Ad

Tag: GoldenTemple

सिद्धू ने कांग्रेस अध्यक्षों के पश्चात् स्वर्ण मंदिर में भी शुक्राना अदा किया

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

नवजोत सिंह सिद्धू प्रशंसक

औए झल्लेया मुबारकां ! औए हसाड़े लोकल बॉडी मिनिस्टर नवजोत सिंह सिद्धू ने मंगलवार को श्री हरमिंदर साहब में माथा टेका+ स्वर्ण मंदिर की परिक्रमा की और गुरुओं की अमृत वाणी का श्रवण भी किया औए सिद्धू साहब ने मिनिस्टर बन कर भी गुरु घर की लड़ नहीं छड्डी

झल्ला

भोले बादशाहो! ३० साल पुराने कत्ल के केस में सुप्रीम कोर्ट से बरी होने में कांग्रेस और गुरु महाराज दोनों का आशीर्वाद था
जब सिद्धू साहिब ने कांग्रेस के अध्यक्षों का उनके निवास पर जाकर शुक्राना अदा कर दिया तो अब गुरुमहाराज के दरबार में भी हाजरी लाजमी होजाती है

जालंधर के निगम कर्मचारियों ने हड़ताल का बिगुल फूँका :स्वर्णमंदिर में भी लगे गन्दगी के ढेर

[जालंधर,पंजाब]जालंधर के निगम कर्मचारियों ने हड़ताल का बिगुल फूँका, स्वर्णमंदिर में भी लगे गन्दगी के ढेर
|नगर निगम के कर्मचारी संगठनों के आह्वाहन पर आज से सफाई व्यवस्था ठप्प कर दी गई है| नगर निगम में चुनी गई नई कांग्रेस सरकार दुवारा कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया जा रहा इसी को लेकर कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं| प्राप्त जानकारी के अनुसार निगम द्वारा दो करोड़ रु जारी करने की घोषणा की थी लेकिन यह रकम भी एक विशेष वर्ग तक ही सिमित रखी गई|हड़ताल समाप्त करने के लिए नवनिर्वाचित मेयर जगदीश राजा निगम कमिशनर बसंत गर्ग की अपील भी किसी को नहीं भाई|मालूम हो के एक दिन की हड़ताल से शहर की साफ़ सफाई पर असर पढ़ना लाजमी है |इसके अलावा अमृतसर दरबार साहिब में भी सफाई करने के लिए आज पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल अपने सहयोगियों सहित सफाई करते दिखाई दिए |बताया जा रहा है के यहाँ लगाईं गई एजेंसी को भी भुगतान नहीं किया गया है |

COAS Presented President’Standard’to Front Liner18Cavalry:Visited GoldenTemple

General COAS Presented President ‘Standard’to 18 CAVALRY:Visited Golden Temple Also
Dalbir Singh,Suhag Chief of the Army Staff, on behalf of the PRESIDENT OF INDIA, Pranab Mukherjee, presented the ‘Standard’ to 18 CAVALRY. It Is Front Liner Regiment of the Indian Armoured Corps
General Is also the Honorary Colonel of this Regiment and his father Risaldar Major Ramphal Singh (Retired) had served with distinction during both the Indo-Pak War of 1965 & 1971.
To commemorate this historic event, the Chief of the Army Staff also released a “Special Day Cover”.
The ceremony was also attended by Lieutenant General KJ Singh, General Officer Commanding-in-Chief, Western Command, Lieutenant General Praveen Bakshi, General Officer Commanding-in-Chief, Eastern Command and a number of senior officers and civil dignitaries.
This honour has been bestowed upon the 18 CAVALRY in due recognition of the dedicated service rendered by the Regiment since its raising on 31 Jan 1842.
18 CAVALRY is a front line Regiment of the Indian Armoured Corps which has participated in a large number of operations undertaken by the Army since its raising. In the course of discharging its onerous duties, both in operations and in peace, the hard work done and sacrifices made by the valiant soldiers of this Regiment have been duly recognised by the 29 battle and theatre honours received by the Regiment, second highest in the Armoured corps.
The Parade was commanded by Colonel Anup Tiwary, Commandant 18 CAVALRY along with other regimental officers, Junior Commission Officers and Other Ranks.
General ,Along With Wife,,also Visited Golden Temple And Bowed To Guru Granth Saheb. Listened Guru Vani for 10 Minutes In Darbar Saheb[Garbh Grah] SGPC Officers Present Religious Books+Shawl+Model Of Historic Temple
Photo Caption
The Chief of Army Staff, General Dalbir Singh presenting the President’s ‘Standard’ to 18 Cavalry, in Amritsar on March 07, 2016.

(Release ID :137404)

पनामा+माल्टा ट्रेजेडी के फलते फूलते जा रहेअपराधियों की धरपकड़ को अभियान है वक्त की मांग

[नई दिल्ली,जालंधर]पनामा+माल्टा ट्रेडेजी के फलते फूलते जा रहे अपराधियों की धरपकड़ को अभियान है वक्त की मांग पनामा नाव दुर्घटना में २५ पंजाबी युवकों की मौत ने एक बार फिर समाज के साथ ही प्रदेश+राष्ट्रीय+अंतराष्ट्रीय व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह लगा दिए हैं |इस दुर्घटना में २५ पंजाबी नवयुवकों के डूबने की आशंका व्यक्त की जा रही है |ये सभी पश्चिमी विकास की चकचौंध से मुग्ध थे और इन्हें गैरकानूनी ढंग से विकसित देश में प्रवेश कराया जाने का प्रयास किया जा रहा था |इसे पूर्व भी ऐसी घटनाएँ होती आ रही हैं |
दो दशक पूर्व माल्टा में भी ऐसे मार्मिक दुर्घटना घट चुकी है |जिसमे पौने तीन सौ बेशकीमती जिंदगियां काल के गाल में असमय ही समा गई| दुर्भागयवश इससे पंजाब+भारत और विकसित देशों द्वारा कोई सबक नही लिया गया जिस लापरवाही का परिणाम पनामा की दुर्घटना के रूप में सामने आया है |
यह कहना तर्क सगत ही होगा के इसमें यु एस अमेरिका जैसे देशों की एम्बेसी भी उतनी ही जिम्मेदार है जितने उनके अविभावक|प्रदेश के साथ राष्ट्रीय व्यवस्था का घिनौना अव्यवस्थित रूप भी उजागर हुआ है |पंजाब सरकार के उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने केंद्र सरकार से पनामा बोट पीडितो के लिए सहायता मांगी है |उनसे प्रदेश भर में फैले अवैध व्यापारियों पर लगाम कसने की भी उम्मीद की जाती है |इसके लिए गोल्डन टेम्पल जैसे धार्मिक मंचों का प्रयोगभी किया जाना चाहिए
युवाओं के परिजन सोना उगल रही अपनी कृषि भूमि को गिरवी रख कर या ओने पौने भाव बेच कर स्वयं ही अपने भविष्य को तथाकथित ट्रेवेल एजेंटों को थमा देते हैं| ऐसा नहीं के कानूनी तरीके से अमेरिकन एम्बेसी से भी अनेकों द्वार सम्पर्क किया जाता है लेकिन दिल्ली स्थित अमेरिकन एम्बेसी द्वारा विशेषकर नई मेक्सिको के लिए बिना कारण बताये स्टूडेंट वीसा तक रिजेक्ट कर दिया जाता है |बेशक पंजाब में सोना खेतों में उगता है उसके बावजूद विकसित देशों की चका चौंध में अंधे युवकों की भी यहां कोई कमी नहीं है|एम्बेसी के अड़ियल रुख + अवैध आव्रजन का अपराधिक व्यापारी भरपूर लाभ उठाते हैं |प्रदेश और केंद्र के ख़ुफ़िया विभाग की अकर्मण्यता के फलस्वरूप ट्रेवेल एजेंटों की बन आती है और नवयुवकों को गुमराह करना आसान हो जाता है| इन दुर्घटनाओ की पुनरावृति को रोकने के लिए जहाँ अमेरिकन एम्बेसी को समझदारी दिखानी होगी वहीं युवाओं के परिजनों को भी ट्रेवल एजेंटों की ठोस जांच पड़ताल करके ही अपना भविष्य उनके हाथों सौंपना होगाइसके अलावा प्रदेश और केंद्र सरकारों को भी अपना ख़ुफ़िया तंत्र मजबूत करके इस अवैध अपराधिक कारोबार की रीड तोड़नी होगी |माल्टा +पनामा के फलते फूलते जा रहे अपराधियों की धरपकड़ को अभियान चलाना वक्त की मांग बन गई है |

स्वर्ण मंदिर में २९ अक्टूबर को खुशियों के त्यौहार दीपावली पर रौशनी नहीं करने की हुई घोषणा

[अमृतसर,चंडीगढ़]पंजाब को एक बार फिर से विकास के पथ से विमुख करके धार्मिक असंतोष की तरफ धकेलने के लिए गर्म हवाएँ चलने लगी है |राज्य सरकार को इसके पीछे बाहरी हाथ नजर आ रहा है जबकि विपक्ष इसमें भी सरकार की अक्षमता और षड्यंत्र ही देख रहा है|
राज्य में नवीनतम घटना क्रम के अनुसार गुरु राम दास के सरबत के भले के लिए निर्मित स्वर्ण मंदिर में २९ अक्टूबर को खुशियों का त्यौहार दीपावली नहीं मनाने की घोषणा की गई है| गुरु ग्रन्थ साहिब के अपवित्रीकरण की घटनाओं के विरोध में यह बहिष्कार किया जा रहा है |इस पावन त्यौहार पर आतिशबाजी और प्रकाश नहीं किये जाने की घोषणा की गई है |इस दिवस को ब्लैक दीपावली मनाने की बात कही जाने लगी है|ऑपरेशन ब्लू स्टार के बाद आई यह स्थिति बेहद दुखदाई है |
सिख समुदाय के आयोजकों ने त्योहारों पर आतिशबाजी और औपचारिक प्रकाश होने से परहेज करने के लिए सिख समुदाय से अपील की है
“गुरु ग्रंथ साहिब समाज को शांति और भाईचारे का संदेश देता है|अकाली दल बादल+एसजीपीसी पर पंजाब की शांति को खराब करने की कोशिश करने के आरोप लगाये जा रहे हैं|लगभग ३० साल पहले तत्कालीन अकाली दल अध्यक्ष संत लोंगोवाल ने भी संत जरनैल सिंह भिंडरवाले पर बैन लगाया था जो कीर्तन शब्द बेअंत सिंह के कत्ल के दिन गया गया था उसे फिर से दोहराया जाने लगा है हजूरी रागी भाई हरचरण सिंह को इसी शब्द[“कुत्ता राज बहालीये”]गायन के लिए निष्काषित किया गया | नए पोलिस चीफ अरोरो की नियुक्ति को भी उसी दृष्टि से देखा जाने लगा है
फाइल फोटो

Kejriwal,Leaving Delhi At Dengue’s Mercy,Bowed at Golden Temple,Amritsar

[Amritsar, Punjab]CM Kejriwal, Leaving Delhi At The Mercy Of Deadly Dengue,Bowed at the Golden Temple in Amritsar
CM Arvind Kejriwal Today Made a political trip to Punjab .He paid obeisance at the Golden temple in Amritsar and prayed for peace and communal harmony in Punjab.
After paying obeisance He said No one can live in peace after disgracing holy scriptures, ,
He also appealed Punjab to maintain peace
Kejriwal was in Punjab to visit the families of the two youths who were killed in police firing while protesting against the sacrilege of Guru Granth Sahib in Faridkot.
During the brief interaction with media, Kejriwal said that he was deeply hurt due to incidents of sacrilege to Sri Guru Granth Sahib and following tension in Punjab and had prayed for the peace at the most sacred place where all wishes are fulfilled by the almighty.
He flayed the incident of opening fire on peaceful protesters by police in Faridkot.“It was unfortunate that two people lost their lives,” he said. He said the state government should not only immediately arrest the anti-social elements who had disrespected Shri Guru Granth Sahib but also give exemplary punishments to them.
“Committing sacrilege to the religious book didn’t benefit anyone,” he said, while adding that no one can live in peace after disrespecting holy scriptures and the people who did this heinous act should also think on it.” When asked about whether he had any apprehensions on the persons arrested for sacrilege of Guru Granth Sahib by the Punjab police, Kejriwal said it was up to the state government and police to investigate and arrest the culprits.
.He was accompanied by other AAP leaders including Sangrur MP Bhagwant Mann, Punjab State Convener Sucha Singh Chhotepur, Senior advocate HS Phoolka, who had resigned from party posts to devote his time to Sikh Genocide cases, and Delhiiet Sanjay Singh.

१९८४ में सिख नरसंहार के दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही की मांग को लेकर 10 फरवरी को पी एम् निवास की और मशाल जुलूस

[नई दिल्ली]१९८४ में सिख नरसंहार के दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही की मांग को लेकर 10 फरवरी को पी एम् निवास की और मशाल जुलूस|
1984 में हुए सिख विरोधी दंगों के निर्दोष पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी [ DSGPC ] ने देश-विदेश में बसे सिखों से वॉक फार जस्टिस निकालने की अपील की है।उधर शिरोमणि अकाली दल[SAD] के प्रवक्ता डॉ दलजीत सिंह चीमा ने स्वर्ण मंदिर में हुए सैनिक अभियान में ब्रिटेन की भूमिका की जांच की मांग की है|
बृहस्पतिवार को रकाबगंज के कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में डीएसजीपीसी के अध्यक्ष मनजीत सिंह जीके ने यह घोषणा की है ।
1984 के दंगों में दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के लिए केंद्र सरकार पर दबाव बनाने के लिए उन्होंने देश-विदेश में बसी सिख संगत से अगले सोमवार को अपनी-अपनी कॉलोनियों में यह विरोध प्रदर्शन करने की अपील की।

Manjit Singh GK

Manjit Singh GK


उन्होंने घोषणा की 10 फरवरी की शाम को गुरुद्वारा बंगला साहिब से प्रधानमंत्री निवास की ओर तथा शुक्रवार शाम 14 फरवरी को तिलक विहार में वॉक फार जस्टिस मार्च निकाला जाएगा जिसमे शामिल लोग हाथ में मशाल लेकर चलें तथा सोई हुई काग्रेस सरकार को जगाएं।
1984 के ऑपरेशन ब्लू स्टार का हवाला देते हुए उन्होंने दरबार साहिब अमृतसर पर फौज द्वारा किए गए हमले एवं नवंबर 1984 के सिख विरोधी दंगों को सरकार द्वारा प्रायोजित एवं पूर्व नियोजित हमला करार दिया। उन्होंने कहा कि अब ब्रिटिश सरकार भी इसे स्वीकार कर चुकी है। उन्होंने ऑपरेशन ब्लू स्टार पर ब्रिटिश सरकार के सहायता देने के कबूलनामे के सामने आने के बाद प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से इस मसले पर अपनी पार्टी का पक्ष रखने की भी मांग की। इस अवसर पर डीएसजीपीसी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रविंदर सिंह खुराना+ वरिष्ठ अकाली नेता ओंकार सिंह थापर+ कुलदीप सिंह भोगल+ हरदेव सिंह धनोआ + चमन सिंह आदि भी मौजूद थे।इसके साथ ही एस ऐ डीSAD ने इसे पार्लियामेंट में भी जोर शोर से उठाया है|
पार्टी प्रवक्ता डॉ दलजीत सिंह चीमा ने १९८४ के ऑपरेशन ब्लू स्टार को धर्म प्रिय सिख संगत के साथ धोखा बताया और इसके पीछे की वास्तविक कारण बताने की मांग भारत सरकार से कीGolden Temple
उधर ‘ऑपरेशन ब्लू स्टार’ में तत्कालीन ब्रिटिश सरकार की भूमिका को लेकर उठे बवाल के बीच वर्त्तमान प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने खुद सफाई पेश की है। उन्होंने कहा है कि 1984 में अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में सिख अलगाववादियों को खदेड़ने के लिए भारतीय सेना द्वारा चलाए गए ऑपरेशन ब्लू स्टार में तत्कालीन मार्गरेट थैचर सरकार शामिल नहीं थी।
जबकि इसके एक दिन पहले ही वहीँ के विदेश मंत्री विलियम हेग सैन्य कार्रवाई में ब्रिटेन की सलाहकार की भूमिका को स्वीकार किया था
इसके अलावा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग से मिलकर 1984 दंगों की एसआईटी से जांच कराने की मांग की थी
कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने टी वी चैनल टाइम्स नाउ के एंकर अरनव गोस्वामी को एक इंटरव्यू दिया जिसमे उन्होंने सिख नरसंहार में कुछ कांग्रेसी नेताओं की संलिप्तता स्वीकार की जिसे लेकर सिख समाज में रोष व्याप्त हो गया और DSGPC + SAD +आम आदमी पार्टी+BJP+ने इसे मुद्दा बना लिया है उधर ब्रिटेन में भीचुनावों में सिख वोटरसंख्या अच्छी खासी प्रभाव डालती है इसीके चलते वहाँ भी लीपा पोती जारी है |