Ad

Tag: SukhbirSinghBadal

फ़तेहवीर को बचाने में पंजाब सरकार को मिली शिकस्त:अब लीपापोती शुरू

[संगरूर,पंजाब]फ़तेहवीर को बचाने में पंजाब सरकार को मिली शिकस्त:अब लीपापोती शुरू
पंजाब के संगरूर जिले में 150 फुट गहरे बोरवेल में गिरे दो वर्षीय फतेहवीर सिंह को करीब 110 घंटे बाद मंगलवार सुबह बाहर तो निकाल लिया गया लेकिन उसकी जान नहीं बचाई जा सकी।
राष्ट्रीय आपदा मोचन बल’ के कर्मियों ने सुबह करीब साढ़े पांच बजे बच्चे को बोरवेल से बाहर निकाल कर पुलिस सुरक्षा के बीच बच्चे को चंडीगढ़ के ‘स्नातकोत्तर चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान’ (पीजीआईएमईआर) ले जाया गया था।
अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि बच्चे को मृत अवस्था में वहां लाया गया था।
फतेहवीर इसी सोमवार को दो साल का हुआ था। वह सात इंच चौड़े और 125 फुट गहरे बोरवेल में गिर गया था। वह अपने माता-पिता की इकलौती संतान था।जनता और सियासी दबाब के चलते अब मुख्य मंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट करके बताय है के प्रदेश के सभी बोरवेल बंद करने के आदेश जारी करदिये गए हैं|इससे पूर्व जगह जगह प्रदर्शन हो रहे हैं |सुखबीर सिंह बादल और हरसिमरत कौर बादल ने लापरवाही के लिए सीएम पर करारे प्रहार किये हैं
फतेहवीर सिंह जिले के भगवानपुरा गांव में अपने घर के पास एक सूखे पड़े बोरवेल में गुरुवार शाम करीब चार बजे गिर गया था।
बोरवेल कपड़े से ढका हुआ था इसलिए बच्चा दुर्घटनावश उसमें गिर गया।
बचाव दल बच्चे तक खाना-पीना नहीं पहुंचा पाए थे।
बच्चे को बचाने के लिए बोरवेल के समानांतर एक दूसरा बोरवेल खोदा गया था और उसमें कंक्रीट के बने 36 इंच व्यास के पाइप डाले गए थे।
बचाव अभियान में देरी के कारण स्थानीय लोगों ने सोमवार को जिला प्रशासन और राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन भी किया था।
सुनाम-मानसा मार्ग को गांववालों ने बाधित कर दिया था।

पूर्व उपमुख्यमंत्री “बादल” भी एसआईटी के सभी सवालों के जवाब दे रहे हैं

[चंडीगढ़,पंजाब] पूर्व उपमुख्यमंत्री बादल भी एसआईटी के सभी सवालों के जवाब दे रहे हैं
पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल भी आज एस आई टी के समक्ष पेश हो |
चंडीगढ़ स्थित पुलिस मुख्यालय में दे रहे हैं सभी सवालों के जवाब |उनके साथ पहुंचे उनके रिश्ते दार विक्रम जीत सिंह मजीठिया अपने साथियों संग अपने जीजा के समर्थन में पुलिस मुख्यालय के बाहर खड़े हैं |
मालूम हो के पंजाब में बेअदबी और उसके पश्चात् गोलीकांड मामले में कांग्रेस के मुख्य मंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह द्वारा स्पेशल जांच टीम का गठन किया गया है | जिसके द्वारा सम्मन भेजे गए हैं |
सम्मन का पालन करते हुए पूर्व मुख्य मंत्री और कांग्रेस के कट्टर विरोधी वयोवृद्ध प्रकाश सिंह बादल भी पेश हो चुके हैं और सहयोग कर रहे हैं |उन्होंने एस आई टी की जाँच के पश्चात् प्रेस कॉन्फ्रेंस बुला आकर एसआईटी के गठन को कैप्टेन अमरिंदर सिंह का राजनितिक हथियार बताया था|
फाइल फोटो

पंजाब में कांग्रेसी सरकार के खिलाफ एक नवंबर से अकालियों का धर्मयुद्ध

[चंडीगढ़,पंजाब]पंजाब में कांग्रेसी सरकार के खिलाफ एक नवंबर से अकालियों का धर्मयुद्ध|पंजाब में एक बार फिर धर्म असंतोष उभरने लगा है|इस बार कक्षा १२ के पाठ्यक्रम में शामिल किताब में सिख धर्म गुरुओं के इतिहास को तोड़ने मरोड़ने के आरोप लगाए गए हैं |
पंजाब में कांग्रेस की सरकार के खिलाफ अकालियों ने एक नवम्बर से धर्म युद्ध छेड़ने का एलान किया है
सुखबीर सिंह बादल ने प्रेस कांफ्रेंस में प्रदेश में कांग्रेस के कैप्टेन अमरिंदर सिंह की सरकार पर सिख गुरुओं के इतिहास को तोड़ने मरोड़ने के आरोप लगाए हैं |इस प्रेस कांफ्रेंस में पार्टी प्रवक्ता वरिष्ठ अकाली डॉ दलजीत सिंह चीमा ने कक्षा १२ में पढ़ाये जाने वाले सिख गुरुओं के इतिहास से की गई छेड़छाड़ का चैप्टर+पेज ब्योरा भी दिया |उन्होंने बताया के इस इतिहास में गुरु अर्जुन देव की शहादत को ही नकार दिया गया है ||अकाली न्रेतत्व ने मुख्य मंत्री को माफ़ी मांगने और दोषी इतिहास कारों को दंडित करने की मांग की है इसके लिए दो दिन का अल्टीमेटम दिया गया है|
पंजाब के पूर्व उप मुख्य मंत्री और एस ऐ डी के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने अपने ट्विटर हैंडल पर भी अंग्रेजी में लिखा है
“Sikh qoum demands apology from CM @capt_amarinder & arrest of experts who wrote &govt officials who released class 12 history book with distorted references to Sikh Gurus & Granths.If this not done & book not withdrawn in 2 days qoum will start agitation against Cong sin on Nov1.”

सुखबीर बादल ने अजनाला के विरुद्ध नीवांसोगौरां”का प्रदर्शन किया

[चंडीगढ़,जालंधर, अमृतसर]अकाली दल के अध्यक्ष #सुखबीरसिंहबादल ने नए असन्तुष्ट टकसाली रत्न सिंह अजनाला की उग्रता के जवाब में जो “नीवांसोगौरां” के उपदेश का प्रदर्शन किया और वरिष्ठ नेता के विरुद्ध विनम्रता से यह कहते हुए इनकार कर दिया के अजनाला उनके बुजुर्ग हैं और वे[सुखबीर] खुद उनके पास जा सकते हैं|अजनाला सीनियर हैं यदि कहेंगे तो एसऐडी की अध्यक्षता छोड़ने को भी तैयार हैं |गौरतलब हे के कांग्रेसी केबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू शुरू से ही टकसाली नेताओं को बादलों के विरुद्ध उकसा रहे हैं
और चीफ मिनिस्टर कैप्टेन अमरिंदर सिंह एस जी पी सी से बादलों के वर्चस्व को खत्म करने की मुहीम छेड़े हुए हैं| सम्भवत इसीलिए
टकसाली अकाली रत्न सिंह अजनाला के भी बादल परिवार के खिलाफ सुर बुलंद होने लगे हैं
इसके एक दिन पश्चात् स्थिति को संभालने के प्रयास में शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने धार्मिक स्थल से पत्रकारों के समक्ष कहा के अजनाला उन परिवार के बजुर्ग सदस्य हैं अगर कहेंगे तो वह अपनी प्रधानी छोड़ने को भी तैयार हैं |सुखदेव सिंह ढींडसा+रंजीत सिंह ब्रह्मपुरा भी बादलों का साथ छोड़ चुके हैं बादल ने इस नाराजगी को दूर करने के लिए शीघ्र टकसाली नेताओं से बातचीत करने के भी संकेत दिए
बीते दिन टकसाली अजनाला ने बादल पर परिवारवाद बढ़ाने के आरोप लगते हुए कहा था के वर्करों के बजाय राज्य और केंद्र में पुत्र +पुत्रवधु को ही मंत्री पद दिए गए |इसे लेकर उन्होंने माझा+मालवा+दोआबा में अकाली बचाओ मुहीम छेड़ने की चेतावनी दी है

कैप्टेन के चक्रव्यूह से निकले तो कांग्रेसियों की गालियां:एसऐडी बनाम कांग्रेस

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

पंजाबी कांग्रेसी चेयर लीडर

औए झल्लेया इन हारे हुए अकालियों ने क्या बखेड़ा खड़ा किया हुआ है |गुरु ग्रन्थ साहब की बेअदबी पर जब विधान सभा में बहस शुरू हुई तो जीजा साले समेत सारे के सारे अकाली भाग खड़े हुए और अब टकसाली नेताओं की शरण में जा पहुंचे हैंऔए ये लोग पैसे लेकर अपने टिकट बेचने के अलावा कुछ नहीं करते | प्रदेश हो या केंद्र के मंत्री पद ,सभी पर अपने परिवार को ही स्थापित कराते हैं
cartoon Congress Cheeyar Leader

झल्ला

मेरे चतुर सुजाना !जिस तरह से आपजिओन ने विधान सभा में अकालियों को घेरने के लिए गालियों और आरोपों की व्यूह रचना की थी उससे बच निकलने के लिए इनके लिए सदन की कार्यवाही अलग से करना जरुरी हो गई थी और उसमे सोने पे होगा लगाया PTCने अब आप लोग बौखला कर सडकों पर भी गालियां देने पर उतर आये

सिद्धू ने फिर मर्यादा लाँघि,पंजाब असेंबली में पीटीसी चैनल के विरुद्ध अपशब्द कहे

[चंडीगढ़,पंजाब]सिद्धू ने फिर मर्यादा लाँघि पंजाब असेंबली में एक टीवी चैनल के विरुद्ध अपशब्द कहे | मानसून सेशन के अंतिम दिन आज गुरु ग्रन्थ साहिब की बेअदबी पर जस्टिस रंजीत सिंह की रिपोर्ट पर चर्चा हुई |कांग्रेस के अनेकों वक्ताओं ने पिछली सरकार के सी एम प्रकाश सिंह बादल और उनके पुत्र सुखबीर सिंह बादल को घेरने का बहरपुर प्रयास किया | बिक्रम जीत सिंह मजीठिया के अनुसार डिफेन्स में बोलने के लिए शिरोमणि अकाली दल को केवल १४ मिनट्स का समय दिया गया |इसी के विरोध में अकाली दल ने सदन की कार्यवाही का बहिष्कार करके भवन में ही अपनी सामांतर कार्यवाही प्रारम्भ की जिसका सीधा प्रसारण पी टी सी द्वारा किया गया जिसे बोखला कर नवजोत सिंह सिद्धू ने इस चैनल को अकाली दल का भौंकने वाला कुत्ता कह डाला और चैनल के विरुद्ध कार्यवाही किये जाने की मांग की

“डोप टेस्ट” में नेताओं को छूट पर नेताओं ने कैप्टेन पर हमला बोला

[अमृतसर,चंडीगढ़] “डोप टेस्ट” में नेताओं को छूट पर नेताओं ने कैप्टेन पर हमला बोला
कैप्टेन को “डोप टेस्ट” के निर्णय पर विभिन्न नेताओं ने अपने अंदाज में घेरा |अकाली दल के सर्वोच्च नेता और पूर्व उपमुख्य मंत्री सुखबीर सिंह बादल और केंद्र में उनकी पत्नी हरसिमरत कौर ने नेताओं पर डोप टेस्ट अनिवार्य किये जाने की मांग की है|
सुखबीर सिंह बादल ने पंजाब सरकार द्वारा डोप टेस्ट की घोषणा का स्वागत किया गया है लेकिन इसके साथ ही उन्होंने नेताओं के डोप टेस्ट की भी मांग की है|
सुखबीर की पत्नी और केंद्र सरकार में कद्दावर मंत्री श्रीमती हरसिमरत कौर ने मुख्य मंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह पर निशाना साधते हुए कहा हे के डोप टेस्ट का पालन सबसे पहले उन नेताओं को करना चाहिए जिन्होंने ७०% पंजाबियों को नशेड़ी कहा था|
गौरतलब हे के नशे पर बादलों के खिलाफ अभियान छेड़ने वाले कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने पंजाब में सत्ता तो हथिया ली लेकिन नशे के कारोबारियों के लिए फांसी की मांग की और केंद्रीय गृह मंत्री को पत्र लिख करके इतिश्री कर ली |अब पोलिस और कर्मियों के लिए डोप टेस्ट अनिवार्य किया गया है लेकिन मंत्री+विधायक को इससे छूट दी गई है जिसे लेकर वे आजकल सभी के निशाने पर हैं| आम आदमी पार्टी के नेता एच एस फुल्का ने भी अपने अंदाज में सरकार को घेरते हुए कहा के वह भी डोप टेस्ट करवाने को तैयार हैं उन्हें इसके लिए निर्धारित लेबोरेटरी का पता बताया जाय

जालंधर के निगम कर्मचारियों ने हड़ताल का बिगुल फूँका :स्वर्णमंदिर में भी लगे गन्दगी के ढेर

[जालंधर,पंजाब]जालंधर के निगम कर्मचारियों ने हड़ताल का बिगुल फूँका, स्वर्णमंदिर में भी लगे गन्दगी के ढेर
|नगर निगम के कर्मचारी संगठनों के आह्वाहन पर आज से सफाई व्यवस्था ठप्प कर दी गई है| नगर निगम में चुनी गई नई कांग्रेस सरकार दुवारा कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया जा रहा इसी को लेकर कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं| प्राप्त जानकारी के अनुसार निगम द्वारा दो करोड़ रु जारी करने की घोषणा की थी लेकिन यह रकम भी एक विशेष वर्ग तक ही सिमित रखी गई|हड़ताल समाप्त करने के लिए नवनिर्वाचित मेयर जगदीश राजा निगम कमिशनर बसंत गर्ग की अपील भी किसी को नहीं भाई|मालूम हो के एक दिन की हड़ताल से शहर की साफ़ सफाई पर असर पढ़ना लाजमी है |इसके अलावा अमृतसर दरबार साहिब में भी सफाई करने के लिए आज पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल अपने सहयोगियों सहित सफाई करते दिखाई दिए |बताया जा रहा है के यहाँ लगाईं गई एजेंसी को भी भुगतान नहीं किया गया है |

उपमुख्यमंत्री बादल ने सीएम केजरीवाल को पंजाब का सबसे बढ़ा शत्रु बताया

[जालंधर,पंजाब]उपमुख्यमंत्री बादल ने सीएम केजरीवाल को पंजाब का सबसे बढ़ा शत्रु बताया
सुखबीर सिंह बादल ने कहा के अरविन्द केजरीवाल पंजाब के सबसे बड़े शत्रु हैं
आम आदमी पार्टी[आप] के संयोजक + दिल्ली के मुख्यमंत्री को पंजाब का सबसे बडा दुश्मन करार देते हुए पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखबीर बादल ने कहा कि प्रदेश की नदियों के पानी पर दिल्ली और अन्य राज्यों का हक बताकर उन्होंने दूसरी बार यह साबित कर दिया है।
पंजाब के उपमुख्यमंत्री तथा राज्य में सत्तारूढ शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल ने आज यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘केजरीवाल ने अपने पिछले बयान से मुकरते हुए फिर से कहा है कि पंजाब के पानी पर सबका हक है।’’
सुखबीर ने कहा, ‘‘वह दरअसल पंजाब के सबसे दुश्मन हैं और यही कारण है कि सतलुज यमुना लिंक नहर के माध्यम से पंजाब के पानी बंटवारे पर अपने बयान से पलट रहे हैं और राज्य के पानी पर दिल्ली तथा अन्य प्रदेशों का अधिकार होने का दावा कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आप के पंजाब विरोधी नीतियों के कारण पार्टी का राजनीतिक ग्राफ लगातार नीचे जा रहा है।
प्रदेश में आप आसन्न विधानसभा चुनाव में खाता खोलने में भी सफल नहीं हो सकेगी।’’
केजरीवाल और दिल्ली से यहां आये उनकी टीम को ‘लूटेरा’ बताते हुए सुखबीर ने कहा, ‘‘पैसे लेकर पंजाब में टिकट बेचने के आप नेताओं के आरोप ने इसे अक्षरश: साबित कर दिया है। इसके अलावा लुटेरों ने प्रदेश में 40 ऐसे उम्मीदवारों को टिकट दिया है जो गंभीर मामलों में शामिल हैं।’’

Pb Announces Rs 25 Lakh Reward,Suspends DG Jails:Nabha Jail Break

[Patiala,Punjab]Pb Announces Rs 25 Lakh Reward,Suspends DG Jails:Nabha Jail Break
Punjab State Is In Election Mode
Punjab govt announces reward of Rs 25 lakh to any person providing information leading to arrest of escaped prisoners.
In a sensational jailbreak, a group of armed men in police uniform today attacked the high-security Nabha Jail and fled with five prisoners, including Khalistan Liberation Front chief Harminder Mintoo, an accused in 10 cases.
Heads started to roll soon after the incident with the Punjab Government suspending DG (Jails) and dismissing two other senior prison officials even as the opposition Congress said the incident exposed the “complete breakdown of law and order” in the state and triggered fears of revival of terrorism ahead of assembly elections.
The Centre has sought a report from the state government over the jailbreak incident.
A high alert has been sounded in Punjab and Haryana after the incident with security around railway stations, airports, inter-state bus terminuses and other places of key importance stepped up.
Punjab Chief Minister Prakash Singh Badal has summoned an emergent meeting of senior officials including State Chief Secretary Sarvesh Kaushal following the incident.
Deputy Chief Minister Sukhbir Badal said, “DG Jails has been suspended and Jail superintendent and Deputy Jail Superintendent have been dismissed”.