Ad

Tag: Aaj Ka Satire

कैपिटेशन फी+आरक्षण वाले डॉक्टर्स की भी यह कोरोनावधि परीक्षा की घड़ी है

झल्लीगल्लां
चिन्तितबुद्धिजीवी
ओएU Turn झल्लेया!ये डॉक्टर लोग महामारी में भी क्या कुफ्र कमा रहे हैं?ओए एक तरफ तो बीमार और तीमारदार पहले से ही दुखी लाचार हैं ऊपर से ये डॉक्टर्स कोरोना प्रोटोकॉल काउल्लंघन करते हुए अनाप शनाप भारीभरकम दवाएं प्रेस्क्राइब किये जा रहे है।बेशक ये लोग अपने एमआर को ओब्लाइज कर रहे हैं और सरकारी मशीनरी कालाबाजारी देखने वाले चश्मे कही रख कर भूल चुकी हैं लेकिन मरीज तो गोलोकधाम सिधार रहे हैं
झल्लाझल्ला
भापा जी!वाकई सोचने का विषय है।कैपिटेशन फी +आरक्षण के दम पर बने डॉक्टर्स और धनाढ्य पिता के इन्वेस्टमेंट वाले अस्पतालों में उपलब्ध डॉक्टर्स की भी यह परीक्षा की घड़ी है ।

मोदी ने टीका उत्सव से दलितों के दिलों पर सीधे सीधे दस्तक दे ही दी

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर

टीकाउत्सव

टीकाउत्सव

ओए झल्लेया! मुबारकां!! ओए हसाडे धाकड़ प्रधानमंत्री नरेन्द्रमोदी जी ने कोरोना के खिलाफ जंग में आम जनता को जोड़े रखने के लिए टीका सप्ताह /उत्सव मनाने का आह्वाहन किया है।ओए जिस तरह लोगों ने लॉकडाउन +नाईटकर्फ्यू और ताली थाली आदि अभियानों में कंधे से कंधा मिला कर सहयोग दिया है।वैसे ही ज्योतिबा फूले और बाबा अम्बेडकर को समर्पित 11 से 14 अप्रैल के इस टीका सप्ताह उत्सव में भी लोग टीका लगवाने आएंगे।
झल्लाझल्ला
सेठ जी! आपके मोदी जी पक्के गुज्जु व्यापारी हैं।आपदा में लगातार अवसर पैदा किये जा रहे हैं।अब देखो! दलितों के मसीहाओ के नाम पर घोषित इस टीका उत्सव से महाराष्ट्र और दलितों के दिलों में सीधे सीधे दस्तक दे ही दी

उपराष्ट्रपति जी! पीड़ित किसकी मां को मासी कहे

झल्लीगल्लां
भजपाईलेखक
VP M Venkaiyya naiduओए झल्लेया!हसाडे सुयोग्य उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू ने आज अपनी मूल जड़ों को याद रखने तथा अपनी माता, मातृभाषा, मातृभूमि और पैतृक स्थान को सम्मान देने का आह्वाहन किया है।
ओए श्री नायडू ने भुवनेश्वर राजभवन में “नीलिमारानी- माई मदर-माई हीरो” नामक पुस्तक का विमोचन करने के बाद जनसमूह को संबोधित करते हुए शिक्षा, न्यायपालिका तथा प्रशासन में मातृभाषा के व्यापक उपयोग की अपील की। “साझा करने एवं देखभाल करने” की सच्ची भावना में, उन्होंने सफल पुरूषों एवं महिलाओं को अपने पैतृक गांवों में रहने वाले लोगों की सहायता एवं समर्थन करने की अपील है।
झल्ला
चतुर सेठ जी!
झल्लाहसाडी माता रब्ब के चरणों मे समा गई।हसाडे पुरखों की मातृभूमि (रावलपिंडी/दन्दी)दूसरों को दे दी गई।मातृभाषा (पंजाबी) वालों ने 1947 के रिफ्यूजियों को लूट लिया।पैतृक स्थान वाले हुक्मरां पीड़ा सुनने तक को तैयार नही।ऐसे मैं आप ही बताओ कि मैं किसकी मां को मासी खून???

काहे की होली? काहे की हमजोली ??जब दो गज की दूरी और मास्क भी जरूरी!

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर
ओए झल्लेया!रंगों के मस्त त्यौहार होली दियाँ लख लख मुबारकां।
ओए कल होलिका के दहन से बुराईओं का खात्मा हो चुका अब खुल के रंग बरसाओ।बरसाने से अयोध्या या फिर काशी नहाओ।
झल्ला

Holi

Holi

चतुर सेठ जी!हमारी काहे की होली??? काहे की होली? काहे की हमजोली ??जब दो गज की दूरी और मास्क भी जरूरी!
संग खड़ी हमजोली!फिर भी दो गज की दूरी ऊपर से मास्क भी जरूरी।हाँ तुम लोगों ने तो महाराष्ट्र के फार्म हाउस में एन सी पी वालों से होली मिलन कर ही लिया।बंगाल में ममता और आसाम में कांग्रेस के गाल बिना गुलाल के ही लाल कर लिए।
बुरा ना मानो
होली के हुलियारे बेचारे ,तुम्हारी कोरोना चेतावनियों के मारे
ढूंढ रहे रघुबीरा,लेकर सोने का बीड़ा,दिख नही रहा हुड़दंगी कन्हाई
किलस किलस गुलाल से कर रहे अपने ही दोनों गाल लाल
काहे की खुशियां ?काहे के रंग ?? होली हुई बदरंग

उद्धव बेचारा गृहमंत्री की लगाई आग से छुटकारा पाए तो अस्पतालों की सुध ले

झल्लीगल्लां
चिंतितमुम्बईकर
ओए झल्लेया!ये हसाडे महाराष्ट्र को किस भेड़े की भेड़ी नजर लग गई ?
देख तो सब तरफ आग ही आग। पुणे केंटोनमेंट के स्ट्रीट बाजार हो या फिर भांडुप के ड्रीम्समॉल सभी मे आग लग रही है।मॉल में बने सनराइज अस्पताल में तो 11 मरीज बेचारे जल कर मर गए।इससे पहले भी 10 बच्चे जल कर मर गए लेकिन आग से बचाव को कोई उपाय करने को तैयार नही।
बीएमसी के भ्र्ष्टाचार पर कोई नकेल नही ।हसाडे मुख्यमंत्री श्री उद्धव ठाकरे की तो किस्मत ही खराब है।देख तो जैसे तैसे जोड़तोड़ कर सीएम की कुर्सी मिली।इन्होंने कोरोनासुरों से युद्ध मे जनताभलाई खातिर मॉल तक मे अस्पताल खुलवा दिया मगर यहां भी आग लग गई।वाकई सही कहा गया है कि जब बुरा वक्त आता है तो ऊंट पर बैठने पर भी कुत्ता काट ही जाता है।अब सुबह सुबह प्रभादेवी इलाके के वीर सावरकर रोड पर अछी खासी खड़ी पांच मंजिला वाणिज्यिक इमारत में आग लग गई।
झल्ला
वाकई भाऊ !
अब बेचारा सीएम गृहमंत्री अनिल देशमुख टॉपकॉप परमवीर और सुपर कॉप सचिन वाज़े द्वारा सीएम की कुर्सी के नीचे लगाई आग को बुझा पाए तो बाजार और मॉल की सुध ले पायेगा

पुलिस पर कब्जे को “आप”का संघर्ष मुम्बई की उगाही कांड का असर तो नही

झल्लीगल्लां
cartoon cheeyar leader aap partyआमआदमीपार्टीचेयरलीडर
ओए झल्लेया! ये क्या हो रहा है? ओए दिल्ली में हसाडी चुनी हुई सरकार के सीमित अधिकारों को भी एलजी की झोली में डाला जा रहा है। पार्लियामेंट में विपक्ष के विरोध के बावजूद केंद्र में सत्तारूढ़ सरकार ने राज्यसभा मे राष्ट्रीय राजधानी राज्य छेत्र शासन ( संशोधन )बिल पारित करवा लिया।बेशक राज्य सभा मे हम अल्पमत में थे फिर भी दिल्ली के दो करोड़ लोगों आवाज बने 83 के मुकाबिले 45 मतों की भावना का आदर किया जाना चाहिए था।इसीके विरोध में मल्लिकार्जुन खड़गे जी सदन से वाकआउट कर गए।
ये केंद्र वाले हम पर कानून व्यवस्था का ठीकरा फोड़ते रहते हैं लेकिन दिल्ली पुलिस की कमान हमे सौंपने को तैयार नही होते।गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी इसे संवैधानिक बता रहे हैं।
झल्ला आपसे पूर्ण सहानुभूति है। नोटबन्दी के पश्चात अब पुलिस का झल्लासबइंस्पेक्टर ही 100 करोड़ ₹ की उगाही प्रतिमाह करवा सकता है और पार्टी चलाने के लिए पैसा जरूरी है।इसीलिए पुलिस पर कब्जा भी जरूरी है।

मेरठ का1वाहन कमेला तो कंट्रोल नही हो रहा,देश भर में कमेले खोलने चले

झल्लीगल्लां
व्यंगकार
 ओए झल्लेया !ये क्या हो रहा है? ओए मोदी सरकार स्क्रैप पालिसी थोप कर पुरानी एंटीक गाड़ियों के दर्शन दुर्लभ करने जा रही है।ओए अब एंटीक गाड़ियों का प्रदर्शन/रेस नही होगी । वाहन निर्माता भी अपने वाहन की लंबी लाइफ का दावा नही कर पाएंगे
झल्ला
झल्ला भापा जी!मेरठ का1वाहन कमेला तो कंट्रोल नही हो रहा,देश भर में कमेले खोलने चले
मेरठ के सोतीगंज में एक वाहन कमेला लखनऊ से लेकर दिल्ली के शासन+प्रशासन के काबू नही आ रहा और ये परिवहन मंत्री नितिन गडकरी पूरे देश मे वाहन कमेले खोलने जा रहे हैं और उम्मीद है कि इन कमेलों को पर्यटन केंद्र बना कर प्रवेश टिकट भी लगा दिया जाएगा

काश शहीदों के नाम पर कुछ सरकारी यौजनाएँ भी शुरू कर दी जाएं

झल्लीगल्लां
स्वतंत्रतासेनानी
ओए झल्लेया!तेरे को मलूम है कि आज शहीदी दिवस है।शहीदे आज़म भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव देश को आज़ाद करवाने के लिए हंसते हंसते फांसी पर झूल गए। ऐसे राष्ट्र पुत्रों को श्रद्धा सुमन अर्पित हैं
झल्ला
बाबा जी
नमन है राष्ट्र पुत्रों को शीश नवां कर नमन है।प्रधानमंत्री नरेन्द्रमोदी ने ट्वीट करके सांसदों ने लोकसभा में शहीदों को याद किया देश मे शहीदों के सम्मान में इनकी मूर्तियां तो खड़ी कर लेकिन काश पुनः काश
इन शहीदों के नाम पर कुछ यौजनाएँ भी शुरू कर दी जाएं

गडकरी जी !वाहन कमेले और स्क्रैप पालिसी राष्ट्र में लागू हो पाएगी?

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर
ओए झल्लेया! मुबारकां!!ओए हसाडे मुल्क में चमचमाती साफ सुथरी सड़कों पर नई नवेली गाड़ियां ही फर्राटा भरेंगी।हसाडे कर्मयोगी परिवहन मंत्री नितिन गडकरी जी ने पार्लियामेंट में एलानिया कह दिया है किपुरानेवाहनों का बोझ अब राष्ट्र सहन नही करेगा। उन्होंने पूरे देश मे स्क्रैप पालिसी की भी बात कह दी है।अब 15-20 ,साल पुराने वाहन स्वेच्छा से कटवाएँ जाएंगे।इससे नॉकरियाँ मिलेंगी+इकॉनमी तो दौड़ेगी साथ ही पर्यावरण भी सुधरेगा।
झल्ला चतुर सेठ जी! ठीक ही है।पूरे राष्ट्र में वाहन कमेले खुलने से शायद चोरी चकारी के वाहनों का गैरकानूनी कटान रुक जाए लेकिन झल्लेविचारानुसार एआप लोग किसानों के पुराने ट्रैक्टर ट्रालियों पर तो यू टर्न ले लेते हो ऐसे में पूरे राष्ट्र में इस पालिसी को लागू करने की बात क्यूँ करते हो

हेमामालिनी ने अयोध्या की तर्ज पर मथुरा के लिए फंड्स मांगे ; मथुरा कार्ड

झल्लीगल्लां
कृष्णभक्त
ओए झल्लेया! राधे राधे !!
ओए हसाडी सोणी सांसद श्रीमती हेमा मालिनी जी ने लोक सभा मे अनुदान मांग पर हो रही चर्चा में भाग लेते हुए धर्म नगरी मथुरा के विकास और यमुना जी की सफाई के लिए अयोध्या की तर्ज पर विशेष फंड्स की मांग की है।राधे राधे
झल्ला
Jhallaa Cartoonभापा जी!राधे राधे!!आपकी धार्मिक नगरी मथुरा पर्यटन का भी मुख्य केंद्र है इसीलिए वहां का विकास होना ही चाहिए लेकिन चुनावी बेला में ऐसी मांग उठाने से कहीं ना कहीं लगता है कि अयोध्या के बाद अब मथुरा की तैयारी है।