Ad

Tag: IndianewSatire

सिद्धू ने कत्ल के मुकदद्मे से छुटकारा पा लिया तो अब चुनावी एफआईआर क्या चीज है

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक उत्तेजित बिहारी भाजपाई

औए झल्लेया !ये क्या हो रहा है? औए लोगों को हंसाते हंसाते इस लाफिंग जट्ट सिद्धू ने देश प्रेमियों के बिहार में देश तोड़ने को मुस्लिम मतदाताओं का ही आह्वाहन कर ड़ाला |अब एफ आई दर्ज हो गई |अब मालूम चल जाएगा बच्चू को

झल्ला

सेठ जी! नवजोत सिंह सिद्धू ने पार्टी बदल कर अपने ऊपर लगे कत्ल के मुकदद्मे से छुटकारा पा लिया तो ये आचार संहिता के उललंघन पर लगी एफआईआर क्या चीज है

योगी जी!आपके कोष से बरस रही आर्थिक सहायता लेकिन मेरठ में सूखा [व्यंग]

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया! देखा ! हसाड़े योगी मुख्य मंत्री ने इस महीने भी विभिन्न रोगों से पीड़ित 75 लोगों को 95 लाख 32 हजार रु0 की आर्थिक सहायता प्रदान की है

झल्ला

योगी जी!आपके कोष से बरस रही आर्थिक सहायता लेकिन मेरठ में सूखा [व्यंग]
मेरे चतुर सेठ जी!बेशक आपजी के मुख्यमंत्री जी प्रत्येक माह ये सहायता बाँट रहे हैं लेकिन पश्चिमी यूपी विशेषकर मेरठ में तो सूखा ही नजर आ रहा है

फर्जीकल स्ट्राइक के नायक को राष्ट्रीय सुरक्षा निति बनाने का दायित्व

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

औए झल्लेया! मजा आ गया!! औए उरी सर्जिकल स्ट्राइक के नायक लेफ्टिनेंट जनरल डी एस हुड्डा को हसाडी ऐतिहासिक कांग्रेस में शामिल कर लिया गया है|औए हसाड़े कर्मठ अध्यक्ष राहुल गांधी जी ने अब बना लेनी हैं राष्ट्रीय सुरक्षा की उपयोगी निति

झल्ला

चतुर सुजान जी!पहले आप सर्जिकल स्ट्राइक को फर्जीकल स्ट्राइक बताने में अपनी सांस फुलाये जा रहे हैं थे और बिना पानी पिए मरकजी हुकूमत को कोसे जा रहे थे|अब फर्जीकल स्ट्राइक के नायक को राष्ट्रीय सुरक्षा निति बनाने का दायित्व सौंप दिया |वाकई “हर कोई चाहता है ईक मुट्ठी आसमान “

सपा ने सडकों से लेकर विस और संसद[बजट सेशन]में तांडव मचाया उससे क्या लोक तंत्र बचा

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

समाजवादी चेयर लीडर

औए झल्लेया ये यूपी में क्या हो रहा है?
हसाड़े सोणे प्रदेश में दिनदहाड़े +खुलेआम लोक तंत्र का गला घौटा जा रहा है |हसाड़े संभ्रांत अध्यक्ष श्रीमान अखिलेश यादव जी को अपने ही प्रयागराज नहीं जाने दिया गया |औए अलाहाबाद विश्वविद्यालय के कार्यक्रम में ही नहीं जाने दिया गया| झल्लेया! लोक तंत्र खतरे में है

झल्ला

पहलवान जी !आपके अध्यक्ष जी को कानून व्यवस्था को बनाये रखने के लिए वर्तमान में अतिसंवेदनशील अलाहाबाद नहीं जाने दिया गया |प्रबंधन के आग्रह पर छात्र असंतोष में सुलगते विश्व विद्यालय में नहीं जाने दिया गया तो तो लोक तंत्र खतरे में आ गया |
लेकिन जरा सोचो के समाजवादियों ने सरेआम +खुलेआम+सुबह शाम सडकों से लेकर विधानसभा और संसद के दोनों सदनों में चल रहे बजट सेशन में तांडव मचाया | ड्यूटी बजा रहे पुलिस और पत्रकारों को पीटा |उससे क्या लोक तंत्र बचा ???

देशद्रोह की परिभाषा तय करने के लिए केजरीवाल ने भी चुनावी मौसम पर ही नजरें गढ़ाई

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

आम आदमी पार्टी चेयर लीडर

औए झल्लेया! ये तो सरासर अलोकतांत्रिक है
देख तो! चुनावी फायदे के लिए कन्हैया कुमार के खिलाफ देश द्रोह की चार्जशीट दायर कर दी गई है |क्या ऐसे चुनाव जीते जाते है?

झल्ला

मेरे चतुर साहिब जी! आप भी तो देश द्रोह की परिभाषा तय करने के लिए चुनावी मौसम पर ही नजरें गढ़ाए हुए हो

‘लाल किताब’ को दफ़नाने के लिए “ममता” ने क्रूरता अपनाई

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

चिंतित बुद्धिजीवी

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है? अपने ही सोनार बंगाल में प्रदेश सरकार भ्र्ष्टाचारी अधिकारी को बचाने के लिए सडकों पर उत्तर आई है|औए ये लोक तंत्र के कथित रक्षक संवैधानिक संस्थाओं को तोड़ने पर तुले हुए हैं||बंगाल की सडकों को जाम करने के पश्चात टीएमसी के सांसदों ने लोक सभा और राज्य सभा कोभी स्थगित करवा दिया

झल्ला

सर जी ! बेशक बंगाल में फिलहाल लालरंग के पूजकों की सरकार नहीं है लेकिन बुद्धिजीविओं के प्रदेश में लाल रंग का महत्व अभी कम नहीं हुआ है| इसीलिए एक किताब जिसका रंग लाल बताया जा रहा है उसी को ही दफनाने के लिए मुख्य मंत्री ममता ने क्रूरता अपना ली है क्योंकि गरीबों का पैसा हड़पने वाली सारदा चिटफंड के करप्शन से जुडी किताब[लाल] खुल गई तो sabhi राज भी खुल जाएंगे और ममता के गरीबी हितकारी नारों की पोल खुल जाएगी |

मोदी भापे! बजट में जब हसाड़ा कुछ नहीं तो फिर हसानू कि ??????????

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया ये कांग्रेसियों ने क्या मखौल बनाया हुआ है? औए हसाड़े सोणे पीएम नरेंद्र भाई दामोदर दास मोदी ने इतना बढ़िया सर्व सुख हिताय बजट पेश किया और राष्ट्रीय कांग्रेसियों के तो समझ ही नहीं आ रहा|इनके सीएम भी इसे जुमला बजट बता कर अपनी नग्न विवेकहीनता का परिचय दे रहे हैं |

झल्ला

मेरे चतुर सेठ जी!
पुराने सयानों का अखांण है !हसाड़ा कि ? जब हसाड़ा कुछ नहीं तो
हसानू कि ??????????

मौका है! मजबूरी है!! मैनेजमेंट है!!! सो अकाली दबाव भी जारी है

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

अकाली चीयर लीडर

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है?औए ये भाजपाई अब हसाड़े धर्म में भी हस्तक्षेप करने लग गए |भई पटना साहब के एक धार्मिक गुरु ने बिहार के मुख्य मंत्री नितीश कुमार की चमचागिरी करते हुए सभी हदें पार कर दी | हुजूर साहब+नांदेड़ साहब+में चल रही पारम्परिक सिख धर्म व्यवस्था में अड़ंगे लगाने लग गए |अब जब अमृतसर से सजा सुनाई गई तो ये भगवा वाले ही राजनीती करने लग गए यहाँ तक के हसाड़े पवित्र गुरुद्वारों में दखल देने लग गए

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजान जी! आप भी पीछे क्यूँ रहो! मौका है! मजबूरी है!मैनेजमेंट हैं ! शायद इस दबाब से पंजाब में मन चाही लोक सभा की दस सीटें और हरियाणा में तीन सीटें मिल जाएँ

हर हर गंगे+नहीं रहे गंदे+सभी हुए चँगे+डटे रहो नंगें

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई उत्तेजित चेयर लीडर

औए झल्लेया ! ये कांग्रेसी तो अब हसाड़े धर्म आस्था पर भी कुठाराघात करने लग गए |देख तो ये शशि थरूर ने क्या अपमानजनक ट्वीट कर दिया |
“गंगा भी स्वच्छ रखनी है
और पाप भी यहीं धोने हैं।
इस संगम में सब नंगे हैं!
जय गंगा मैया की!”

झल्ला

हर हर गंगे
नहीं रहे गंदे
सभी हुए चँगे
डटे रहो नंगें

मोदी भापे! न्यूनतम आय वाला पेपर आउट हो गया ,राहुल ने सॉल्व भी करा लिया

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चीयर लीडर

औए झल्लेया !ये राहुल गाँधी ने क्या नया जुमला छोड़ दिया ? औए राजस्थान+मध्य प्रदेश+छतीससगढ़ में किसानों का कर्जा तो माफ़ करा नहीं पाए अब सबको न्यूनतम आय की गारंटी दे रहे हैं |औए इस योजना के लिए एक लाख करोड़ रु आएंगे कहा से?

झल्ला

मेरे चतुर सेठ जी १ मैंने तो सुना है के आप लोग भी बजट में यश जुमला छोड़ने वाले थे | अबतो पेपर आउट हो गया | और राहुल गाँधी ने पासिंग मार्क्स वाला महत्वपूर्ण प्रश्न को सॉल्व भी करा लिया | अब ढूंढते रहो पेपर लीक गैंग+पेपर सॉल्वर गैंग नहीं तो बजट पेपर को दोबारा तैयार करवा लो