Ad

Tag: PunjabGovt

पंजाब में छोटी मछलियों को “रिश्वत रेट्स” मलाईदार विभागों के अनुसार फिक्स्ड

[चंडीगढ़,पंजाब]पंजाब में लगता है के छोटी मछलियों के लिए रिश्वत के रेट्स भी मलाईदार विभागों के अनुसार फिक्स्ड हैं
चूँकि अभी तक बढ़ी मछली पकड़ी नहीं जा सकी इसीलिए उनके विषय में अभी कुछ कहना अनुचित ही होगा
पटवारी या रेवेनुए पटवारी कहीं का भी हो किसी का भी हुक्म बजा रहा हो कम से कम रु ५००० की रिश्वत के साथ ही पकड़ा जाता है
पंजाब पोलिस का कांस्टेबिल हो,हेड कांस्टेबिल या फिर ऐएसआई को रु 10000 /20000/50000 की रिश्वत के साथ ही रंगे हाथों ट्रैप किया गया
एक क्लर्क बादशाह को जब फांसा गया तो उसके कब्जे से रु १२००० मिले
अभी तक इस सरकार में कोई बढ़ी मछली नहीं पकड़ी जा सकी है इसीलिए उनके रेट्स उपलब्ध नहीं हैं
स्टेट विजिलेंस ब्यूरो ने अभी बीते दिनों ही लुधियाना में हैबोवालकलां के रेवेनुए पटवारी वरिंदर कुमार को जमीन की फर्द में कुछ करने के लिए रु 5000 की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया
इसी ब्यूरो ने फरीदकोट पट्टी के हेड कांस्टेबिल बलविंदर सिंह को ड्रग पैडलिंग में रु ५०००० की रिश्वत के साथ फांसा
ऐसे अनेकों केस हैं इन सभी को प्रिवेंशन ऑफ़ करप्शन एक्ट बुक किया गया है

३ साल पुराने बहिबल कलां गोलीकांड के पीड़ितों को १ करोड़ रु की सहायता

[चंदीग्रह,पंजाब] ३ साल पुराने बहिबल कलां गोलीकांड के पीड़ितों को १ करोड़ रु की सहायता के एलान के साथ पूर्व मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बदल को घेरने की तैयारी | इस कांड की जाँच सी बी आई को देने का भी एलान हुआ |
पंजाब के मुख्य मंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने पंजाब भवन में आयोजित अपनी प्रेस वार्ता में यह एलान किया |
१४ अक्टूबर २०१५ में बडग़ाडी में पवित्र ग्रथ साहब की बेअदबी के विरोध में बहिबल कलां में चल रहे रोष प्रदर्शन पर पोलिस ने गोली चलाई | जिसमे गुरजीत सिंह +किशन भगवान सिंह की मौत हो गई| अनेक प्रदर्शनकारी घायल हो गए|
गोलीकांड में अनेकों अधिकारीयों की संलिप्तता के आरोप लगते आ रहे हैं| यहाँ तक के तत्कालीन सीएम को भी घेरने के प्रयास हुए हैं| गौरतलब हे के ३० जून को जस्टिस रंजीत कमीशन द्वारा रिपोर्ट सौंपी गई थी और आज एक माह पश्चात् उस पर कार्यवाही का एलान कर दिया गया है|अब सीबीआई को इसकी जाँच दी जाएगी |कैप्टेन कहते आये हैं के मुख्य मंत्री के आदेश पर ही फायरिंग की गई|

पंजाब के सीएम कैप्टेन अमरिंदर दशक पुराने भ्रष्टाचार मामले में बरी

[मोहाली,पंजाब]पंजाब के सीएम कैप्टेन अमरिंदर दशक पुराने भ्रष्टाचार मामले में बरी | पंजाब विधानसभा की सिफारिश पर 2008 में सतर्कता ब्यूरो द्वारा मामला दर्ज किया था।
मोहाली के विशेष न्यायाधीश जसविंदर सिंह ने राज्य के सतर्कता ब्यूरो (वीबी) द्वारा दायर मामला बंद करने की रिपोर्ट स्वीकार करते हुए अमृतसर सुधार न्यास की 32.10 एकड़ जमीन एक निजी डेवलपर को हस्तांतरण करने में गड़बड़ी मामले में 18 आरोपियों को बरी किया।
आरोपियों में पंजाब विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष केवल कृष्ण और दो पूर्व मंत्री शामिल थे। इन तीनों की मौत हो चुकी है।

चंडीगढ़ पर हक़ को लेकर पंजाब और हरियाणा फिर ताल ठोकने लगे

Haryana Govt[चंडीगढ़] चंडीगढ़ पर हक़ को लेकर पंजाब और हरियाणा फिर ताल ठोकने लगे
पंजाब के सी एम कैप्टेन अमरिंदर सिंह और हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने यूनियन टेरेटरी चंडीगढ़ पर अपना हक दोहराना शुरू कर दिया है|
बीते दिनों खट्टर ने पंजाब यूनिवर्सिटी में हरियाणा के लिए घोषित हक की मांग की और अब पंजाब के सी एम कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने चंडीगढ़ को पंजाब की राजधानी बनाये जाने की पुरानी मांग दोहरा दी है | मालूम हो के फिलवक्त चंडीगढ़ में हरियाणा और पंजाब दोनों राज्यों की राजधानी है और यहाँ अधिकतर यूनियन टेरिटरी कैडर के अधिकारियों की तैनाती होती आई है|
दोनों राज्य चंडीगढ़ को लेकर मय समय पर अपना हक जमाते आ रहे हैं |कैप्टेन ने चंडीगढ़ में पंजाब कैडर के अधिक अधिकारीयों की तैनाती की मांग भी की है

भाजपा सांसद ने पंजाब में नशे के कारोबार के प्रति राज्यसभा में चिंता व्यक्त की

[नई दिल्ली] भाजपा सांसद ने राज्यसभा में पंजाब में नशे के कारोबार के प्रति चिंता व्यक्त की |
अमृतसर से भाजपा के सांसद श्वेत मलिक ने शून्य काल में यह चिंता व्यक्त करते हुए कहा के पंजाब में अघोषित एमरजेंसी लगी हुई है | पंजाब में किसी भी आयुवर्ग के पीड़ित को आसानी से किसी भी समय कहीं से भी ड्रग्स उपलब्ध हो जाती है जिसके फलस्वरूप कृषि प्रधान प्रदेश आज प्रदेश की नाकामी के कारण नशे का गुलाम बन चूका है |इसकी रोकथाम के उपायों की उन्होंने मांग की

बकौल सिद्धू,गोडडे छूना तो आदर की संस्कृति है, फिर ऐएसआई का निलम्ब क्यूँ

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

पंजाबी कांग्रेसी चेयर लीडर

औए झल्लेया ! हसाड़े कैप्टेन साहिब की सरकार में चमचो को कोई स्थान नहीं है |औए फ़तेह गढ़ में चूड़ियां में तैनात सहायक उप निरीक्षक (एएसआई) पलविंदर सिंह ने हसाड़े मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा साहिब के घर पर जा कर उनके पाँव छु कर चमचागिरी करने की कोशिश की और पोलिस की छवि को बदनाम करने के कोशिश की तो मंत्री जी ने तत्काल बार्डर रेंज के महानिरीक्षक एस पी एस परमार को फोन करके ऐ एस आई को निलंबित करा दिया|

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजान!
बकौल आपके स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ,गोडों को छूना तो आदर सत्कार की संस्कृति में शामिल है |वे स्वयं भी विरोधियों के गोडों को छूते आ रहे हैं | अब बेचारे की व्यथा दूर करने के स्थान पर निलंबन कुछ ज्यादा शोशे बाजी तो नहीं हो गई ???

नशे की गिरफ्त में ‘उड़ता पंजाब’ अब बना “मरता पंजाब”

[चण्डीगढ़,पंजाब]नशे की गिरफ्त में ‘उड़ता पंजाब’ अब बना “मरता पंजाब”
धनधान्य से भरा पंजाब अभी बामुश्किल आतंकवाद के श्राप से मुक्त ही हुआ था के अब इसे नशे की लत ने आ घेरा है |इसके चंगुल में प्रतिदिन एक से ज्यादा फंसे असमय युवा मृत्यु का ग्रास बन रहे हैं | सीमा पर स्थित इस सम्पन्न प्रदेश के नेतागण एक दूसरे पर दोषारोपण की मृग तृष्णा में ही लिप्त है | एसऐडी से सरकार हथियाने के पश्चात् कांग्रेस के राज में भी
नशीली वस्तुओं का कारोबार फलफूल रहा है|एक तस्कर की स्वीकरोक्ति के अनुसार पिछले पांच वर्षों में झाड़खंड के नक्सली इलाकों से पंजाब के लिए ८०० क्विंटल अफीम स्मगल की जा चुकी है अर्थार्त प्रति वर्ष १६० क्विंटल अफीम पंजाब में खपाई जा रही है |नशे के ओवरडोज से पंजाब में प्रतिदिन एक से ज्यादा मृत्यु हो रही हैं
जाहिर है इसका पैसा नक्सली गिरोहों के हाथों में जा रहा है|दोनों ही सूरतों में राष्ट्र की हानि है|
पंजाब में वर्तमान सीएम कांग्रेस के कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने ड्रग्स को ही मुद्दा बना कर प्रदेश में आप पार्टी को पछाड़ कर अकालियों से सत्ता हथियाई थी |उस समय उन्होंने गुटका साहब की सौगंध खा कर कहा था के जो काम आप पार्टी चार महीनों में करेगी वोह ड्रग्स के सफाये का काम केवल चार हफ़्तों में कर दिखाएँगे |हुआ इसके ठीक ही उलट नशे की ओवरडोज से मरने वालों की संख्या में इजाफा होने लगा |अमृतसर जैसे धार्मिक शहर में ही नशे की ओवरडोज से बीते दिन दो युवाओं के मरने के समाचार हैं |
ऐसा नहीं प्रदेश सरकार ने इस दिशा में कोई काम नहीं किया |कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने नशे के तस्करों के लिए फांसी का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा है |इसके अलावा उन्होंने पोलिस सिपाही और कर्मियों के लिए डोप टेस्ट अनिवार्य करते हुए नेताओं को अपनी अंतरात्मा के अनुरूप डोप टेस्ट करवाने को भी प्रेरित किया है लेकिन नशे की तस्करी और उससे हो रही मौतों के मध्यनजर कैप्टेन के प्रयासों को मुख्य मुद्दे से टालने वाला ही माना जा रहा है| प्रदेश में पॉलिटिशियन+पुलिस+ड्रग पेडलर्स की मिली भगत बेहद गहरी मालूम देती है तभी अभी तक ना तो कोई पॉलिटिशियन पकड़ा गया ,नाही ड्रग की कोई बढ़ी खेप ही पकड़ी गई और ना ही कोई एनकाउंटर में तस्कर मारा गया|छोटी मछलियों तक ही प्रशासन और शासन सिमित दिखाई देता है
पोलिस की बात करें तो मोगा का नवीनतम उद्धारहण है |एक पोलिस कप्तान को हटाया तो दूसरा भी ड्रग्स की तस्करी को बढ़ाव देने के आरोप में एक हफ्ते में ही बदल दिया गया |
पंजाब के पड़ौसी राज्यों की बात की जाये तो हरियाणा में बीते दिन एक अंतराष्ट्रीय तस्कर चार्ल्स माइकल को एनकाउंटर में मार गिराया गया| दिल्ली पुलिस ने झाड़खंड से पंजाब के लिए आ रही अफीम की बढ़ी खेप पकड़ ने में सफलता पाई
सम्भवत इसीलिए आप पार्टी के प्रदेश के नेता सुखपाल सिंह खेरा और एच एस फुल्का ने डोप टेस्ट में पारदर्शिता की मांग उठाई है|
खेरा ने सभी कर्मियों के डोप टेस्ट के आदेश से नशा तस्कर गिरोहों से ध्यान भटकेगा इसीलिए इसकी समीक्षा की मांग की गई है |

“आप” विधायक फुल्का ने डोप टेस्ट की प्रक्रिया पर सवाल उठाये

[लुधियाना,पंजाब] “आप” विधायक फुल्का ने पंजाब में हो रहे डोप टेस्ट की प्रक्रिया पर सवाल उठाये
विधायक एच एस फुल्का आज लुधियाना के सिविल अस्पताल पहुंचे और अपना डोप टेस्ट करवाया जिसमे नेगेटिव रिपोर्ट आई है|इस अवसर पर उन्होंने डोप टेस्ट की प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए हेल्थ मिनिस्टर ब्रह्म मोहिंद्र से मांग करते हुए कहा के डोप टेस्ट की प्रक्रिया पूर्णतया सी सी टी वी की निगरानी में पारदर्शी होनी चाहिए |उन्होंने इस महत्वपूर्ण प्रक्रिया में स्टैण्डर्ड ऑपरेटिंग सिस्टम की आवश्यकता पर भी बल दिया|मालूम हो के मुख्य मंत्री कैप्टेन अमरिण्डे सिंह द्वारा डोप टेस्ट के लिए जन प्रतिनिधियों की अंतरात्मा को झकझोरा गया था जिसके जवाब में सबसे पहले फुल्का ने ही टेस्ट करवाने को हामी भरी थी |इसके पश्चात् सी एम ने भी इसके लिए स्वीकृति दे दी |विधान सभा स्पीकर राणा के पी सिंह टेस्ट करवा चुके हैं लेकिन आश्चर्यजनक रूप से अकालियों के पश्चात् टेस्ट करवाने को कहा है |
गौरतलब हे के इस टेस्ट के लिए रु १५००/= फीस निर्धारित है जबकि इससे पूर्व एक विधायक द्वारा फ्री में टेस्ट करवा लिया गया था|

पंजाब के नेताओं के जमीर जागने लगे ,करा रहे हैं डोप टेस्ट

[चंडीगढ़,पंजाब]पंजाब के नेताओं के जमीर जागने लगे ,करा रहे हैं डोप टेस्ट
पंजाब विधान सभा अध्यक्ष और आनदपुर साहिब से विधायक राणा के पी सिंह ने मोहाली +लुधियाना में कांग्रेस के ही सांसद रवनीत सिंह बिट्टू के आलावा नवाँशहर से विपक्ष में अकाली विधायक डॉक्टर सुखविंदर कुमार ने भी डोप टेस्ट कराया है |आप के नेता एच एस फुल्का ने इस टेस्ट के लिए अधिकृत लेबोरेटरी की जानकारी मांगी है| मुख्य मंत्री स्वयं भी डोप टेस्ट करवाने के लिए हामी भर चुके हैं लेकिन उन्होंने अन्यनिर्वाचित प्रतिनिधियों को उनके स्वयं के जमीर पर छोड़ा है

कैप्टेन साहिब! अगर पानी मिलता तो आपका किसान पानी की चोरी ही क्यूँ करता

[चंडीगढ़,पंजाब] कैप्टेन साहिब! अगर पानी मिलता तो आपका किसान पानी की चोरी ही क्यूँ करता
पंजाब सरकार धान और अन्य खरीफ फसलों के लिए नहर के पानी की पर्याप्त आपूर्ति का आश्वासन लगातार देती आ रही है लेकिन प्रदेश में नहर से पानी चोरी के 191 मामला दर्ज हो चुके है |
प्राप्त जानकारी के अनुसार जल संसाधन विभाग ने वर्तमान धान मौसम में पिछले तीन सप्ताह के दौरान पानी चोरी के 191 मामले दर्ज किए हैं। फिरोजपुर नहर क्षेत्र में ही पानी चोरी के करीब 118 मामला दर्ज किये गये है ।
जल संसाधन मंत्री सुखबिंदर सिंह सरकरिया के अनुसार पानी की किसी भी तरह की चोरी को रोकने के लिए नहरों की लगातार निगरानी की जाएगी और अगर कोई दोषी पाया जाता है तो उसे बख्शा नहीं जाएगा।
सरकरिया ने किसानों को धान और अन्य खरीफ फसलों के लिए नहर के पानी की पर्याप्त आपूर्ति का आश्वासन दिया।
उन्होंने किसानों से भूजल पर निर्भरता घटाने और ऐसा फसल उगाने की अपील की जो जल्दी तैयार होती हो और जिसमें कम पानी की जरूरत पड़ती है।