Ad

Tag: Aaj Ka Satire

कॉमनवेल्थ कन्ट्रीज क्लब की सदस्यता में नफा नुकसान देखने का समय आ गया

                                                   झल्ली गल्लां

राष्ट्रवादी चिंतक 

ओए झल्लेया! स्वाद आ गया।ये ब्रिटेन वाले अपनी ग्रेटनेस का रुआब झाड़ते हुए हसाडे मुल्क की विश्व स्वीकृत मानव मात्र की रक्षक वैक्सीन की उपलब्धि का अपमान कर रहे है।हसाडी सरकार ने भी टिट फ़ॉर टेट का इनका ही नियम इन पर लागू करते हुए ब्रिटेन से आ रहे 700 हवाई यात्रियों का RTPCR करवा के 10 दिन के क्वारंटाइन के लिए इनके चॉइस प्लेस पर भेज दिया।हमारी देसी भाषा मे इसे कहते है “जैसे को तैसा”

झल्ला

ओ भापा जी!कॉमनवेल्थ कन्ट्रीज क्लब की सदस्यता में नफा नुकसान देखने का समय आ गया

ये ब्रिटेन एक व्यापारी मुल्क है। इसीलिए इनकी ना के पीछे भी कोई व्यवसायिक कारण छुपा होणा है।आपको मालूम होणा चाहिए कि भारत को आजादी देते समय इसे अपने चंगुल के कॉमन वेल्थ कन्ट्रीज के क्लब में शामिल रखने को  ब्रिटिश क्राउन ने देश के दो टुकड़े करवा दिए।बिना पर्याप्त व्यवस्था के ही देश विभाजित कर दिया जिसने विश्व की सबसे बड़ी त्रासदी को जन्म दिया। दस लाख निर्दोष मारे गए और सवा करोड़ के लगभग विस्थापित हो गए।इतने बड़े बलिदान के बावजूद भारत का अपमान अब नही सहेगा हिंदुस्तान।कॉमन वेल्थ  कन्ट्रीज क्लब में रहने का नफा नुकसान देखना जरूरी हो गया है।जल्द ही गुणा भाग जरूरी हो गया है।

पँजांब की सियासत में सिद्धू असफल और राहुल+चन्नी सफल सियासतदां (व्यंग)

                                              झल्लीगल्लां

पंजाबीचिंतक

ओए झल्लेया!आज हसाडे सोने पँजांब की पृष्ठभूमि पर नाकाम सियासतदां और मुक़म्मल सियासतदां में फर्क समझा ।

झल्ला

भापा जी!पँजांब की सियासत में सिद्धू असफल और राहुल+चन्नी सफल सियासतदां (व्यंग)

नाकाम सियासतदां समझो लाफिंग जट्ट नवजोत सिंह सिद्धू।प्रदेश में सबसे लोक प्रिय+सबसे कर्मठ+ईमानदार लेकिन इनसे  पहले मंत्रिपद गया । अब सीएम की कुर्सी मिलते मिलते हाथों से खिसक गई।अब बेचारे ओनली सीएम के संलग्नक बने घूम रहे हैं

और मुकम्मल बोले तो आज की राजनीति में  सफल सियासतदां समझो तो चरणजीत सिंह चन्नी

निर्दलीय विधायक कांग्रेस में लौटे और  दो जट्टों की लड़ाई में मलाई दलित की थाली में आ गिरी।वैसे यहां एक और कहावत चरितार्थ होती है ।बोले तो पंजाबी बिल्लियों की लड़ाई में दिल्ली के बंदर मामा ने अपनी बिसात बिछा ली ।इसीलिएझोट्टों की लड़ाई में झुंडों का तो जो हुआ सो हुआ मगर  सबसे सफल  तो दिल्ली वाले ही हुए

सीएम चन्नी ने पँजांब में पुरानी कहावत को झुठलाया

झल्लीगल्लां

कांग्रेसीचेयरलीडर

ओए झल्लेया! मुबारकां!

ओए महाराजा पटियाला अमरिन्दर सिंह जी ने जो भसूड़ी पाई थी उसमें से पँजांब कांग्रेस बाहर निकल आई ।श्रीमती सोनिया गांधी+राहुल गांधी+हरीशरावत+नवजोतसिंहसिद्धू के अथक प्रयास और सूझबूझ से ना केवल संकट टल गया बल्कि पार्टी और मजबूत बन गई है। दलित चरणजीतसिंह चन्नी को सर्वसम्मति से  मुख्यमंत्री बना कर भजपा+बसपा+एसएडी को  सकते में डाल दिया।अब 2022 में भी हसाडी ही सरकार लौट के आएगी

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजाणा !वाकई पुरानी सारी कहावतें+मान्यताएं+परम्पराएं धाराशाई हो गई।

सुनते आये थे  कि नालायक बच्चे का बस्ता भारी होता है लेकिन पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत  चन्नी ने इस कहावत को भी फिलहाल तो झु टला दिया

अरे भाई ५८ वर्षीय चन्नी साहब गरीब दलित परिवार से हैं लेकिन इनके बस्ते में

डिग्री इन लॉ

बिज़नेस प्रबंध और

पोलिटिकल साइंस की डिग्रियां है। इन सब से ऊपर दलित कार्ड और कांग्रेस हाईकमांड का हाथ है

 

पाकिस्तान को तालिबान का एक और घर बनने से अब ख़ुदा ही बचा सकता है

                                                      झल्लीगल्लां

चिंतक

ओए झल्लेया! हसाडी नाक के नीचे पड़ोस में ये क्या खिचड़ी पक रही है ?पाकिस्तान के सफल रहे क्रिकेटर परंतु असफल प्रधानमंत्री इमरानखान  अफगानिस्तान पर काबिज तालिबान के प्रति हमदर्दी जता रहा है और उधर तालिबान सीना ठोक कर इमरान के पाकिस्तान को अपना दूसरा घर बता रहा है

ओये  ये दोनों तो आपस मे मिल गए अब हसाडे  कश्मीर का क्या होगा ???

झल्ला

भापा जी!हसाडा कश्मीर तो डोभाल जी  ,राजनाथ जी और नरेंद्रमोदी जी के सुरक्षित हाथों में है लेकिन अब अफगानिस्तान के पश्चात  पाकिस्तान को तालिबान के घर बनने से ख़ुदा ही बचा सकता है।

 

 

अब तो अंटा भी दागी जनप्रतिनिधियों के बावा का ,मुकद्दमे वापिसी का अधिकार

अक्सर ठप्प संसद भवन भी किराए पर उठा दें तो अच्छी खासी कमाई हो जाएगी

                                                       झल्लीगल्ला

भाजपाइचिंतक

ओए झल्लेया!मुबारकां!! ओए अब हसाडा मुल्क फिर से कहलायेगा “सोने की चिड़िया”

हसाडी होनहार वित्तमंत्री श्रीमती निर्मला सीतारामन जी ने  उपयोग में नही आ रही सम्पत्तियों को किराए पर उठाने का निर्णय ले लिया है।पहले चरण में रेलवे+ स्टेडियम+ऊर्जा+सड़कों को किराए पर दिया जाएगा।ओए हसाडी जनसेवा को  समर्पित सरकार ने जनसेवा के लिए छह लाख करोड़ ₹जुटाने को कमर कस ली है।अब तो भारत का बुनियादी ढांचा मजबूत होवे हीहोवे

झल्ला

हाँ जी

अब सरकारी सम्पत्तियों पर कब्जे के डर से निजात मिल जाएगी।किरायेदार जाने और जाने आंदोलनकारी

वैसे झल्लानुसार अगर अक्सर ठप्प रहने वाले संसद (पुराना)भवन को भी किराए पर उठा दिया जाए तो यहां शादी ब्याह+पार्टी+मीटिंग्स से अच्छी खासी कमाई हो सकती है।

टीएमसी ने पर्चा फाड़ने के लिए क्या नोटिस दिया था???व्यंग

23/7/2021

झल्ली गल्लां

टीएमसी ने पर्चा फाड़ने के लिए क्या नोटिस दिया था???व्यंग

टीएमसी का छुटभैय्या ;

ओये झल्लेया! देख संसद में  लोकतंत्र का कैसा मजाक उड़ाया जा रहा है। ओये बिना  सदन की कार्यसूची में शामिल किए बगैर हमारे  माननीय सांसद शांतनु सेन जी को निलंबित कर दिया।ओये हमने भी कच्ची गोलियां नही खेली हैं।अगर हमारे सेन दादा को तुरन्त बहाल नही किया गया तो हमने संसद के दोनों सदनो की कार्यवाही ठप्प कर  देनी है 

झल्ला

दादा! बात तो आप खूब भालो बोला।आपको तो  बीच दरिया से मछियां पकडने का हुनर भी मालूम है लेकिन इक गल दस्सो?

जासूसी मामले को भुनाने के चक्कर मे सेन दादा ने वरिष्ठ सदन(राज्यसभा )में जो मंत्री के हाथों से छीन कर वक्तव्य के पुर्जे पुर्जे करके चेयर की तरफ उछाल कर सीना चौड़ा किया,क्या यह टीएमसी के नोटिस में शामिल था?

——/——-/——/——/—–/

मोदीभापे जी !पेट्रोपदार्थों को बख्शो फ़ास्टफ़ूड की तरफ कहर बरपाओ

झल्ले दी  गल्लां

गुजराती निर्यातक

ओए झल्लेया! ये अंग्रेजों की मति मारी गई है क्या?देख तो ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन  इंग्लैंड में मीठे और नमकीन पर 300 ₹ से लेकर 600 ₹ तक शुगर टैक्स लगाने की सोच  रहे हैं।इससे बेशक इनका खज़ाना भर जाएगा लेकिन स्नैक्स टैक्स के ये  हजारों करोड़ रुपये तो उपभोक्ता से ही वसूले जाएंगे कि नही।इससे हमारा उत्पाद भी महंगा हो जाएगा और व्यवसायिक प्रतिस्पर्धा में हम पिछड़ जाएंगे।।

झल्ला

सेठ जी ! हसाडे पीएम माननीय नरेंद्र मोदी जी को भी अपने समकक्ष अंग्रेज मित्र से सबक लेकर पेट्रोपदार्थों को बख्श देना चाहिए और भारतीयों के खान पान को सुधारने के लिए फ़ास्टफ़ूड की तरफ कहर की दृष्टि  मौड़नी चाहिए।इससे विपक्ष का दबाब कम होगा और स्वास्थ्य सेवाओं पर खर्च सही दिशा में होगा

कोरोना पीड़ित के हिस्से में भी मुआवजा नही,जुमले और सिर्फ जुमले

झल्लीगल्लां
उत्तेजितसमाजसेवी
ओए झल्लेया!ये क्या हो रहा है?ओए मुल्क में सरकारें कोरोना महामारी में भी पीड़ितों के प्रति अपनी जिम्मेदारियों से भागने में ही लगी है। कोरोना संक्रमितों और उनकी मृत्यु के आंकड़े निरन्तर बढ़ते जा रहे है।अनेकों परिवारों में कमाने वाला कोई नही रहा।इलाज में व्यवसाय ठप्प हो गए।बच्चे अनाथ हो गए और केंद्र की सरकार कहती है कि पीड़ितों को मुआवजा नही देंगे। इस रवैये से दुखी होकर माननीय सुप्रीमकोर्ट ने कहा दिया है कि मुआवजा तो देना ही पड़ेगा।
झल्ला
झल्लाभापा जी!सरकारें तो स्मारकों पर अपने नाम के शिलापट लगाने को लालायित रहती आई है।इसीलिए बजट का बड़ा हिस्सा ऐसे ही कार्यों में जाता है और आम आदमी के हिस्से में आते हैं जुमले और सिर्फ जुमले ।अब देखो 1947 के रिफ्यूजी आज भी अपने हक का कंपनसेशन/रिहैबिलिटेशन क्लेम लेने को दर दर भटक रहे हैं

कोटकपूरा की पोलिस फायरिंग में बादल को घेरने में असमर्थ रहे पूर्व आईजी ने आप जॉइन की

झल्लीगल्लां
आपपार्टीचेयरलीडर
cartoon cheeyar leader aap partyओए झल्लेया! वोह मारा पापड़ वाले को।ओए पंजाब पुलिस के टॉप कॉप रहे कुंवर विजय प्रताप ने हसाडी पार्टी जॉइन कर ली है।ओए कुंवर साहब को पार्टी जॉइन करवाने के लिए हसाडे अरविंद केजरीवाल साहब दिल्ली से स्पेशली अमृतसर आये थे।अब तो 2022 के चुनांवों में हमे सत्ता मिले ही मिले
झल्ला
झल्लाओए चतुर सुजाणा!
इन कुंवर साहिब ने 2015 के कोटकपूरा और बेहबल कलां की पोलिस फायरिंग में तत्कालीन व्योवर्द्ध मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को घेरने के लिए एसआई टी में एड़ीचोटी का जोर लगा लिया था।और जब उनके मनसूबे पूरे नही हुए तो रिटायरमेंट ले कर राजनीतिक चोला पहनने की जुगत लडानी शुरू कर दी।
अब बादलों को बैठे बिठाए आप और कांग्रेस पर गरजने और बरसने का मौका जरूर मिल गया।

.