Ad

Tag: IndianSatire

पंजाब के सियासी हमाम में सबकी नंगई निकल ही आई :व्यंग

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भारतीय चिंतक

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है? जलियांवाला बाग नरसंहार के शताब्दी वर्ष पर एक तरफ लंदन के ‘हाऊस ऑफ लार्ड्स’ परिसर में ब्रिटिश सरकार से इस घटना के लिए आधिकारिक रूप से माफी मांगने की मांग की गई तो दूसरी तरफ भारत में पंजाब के सी एम कैप्टेन अमरिंदर सिंह और केंद्र में मंत्री हरसिमरत को बादल एक दूसरे के पुरखों की कब्रें खोदने में लगे हुए हैं|
यारा! 13 अप्रैल 1919 को बैशाखी के दिन अमृतसर के जलियांवाला बाग में हुए नरसंहार से पूरा विश्व आज भी स्तब्ध है । ब्रिटिश इंडियन आर्मी के सैनिकों ने जनरल डायर की कमान के तहत निहत्थी भीड़ पर गोलियां चलाई थी और ये हुकुमरान एक दूसरे पर ही गोलियां चला रहे हैं

झल्ला

भापा जी!ये सियासी हमाम हैं यहां सबकी नंगई निकल आती है

एयर एशिया के भारतीय आकाश में आने से इंडिगो+ स्पाइस जेट आदि के सस्ती एयर लाइन होने के ढोल की पोल खुल जानी है

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

चीटेड हवाई यात्री

ओये झल्लेया मुबारकां ओये भारतीय आकाश पर कब्ज़ा करने के इंडिगो जैसी कथित सस्ती एयर लाइन्स[FIA] और भाजपाई सुब्रामणियम स्वामी के मंसूबों पर पानी फिर गया ओये सिविल एविएशन रेगुलेटर [DGCA] ने शायद पहली बार किसी एस एल पी पर इतना जल्दी निर्णय दिया है ओये अब तो टाटा के साथ एयर एशिया जैसी वास्तविक [GENUINE]सस्ती एयर लाइन्स को उड़ान[ AOP] भरने की आज्ञा मिल ही जायेगी

झल्ला

भापा जी अभी तक भारतीय आकाश पर इंडिगो+स्पाइस जेट +
का ही कब्ज़ा था इसीलिए ये मन मर्जी से स्टाफ +यात्रियों की सुविधाओं को काटते हुए सस्ती एयर लाइन्स होने का ढोल पीटते आ रहे हैंऐसे में अगर कोई जेन्युइन सस्ती एयर एशिया सरीखी एयर लाइन्स आ गई तो इंडिगो आदि के ढोल की पोल खुल जानी हैं इसके साथ ही लुभाव में ३० मिलियन $ भी तो आ जायेंगे|