Ad

Tag: IndiaToday Satire

अयोध्या में बैनामे का गोरखधंधा,कांग्रेस का पाला पोसा

झल्लीगल्लां
उत्साहितकांग्रेसी

Ram Mandir

Ram Mandir

राम! राम !!राम !!!
घोर अनर्थ।ओए झल्लेया !राम के नाम पर इतनी बड़ी लूट।अयोध्या मे बन्न रहे भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए बनाए गए राममंदिरट्रस्ट ने दो करोड़ ₹ की भूमि साढ़े अठारह करोड़ में खरीद डाली।ये तो घोर कलयुग है ।राम के नाम पर केंद्र और यूपी में सत्ता कब्जाने वालों का असली चेहरा सामने आ गया।
झल्ला
चतुरसुजाण जी।
झल्लाचलो मौके की इंतज़ार में बैठे आपलोगों को बैठे बिठाए 2022 तक चिल्लाने के लिए मौका मिल गया लेकिन झल्लेविचारानुसार यह सारा गोरखधंदा बैनामे का है जिसे आपलोगों की सरकारों ने ही पाला पोसा है।
बैनामे रूपी रुमाल रख कर पहले जमीत घेर लो फिर वहां यौजनाएँ बनाओ और मनचाहा लूट लो

पँजांब में माहिरों का विलक्षण समूह फिर भी मृत्यु दर सबसे अधिक

झल्लीगल्लां
पंजाबसरकारकाचेयरलीडर
ओए झल्लेया!हसाडे मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिन्दर सिंह जी की दूरदर्शिता में सीएस विनी महाजन और डॉ के के तलवार की निगरानी में बनाये गए माहिरों के विलक्षण समूह ने कोरोना मरीजों की देखभाल सम्बन्धी उल्लेखनीय कार्य करते हुए एक साल पूरा कर लिया।ओए इनके सुझावों से बहुत लाभ हुआ है।
यह समूह नियमित तौर पर हर मंगलवार, गुरूवार और रविवार शाम 7.30 बजे प्रशिक्षण और विचार-विमर्श संबंधी सैशन करवाता है। अब तक 50 से अधिक सैशन किये जा चुके हैं।
इन सैशनों के दौरान माहिरों द्वारा अमृतसर और पटियाला के जी.एम.सीज़, जी.जी.एस.एम.सी. फरीदकोट, डी.एम.सी. लुधियाना, सी.एम.सी. लुधियाना और निजी अस्पतालों में दर्मियाने से लेकर गंभीर मरीज़ों बारे विचार-विमर्श किया गया और मरीज़ों के स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिए विचारों का आदान-प्रदान किया गया।झल्ला
ओ भा जी!
मन मे दूने मन मे तीने मन मे रह गए आधे
वोह आधे भी कोविड अस्पतालों में नही दीखे
इतने माहिरों के होते हुए भी किसान आंदोलन से फैले कोविड को भांपा नही जा सका।ऑक्सीजन के उत्पादन में पँजांब को आत्म निर्भर नही बनाया जा सका।चिकित्सकों की कमी को पूरा नही किया गया।कोविड से हुई मृत्यु दर देश मे सबसे अधिक और आप माहिरों की महारत की गल कर रहे हो
भा जी!पँजांब में माहिरों का विलक्षण समूह फिर भी मृत्यु दर सबसे अधिक ऑक्सीजन उत्पादन में शून्य
टीकाकरण में फिसड्डी।

ये कैसा लोकतंत्र?विधायकों को केंद्र तो सीएम को संयुक्तराष्ट्र ही बचाने आएगा क्या ?

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर
Jamos Cartoon ओए झल्लेया । मजा आ गया।ओए बेशक वेस्ट बंगाल में हसाडी सरकार नही बनी लेकिन हसाडे सारे 77 के 77 विधायकों को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जी सुरक्षा मुहैया करवा रहे हैं।अब तो सीआरपीएफ और सीआईएसएफ आदि के ज्वान टीएमसी के गुंडों से हसाडे विधायकों की रक्षा कर लेंगे।
झल्लाझल्ला
चतुर सुजाणा! ये कैसा लोकतंत्र है???विधायकों को केंद्र तो सीएम को संयुक्त राष्ट्र ही बचाने आएगा क्या ???

जमीनी मुद्दों को पहचान कर बंजर चेलों के गुणगान से परहेज लाभकारी होगा

झल्लीगल्लां
भजपाई चेयरलीडर
Elections ओए झल्लेया! हसाडे मुल्क में अब अच्छाइयों का जमाना ही नही रहा।ओए हसाडे देवतुल्य प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई दामोदर दास मोदी जी ने जनता के सभी वर्ण+धर्म+सम्प्रदायों के साथ आर्थिक वर्गों के कल्याण के लिए दिन रात एक किया हुआ है लेकिन चुनांवों में इन्हें हराने के लिए इनके विरुद्ध दुष्प्रचार किया जा रहा है।इसी के फलस्वरूप बंगाल+तमिलनाड में हार हो गई।उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव में भी विपक्षी दुष्प्रचारी एकट्ठा हो गए।ये तो शुक्र है के असम और पुडुचेरी में इज्जत बच गई वरना इन्होंने तो कोई कसर बाकी नही छोड़ी थी
झल्ला
झल्लाओ मेरे चतुर सेठ जी !अंतराष्ट्रीय ख्याति पाने के लोभ में आपलोगों के पावँ जमीनी हकीकत से उठ चुके है।खैर इसे चेतावनी समझ कर असली मुद्दों को पहचान कर अपने बंजर चेलों के गुणगान से परहेज लाभकारी होगा

कैपिटेशन फी+आरक्षण वाले डॉक्टर्स की भी यह कोरोनावधि परीक्षा की घड़ी है

झल्लीगल्लां
चिन्तितबुद्धिजीवी
ओएU Turn झल्लेया!ये डॉक्टर लोग महामारी में भी क्या कुफ्र कमा रहे हैं?ओए एक तरफ तो बीमार और तीमारदार पहले से ही दुखी लाचार हैं ऊपर से ये डॉक्टर्स कोरोना प्रोटोकॉल काउल्लंघन करते हुए अनाप शनाप भारीभरकम दवाएं प्रेस्क्राइब किये जा रहे है।बेशक ये लोग अपने एमआर को ओब्लाइज कर रहे हैं और सरकारी मशीनरी कालाबाजारी देखने वाले चश्मे कही रख कर भूल चुकी हैं लेकिन मरीज तो गोलोकधाम सिधार रहे हैं
झल्लाझल्ला
भापा जी!वाकई सोचने का विषय है।कैपिटेशन फी +आरक्षण के दम पर बने डॉक्टर्स और धनाढ्य पिता के इन्वेस्टमेंट वाले अस्पतालों में उपलब्ध डॉक्टर्स की भी यह परीक्षा की घड़ी है ।