Ad

Tag: NarendraModi

“हरियाणा ट्रस्ट भाजपा”:प्रधान मंत्री “मोदी” :नगर निगम के चुनाव

[चंडीगढ़,हरियाणा,दिल्ली]”हरियाणा ट्रस्ट भाजपा”:प्रधान मंत्री “मोदी” : नगर निगम के चुनाव
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरियाणा में पाँचों नगर निगम में विजय परचम फहराने वाली भाजपा की टीम को मुक्त कंठ से सराहा
प्रधान मंत्री मोदी ने ट्वीट करके हरियाणा के मुख्य मंत्री के न्रेतत्व वाली विजेता टीम की प्रशंसा करते हुए ट्वीट किया “हरियाणा ट्रस्ट भाजपा ” “Haryana trusts BJP! ”
तीन विधान सभाओं में मिली हार के भाजपाई गम को हरयाणा के 5 नगर निगम जीतने पर मिली जीत ने धो डाला है |मेयर से सीएम और पीएम तक सभी प्रफुल्लित हैं क्योंकि मनोहर लाल खट्टर के अनुसार यह चुनाव BJP v/s All Parties था और इसका रिजल्ट पांच के मुकाबिले शून्य रहा है|
मोदी ने ट्वीट किया “Under the leadership of Shri @mlkhattar Ji, the state government has been providing corruption-free and people-friendly governance to the state. BJP’s development agenda is being widely appreciated.
Haryana trusts BJP!
I thank the people of Haryana for continuously reposing their faith in @BJP4Haryana.
We derive great strength from the people’s blessings and reaffirm our commitment to work for Haryana’s progress commend the @BJP4Haryana team for assiduously working for people’s welfare.”

वाहन मालिक को वाहन से संबंधित दस्तावेज की सॉफ्टकॉपी प्रस्तुत करने की अनुमति

वाहन मालिक को वाहन से संबंधित दस्तावेज की सॉफ्टकॉपी प्रस्तुत करने की अनुमति|अभी तक केवल हार्डकॉपी ही मान्य थे|प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई में एक कार्यक्रम के दौरान यह जानकारी दी|
नई व्यस्था के अनुसार वाहन मालिक अब डिजीलॉकर एप या एम-परिवहन एप के जरिए कोई दस्‍तावेज या अन्‍य सूचना प्रस्‍तुत कर सकते हैं। वे इन एप के जरिए ड्राइविंग लाइसेंस या पंजीकरण प्रमाण-पत्र डाउनलोड कर अपने मोबाइल में रख सकते हैं। वाहन मालिक इंटरनेट कनेक्टिविटी के जरिए मोबाइल पर एम-परिवहन एप के जरिए ड्राइविंग लाइसेंस या वाहन से जुड़ी सूचनाएं दिखा सकते हैं। प्रवर्तन एजेंसिया ई-चालान एप से उसी समय इन जानकारियों की जांच कर सकती हैं। इसमें ऑफलाइन जांच के लिए एम-परिवहन क्‍यूआर कोड भी उपलब्‍ध है।
परिवहन मंत्रालय की इस पहल से प्रवर्तन एजेंसियों को दस्‍तावेजों की जांच और उनके रख-रखाव की झंझटों से जहां मुक्ति मिलेगी वहीं आम लोगों को भी दस्‍तावेज लेकर चलने की मजबूरी से छूट मिल जाएगी। इस तीव्र, पारदर्शी और जवाबदेह व्‍यवस्‍था से नियमों के उल्‍लंघन की वास्‍तविक स्थिति‍ की उपलब्‍धता परिवहन, यातायात अधिकारियों और नागरिकों को मिलना सुनिश्चित हो जाएगा।
इस संदर्भ में केन्‍द्रीय मोटर वाहन नियम, 1989 में संशोधन की अधिसूचना पिछले महीने जारी की गई थी

प्रधानमंत्री “मोदी” ने कॉफ़ी टेबल बुक “टाइमलेस लक्ष्मण”का विमोचन किया

[मुंबई]प्रधानमंत्री मोदी ने “टाइमलेस लक्ष्मण” नामक पुस्तक का विमोचन किया
भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज मुंबई में जाने-माने कार्टूनिस्ट आर.के.लक्ष्मण पर आधारित कॉफी टेबल बुक “टाइमलेस लक्ष्मण” का विमोचन किया।
इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस कालातीत यात्रा का हिस्सा बन कर उन्हें खुशी हुई है। उन्होंने कहा कि यह पुस्तक लक्ष्मण की रचनाओं के संसार को समझने में मदद करेंगी।
उन्होंने कहा कि लक्ष्मण के कार्यों का अध्ययन सम-सामयिक समाजशास्त्र और सामाजिक परिवेश को समझने का बेहतर तरीका है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि आम व्यक्ति पर ध्यान केंद्रित करने के लिए किस तरह पदम पुस्कारों की प्रक्रिया में बदलाव लाया गया।

आप ने कच्ची कालोनियों के नियमतिकरण में पीएम को बताया रोड़ा

[नई दिल्ली]दिल्ली प्रदेश में कद्दावर दागी मंत्री #सत्येंद्रजैन के खिलाफ केस चलने की बात सामने आने पर आम आदमी पार्टी[आप]को प्रदेश में #कच्चीकालोनियां याद आ गया है| आप ने कच्ची कालोनियों के नियमतिकरण में #पीएम को बताया रोड़ा|
प्रेस वार्ता में पत्रकारों से बातचीत करते हुए पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता और पूर्वी दिल्ली की लोकसभा प्रभारी आतिशी ने बताया कि केंद्र सरकार जानबूझ कर सत्येन्द्र जैन को झूठे केस में फ़साने की कोशिश कर रही है। गृह मंत्रालय से जुड़े कुछ कागजात का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि इन कागजों में साफ़ तौर पर देखा जा सकता है कि आप केंद्र सरकार ने सीबीआई को सत्येन्द्र जैन पर कार्यवाही करने के आदेश दिए हैं और इसका सिर्फ और सिर्फ एक ही कारण है कि दिल्ली में जो आम आदमी पार्टी की सरकार है वो दिल्ली की कच्ची कालोनियों में विकास कार्य करवा रही है। क्योंकि सत्येन्द्र जैन दिल्ली के शहरी विकास मंत्री है, और तेजी से दिल्ली में विकास के कार्य करवा रहे है, इस बात से परेशान होकर केंद्र सरकार ने सत्येन्द्र जैन के खिलाफ ये षड्यंत्र रचा है।
आतिशी ने बताया दिल्ली सरकार के अलग अलग विभाग, अलग अलग कार्यों में करीब 2500 करोड़ के प्रोजेक्ट से कच्ची कॉलोनियों का काया कलप करने में लगे हैं।

प्रधानमंत्री”मोदी”के रेडियो धारावाहिक ’मन की बात’ में उठे अनेकों ज्वलंत सामाजिक मुद्दे

’[नयी दिल्ली]प्रधानमंत्री”मोदी”के रेडियो धारावाहिक ’मन की बात’ के रविवार को होंगे पूरे पचास एपिसोड |
इनमे उठे अनेकों ज्वलंत सामाजिक मुद्दे
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेडियो पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम ’मन की बात’ के पचास अंकों में
बालिका शिक्षा
प्रदूषण घटाने
नशीले पदार्थों के इस्तेमाल को रोकने जैसे कई मुद्दों पर अपने मन की बात रखी।
अक्टूबर, 2014 में प्रसारित इस कार्यक्रम के पहले अंक में प्रधानमंत्री मोदी ने खादी के एक उत्पाद का प्रयोग करने का आह्वाहन किया था जिसके फलस्वरूप खाड़ी ग्रामोद्योग और गरीब बुनकरों की सहायता हुई |
प्रधानमंत्री कार्यालय से शुक्रवार को जारी एक बयान के अनुसार इस अंक के प्रसारण के बाद से खादी उत्पादों की बिक्री में 120 % की बढ़ोत्तरी हो गई।
श्रोताओं की प्रतिक्रियाओं को देखते हुये मोदी ने दिसम्बर 2014 को प्रसारित अंक में भारत को नशीले सामानों से मुक्त करने का आह्वान किया। उन्होंने सोशल मीडिया पर सक्रिय लोगों से आग्रह किया कि वे इस बारे में अभियान चलाएं।
जनवरी 2015 के अंक में पहली बार अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ भारतीय प्रधानमंत्री ने मिलकर लोगों को संबोधित किया।
एक अंक में प्रधानमंत्री ने बच्चों से यह भी कहा कि परीक्षा की तैयारी को वे एक उत्सव की तरह देखें।
मई 2015 के अंक में प्रधानमंत्री ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को लेकर अपनी बात कही।

पीएम्”मोदी” ने सवा सौ करोड़ देशवासियों को धनतेरस की शुभकामनाएं दी

[नई दिल्ली]पीएम् “मोदी” ने सवा सौ करोड़ देशवासियों को धनतेरस की शुभकामनाएं दी
भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा
“धनतेरस के पावन अवसर पर सभी देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं। भगवान धन्वंतरि हम सबको जीवन में सुख, समृद्धि एवं उत्तम स्वास्थ्य प्रदान करें”

महात्मा गाँधी को श्रद्धांजलि देने के लिए १९४७ के बंटवारे में हुई गलती को सुधारो

महात्मा गाँधी को श्रद्धांजलि देने के लिए १९४७ के बंटवारे में हुई गलती को सुधारो

महात्मा गाँधी को श्रद्धांजलि देने के लिए १९४७ के बंटवारे में हुई गलती को सुधारो

[नई दिल्ली ] महात्मा गाँधी को श्रद्धांजलि देने के लिए १९४७ के बंटवारे में हुई गलती को सुधारो
महात्मा गांधी बने मोहन दास की आज जयंती है सो सबको बधाई| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी+विपक्ष के श्रीमती सोनिया गाँधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी इनकी समाधि पर श्रद्धा सुमन अर्पण कर स्वयं को धन्य कर रहे हैं |
विलायत पास मोहन दास ने आधी धोती और एक कमजोर सी लाठी लेकर अपने मुल्क में शक्तिशाली अंग्रेजों के खिलाफ आजादी की मुहीम छेड़ी |
लेकिन इसके साथ ही 1947 में एक गलत निर्णय लेकर बिना किसी तैयारी के देश का बंटवारा स्वीकार कर लिया
यह विभाजन सबसे बढ़ी त्रासदी के रूप में सामने आया| बंटवारे से दोनों तरफ के लाखों भारत वासियों के जान माल को हानि पहंची | दोनों तरफ के दबंगों ने संपत्ति की लूट मचाई लेकिन इसके पश्चात् भारत में पुनर्वास के लिए तैनात अधिकारीयों ने भी कोई कसर नहीं छोड़ी |दोनों तरफ के विस्थापितों द्वारा अपनी चल अचल सम्पत्ति को त्याग कर दूसरे अनजान देश में असहाय जाना पढ़ा
इनको अचल सम्प्पति को एक दुसरे की संपत्ति से एडजस्ट किया गया |मसलन पाकिस्तान में छोड़ कर आये हिन्दुओं की सम्पत्ति को भारत में छोड़ी गई मुस्लिमों की सम्पत्ति से एडजस्ट किया गया |यह सब सरकारी स्तर पर हुआ |लुटे पिटे आये हिन्दुओं ने अपनी रोजी रोटी के जुगाड़ में जुट गए ऐसे अधिकांश लोगों को केवल कागजों में ही संपत्ति दी गई और कुछ समय पश्चात् उसे भी कागजों में ही निरस्त कर दिया गया |पकिस्तान में छोड़ी गई सम्पत्ति की एवज में भारत में मुआवजा लेने के पश्चात् भी पीड़ितों को नहीं दिया जाना किसी भी सामाजिक आर्थिक और कानूनी अपराध से कम नहीं आंका जा सकता मगर दुर्भाग्य से इस अपराध पर पर्दा डालने के लिए २००५ में काला एक्ट ला कर इस व्यवस्था को ही समाप्त कर दिया गया| प्रधान मंत्री और हरियाणा +पंजाब के मुख्य मंत्रियों द्वार संचालित ग्रीवांस सेल्ल भी कोई न्याय नहीं दिला पा रहे हैं |इसी के नतीजतन शिकायतें केवल कम्प्यूटरों में रखे हैं और आज भी बढ़ी संख्या में पीड़ित अदालतों और ओल्ड लैंड रिकॉर्ड कार्यालय में चक्कर लगा रहे हैं |
गलती पर पर्दा डालने को आज भी हजारों पीड़ितों को उनके हक के रिहैबिलिटेशनक्लेम से वंचित रखा जा रहा है
इसी एक महा गलती को सच्चे मन से सुधार कर बापू को सच्ची श्रद्धांजलि देनी होगी |
फाइल फोटो

प्रधानमंत्री मोदी ने लाखों ट्रिपल “ऐ” कार्यकर्ताओं के लिए खजाना खोला

[नई दिल्ली] प्रधानमंत्री मोदी ने लाखों ट्रिपल ऐ कार्यकर्ताओं के लिए खजाना खोला |पी एम ने इनके वेतन मान+मानदेय+मानधन में एक अक्टूबर से बढ़ोत्तरी करने की घोषणा की |इसे उन्होंने दिवाली गिफ्ट का नाम दिया
प्रधान मंत्री मोदी ने आज लाखों आशा+ऐऍनएम +आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए खजाना खोला | अनेको राज्यों में आशा और कार्यकर्ताओं ने वेतन मान में सुधार के लिए आंदोलन छेड़ा हुआ है |
प्रधान मंत्री ने कहा के आँगनबाड़ी
१५०० रु पाने वाले कार्यकर्त्ता को २२५० रु मिलेंगे
रु २२५० पाने वालों को रु ४५०० मिलेंगे उन्होंने बताया के कार्यकर्ताओं को मिल रही प्रोत्साहन राशि में केंद्र के योगदान को दोगुना कर दिया गया है||
भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने आज आशा+ऐऍनएम +आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं सेसीधा संवाद कायम किया और उनके मानदेय में केंद्र के योगदान को दोगुना+ड्योडा करने की घोषणा की | पीएम ने सभी के लिए निशुल्क रु ४ लाख की बीमा योजनाओं की घोषणा की
श्री मोदी ने आशा और आँगन बाड़ी कार्यकर्ताओं के योगदान को सराहा और देश के दूरदराज इलाकों में भी आयोडीन+आयरन +नवजात शिशुओं और प्रसूति माताओं के कल्याण में जुटे लगभग २४ लाख से अधिक कार्यकर्ताओं को नमन किया
पी एम ने कहा के अब आशा वर्कर को १५ महीने में ११ बार बच्चे के घर जाना होगा| पहले ४२ दिन में ६ बार जाना होता था|

पीएम और डीएम ने भी रक्षाबंधन की बरसाई बधाइयां

[मेरठ यूपी] पीएम और डीएम ने भी रक्षाबंधन की बरसाई बधाइयां
भाई बहन के प्यार और त्याग का प्रतीक रक्षा बंधन का पावन पर्व आज हर्षोंल्लास से मनाया जा रहा है|
प्रधान मंत्री से लेकर जिलाधिकारी तक के नेता और अधिकारीयों द्वारा सोशल मीडिया पर बधाइयां दी जा रही है
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया
“सभी देशवासियों को रक्षाबंधन के पावन पर्व की बहुत-बहुत शुभकामनाएं। Greetings on Raksha Bandhan.”
श्री मोदी ने बीते वर्ष भी रक्षाबंधन पर महिलाओं+बच्चों से राखियां बंधवाई थी
मेरठ के जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने अपने ट्विटर पेज पर रक्षण बंधन की इमेज के साथ लिखा है
“जिला प्रशासन मेरठ की ओर से सभी जनपदवासियों को #रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनाएं”
बीते वर्ष की फाइल फोटो

वाजपई ने अंतिम सांस ली: पीएम ने शोक व्यक्त किया

[नई दिल्ली] प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने अटल बिहारी वाजपई की मृत्यु पर इन शब्दों में शोक व्यक्त किया
“मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है। हम सभी के श्रद्धेय अटल जी हमारे बीच नहीं रहे। अपने जीवन का प्रत्येक पल उन्होंने राष्ट्र को समर्पित कर दिया था। उनका जाना, एक युग का अंत है।
लेकिन वो हमें कहकर गए हैं- “मौत की उमर क्या है? दो पल भी नहीं, ज़िन्दगी सिलसिला, आज कल की नहीं मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं, लौटकर आऊँगा, कूच से क्यों डरूं?”
अटल जी आज हमारे बीच में नहीं रहे, लेकिन उनकी प्रेरणा, उनका मार्गदर्शन, हर भारतीय को, हर भाजपा कार्यकर्ता को हमेशा मिलता रहेगा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और उनके हर स्नेही को ये दुःख सहन करने की शक्ति दे। ओम शांति !