Ad

Tag: PunjabGovt

पंजाब में कोविड-19 से दूसरी मौत

(अमृतसर,पँजांब) पंजाब में बेशक दो दिनों में कोरोना वायरस का कोई नया केस खोला नही गया लेकिन कोविड-19 से दूसरी मौत की सूचना है
वायरस से संक्रमित 62 वर्षीय एक मरीज की सरकारी मेडिकल कॉलेज में रविवार की शाम को मौत हो गई। राज्य में कोविड-19 से मौत का यह दूसरा मामला है।
सरकारी मेडिकल कालेज और अस्पताल की प्रधानाचार्य डॉ सुजाता शर्मा ने कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज की मौत की पुष्टि की।
पंजाब में अब तक कोरोना वायरस के 38 मामले सामने आ चुके हैं।

पटवारखानों में दफन शत्रुसम्पत्ति भी नीलामी में शामिल हो

पटवारखानों में दफन शत्रुसम्पत्ति भी नीलामी में शामिल हो

पटवारखानों में दफन शत्रुसम्पत्ति भी नीलामी में शामिल हो

(नईदिल्ली)पटवारखानों में दफन शत्रुसम्पत्ति भी नीलामी में शामिल हो
यह जानकर प्रसन्नता हुई के भारत सरकार अब #शत्रुसम्पत्ति बेच कर ₹ एक लाख करोड़ जुटाने जा रही है
इसके लिए बधाई और धन्यवाद
लेकिन इस विषय मे यह कहना अनुचित नही होगा के तत्कालीन भारत सरकार द्वारा 1947 में भी ऐसी ही कुछ सम्पत्ति का एडजस्टमेंट किया गया था
लाला गोकुलचंद सभलोक पुत्र गुरदित्ता मल निवासी रावलपिंडी/पिंडिगहेब/दंदी के 8 एकड़ खेत की एवज में भारतीय पँजांब के मुबारकपुर में पोनेचार एकड़ जमीन(पानी वाली) एलॉट की गई गौरतलब है के यह भूमि शत्रुसम्पत्ति है
लेकिन दुर्भाग्य से लाला गोकुल चंद और पुत्र हरबनसलाल सभलोक और पौत्र संजय सभलोक स्वर्ग सिधार चुके है मगर उन्हें वह सम्पत्ति नही दी गई
मौजूदाप्रदेश और केंद्र सरकार में भी गुहार(PMOPG/के/2016/0125052) लगाने का कोई परिणाम नजर नही आया
यहां तक के RTI के तहत #पँजांबसरकार
#पँजांबस्टेटइनफार्मेशनकमीशन
#डीसीमोहाली
, #एसडीएमडेराबस्सी,
#तहसीलदारडेराबस्सी
द्वारा भूमि की जानकारी तक नही दी जा रही
1947 में प्राप्त शत्रुसम्पत्ति की लूट को उजागर करता यह एक मात्र उदहारण नही है ऐसे सैंकड़ो पीड़ितों की फरियादें पँजांब के रेवेन्यू डिपार्टमेंट और हाईकोर्ट में दफन हैं
चूंकि दूध का जला फूंक फूंक कर पीता है सो लाला गोकुलचंद जैसों को एलोटटेड मगर नही दी गई सम्पत्ति को भी रिकॉर्ड में लिया जाना जरूरी है
और पटवारखानों में दफन बेशकीमती शत्रुसम्पत्ति भी नीलामी में शामिल हो ताकि उनके सही हकदारों को उनका हक मिल सके

कैप्टेन मिले कांग्रेस की कैप्टेन से और नई समन्वय समिति की घोषणा हो गई

(नयी दिल्ली) पँजांब के कैप्टेन मिले कांग्रेस की कैप्टेन सोनिया से और नई समन्वय समिति की घोषणा हो गई
पंजाब में सरकार और कांग्रेस पार्टी के बीच बेहतर तालमेल सुनिश्चित करने के मकसद से मंगलवार को 11 सदस्यीय समन्वय समिति का गठन किया।
पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल के मुताबिक कांग्रेस की पंजाब प्रभारी आशा कुमारी की अगुवाई में बनी इस समन्वय समिति ने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुनील जाखड़ और कई अन्य नेता शामिल हैं।
कांग्रेस ने सोमवार को वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम की अगुवाई में पंजाब के लिए पांच सदस्यीय घोषणापत्र क्रियान्वयन समिति गठित की थी।
इसके साथ ही पार्टी ने मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और पुडुचेरी में संगठन और सरकारों के बीच बेहतर तालमेल सुनिश्चित करने तथा चुनावी वादों को प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए समन्वय समितियां एवं घोषणापत्र क्रियान्वयन समितियां गठित की थीं।

परालीप्रदूषण की रोकथाम में निष्क्रिय पँजांब सरकार पर कोर्ट की फटकार

(नई दिल्ली)परालीप्रदूषण की रोकथाम में निष्क्रिय पँजांब सरकार पर कोर्ट की फटकार
पराली जलाने पर प्रतिबंध लगाने के आदेशों के बावजूद इसे जलाने का सिलसिला बदस्तूर जारी रहने पर उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को पंजाब और हरियाणा को आड़े हाथ लिया। न्यायालय ने कहा कि वायु प्रदूषण की वजह से दिल्ली के लोगों को मरने के लिये नहीं छोड़ा जा सकता।
न्यायमूर्ति अरूण मिश्रा और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने पराली जलाने पर अंकुश लगाने में इन राज्यों के विफल रहने पर नाराजगी व्यक्त की और कहा, ‘‘क्या इसे बर्दाश्त किया जाना चाहिए? क्या यह आंतरिक युद्ध से कहीं ज्यादा बदतर नहीं है? बेहतर होगा कि आप इन सभी को विस्फोट से खत्म कर दें।’’
शीर्ष अदालत ने दिल्ली में जल और वायु प्रदूषण के मसले पर एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाने के लिये केन्द्र और राज्यों को भी फटकार लगायी।

पराली नहीं जलाने वाले 29,000 किसानों को मिला मुआवजा ₹१९ करोड़

(चंडीगढ़,पँजांब)पराली नहीं जलाने वाले 29,000 किसानों को मिला मुआवजा ₹१९ करोड़
पंजाब सरकार ने पराली नहीं जलाने वाले और गैर बासमती चावल की फसल लेने वाले 29,343 छोटे और सीमांत किसानों के बीच 19 करोड़ रूपये का वितरण किया है।
सरकार ने उन छोटे और सीमांत किसानों को 2500 रूपये प्रति एकड़ देने का फैसला किया है जो पराली जलाने से दूर रहे हैं। पराली जलाने से बहुत वायु प्रदूषण फैलता है।
कृषि सचिव केएस पन्नू के अनुसार मुआवजा सीधे किसानों के बैंक खातों में पहुंचा दिया गया।
अबबतक 85,000 आवेदन आए हैं । आवेदन देने की अंतिम तारीख 30 नवंबर है।

District Level Venue Committees Constituted:World Kabaddi

(Chd,Pb) District Level Venue Committees Constituted in Punjab :World Kabaddi
The Venue Committees at District level have been constituted in order to make the World Kabaddi Cup tournament a memorable event. Sports Minister rana Gurmit Singh Sodhi had recently announced that World Kabaddi Cup would be organized which would be dedicated to the 550th Prakash Purb of Sahib Sri Guru Nanak Dev Ji. The matches would be played at Amritsar, Kapurthala, Gurdaspur, Ferozepur, Bathinda, Patiala and Ropar.
Chairman of the committees would be the DC of the concerned district whereas the Police Commissioner/SSP, ADC, DPRO, Civil Surgeon, 2 nominated members of the Punjab Kabaddi Association would be its members. The concerned District Sports Officer would be the Convenor of the commitee.
The committees have been assigned the task of completing various arrangements such as the repair works at the stadiums, renovation, arrangements for toilets, whitewashing and ensuring seating capacity for 15000-20000 persons by November 25th.

Special #Leave for #Voters in #Punjab on 21st Oct

(Chd,Pb)Special #Leave for #Voters in #Punjab on 21st October
The voters of four constituencies going for by poll can avail special leave on 21st October, 2019
On 21st of October, 2019 (Monday), Assembly Constituencies Phagwara-29, Mukerian-39, Dakha-68 and Jalalabad-79 would go to polls. In case, any Government officer/employee is registered as a voter in any of these constituencies but is posted out of his/her constituency then the person can avail special leave for 21st October from the authority concerned by presenting his/her voter card.

दूध मखणं वाले पँजाब में ९०० किलो नकली घी जब्त

(चंडीगढ़,पँजाब) दूध मक्खणं वाले पँजाब में दूध मखणं वाले पँजाब में ९०० किलो नकली घी जब्त
मनसा में रविवार को करीब 900 लीटर मिलावटी घी को जब्त किया गया।
पंजाब के खाद्य एवं औषधि प्रशासन के आयुक्त के एस पन्नू के अनुसार कथित रूप से 13 ब्रांडों के नाम पर मिलावटी घी बेचने वालों में कथित रूप से एक निर्माता शामिल था।

पँजाब के लिए अधिकृत 17 मंत्रियों की संख्या बढ़ा कर 23 किये

[चंडीगढ़,पंजाब]पँजाब के लिए अधिकृत 17 मंत्रियों की संख्या लेकिन अब मंत्री 23 हुए
इस पर #शिरोमणिअकालीदल बिफरा है|
मंत्री स्तर के #सलाहकार बनाये गए 6 विधायकों को लाभ का पद दिया गया है |
विधायक राजा वडिंग को भी केबिनेट स्तर मिला है
अकाली प्रवक्ता #दलजीतचीमा ने इनके तत्काल निरस्तीकरण की मांग की है
अधिवक्ता जगमोहन सिंह भट्टी इस मामले को मामले को पंजाब हाईकोर्ट में ले गए

फ़तेहवीर को बचाने में पंजाब सरकार को मिली शिकस्त:अब लीपापोती शुरू

[संगरूर,पंजाब]फ़तेहवीर को बचाने में पंजाब सरकार को मिली शिकस्त:अब लीपापोती शुरू
पंजाब के संगरूर जिले में 150 फुट गहरे बोरवेल में गिरे दो वर्षीय फतेहवीर सिंह को करीब 110 घंटे बाद मंगलवार सुबह बाहर तो निकाल लिया गया लेकिन उसकी जान नहीं बचाई जा सकी।
राष्ट्रीय आपदा मोचन बल’ के कर्मियों ने सुबह करीब साढ़े पांच बजे बच्चे को बोरवेल से बाहर निकाल कर पुलिस सुरक्षा के बीच बच्चे को चंडीगढ़ के ‘स्नातकोत्तर चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान’ (पीजीआईएमईआर) ले जाया गया था।
अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि बच्चे को मृत अवस्था में वहां लाया गया था।
फतेहवीर इसी सोमवार को दो साल का हुआ था। वह सात इंच चौड़े और 125 फुट गहरे बोरवेल में गिर गया था। वह अपने माता-पिता की इकलौती संतान था।जनता और सियासी दबाब के चलते अब मुख्य मंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट करके बताय है के प्रदेश के सभी बोरवेल बंद करने के आदेश जारी करदिये गए हैं|इससे पूर्व जगह जगह प्रदर्शन हो रहे हैं |सुखबीर सिंह बादल और हरसिमरत कौर बादल ने लापरवाही के लिए सीएम पर करारे प्रहार किये हैं
फतेहवीर सिंह जिले के भगवानपुरा गांव में अपने घर के पास एक सूखे पड़े बोरवेल में गुरुवार शाम करीब चार बजे गिर गया था।
बोरवेल कपड़े से ढका हुआ था इसलिए बच्चा दुर्घटनावश उसमें गिर गया।
बचाव दल बच्चे तक खाना-पीना नहीं पहुंचा पाए थे।
बच्चे को बचाने के लिए बोरवेल के समानांतर एक दूसरा बोरवेल खोदा गया था और उसमें कंक्रीट के बने 36 इंच व्यास के पाइप डाले गए थे।
बचाव अभियान में देरी के कारण स्थानीय लोगों ने सोमवार को जिला प्रशासन और राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन भी किया था।
सुनाम-मानसा मार्ग को गांववालों ने बाधित कर दिया था।