Ad

Category: Economy

सोमवार को संसद नहीं चली तो मीडिया के जरिये जनता को कैग की असलियत बताएँगे=चिदम्बरम

वित्तमंत्री पी चिदम्बरम ने आज कहा की अगर सोमवार २७अगस्त को कैग रिपोर्ट पर प्रधान मंत्री को जवाब देने नहीं दिया गया तो जनता को सीधे तौर पर स्पष्टीकरण दिया जाएगा|उन्होंने आज प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से कैग कि रिपोर्ट पर सरकार कि स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा कि कोल ब्लॉक आवंटन पर आई नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) की रपट को लेकर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के इस्तीफे की मांग दोहराते हुए विपक्ष ने लगातार चौथे दिन शुक्रवार को भी संसद में जमकर हंगामा किया।यह उचित नहीं है प्रधान मंत्री संसद में वक्तव्य देने को तैयार हैं मगर संसद को चलने नहीं दिया जा रहा उम्मीद है कि सोमवार को संसद को चलने दिया जाएगा और अगर संसद नहीं चलने दी जायेगी तब जनता की सामने सीधे जा कर अपनी बात कही जायेगी औए इसके लिए सशक्त माध्यम मीडिया है|मंत्री समूह ने कैग कि रिपोर्ट को सिरे से खारिज करते हुए नो लास की थियोरी की दलील दी वित्त मंत्री ने बताया कि जब खदानों में खुदाई हुई ही नहीं तब नुक्सान कहाँ हुआ |जबकि श्री जायसवाल ने कोल ब्लाक्स कि नीलामी नहीं किये जाने के लिए विपक्ष के राज्य सरकारों के सर ठीकरा फोड़ा[राजस्थान +उड़ीसा+ झारखंड+ छत्तीस गढ़]
मिड टर्म पोल को वित् मंत्री ने बी जी पी का गुब्बारा बताया और कहा कि वोह गुब्बारा पंचर हो गया है| उन्होंने कैग कि रिपोर्ट को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि रिपोर्ट को फायनल करते समय कैग ने मंत्रालय कि राय नहीं ली और यह १.८५ लाख करोड़ रुपयों के नुकसान का आंकलन सर्वथा गलत है|

कैग रिपोर्ट पर संसद में हंगामाई स्थिति के कारण आज चौथे दिन भी हॉउस नहीं चले| एक दिन पर लगभग पौने दो करोड़ रुपयों का खर्च आता है इसीलिए इन चार दिनों में संसद ठप्प रहने से सात करोड़ का नुक्सान हो चुका है|शायद इसीलिए आज कोयला मंत्री श्री प्रकाश जायसवाल+क़ानून मंत्री सलमान खुर्शीद के साथ वित् मंत्री पी चिदम्बरम ने प्रेस कांफ्रेंस में कैग पर सरकार कि स्थिति स्पष्ट की|

इस कारण संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी गई। इसके पहले सदन की कार्यवाही को 12 बजे तक के लिए स्थगित किया गया।
लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्यों ने प्रधानमंत्री के इस्तीफे की मांग को लेकर नारेबाजी शुरू कर दी। परिणामस्वरूप कुछ ही मिनट बाद दोनों सदनों की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।
गौरतलब है कि बीते सप्ताह संसद में पेश की गई सीएजी की रपट में कहा गया है कि निजी कम्पनियों को कोयला ब्लॉक आवंटन में पारदर्शिता के अभाव के कारण सरकारी खजाने को गत वर्ष 11 मार्च तक 1.85 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।यह रिपोर्ट अभी जे पी सी के पास भी भेजी जानी है|

शेयर बाजारों ने आज मामूली तेजी दर्ज़ की

शेयर बाजारों ने आज मामूली तेजी दर्ज़ की |सेंसेक्स ३.३६ अंकों की तेजी के साथ 17,850.22 पर और निफ्टी 2.50 अंकों की तेजी के साथ 5,415.35 पर बंद हुआ।
बी एस ई [बंबई स्टॉक एक्सचेंज] का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 9.43 अंकों की तेजी के साथ 17,856.29 पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज [एनएसई] का 50 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक निफ्टी 13.30 अंकों की तेजी के साथ 5,426.15 पर बंद हुआ।
बीएसई के मिडकैप 5.16 अंकों की तेजी के साथ 6,155.00 पर और स्मॉलकैप 8.24 अंकों की तेजी के साथ 6,626.53 पर बंद

सर्वशक्तिशाली सोनिया को विश्व में छठा स्थान

भारत में महिलाओं की स्थिति जैसी भी हो लेकिन जब विदेशी आंकलन करते हैं तो मीडिया में चर्चा का विषय बन ही जातीं हैं|अब अमेरिकी प्रतिष्ठित अंगरेजी पत्रिका फ़ोर्ब्स ने १०० प्रभाव शाली महिलाओं की सूची जारी की है इसमें भारत की सर्वशक्तिशाली महिला यूं पी ऐ की अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गाँधी को छठे स्थान से नवाजा है गया है| चूंकि यह रिपोर्ट फारेन से इम्पोर्ट होकर आई है इसलिए अब लगने लगा है की भारतीय महिलाओं की सफलता की धमक पूरी दुनिया में सुनाई देने लगी है। प्रतिष्ठित पत्रिका फो‌र्ब्स की बुधवार को जारी दुनिया की शीर्ष 100 सबसे अधिक प्रभावशाली महिलाओं की सूची से तो यही दिखाई देता है|
दुर्भाग्य से हमारे देश में राजनीतिक हार जीत के आंकड़े बैठाने वाले प्रिपोल या पोस्ट पोल विशेषग्य तो बहुत हैं मगर इस प्रकार की सामाजिक आंकलन में एक्सपर्ट तो बाहर से ही इम्पोर्ट किये जाते हैं|

३५ लाख के टायलेट्स के बिना काम नहीं चलेगा|

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक भाजपाई
ओये झल्लेया ये क्या लुट पाई होई है |ओये ये यौजना आयोग वाले एक तरफ तो ग्रामीणों के लिए २२/=जीवन यापन के लिए पर्याप्त मानते हैं और दूसरी तरफ नाश्ता उड़ाने में ही चौरासी लाख रुपयों का बिल बना दिया है|
आर टी आई कार्यकर्ता रमेश वर्मा[हिसार] के जवाब में बताया गया है कि ४२६ दिनों में सिर्फ जलपान पर ही 8418573/=के बिल पास कर दिए गए हैं|
गृह मंत्रालय ने 14 महीने में बैठकों के दौरान चाय-नाश्ते पर 88 लाख 83 हजार 172 रुपये खर्च किया।यानि एक करेला तो दूसरा नीम चड़ा
झल्ला
भाई अगर ऐसा है तो फिर ३५ लाख के टायलेट्स के बिना उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलुवालिया जी का काम नहीं चलेगा|

[जी डी] गवर्नेंस डेफिसिट और [पी पी] पालिसी पेरालाईसेस लगातार बढ रहा है= गडकरी

भाजपा के मुख्य मंत्रिओं की तीसरी बैठक में आज देश के आर्थिक हालत पर चिंता व्यक्त की गई| पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी ने कहा कि [जी डी] गवर्नेंस डेफिसिट और [पी पी] पालिसी पेरालाईसेस लगातार बढ रहा है | ऐसा लगता है कि यूं पी ऐ की रूलिंग सरकार में कोई लीडर+कर्ता+उत्तरदाता नहीं है है नीयत और निति के अकाल से देश में अकाल पड़ रहा है| आर्थिक सुधार महीनों से लटक रहे हैं और बुनियादी निर्णय टाले जा रहे हैं|
असाम में विदेशियों को रेड कारपेट स्वागत और देश भक्तों को देश निकाला दिया जा रहा है|
श्री गडकरी ने आरोप लगते हुए कहा कि एन डी ऐ सरकार कि उपलब्धिओं को यूं पी ऐ सरकार ने गवां दिया है|
इस अवसर पर पार्टी अध्यक्ष ने राज्यों में अपनी सरकारों कि पीठ भी थपथपाई |
इस अवसर पर उन्होंने वर्तमान परिस्थितिओं में अपनी गवर्नेंस के आधार पर केन्द्रीय सत्ता में आने के प्रयास करने का भी आह्वाहन किया|

इंडीगो एयरलाइंस जेट को पछाड़ कर बनी नंबर वन

निजी विमानन कंपनी इंडीगो ने अपनी प्रतिद्वंदी और नंबर वन जेट ग्रुप्स से जुलाई में संभवत पहली बार बडत हासिल कर ही ली है| इस बाज़ार में अपनी हिस्से दारी को १% बड़ा कर जुलाई में २७% करके जेट से ०.४०%आगे हो गई है जून तक ईंडीगो १%पीछे ही चल रही थी| किंग फिशर के फाल और एयर इंडिया की हड़ताल के अलावा सस्ती फ्लाईट्स भी इस कंपनी के प्रोमोशन का कारण रही है|
वर्तमान में इंडीगो के हवाई बड़े में ५० ऐ-320 एयर बस हैं|इसके अलावा आठ अन्य क्राफ्ट्स भी हैं|इसके अलावा बिना कर्जे +नुकसान और हड़ताल के बगैर चल रही इस कंपनी के कुशल मेनेजमेंट और प्रोफेशनल स्किल से यह कंपनी २००९ से लगातार प्रोफिट दर्ज़ करा रही है |
अपने हकों के लिए इसके मालिक राहुल भाटिया लगातार जूझते दिखाई देते हैं|पिछले दिनों श्री भाटिया ने उनकी बिना कर्जे+बिना शिकायत के चल रही कंपनी के प्रति भेद भाव पूर्ण रवैय्या अख्तियार किये जाने के लिए सिविल एविएशन मंत्रालय से भी नाराजगी जताई थी|जिसके जवाब में मंत्री अजित सिंह को सफाई भी देनी पड़ी थी|गौर तलब है कि कंपनी कि फ्लाईट केपेसिटी होने पर भी कम फेयर्स दिए जाने से नाराज़ श्री भाटिया ने यह नाराजगी प्रगट की थी

१.८६ लाख करोड़ के कोल घोटाले की कैग रिपोर्ट को सरकार ने अस्वीकार किया

कैग ने अपनी रिपोर्ट में १.८६ लाख करोड़ रुपयों के घोटाले को उजागर किया है जबकि कोल मंत्री श्री प्रक्स्श जायसवाल ने रिपोर्ट को ही स्वीकार करेने से इनकार कर दिया है|पार्लियामेंट में चर्चा के लिए राखी रिपोर्ट पर संसद के बाहर मंत्री ने मीडिया में सफाई दी
भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) ने कहा है कि कोयला खानों को प्रतिस्पर्धी बोलियों की बजाय आवेदन के आधार पर आवंटित करने से चुनिंदा निजी फर्मों को संभावित 1.86 लाख करोड़ रुपये का फायदा हुआ।
सीएजी की राय में यदि प्रतिस्पर्धात्मक बोली के जरिए आवंटन किए गए होते, तो निजी फर्मो के इस संभावित लाभ का एक हिस्सा सरकारी खजाने को भी मिल सकता था।
प्रतिस्पर्धी बोलियां नहीं मंगाकर निजी क्षेत्र की कंपनियों को सीधे नामांकन के आधार पर कोयला ब्लॉक आवंटित किये जाने से उन्हें फायदा हुआ।
कोयला ब्लॉक आवंटन पर कैग की आज संसद में पेश रिपोर्ट में निजी क्षेत्र की 25 कंपनियों के नाम गिनाये गये हैं जिन्हें सीधे नामांकन के आधार पर कोयला ब्लॉक आवंटित किये गये। इनमें एस्सार पावर, हिन्डाल्को इंडस्ट्रीज, टाटा स्टील, टाटा पावर और जिंदल स्टील एण्ड पावर का नाम शामिल है।
कैग रिपोर्ट में कहा गया है प्रतिस्पर्धी बोलियों के आधार पर आवंटन की प्रक्रिया में देरी की वजह से कोयला ब्लॉक आवंटन की मौजूदा प्रक्रिया निजी क्षेत्र की कंपनियों के लिये फायदेमंद साबित हुई।कैग का अनुमान है कि निजी क्षेत्र की इन कंपनियों को जिस तरह कोयला ब्लॉक आवंटित किये गये उससे उन्हें 1.86 लाख करोड़ रुपये का वित्तीय लाभ हो सकता है।
कैग ने कहा है कि उसने यह अनुमान कोल इंडिया की वर्ष 2010-11 के दौरान कोयला उत्पादन की औसत लागत और खुली खदान से कोयला बिक्री के औसत मूल्य के आधार पर लगाया है।
कोग की रिपोर्ट पर विपक्ष बे जे पी ने नैतिकता के आधार पर प्रधान मंत्री का इस्तीफा मांग लिया है|

एयर इंडिया के राजा को प्रफुल्ल पटेल ने भिखारी बनाया

एयर इंडिया के राजा को भिकारी बनाने में एन सी पी कोटे से बने नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल का बहुत बड़ा हाथ है|यह आरोप एयर इंडिया के पुर्व सी एम् डी सुनील अरोड़ा ने लगाए हैं|श्री अरोड़ा के अनुसार श्री पटेल ने निजी एयर लाईन्स को फायदा पहुंचाने की नियत से गलत फैसले कराये लन्दन आदि के |लाभ वाले रूट बदलवाए गए और घटे में जा रहे कंपनी के लिए जरूरत से ज्यादा विमान खरीदने को मजबूर किया गया। पूर्व सीएमडी ने सीवीसी को चिट्ठी लिखकर इस बात की जानकारी दी है। पूर्व सीएमडी ने शिकायत करते हुए मामले की जांच सीवीसी से करने की मांग की है।
७ वर्ष पूर्व भी अरोड़ा ने व्हिसल ब्लोअर के रूप में तत्कालीन कैबिनेट सचिव बी के चतुर्वेदी को यह चिट्ठी लिखी थी
प्रफुल्ल के कार्यकाल में जरूरत से ज्यादा ही जेट खरीदे गए। और साथ ही कुछ जेट मेकिंग कंपनीज को फायदा पहुंचाया गया। यह सब बोर्ड मीटिंग के बहाने किया गया। एआई की बोर्ड मीटिंग से पहले ही फैसला कर लिया जाता था और फोन पर मौखिक रूप से प्रबंधन को आदेश दे दिया जाता था। कई एयर क्राफ्ट्स अभी तक डिलीवर नहें कियी जा सके हैं और न ही उनके लिए मुआवजे को ही मांगा जा सका है|
2005 की इस चिट्ठी को लेकर दो संसद सदस्यों ने सीवीसी से जांच की मांग की है। साफ तौर पर पूर्व सीएमडी ने तत्कालीन नागरिक उड्डयन मंत्री पर बेहद गंभीर आरोप लगाया है। भ्रष्टाचार, महंगाई जैसे मुद्दों पर पहले से निशाने पर रही यूपीए सरकार को यह चोट भी गहरा जख्म देगी इससे इनकार नहीं किया जा सकता।
सी पी आई के सांसद के अलावा बी जे पी के प्रवक्ता मुख़्तार अब्बास नकवी ने भी इस मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है|
अब तो सी ऐ जी की रिपोर्ट भी संसद के पटल पर आ गई है और उसमे अरबों रुपयों के घोटाले से पर्दा हटाया गया है| विपक्षी पार्टी ने तो प्रधान मंत्री से नैतिकता के आधार पर इस्तीफे की भी मांग कर दी है
एन सी पी के पर कतरने की तैय्यारी की जा रही है|

सात साल तक चुप बैठे रहे सुनील अरोरा ने अब प्रोमोशन लेने के बाद अब केन्द्रीय सतर्कता आयोग [सी वी सी ]को पत्र लिखा गया है |
पहले यूं पी ऐ की सरकार काफी हद तक एन सी पी पर निर्भर थी इसीलिए सात साल पहले एन सी पी कोटे से बने नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल के विरुद्ध कोई कार्यवाही की सोच भी नहीं सका अब चूंकि सपा +बसपा के साथ टी एम् सी भी कांग्रेस की झोली में है |क्योंकि आज लोक तांत्रिक संगठन सी ऐ जी की रिपोर्ट में भी बड़े भ्रष्टाचार को उजागर किया गया है सो अब २०१४ के चुनावों में फेस सेविंग के मद्दे नज़र एन सी पी का झटका झेला जा सकता है|

बाज़ार ने कल की सुस्ती शुरूआती दौर में उतारी

देश के शेयर बाज़ार ने कल की सुस्ती उतर फैंक कर आज शुरुआती तेज़ी पकड़ी |
शुरूआती बाज़ार में आज शुक्रवार की सुबह सेंसेक्स ने ९३.७७ पाईन्ट्स लेकर १७७५०.९८
पर दिखाई दिया जबकि निफ्टी भी २४.६५ पाईन्ट्स के साथ ५३८७.६० पर कारोबार करता
दिखाई दिया|
शुरुआती दौर में ही बी एस ई का ३० शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स ४३.९९ की तेज़ी के साथ
१७७०१.२० और एन एस ई के ५० शेयरों वाला सूचकांक निफ्टी भी ५.६५ अंको की बडत के साथ ५३६८.६०
पर खुला|

बाज़ार गिरावट पर बंद हुआ

बाज़ार में आज सुबह आई सुस्ती शाम तक भी बरकरार रही|निफ्टी १७ अंक गिर कर ५३६३ पर बंद हुआ जबकि सेंसेक्स ७१ अंक नीचे लुडक कर १७६५७पर रुका|इस गिरावट के लिए विशेषज्ञों ने दो कारण बताये है[१]भारतीय रुँपये में गिरावट[२]अन्तराष्ट्रीय बाज़ारों से प्राप्त हो रहे कमजोरी के संकेत |