Ad

Tag: Aam Aadmi Party (AAP) Arvind Kejriwal

Cong MLA Sawhney Joins AAP

(New Delhi)Cong MLA Sawhney Joins AAP
Four-time Congress MLA Parlad Singh Sawhney joined the Aam Aadmi Party on Sunday in presence of Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal.
Sawhney, who was a close aide of former Delhi chief minister Sheila Dikshit, said he has not joined the party for getting a ticket to contest the upcoming assembly polls but to work towards development of Delhi.
Welcoming him to the party fold, Kejriwal said he is extremely happy that Sawhney joined the AAP with his team.
Sawhney was MLA from Chandni Chowk Assembly from 1998 till 2015. In 2015, he was defeated by AAP candidate Alka Lamba.

After BSP &SP in UP Now AAP Also Sidelined Congress in Delhi

[New Delhi]After BSP &SP in UP Now AAP Also Sidelined Congress in Delhi
Aam Aadmi Party (AAP) on Monday made it clear that there would be neither any alliance with the Congress nor a rollback of any of its candidates in Delhi.
Asserting that “enough is enough”, senior AAP leader Gopal Rai said these are the final seven candidates of the party and there is no question of “any roll back”.
The ruling AAP had earlier on March 2, announced the names of its candidates for the six Lok Sabha seats.
On Sunday, the party declared its last candidate in Delhi, with a senior leader saying the announcement was made seeing the Congress’s “irresponsible and indecisive” attitude towards an alliance.
There were rumours of an alliance between Congress-AAP last week when the Congress decided to seek feedback from its booth-level workers on a tie-up with the AAP
Elections to the seven Lok Sabha seats in Delhi will be held on May 12. The results will be declared with the rest of the country on May 23
Mayawati and Akhilesh Yadav asked the grand old Congress party not to spread any kind of confusion while maintaining that the BSP-SP-RLD alliance is capable of defeating the BJP in Uttar Pradesh.
In a series of tweets, Mayawati made it amply clear that BSP will not enter into any alliance with the Congress.
Earlier Akhilesh & Mayawati had offered two seats to congress whereas in return Congress Agreed to leave seven seats in UP

केजरीवाल साहब! कौन से खेत का #खरबूजा खाते हो ???[व्यंग]

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

आम आदमी पार्टी चेयर लीडर

औए झल्लेया! देखा हमारे अरविन्द केजरीवाल साहिब का कमाल!
कांग्रेस समझौते की टेबल पर आ ही गई| अब हमने दिल्ली में लोक सभा की सभी सातें सीटें जीत लेनी है

झल्ला

साहब जी पहले ये बताओ के कौन से खेत का खरबूजा खाते हो ???

Kejriwal Govt Presents Rs 60,K Cr Budget for 2019-20

[New Delhi]Kejriwal Govt Presents Rs 60,K Cr Budget for 2019-20
The AAP government Tuesday presented a Rs 60,000 crore budget for 2019-20 in the Assembly and said it is “two times more” than the one presented in 2014-15.
Presenting the budget, Deputy CM Manish Sisodia said the budget has been dedicated to soldiers martyred in the Pulwama attack.
The Delhi Assembly session began with a standing ovation to the the Indian Air Force for carrying out pre-dawn air strikes on terror camps inside Pakistani territory
“The budget estimates for 2019-20 are pegged at Rs 60,000 crore which is two times more than the budget presented in 2014-15,” Sisodia said.
A 53,000 crore was presented last year.

Phoolka May Quit “AAP” If Kejriwal Joins Hands With Congress

[Ludhiana,Pb]Phoolka May Quit “AAP” If Kejriwal Joins Hands With Congress
Senior AAP leader and legislator from Dakha, H S Phoolka today said he will quit the party if it joins hands with the Congress.
He made it clear here that any understanding with the Congress party would amount to giving a clean chit to the alleged “perpetrators” of the 1984 anti-Sikh riots.
.His statement comes after Punjab Chief Minister Amarinder Singh supported senior party leader P Chidambaram’s views on the need for a broad-based alliance with other opposition parties at the meeting of the Congress Working Committee (CWC) at Delhi on Sunday.
Phoolka, a noted lawyer who has represented the riot victims in the courts, blamed the Congress for the violence that took place in the aftermath of the then Prime Minister Indira Gandhi’s assassination.
The former leader of opposition in the Punjab Assembly said he would continue to fight cases of the riot victims.
A total of 3,325 people were killed in the riots.

मेरा स्वास्थ्य तेरे स्वास्थ्य से गिरा:दिल्ली में अहंकारी राजनिति की नौटंकी

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

दिल्ली वासी

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है? यारा दिल्ली राज्य में सत्तारूढ़ “आप” और केंद्र में राज कर रही भाजपा के आपस के कॉम्पिटिशन में हम तो पिसे जा रहे हैं |
गर्मी में प्यासे+बिना बिजली के भीषण प्रदुषण में मरे जा रहे हैं और ये आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी वाले एयर कंडीशंड कमरों में हफ्ते से पावँ पसारे पढ़े हुए है|वहीँ से एक दूसरे पर बयानबाजी में समय नष्ट कर रहे हैं|

झल्ला

भापा जी! फ़िक्र नॉट!! अभी ये कम्पटीशन इनके स्वास्थ्य को लेकर भी शुरू होगा |आप के कद्दावर मगर दागी मंत्री सत्येंद्र जैन, जिनका एल जी ऑफिस में आमरण अनशन के दौरान वजन बढ़ रहा था , अस्पताल में पहुंचाए जा चुके हैं |
दिल्ली सी एम् के ऑफिस में धरनारत भाजपा के विजेंदर गुप्ता+मनजिंदर सिरसा + जगदीश प्रधान +पश्चिम दिल्ली के सांसद परवेश वर्मा और आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा की तबियत भी बिगड़नेके समाचार आने लगे है |
इस राजनीतिक नौटंकी +अहंकार के चलते अब टैक्स पयेर्स का पैसा इनके स्वास्थ्य पर भी खर्च होगा|

केजरीवाल सुरक्षा की नौटंकी छोड़ ,पिटे आईऐएस से माफ़ी भर मांगलें

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

आप पार्टी चेयर लीडर

औए झल्लेया अब तो हसाड़े सीएम केजरीवाल साहिब ने भी हड़ताली आई ऐ एस अधिकारीयों को सुरक्षा का भरोसा दे दिया अब तो दिल्ली वासिये के लिए इन्हें काम पर लौट आना चाहिए

झल्ला

मी चतुर महाराज ! केजरीवाल सुरक्षा की नौटंकी छोड़ कर पिटे आईऐएस से माफ़ी भर मांगलें
आप तो कहते फिर रहे हो के पुलिस आपके अंडर नहीं है ,ऐसे में कैसे सुरक्षा का भरोसा दे रहे हो|हाँ पिटे आई ऐ एस से केजरीवाल जी माफ़ी भर मांगलें तो सात दिन से चली आ रही नौटंकी समाप्त हो जाएगी

केजरीवाल को “शीला” वाली शक्तियां मिलजाने से होजाना है “शूम शड़ाका”

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

आप पार्टी का चेयर लीडर

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है ?हसाडी दिल्ली सरकार नाल तो वड्डा जुल्म हो रहा है| औए कांग्रेस सी एम शीला दीक्षित को दिल्ली सरकार चलने के लिए जो शक्तियां दी गई थी उनसे हमें महरूम किया गया है|
हमें भी अब ये शक्तियां मिलनी चाहिए
[१]अफ़सरों का तबादला करने की शक्ति
[२]भ्रष्ट अफ़सर पर अनुशानात्मक कार्रवाई कराने की शक्ति
[३] भ्रष्टाचार के मामले को एसीबी में देने +एंटी करप्शन ब्रांच की शक्तियां
[४]सरकारी भर्तियां करने की शक्तियां।
[५] एलजीके पास फाइल भेजने से मुक्ति

झल्ला

औ मेरे चतुर महाराज ! इन शक्तियों के बल पर शीला दीक्षित की सरकार पर भ्र्ष्टाचार के आरोप लगते रहे हैं लेकिन आप लोग इन शक्तियों के बगैर ही भ्र्ष्टाचार के दलदल में घिरे हुए हो
ऐसे में ये शक्तियां मिलजाने से तो होजाना है शूम शड़ाका

केजरीवाल जी !दिल्ली की महिलाओं को स्वराज चाहिए,शराब नहीं

[नई दिल्ली]केजरीवाल जी !दिल्ली की महिलाओं को स्वराज चाहिए,शराब नहीं
महिलाओं ने सुनीता केजरीवाल से शराब दुकानों के मुद्दे पर सीएम् को समझाने का किया निवेदन
399 नए शराब दुकानों के मुद्दे पर दिल्ली की महिलाएं मुख्यमंत्री की पत्नी सुनीता केजरीवाल से मिली और मुख्यमंत्री को समझाने और सद्बुद्धि देने का निवेदन किया ।
शनिवार को दिल्ली के अलग अलग हिस्सों से आयी हुई महिलाओं के एक जत्थे ने मुख्यमंत्री की पत्नी श्रीमति सुनीता केजरीवाल से अपनी परेशानी और दुःख दर्द साझा किया।
इनके इलाकों में खुले शराब के ठेकों ने इन महिलाओं और इनके परिवार का जीना दूभर कर दिया है।
स्वराज अभियान ने आरोप लगाए हैं के पिछले डेढ़ साल में आम आदमी पार्टी सरकार ने देश की राजधानी में 399 शराब बेचने के लाइसेंस बाँट दिए हैं। कई इलाकों में तो स्थानीय लोगों के विरोध के बाद भी दारु का ठेका खोल दिया गया।
महिलाओं ने सुनीता केजरीवाल के समक्ष एक बड़ी बहन की तरह अपनी समस्याओं को रखा।
दिल्ली की आम औरतों ने यह मुलाक़ात करने का निर्णय तब लिया जब सरकार ने समस्या का समाधान करना तो दूर, कोई सुनवाई भी नहीं की। महिलाओं ने उम्मीद जताई है कि एक महिला होने के नाते शायद सुनीता जी उनका दर्द बेहतर समझ पाएं। सुनीता केजरीवाल से निवेदन किया गया कि वो अरविन्द जी से बात करें, उन्हें समझाएं, सद्बुद्धि दें और शराब के नशे को धंधा बनाने से रोकें।
महिलाओं ने सुनीता केजरीवाल को कहा कि दिल्ली की महिलाओं को स्वराज चाहिए, शराब नहीं।

स्वराज अभियान ने दिल्ली में शराब की दुकानों पर “आप” के जवाब को झूट का पुलंदा बताया

, [नई दिल्ली]स्वराज अभियान ने शराब की दुकानों पर दिल्ली सरकार के जवाब को झूट का पुलंदा बताया|उपमुख्यमंत्री के विरुद्ध विवेशाधिकार का नोटिस
पंकज पुष्कर ने उप मुख्यमंत्री के खिलाफ दिया विशेषाधिकार हनन का नोटिस।
स्वराज अभियान द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार निम्नलिखित दो तारांकित प्रश्नों के जवाब में दिल्ली सरकार ने झूठ बोला है।
प्रश्न [१]: क्या ऐसे नए वैन्ड्स खोलने या लाइसेंस जारी करने से पहले क्षेत्र की आम जनता की राय ली गई थी? यदि हाँ, तो ऐसी आपत्तियों पर क्या कार्रवाई की गई?
जवाब : वर्तमान में नियमानुसार आम जनता की राय आवश्यक नहीं है।
स्वराज अभियान के अनुसार दिल्ली एक्साइज रूल्स 2010 का सेक्शन २४ के अनुसार दिल्ली सरकार का यह उत्तर झूट का पुलन्दा है
स्वराज अभियान ने आरोप लगाया के दिल्ली सरकार ने स्थानीय लोगों की सहमति के बिना कई शराब के ठेके खोले हैं।
अपनी गलतियों को छुपाने के लिए सरकार विधानसभा में झूठ का सहारा ले रही है। बड़ी चौंकाने वाली और दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि सरकार के वरिष्ठ मंत्री सफ़ेद झूठ बोल रहे हैं जबकि तथ्य यह है कि सरकार की एक्साइज रूल्स में यह साफ़ साफ़ लिखा हुआ है कि स्थानीय लोगों से परामर्श आवश्यक है और इसकी प्रक्रिया भी बतायी गयी है।
प्रश्न[२] : क्या शराब की नई वैन्ड्स या दुकान खोलने से पहले क्षेत्रीय विधायक की स्वीकृति ली जाती है?
जवाब : वर्तमान में नियमानुसार विधायक की स्वीकृति आवश्यक नहीं है।
स्वराज अभियान ने इस उत्तर को झुठलाते हुए तथ्य यह है कि दिल्ली सरकार की एक्साइज पालिसी के अनुसार, लाइसेंस देने के लिए ठेके की जगह को लेकर स्थानीय विधायक का सकारात्मक मत जरूरी है। ठेके खोलने के आवेदन पत्र में भी स्थानीय विधायक द्वारा एनओसी जरूरी है।
ऐसे गंभीर मुद्दे पर तिमारपुर के विधायक पंकज पुष्कर ने उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के खिलाफ़ विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया है।