Ad

Tag: PunjabGovt

सिद्धू साहिब!जालंधर में अवैध निर्माणों पर आपके पिछले दौरे के अपडेट्स क्या है

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

पंजाब कांग्रेस का चेयर लीडर

औए झल्लेया मुबारकां!हसाड़े हरफनमौला नवजोत सिंह सिद्धू जी ने जालंधर में भी अपनी धाक जमा ली है|औए अब तो उनके आगमन क खबर मात्र से अधिकारियों की सुत्थणे गीली हो जाती है |अब तो इस ऐतिहासिक शहर की काया कल्प हो जानी है |भ्र्ष्टाचार गायब हो जाना है|

झल्ला

मेरे चतुर सुजान जी ! आपजी की सारी गल्लां सर मत्थे लेकिन ये बता दो के सिद्धू साहिब को जब पिछला दौरा पढ़ा था तब उन्होंने अवैध कालोनी में प्रेस कॉनफेरेन्स करके लगभग ३५ अवैध कालोनियों+अवैध निर्माणों के खिलाफ कार्यवाही का शंखनाद करते हुए ८ अफसरों को सस्पेंड किया था |उस प्रकरण का अपडेट्स क्या है?

१९४७ में छोड़ी गई जमीन और रेफुजियों को अलॉटमेंट की जांच आवश्यक

[चंडीगढ़,दिल्ली]१९४७ में छोड़ी गई जमीन और उसकी रेफुजियों को अलॉटमेंट की जांच आवश्यक
१९४७ के विभाजन के दौरान देश में छोड़ी गई जमीन और फिर उसे रेफुजियों को अलॉटमेंट प्रक्रिया की जांच
आवश्यक है|
आजादी के बाद से ही इस अलॉटमेंट प्रक्रिया पर सवाल उठते आ रहे हैं |
1947 में बढ़ी संख्या में मुस्लिम परिवार अपनी उपजाऊ जमीनों+मूलयवान सम्पत्ति को भारत सरकार के भरोसे छोड़ कर पाकिस्तान जाने को मजबूर हुए|उनकी उस सम्पत्ति को भारत में आ रहे हिन्दू शरणार्थियों को अलॉट किया गया लेकिन दुर्भाग्यवश आज तक उन जमीनों+सम्पत्ति का लेखा जोखा नही है| केंद्रीय गृह मंत्रालय से लेकर पंजाब हरियाणा और यूपी की सरकारें इस दिशा में बचती फिर रही है |तमाम सरकारें इसकी जांच भी करवाने को तैयार नही है |२००५ में पंजाब में बाकायदा एक्ट जारी करके रेफुजियों के सारे हक़ जब्त कर लिए गए,जिसके फलस्वरूप ओल्ड लैंड रिकॉर्ड कार्यालयों से लेकर उच्च अदालतों में भी हजारों केस अपनी तारीखों के लिए जूतियां रगड़ रहे हैं|पीएमओ भी महज पोस्ट ऑफिस की भूमिका निभाने में व्यस्त है |तीन साल से इसके ग्रीवांस सेल्ल के पोर्टल पर कोई प्रगति अपलोड नहीं की जा रही है|पंजाब के मुख्य सचिव के पोर्टल का भी कमोबेश यही हाल है|१९८४ के पीड़ितों को मुआवजे के लिए बंद पढ़े कानून की कतबों को खुलवाने के लिए वर्तमान पंजाब सरकार पूरा जोर लगा रही है लेकिन २००५ के एक्ट को खुलवाने के लिए उसमे कोई रूचि नहीं है |
मेरे अनुभव के अनुसार ये जमीन बढ़ी संख्या में भारत आने वाले हिंदुओं को महज कागजों में ही अलॉट की गई |अधिकांश को केंसिल दिखा कर टरका दिया गया| केंसिल की गई जमीनों का पुनः अलॉटमेंट की कोई सूचना देने को तैयार नहीं है| व्यक्तिगत प्रयासों से ज्ञात हुआ है के पटवारियों के खातों में अभी भी ऐसी भूमि पढ़ी हुई है| जिन पर अवैध कब्जे कराये गए हैं|इसी से स्वाभाविक शक पैदा होता है के बढ़ी मात्रा में बंदरबांट की गई है |
इसी के मध्यनजर क्यूँ ना पंजाब और हरियाणा के साथ यूपी में भी 1947 की जमीनों की जांच हो जाये

सिद्धू ने ड्रग+सैंड माफिया को छोटा दिखाने को “अवैध निर्माण” को बढ़ा किया

झल्ले दी झल्लियाँ गलां

कांग्रेस का पंजाबी चेयर लीडर

औए झल्लेया ! हसाड़े लाफिंग जट्ट नवजोत सिंह सिद्धू ने जालंधर में झंडे गाड़ दिए |औए पंजाब में करप्शन के प्रति जीरो टोलेरेंस की निति का पालन करते हुए उन्होंने अवैध निर्माण को मौके पर जाकर रुकवा दिया और दोषी ऑफिसर्स को ससपेंड भी करा दिया

झल्ला

मेरे चतुर सुजान जी ! सिद्धू ने ड्रग+सैंड माफिया को छोटा दिखाने को “अवैध निर्माण” को बढ़ा किया हैं
किसी भी खींची हुई लकीर को छोटा साबित करने के लिए उसके सामने बढ़ी लकीर खींचने की पुराणी राजनितिक चालें हैं |आपजी के सिद्धू ने भी ड्रग और सैंड माफिया जैसी लकीरों को छोटा दिखाने के लिए अवैध निर्माण को बढ़ी लाइन के रूप में पेश कर दिया है|

शिमला+पंजाब+दिल्ली के नेताओं में पानी समाप्त

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

आम पीड़ित नागरिक

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है? औए अभी तक तो रेगिस्तानों में पानी की कमी की सुनते आये थे अब ये खुशहाल शहरों में भी पानी के लिए हाहाकरा मच रही है |हिमांचल प्रदेश के शिमला+पंजाब के लुधियाना+दिल्ली में पानी के लिए मारामारी हो रही है और ये भाजपा+कांग्रेस +आप की सरकारें एक दूसरे पर दोषारोपण में ही लिप्त हैं

झल्ला

भापा जी ये पानी की कमी किसी एक प्रदेश या किसी एक राजनितिक पार्टी की सरकार में नहीं हैं| ऐसा लगता है के राजनितिक दलों के अंदर पानी समाप्त होने लगा गया है|

पानी की कमी पर उदासीनता को लेकर प्रदेश+स्थानीय न्रेतत्व पर फूटा गुस्सा

[लुधियाना,पंजाब ] पानी की कमी पर प्रदेश के साथ ही स्थानीय न्रेतत्व की उदासीनता के विरुद्ध फूटा गुस्सा |लुधियाना जैसे महत्वपूर्ण शहर में पानी की कमी गर्मी के प्रभाव को और बढ़ा रही है ,जिसमे न्रेतत्व की उदासीनता घी का काम कर रही है|स्थानीय कौंसलर कुलदीप ने तो आंदोलनरत महिलाओं को यह कह कर भड़का दिया के अकालियों से तो १० साल तक नहीं माँगा लेकिन कांग्रेस को निशाना बनाया जा रहा है|जिसके फलस्वरूप लोगों का गुस्सा भड़क उठा और जबरदस्त कहा सुनी हुई|
गौरतलब हे के ताजपुर +टिब्बारोड आदि छेत्रों में पानी की सप्लाई नहीं आ रही है और जो आ भी रही है उसमे प्रदूषित पानी लोगों को चिकित्स्कों की तरफ धकेलने में पर्याप्त है| इसीको लेकर पीड़ितों ने विधायक संजय तलवाड़ के ऑफिस के बाहर भी प्रदर्शन किया|

कैप्टेन साहिब!ड्रग्स+रेत माफिआ पर नकेल के अपने संकल्प को तो पूरा करलो

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

पंजाबी कांग्रेसी

औए झल्लेया मुबारकां! औए हसाड़े धाकड़ कैप्टेन अमरिंदर सिंह महाराज ने एलान कर दिया है के अब हसाड़े सोणे पंजाब में अब कोई सरगना छोड़ा नहीं जाएगा|औए जिस तरह सरगना विक्की गौंडर को पुलिस से मरवा दिया ठीक उसी तरह सारे सरगनाओं को समाप्त कर दिया जाएगा|

झल्ला

ठीक है जी सरगना आप का हो या उनका हो उसका खात्मा जनहित में ही होता है लेकिन यह नया पंगा लेने से पहले ड्रग्स और रेत माफिआ पर नकेल के अपने संकल्प को पूरा करलो

विधायक अमन अरोड़ा ने गरीबों के मुफ्त इलाज के लिए मोबाईल क्लिनिक दिया

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

आप पार्टी चीयर लीडर

औए झल्लेया देखा हसाड़े नेताओं का त्याग और समर्पण भाव | हसाड़े सुनाम से विधायक अमन अरोड़ा ने अपने स्वर्गीय पिता की स्मृति में मोबाईल क्लिनिक समाज को समर्पित किया है |इसमें इलाके के मरीजों का मुफ्त इलाज होगा

झल्ला

भापा जी! वाकई आपके विधायक का ये बधाई वाला काम है क्योंकि जब समृद्ध पंजाब की सरकार गरीबों को स्वास्थ्य संबंधी सुविधाएं देने में अरुचि दिखाएँ तो अमन अरोड़ा जैसे समाजसेवियों को आगे आना ही होगा

सिद्धू ने कांग्रेस अध्यक्षों के पश्चात् स्वर्ण मंदिर में भी शुक्राना अदा किया

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

नवजोत सिंह सिद्धू प्रशंसक

औए झल्लेया मुबारकां ! औए हसाड़े लोकल बॉडी मिनिस्टर नवजोत सिंह सिद्धू ने मंगलवार को श्री हरमिंदर साहब में माथा टेका+ स्वर्ण मंदिर की परिक्रमा की और गुरुओं की अमृत वाणी का श्रवण भी किया औए सिद्धू साहब ने मिनिस्टर बन कर भी गुरु घर की लड़ नहीं छड्डी

झल्ला

भोले बादशाहो! ३० साल पुराने कत्ल के केस में सुप्रीम कोर्ट से बरी होने में कांग्रेस और गुरु महाराज दोनों का आशीर्वाद था
जब सिद्धू साहिब ने कांग्रेस के अध्यक्षों का उनके निवास पर जाकर शुक्राना अदा कर दिया तो अब गुरुमहाराज के दरबार में भी हाजरी लाजमी होजाती है

सिद्धू को सुप्रीम कोर्ट ने ३० साल पुराने केस में बरी करके पुनः हंसाने का अवसर दिया

[नई दिल्ली,चंडीगढ़,पंजाब ] सिद्धू को ३० साल पुराने केस में बरी करके सुप्रीम कोर्ट ने पुनः हंसाने का अवसर दिया
लाफिंग जट्ट नवजोत सिंह सिद्धू पर ३०साल से गैरइरादतन हत्या का मुकद्दमा चल रहा था |हाई कोर्ट से तीन साल की कैद की सजा पाए सिद्धू ने सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाईं थी | आज सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व क्रिकेटर और पंजाब में स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को गुरनाम सिंह से मामूली रोडरेज में झगड़े का दोषी ही पाया|और इस बहु प्रतिभासम्पन्न पर महज हजार रु का जुर्माना लगाकर छोड़ दिया| १८ अप्रैल को सुरक्षित रखे गए इस फैंसले को जस्टिस जे चेलमेश्वर और जस्टिस संजय किशन कौल की पीठ द्वारा सुनाया गया|सिद्धू टीवी पर कॉमेडी शो में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते आ रहे हैं |

सिलेबस में सिख इतिहास हटाने को लेकर पूर्व ने वर्तमान सीएम को ललकारा

[चंडीगढ़,पंजाब]सिलेबस में सिख इतिहास हटाने को लेकर पूर्व ने वर्तमान सीएम को ललकारा
पूर्व मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा के सिख इतिहास को समाप्त करने के लिए बनाई गई कैप्टेन अमरिंदर सिंह की कमिटी लोगों को गुमराह करने और अपना अपराध दूसरों पर थोपने के लिए ही बनाई गई है|
उन्होंने कहा के कांग्रेस सिख इतिहास को समाप्त करने पर तुली हुई है|वयोवृद्ध बादल ने कहा के अपनी गलती मानने से कोई छोटा नहीं हो जाता इसीलिए कैप्टेन को अपनी गलती किसी दूसरे पर थोपने के बजाय स्वयं अपनी गलती मान लेनी चाहिए |गौरतलब हे के पंजाब में बारहवीं कक्षा के सिलेबस से महत्वपूर्ण सिख इतिहास को हटाने के आरोप लगाए जा रहे हैं जिसे लेकर अकाली दल लगातार कांग्रेस की सरकार पर हमलावर है | शाहकोट में उपचुनाव होने हैं जहाँ इस मुद्दे को भुनाने की भरसक कोशिश जारी रहेगी