रीराम इन सबका कल्याण करें।इन्हें स्वर्ग में स्थान दें ।
#झल्ला
भापा जी!
चंदे/दान के साथ ही आम जन की शिकायतें+जरूरतें+समस्यायों को भी एकत्रित किया जाना चाहिए ताकि धन श्री राम के चरणों मे और समस्याएं मोदीसरकार की डेस्क पर पहुंचे और समस्याओं का तुरन्त निबटारा हो सके ।झल्लेविचारानुसार अगला जन्म किसने देखा है । पुण्य मिलना चाहिए तुरन्त

कोरोना योद्धाओं का स्वैछिक टीकाकरण;अवसादी विपक्ष करे उई उई

#उत्साहितभजपाई
ओए झल्लेया! ये मुल्क में कैसी उल्टी हवा बहाई जा रही है। हसाडे कर्मठ प्रधानमंत्री नरेंद्रमोदी और समर्पित स्वास्थ्यमंत्री डॉ हर्षवर्धन जी के अथक मार्गदर्शन और प्रोत्साहन से विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान सफलतापूर्वक प्रारम्भ हो गया। फ्रंट लाइनर कोरोना योद्धा स्वेच्छा से संजीवनी रूपी वैक्सीन लगवा कर टीकोत्सव मना रहे है लेकिन ये विपक्ष वाले ख़्वाहमखा उई उई किये जा रहे हैं।
#झल्ला
सेठ जी! ये बेचारे मानसिक दबाब से अवसाद की स्थिति में आ पहुंचे हैं इसीलिए इन बेचारों से घृहणा नही वरनइनके प्रति सहानुभूति दिखाएं

देश को लूट खाने वाले अब (सत्तारूढ़)बाड़ को ही (वैक्सीन)खेत खाने का उपदेश दे रहे हैं

#उत्तेजितभजपाई
ओए झल्लेया ! ये विपक्ष ने क्या भसुडी डाल रखी है।पहले कहते थे कि कोरोना वैक्सीन सुरक्षित नही है ।विश्व मे सबसे वड्डी हसाडी पार्टी की निष्ठा पर यकीन नही हैं। और अब कह रहे हैं कि पहले भजपा के मंत्रियों को यह वैक्सीन लगवानी चाहिए।ओये देश को लूट खाने वाले अब बाड़ को ही खेत खाने का उपदेश दे रहे हैं
#झल्ला
चतुर सेठ जी!
अगर भजपाइयों ने पहले टीका लगवाना शुरू किया तो इन्होंने ही तुरन्त कहना है कि लोजी सेवक ही मलाई
चाटने लगे
सोर्स लिंक
http://www.ptinews.com-www.ptinews.com/news/12113865_PM-Modi-should-get-himself-vaccinated-first–Ambedkar.html

राममंदिर के लिए धनसंग्रह और संग्रहकर्ताओं का सेनिटाइज़ेशन जरूरी है

#मनमयूरनचाताभाजपाई
ओए झल्लेया! मुबारकां!!ओए ये विपक्षी राममंदिर निर्माण की तारीख को लेकर रामभक्तों को चिढ़ाते थे ।अब वोह ध्याड़ा आ गया है ।ओए 39 दिनों में भव्य राम मंदिर बन कर तैयार हो जाएगा। राष्ट्र के इस गौरव के लिए गौरवशाली राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद जी ने पांच लाख एक सौ ₹ का चेक देकर धनसंग्रह की शुरुआत करवा दी है
#झल्ला
चतुर सुजाण जी!राम नाम की लूट है सो आपके दागी छुटभैय्ये भी धनसंग्रह टोलियों में शामिल करा लिए गए है। झल्लेविचारानुसार धनसंग्रह और संग्रहकर्ताओं का सेनिटाइज़ेशन बहुत जरूरी है क्योंकि दूषित धन और दूषित धन संग्रहकर्ताओं से धार्मिक उद्देश्य पर सदैव प्रश्नचिन्ह लगा करते है

अखिलेश्यादव को कुल्हाड़ी (वैक्सीन)पर ख़्वाहमखा पैर मारने की मजबूरी होगी

#उत्तेजितभाजपाई
ओए झल्लेया! ये विपक्षियों को कौन सी कम्पनी का कीड़ा काट गया।देख तो #अखिलेश्यादाव जैसे युवा पढ़े लिखे भी देशी कोरोना #वैक्सीन के ही खिलाफ बोलने लगे गए।
#झल्ला
चतुर सेठ जी!अखिलेश्यादव को कुल्हाड़ी (वैक्सीन)पर ख़्वाहमखा पैर मारने की मजबूरी होगी
कोई बात नही।किसी किसी को कम्पनियों के मोह में नई कुल्हाड़ी पर ही बेफालतू में पैर मारने की मजबूरी होती है

संघी भाई!आपजीकी सरकार भी तो लुटे हुए हिंदुओं को उनका हक नही दे रही

#उत्साहितसंघी
ओए झल्लेया! ये विपक्ष वाले बेफालतू में ही हिंदुओं को गालियां निकालते रहते हैं जबकि देशभक्ति तो हम हिंदुओं का बुनियादी चरित्र है।
#झल्ला
भापाजी! ठंड में तो ठंड रखो ठंड ।संघी भाई!आपजीकी सरकार भी तो लुटे हुए हिंदुओं को उनका हक नही दे रही
1947 में 10 लाख हिंदुओं ने अपना धर्म बचाने के लिए भारत को चुना ,इसके लिए उन्होंने अपने जानोमाल की बेशकीमती कुर्बानियां दी लेकिन कथित हिन्दू हुक्मरानों ने इन पीड़ितों के हक के #कंपनसेशन/#रिहैबिलिटेशन क्लेम तक लूट लिए।और अब आपजी की सरकार भी कह रही है कि हुआ तो हुआ

पेड़ के नीचे बैठे बैठे ही कांग्रेस को कपिलदेव जैसे भ्र्ष्टाचार के मुद्दे मिलने शुरू हो रहे हैं

#अवसरतलाशताकांग्रेसी
ओए झल्लेया!
देखा इन भाजपाईयों की परतें खुलने लग गई।ओए सन्तरी तो सन्तरी इनके मंत्री भी सीएम और पीएम तक को बेच के खा रहे हैं
यूपी के राज्यमंत्री #कपिलदेवअग्रवाल के परिवार ने #इनब्लॉक मोबाइल कम्पनी से सांठगांठ करके विज्ञापनों में सीएम और पीएम की फोटुएं लगा कर मोबाइल बेच डाले।और अब कहलवा रहे हैं कि इस पहले कथित देसी स्मार्टफोन से उनका कोई सरोकार नही है
#झल्ला
पेड़ के नीचे बैठे बैठे ही कांग्रेस को कपिलदेव जैसे भ्र्ष्टाचार के मुद्दे मिलने शुरू हो रहे हैं
पेड़ के नीचे बैठे रहों ।ऐसे मुद्दे गिरने शुरू हो रहे हैं
चतुर सुजाण जी! वाकई अब मुल्क में दूध देने वाले नही बल्कि खून चूसने वाले नेताओं की भरमार हैं

पंजाब सरकार ने पडौसार्थ गड्डा खोदा तो खुद के लिए जीएसटी की खाई तैयार कर ली

#पीड़ितनागरिक
ओए झल्लेया ये क्या हो रहा है?32 दिन से आंदोलन के नाम पर #किसानों ने पँजांब में 1400 मोबाइल टावर्स के कनेक्शन काट दिए।#हरियाणा का #टोल फ्री करवा रहे हैं ओए इस नुकसान की भरपाई के लिए सरकारों ने हम पर और टैक्स लाद देने हैं
#झल्ला
भापा जी !पँजांब सरकार ने हरियाणा और केंद्र सरकार के लिए गड्डा खोदा और किसानों को उनकी तरफ डाइवर्ट कर दिया ।अब खुद पँजांब के लिए भी खाई खुद रही हैं।मोबाइल और टोल से प्राप्त होने वाला #जीएसटी भी घटेगा सो उसमें राज्य का हिस्सा भी तो घटेगा

फ़ास्टटैग से तो प्लाज़ाओं पर टोल फ्री करवाने का हथियार हाथ से निकल गया।

#भाजपाईचेयरलीडर
ओए झल्लेया!मुबारकां!!
ओये हुण टोलप्लाजाओं पर वाहनों का जमावड़ा झेलना नही पड़ेगा।नए साल की पहली तारीख से वाहनों पर #फास्टटैग स्टिकर लाजमी हो जाएगा।इससे वाहन वेरोकटोक आ जा सकेंगे।
#झल्ला
चतुर सुज़ान जी
फ़ास्टटैग से तो प्लाज़ाओं पर टोल फ्री करवाने का हथियार हाथ से निकल गया।
ये तो वक्त पढ़ने पर विपक्ष और आन्दोलरत किसानों पर एक और कुठाराघात है। प्लाज़ा से निकलने वाले वाहनों से ऑनलाइन वसूली ऑटोमैटिक हो जाएगी।रब्बा!अब सरकार का विरोध करने के लिए टोल फ्री करवाने का हथियार हाथ से निकल गया।

बेदी लेफ्टी क्रिकेटर हैं और मौजूदा केंद्र सरकार लेफ्टिस्ट मूवमेंट से त्रस्त हैं

#क्रिकेटर
ओए झल्लेया! क्रिकेट के नाम पर दिल्ली में ये क्या जुल्म कमाया जा रहा है!!
ओए हसाडे सीनियर क्रिकेटरों को छोड़ कर स्वर्ग सिधार चुके राजनीतिक #अरुणजेटेली जी का 6 फुटा स्टेचू #फिरोज़शाहकोटला में लगाया जा रहा है बेशक जेटली जी ने 14 साल तक डीडीसीए की अध्यक्षता की लेकिन वर्ल्ड प्रसिद्ध हसाडे लेफ्टी #बिशनसिंहबेदी और हरफनमौला #मोहिंदरअमरनाथ को ओनली स्टैंड पर नाम लिख ही टरका दिया ।अब बेदी जी ने भी अपना नाम हटवाने को कह दिया है
#झल्ला बेदी लेफ्टी क्रिकेटर हैं और मौजूदा केंद्र सरकार लेफ्टिस्ट मूवमेंट से त्रस्त हैं
हक है! हक है!! हक है!!! प्रतिष्ठित खिलाड़ियो को स्टेडियमों में अपने पुतले लगवाने का हक है
लेकिन झल्लेविचारानुसार बेदी भापा लेफ्टी है और मौजूदा केंद्र सरकार वामपंथियों/ लेफ्टिस्ट्स से त्रस्त है ऐसे में आप खुद ही सोच सकते हो कि क्यूँ बेदी साहब को अलग थलग किया गया होगा