Ad

Tag: CaptAmarinderSingh

कैप्टेन ने कहा बहुत हो गया अब मुंह तोड़ जवाब दो :पुलवामा आतंकी हमला

[चंडीगढ़,पंजाब]कैप्टेन ने कहा बहुत हो गया अब मुंह तोड़ जवाब दो :पुलवामा आतंकी हमले पर अपना आक्रोश व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा “यह उन्हें सबक सिखाने का समय है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शांति की बात करते हैं और सेना प्रमुख युद्ध की बात करते हैं।”
कैप्टेन नीत पंजाब विधानसभा ने पुलवामा आतंकी हमले की निंदा की और विधायकों ने सदन में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की और दो मिनट का मौन रखा।
पंजाब विधानसभा ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादी हमले की शुक्रवार को कड़ी निंदा की और पूरे दिन के लिये सदन की कार्यवाही स्थगित करने के लिये एक प्रस्ताव पारित किया। बृहस्पतिवार को हुए हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए हैं।
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने कहा कि अब बहुत हो गया। उन्होंने केंद्र सरकार से पाकिस्तान की इस कायरतापूर्ण हरकत का मुंहतोड़ जवाब देने का आग्रह किया।

Capt Quickly Calls Modi Govt’s Interim Budget a Zumla Budget

[ Chd,Pb] Capt Quickly Quashes Modi Govt’s Interim Budget
Punjab Chief Minister Captain Amarinder Singh on Friday described Budget hogwash, with nothing for the farmers and youth, while putting more burden on the common man.
Reacting to the last budget of the ‘jumla sarkar’, the Chief Minister said it was an election-centric budget aimed at misleading the people with false promises, which were not backed by numbers.
Capt termed the Rs 6000 a year announced for marginal farmers as mere peanuts With just Rs 500 a month for the distressed farmers, the Modi government had made it obvious that they did not recognise the gravity of the problem, said Captain Amarinder Singh, dubbing the exercise as a mockery of the interests of the farming community.
“They had promised Rs 15 lakhs in accounts of all but have ended up giving only Rs 6000 a year to farmers up to 2 hectares of land, and that too at the end of their tenure, clearly showing their lack of intent to do anything for the farmers’ welfare,” the Chief Minister said.
Even the MSP of 50% above the production cost was nothing but an eyewash as the government was not buying all the items on the list, he said, pointing out that while Maize had an MSP it was not being bought by the government, forcing the farmers to sell it at an abominably low cost.
The entire budget, said Captain Amarinder Singh, was in ‘future tense’, as it talked about a USD 5 trillion economy in five years and a USD 10 trillion economy in the next eight years. Nowhere did it reflect the achievements of the BJP-led NDA government of the past five years, he added.
The Chief Minister flayed the budget as a mismatch one, noting that the concessions given to the tune of Rs one lakh core should actually mean an incremental deficit of 0.5% but the government had shown additional deficit of only 0.1 %. This means at least Rs 80,000 crore worth of taxes will be imposed in the full budget, resulting in more burden on the common man in the coming days,

कैप्टेन अमरिंदर ने मिलजुल कर क्रिसमस मनाने की अपील के साथ शुभकामनाएं बरसाई

[चंडीगढ़,पंजाब]कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने मिलजुल कर क्रिसमस मनाने की अपील के साथ शुभकामनाएं बरसाई
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने क्रिसमस की पूर्व संध्या पर सभी ईसाइयों को शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने अपील की कि असहनशीलता और सांप्रदायिक घृणा से ऊपर उठकर वैश्विक भाईचारे और धर्मनिरपेक्ष सद्भाव के बंधन को मजबूत करें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रभु यीशू मसीह का शांति, प्रेम एवं करुणा का संदेश आज भी दुनिया भर में लोगों की जिंदगी रोशन कर रहा है और भाईचारे एवं मित्रता के प्रति सभी का मार्गदर्शन करने में अहम भूमिका निभा रहा है।
उन्होंने पंजाब के लोगों से अपील की कि वे मिल-जुलकर क्रिसमस का त्योहार मनाएं।

सिद्धू का यूं टर्न ,ट्वीट किया -राहुल गाँधी ने उन्हें पकिस्तान जाने के लिए नहीं कहा था

[हैदराबाद]सिद्धू का यूं टर्न ,ट्वीट किया “राहुल गाँधी ने उन्हें पकिस्तान जाने के लिए नहीं कहा था”
“Get your facts right before you distort them,
Rahul Gandhi Ji never asked me to go to Pakistan.
The whole world knows I went on Prime Minister Imran Khan’s personal invite.”
इससे पूर्व पंजाब के केबिनेट मिनिस्टर और कांग्रेस के वर्तमान स्टार प्रचारक “राहुल गांधी ने एक प्रेस कांफ्रेंस में बाकायदा यह कहा था के उन्हें राहुल गाँधी ने पाकिस्तान भेजा था| इसके साथ ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने भी सिद्धू के बचाव में अनेकों तर्क कुतर्क देने जारी रखे |भाजपा ने करतारपुर साहब में सिद्धू की खालिस्तानी आतंकवादी गोपाल सिंह चावला के साथ हुई कथित मुलाक़ात लेकर सिद्धू पर हमले तेज कर दिए |सोशल मीडिया में भी हीरो एक विलेन के रूप में आ गया|गौरतलब हे के सिद्धू की पकिस्तान के जनरल कमर जावेद बाजवा के साथ झप्पी प्रकरण की सी एम कप्तान अमरिंदर सिंह निंदा कर चुके हैं और अभी भी कप्तान ने सिद्धू को पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास समारोह में जाने के लिए मना किया था|इसके बावजूद सिद्धू नाकेवळ वहां गए बल्कि आतंकवादी गोपाल सिंह चावला के साथ फोटो भी खिंचवा आये जो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी है||
अपने पाकिस्तान दौरे को लेकर बढ़ते विवाद में अपनी छवि सुधरने की जुगत में नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को कहा कि करतारपुर साहिब गलियारा के शिलान्यास समारोह में शामिल होने के लिये उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वहां भेजा था। सिद्धू ने कप्तान अमरिंदर सिंह को अपना कप्तान तक मानने से इंकार करदिया |सिद्धू ने कहा के सी एम का कप्तान राहुल गाँधी और सिद्धू का कप्तान भी राहुल गांधी|सम्भवत उन्होंने स्वयं को सी एम के समक्ष दिखाने का प्रयास भी किया |इससे पंजाब में कांग्रेस में दरार के संकेत जाहिर हुए और करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास में भाग लेने गए केंद्र केदो मंत्रियों को घेरने का अवसर कांग्रेस के हाथ से जाता रहा

अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह का इस्तीफा:सिख धर्म सियासत

[अमृतसर,पंजाब] अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह ने इस्तीफा दिया
इसके लिए उन्होंने अपने खराब स्वास्थ्य का हवाला दिया है|
मीडिया में जारी विज्ञप्ति में बताया गया कि उन्होंने अपने इस्तीफे का खत शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के अध्यक्ष गोविंद सिंह लोंगोवाल और एसजीपीसी के कार्यकारी सदस्यों को भेजा है । मालूम हो के वर्तमान सी एम कैप्टेन अमरंदेर सिंह ने सिख धर्म की सबसे बढ़ी संस्था एस जी पी सी पर कब्जे के लिए शिरोमणि अकाली दल के वर्चस्व को चुनौती दी हुई है

कांग्रेस सरकार अमृतसर में लगवायेगी फ्रेंच जनरल “अलार्ड” की मूर्ति

[चंडीगढ़,पंजाब]कांग्रेस अमृतसर में लगवायेगी फ्रेंच जनरल “अलार्ड” की मूर्ति| मालूम हो के बहुचर्चित राफेल लड़ाकू विमान फ्रांस से ही खरीदा जा रहा है जिसे लेकर कांग्रेस द्वारा भारत सरकार पर लगातार हमला किया जा रहा है |
पंजाब में कांग्रेस के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने राज्य के पर्यटन एवं सांस्कृतिक मामलों के विभाग को अमृतसर में मशहूर फ्रांसीसी जनरल ज्यां फ्रांस्वा अलार्ड [ JeanFrancoisAllard ] की एक प्रतिमा स्थापित करने से जुड़े तौर तरीकों को अंतिम रूप देने का निर्देश दिया है।अलार्ड नेपोलियन बोनापार्ट की सेना में उस समय भी रहे जब नेपोलियन की विश्व विजयी सेना ने की हार काअपमान झेला था
जनरल अलार्ड ने शेर-ए-पंजाब महाराजा रंजीत सिंह की घुड़सवार सेना ‘फौज-ए-खास’ का नेतृत्व किया था।
मुख्यमंत्री ने एक फ्रांसीसी प्रतिनिधिमंडल के साथ बैठक के बाद यह निर्देश जारी किया। प्रतिनिधिमंडल में फ्रांस के सेंट ट्रोपेज कस्बे के उप मेयर और जनरल अलार्ड के वंशज हेनरी प्रीवोस्ट अलार्ड और ‘सिख ड फ्रांस’ संगठन के परिषद अध्यक्ष रंजीत सिंह शामिल थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पहल से दिवंगत जनरल के साहस से युवा पीढ़ी को अवगत कराने में मदद मिलेगी।
प्रतिनिधिमंडल ने सिंह को अगले साल जून में सेंट ट्रोपेज में होने वाली एक वार्षिक सभा में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होने का निमंत्रण दिया।
गौरतलब है कि दोनों देशों के बीच सद्भावना और दोस्ती की भावना को बढ़ावा देने के लिए जनरल अलार्ड की जन्मस्थली सेंट ट्रोपेज में 2016 में महाराजा रंजीत सिंह की एक प्रतिमा स्थापित की गयी थी।

३ साल पुराने बहिबल कलां गोलीकांड के पीड़ितों को १ करोड़ रु की सहायता

[चंदीग्रह,पंजाब] ३ साल पुराने बहिबल कलां गोलीकांड के पीड़ितों को १ करोड़ रु की सहायता के एलान के साथ पूर्व मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बदल को घेरने की तैयारी | इस कांड की जाँच सी बी आई को देने का भी एलान हुआ |
पंजाब के मुख्य मंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने पंजाब भवन में आयोजित अपनी प्रेस वार्ता में यह एलान किया |
१४ अक्टूबर २०१५ में बडग़ाडी में पवित्र ग्रथ साहब की बेअदबी के विरोध में बहिबल कलां में चल रहे रोष प्रदर्शन पर पोलिस ने गोली चलाई | जिसमे गुरजीत सिंह +किशन भगवान सिंह की मौत हो गई| अनेक प्रदर्शनकारी घायल हो गए|
गोलीकांड में अनेकों अधिकारीयों की संलिप्तता के आरोप लगते आ रहे हैं| यहाँ तक के तत्कालीन सीएम को भी घेरने के प्रयास हुए हैं| गौरतलब हे के ३० जून को जस्टिस रंजीत कमीशन द्वारा रिपोर्ट सौंपी गई थी और आज एक माह पश्चात् उस पर कार्यवाही का एलान कर दिया गया है|अब सीबीआई को इसकी जाँच दी जाएगी |कैप्टेन कहते आये हैं के मुख्य मंत्री के आदेश पर ही फायरिंग की गई|

पंजाब के सीएम कैप्टेन अमरिंदर दशक पुराने भ्रष्टाचार मामले में बरी

[मोहाली,पंजाब]पंजाब के सीएम कैप्टेन अमरिंदर दशक पुराने भ्रष्टाचार मामले में बरी | पंजाब विधानसभा की सिफारिश पर 2008 में सतर्कता ब्यूरो द्वारा मामला दर्ज किया था।
मोहाली के विशेष न्यायाधीश जसविंदर सिंह ने राज्य के सतर्कता ब्यूरो (वीबी) द्वारा दायर मामला बंद करने की रिपोर्ट स्वीकार करते हुए अमृतसर सुधार न्यास की 32.10 एकड़ जमीन एक निजी डेवलपर को हस्तांतरण करने में गड़बड़ी मामले में 18 आरोपियों को बरी किया।
आरोपियों में पंजाब विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष केवल कृष्ण और दो पूर्व मंत्री शामिल थे। इन तीनों की मौत हो चुकी है।

कैप्टेन साहिब!छोटी करप्ट मछलियां भी अदालतों से छूट कर मजाक उड़ा रही हैं

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

पंजाब कांग्रेस का चेयर लीडर

औए झल्लेया ! हसाड़े धाकड़ सी एम कैप्टेन साहिब ने पंजाब को करप्शन मुक्त पंजाब बनाने को कोई कसर नहीं छोड़ रखी|जब से हमारी सरकार बनी है तभी से हर महीने करप्ट अधिकारी पकड़े जा रहे हैं और जनता को न्याय मिल रहा है|

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजान! जब से आपजी की सरकार बनी है तभी से करप्शन के नाम पर पटवारी स्तर के केवल छोटी मछलियों पर ही जाल बिछाये जा रहे हैं ये छोटी मछलियां भी अदालतों में बेदाग छूट रही हैं |आप कहते हो वे रंगें हाथों गिरफ्तार हुए जबकि पटवारी कुलदीप कुमार सरीखे अदालतों से बेदाग़ छूट रहे हैं,|इससे आपकी विजिलेंस ब्यूरो की पोलिसिंग पर भी प्रश्न चिन्ह उठने स्वाभाविक हैं|

सिलेबस में सिख इतिहास हटाने को लेकर पूर्व ने वर्तमान सीएम को ललकारा

[चंडीगढ़,पंजाब]सिलेबस में सिख इतिहास हटाने को लेकर पूर्व ने वर्तमान सीएम को ललकारा
पूर्व मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा के सिख इतिहास को समाप्त करने के लिए बनाई गई कैप्टेन अमरिंदर सिंह की कमिटी लोगों को गुमराह करने और अपना अपराध दूसरों पर थोपने के लिए ही बनाई गई है|
उन्होंने कहा के कांग्रेस सिख इतिहास को समाप्त करने पर तुली हुई है|वयोवृद्ध बादल ने कहा के अपनी गलती मानने से कोई छोटा नहीं हो जाता इसीलिए कैप्टेन को अपनी गलती किसी दूसरे पर थोपने के बजाय स्वयं अपनी गलती मान लेनी चाहिए |गौरतलब हे के पंजाब में बारहवीं कक्षा के सिलेबस से महत्वपूर्ण सिख इतिहास को हटाने के आरोप लगाए जा रहे हैं जिसे लेकर अकाली दल लगातार कांग्रेस की सरकार पर हमलावर है | शाहकोट में उपचुनाव होने हैं जहाँ इस मुद्दे को भुनाने की भरसक कोशिश जारी रहेगी