Ad

Tag: PoliticalSatire

कांग्रेस और भाजपा ने फिर से जनता को पीसना शुरू कर देणा है

#चिंतितआमआदमी
ओए झल्लेया! ये क्या हो रहा है? #सीडब्लूसी की मीटिंग में मुल्क कीबागडोर के दावेदार कांग्रेस तो #नकलीकिताबों के व्यापार में सत्तारूढ़ भजपा के काले चिठ्ठे सामने आ रहे है।दोनों वड्डे दलों के नेताओं ने अपनी अपनी पार्टी के नेताओं के कपड़े फाड़ने शुरू कर दिए ।अब मुल्क का क्या होगा?
#झल्ला होणा क्या है जी।दोनों दलों ने यथास्थिति बनाये रखने के लिए हाथ मिला लेणें है।इन पाटों ने फिर से जनता को पीसना शुरू कर देणा है

स्मार्टमीटरों से स्मार्ट पॉलिटिशियन्स का स्मार्ट गेम

#सरकारीपिछलग्गू
ओए झल्लेया! ये क्या मख़ौल बणा रख्या है?
ओए #स्मार्टमीटरों के कंट्रोल में माड़ी मोटी तकनीकी खराबी के चलते कुछ लोगों को कुछ समय के लिए बिजली नही मिल पाई तो ढेरों हंगामे हो रहे हैं।अरे कान्हा की मर्जी के आगे किसका बस चला है ?
#झल्ला
अरे मेरे भोले चतुर सुजान! असल गल ये है के जब लखनऊ से ही घरों में लगे जीनियस #स्मार्टमीटर कंट्रोल हो रहे हैं तो फिर वहीं से ही #लोडजंपिंग+#लाइनलॉस+#बिजली की खपत भी तो कंट्रोल हो रही होगी तभी तो इस महीने भी ₹7.21 की दर से भुगतान करना पड़ा है जिसकी ना अपील+ना वकील+ना ही कोई दलील

मोदी गंगा गए तो गंगाराम,जमुना गए तो जमुनादास बनने में माहिर

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया! देखि हसाड़े मोदी जी की लीडरशिप ?औए बेशक केरल से हमारी पार्टी को सासंद नहीं मिले लेकिन प्रधान मंत्री नरेंद्र भाई दामोदर दास मोदी ने केरलवासियों का भी दिल जीत लिया |औए मोदी जी ने केरल के गुरुवायुर में कहा, वाराणसी जितना ही मुझे केरल प्रिय है

झल्ला

मेरे चतुर सेठ जी! मोदी गंगा गए तो गंगाराम,जमुना गए तो जमुनादास बनने में माहिर हैं
राजनीति का पहला उसूल है के गंगा जाओ तो गंगाराम और जमुना जाओ तो जमुनादास का चोला औडना ही पढता है

केजरीवाल आजकल :दया: का पात्र बनकर सियासी लुभाव लूटने में लगे

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कांग्रेसी चिंतक

औए झल्लेया ये केजरीवाल को कौन सा कीड़ा काट गया है ?हमारे बार बार मन करने के बावजूद चुनावी समझौते के लिए हसाडी चौखट चूमने आ जाते हैं

झल्ला

माननीय केजरीवाल आजकल :दया: का पात्र बनकर सियासी लुभाव लूटने में लगे हैं
केजरीवाल आजकल दुत्कारे जाने का भी रिकॉर्ड बनाने पर यूंही नही तुले हुए हैं चुनांवों में हारने का ठीकरा फोड़ने को किसी दूसरे का सर् भी तो चाहिए और चुनांवों के पश्चात दया के पात्र बनने! का सौभाग्य मिलेगा लुभाव में

पंजाब के सियासी हमाम में सबकी नंगई निकल ही आई :व्यंग

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भारतीय चिंतक

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है? जलियांवाला बाग नरसंहार के शताब्दी वर्ष पर एक तरफ लंदन के ‘हाऊस ऑफ लार्ड्स’ परिसर में ब्रिटिश सरकार से इस घटना के लिए आधिकारिक रूप से माफी मांगने की मांग की गई तो दूसरी तरफ भारत में पंजाब के सी एम कैप्टेन अमरिंदर सिंह और केंद्र में मंत्री हरसिमरत को बादल एक दूसरे के पुरखों की कब्रें खोदने में लगे हुए हैं|
यारा! 13 अप्रैल 1919 को बैशाखी के दिन अमृतसर के जलियांवाला बाग में हुए नरसंहार से पूरा विश्व आज भी स्तब्ध है । ब्रिटिश इंडियन आर्मी के सैनिकों ने जनरल डायर की कमान के तहत निहत्थी भीड़ पर गोलियां चलाई थी और ये हुकुमरान एक दूसरे पर ही गोलियां चला रहे हैं

झल्ला

भापा जी!ये सियासी हमाम हैं यहां सबकी नंगई निकल आती है

नोटबंदी पश्चात् आये नए नोटों में चिप की बात सत्य तो नहीं हैं:आईटी के छापे

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया ! देखा हसाड़े मोदी जी का कमाल !! ना खाएंगे और ना ही खाने देंगे!!!
कांग्रेस के मध्य प्रदेश में सी एम कमल नाथ के पेट में हाथडॉल कर निकाल लिए करोड़ों अवैध रु| इस पर भी इनके राहुल गाँधी काळा धन पर चर्चा के लिए चुनौती देते फिर रहे हैं

झल्ला

मेरे चतुर सेठ जी ! वाकई इनकम टैक्स के छापे सटीक जगहों पर पढ़े हैं | और छापेमारों ने हाथोंहाथ अपनी उपलब्धि को मीडिया में दिखा भी दिया लेकिन एक बात दिमाग का दही किये जा रही है के कहीं नोट बंदी के बाद आये नए नोटों में चिप की बात सत्य तो नहीं हैं !

मोदीभापे!१९४७ से लंबित रिहैबिलिटेशन क्लेम देने पीड़ितों के घर में भी अवतरित हों

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया ! देखा ५६ इंच के सीने वाले का कमाल!
हसाड़े धाकड़ पीएम नरेंद्र भाई दामोदर दास मोदी जी ने पाकिस्तान में पनपाये जा रहे आतंकवादियों को चेतावनी दे डाली है |अब तो उनके घर में घुस कर मारेंगे |

झल्ला

सेठ जी! ठीक हैं !उन्हें जहां चाहो मारो ,लेकिन १९४७ के पीड़ितों को उनके हक का रिहैबिलिटेशन क्लेम देने उनके घर भी तो अवतरित हों

केजरीवाल साहब! कौन से खेत का #खरबूजा खाते हो ???[व्यंग]

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

आम आदमी पार्टी चेयर लीडर

औए झल्लेया! देखा हमारे अरविन्द केजरीवाल साहिब का कमाल!
कांग्रेस समझौते की टेबल पर आ ही गई| अब हमने दिल्ली में लोक सभा की सभी सातें सीटें जीत लेनी है

झल्ला

साहब जी पहले ये बताओ के कौन से खेत का खरबूजा खाते हो ???

मौका है! मजबूरी है!! मैनेजमेंट है!!! सो अकाली दबाव भी जारी है

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

अकाली चीयर लीडर

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है?औए ये भाजपाई अब हसाड़े धर्म में भी हस्तक्षेप करने लग गए |भई पटना साहब के एक धार्मिक गुरु ने बिहार के मुख्य मंत्री नितीश कुमार की चमचागिरी करते हुए सभी हदें पार कर दी | हुजूर साहब+नांदेड़ साहब+में चल रही पारम्परिक सिख धर्म व्यवस्था में अड़ंगे लगाने लग गए |अब जब अमृतसर से सजा सुनाई गई तो ये भगवा वाले ही राजनीती करने लग गए यहाँ तक के हसाड़े पवित्र गुरुद्वारों में दखल देने लग गए

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजान जी! आप भी पीछे क्यूँ रहो! मौका है! मजबूरी है!मैनेजमेंट हैं ! शायद इस दबाब से पंजाब में मन चाही लोक सभा की दस सीटें और हरियाणा में तीन सीटें मिल जाएँ

योगी जी! किसानों का लोटा -नमक होने से पहले ही तिजोरियों से रेवड़ियां बाहर निकाल लो

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया! मुबारकां!! औए हसाड़े कर्मठ मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने प्रदेश के गन्ना किसानों के बचे खुचे बकाये के भुगतान के भी आदेश जारी कर दिए हैं | औए हसाड़े उत्तर प्रदेश में ५० हजार करोड़ रु का भुगतान किया भी जा चुका है इसके बावजूद जो बचा रहा गया उसका भुगतान भी जल्द से जल्द हो जायेगा |मानता है ना के हमारे नेतागण सबके विकास के लिए सबके साथ हैं|

झल्ला

ओ मेरे चतुर सेठ जी !जब सामने वाला मुफ्त में शतप्रतिशत कर्ज माफ़ी का आश्वासन दे रहा हो तो आपकी ये घोषणाएं कहाँ ठहर पाएंगी? पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गन्ना व्यवसाय अधिकतर जाटों के हाथो में हैं और इसे पहले इनका भी लौटा नमक हो जाये मई २०१९ से पहले तिजोरियों से रेवड़ियां निकाल लो