Ad

Tag: NarendraModi

नरेंद्र मोदी से मिलने एम्बेसडर नैंसी पावेल खुद गांधीनगर जाएंगी तो हो जाणा है वेलेंटाइन डे हैप्पी हैप्पी जी

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

उत्साहित+उत्तेजित+उग्र भाजपाई

ओये झल्लेया हमने करके दिखा दिया के नहीं ये अमेरिका वाले 2005 से कहते फिरते थे कि हसाडे सोणे नरेंद्र मोदी जी को वीजा नहीं देंगे अब देख अमेरिका की राजदूत नैंसी पावेल खुद मोदी से मिलने गांधीनगर तक जाएंगी ओये अब तो अमेरिका और भाजापा का हो जाणा है हैप्पी वेलेंटाईन ओये अब तो अंदर बाहर के कथित मानवाधिकारी खुद ही खामोश हो जायेंगे ओये मानता है ना कि हुन हसाडे बल्ले ही बल्ले बाकी सारे थल्ले ही थल्ले

झल्ला

सेठ जी आप जी को मालूम होना चाहिए कि अमेरिका सबसे बड़ा व्यापारी देश है और वर्त्तमान में भाजपा के मोदी रूपी पेड़ पर स्वादिष्ट+रसादार+मीठे फल लगाने की उम्मीद बन रही ऐसे में है नरेंद्र मोदी की आबो हवा का लुत्फ़ उठाने के लिए एडवांस में ही स्लॉट बुक करना दानिशमंदी है

नरेंद्र मोदी ने मुस्लिम ट्रेड फेयर में मुस्लिम समाज को विकास में सबसे बड़ा सहयोगी बताया

लाल किले की प्राचीर से तिरंगा फहराने के लिए कई संवैधानिक मंजिले तय करनी जरूरी है |इन में से एक मंजिल मुस्लिम वोट भी है जिसकी पहली सीढ़ी पर पैर रखते हुए नरेंद्र मोदी ने पार करने के लिए तीन दिवसीय मुस्लिम ट्रेड फेयर के मंच पर उम्मत बिज़नस कॉन्क्लेव – 2014 [ Ummat Business Conclave – 2014 ]का उदघाटन किया जहां उन्होंने मुस्लिम समुदाय और उनके द्वारा की गई तरक्की की बात की और उनको गुजरात के विकास में सबसे बड़ा सहयोगी बताया।
भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने आज गुजरात [अहमदनगर ] में मुस्लिम ट्रेड फेयर के दौरान देश के अन्य राज्यों के मुस्लिमों को गुजरात के मुस्लिमों की तरक्की की तस्वीर दिखाते हुए कहा कि किसी भी देश, राज्य और समाज की तरक्की वहां रहने वाले लोगो की भागीदारी के बिना सम्भव नहीं है|
गुजरात के मुख्य मंत्री के रूप में मोदी ने बताया कि पतंग का उद्योग मुस्लिम समाज की रोजी रोटी का साधन है पहले यह व्यापार केवल ३५ करोड़ रुपयों का था अब इसे व्यवसायिक रूप देने से यह पतंग का व्यापार ७०० करोड़ तक जा पहुंचा है |उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक चैनल्स पर चुटकी लेते हुए कहा कि विज्ञापन के लिए केवल इलेक्ट्रॉनिक चैनल्स ही एक मात्र साधन नहीं है पतंग के माध्यम से कहीं अधिकप्रचार किया जा सकता है |मुस्लिम समाज से ही जुड़े छापे खाने के व्यवसाय में सुधार के भी संकेत किये |
गुजरात के सी एम् नरेंद्र मोदी ने साफ़ कहा कि जब हिन्दू+मुस्लिम साथ काम करते है तो विकास अपने आप होने लगता है। मोदी ने गुजरात के मुसलमानो की तरक्की को देश में नजीर की तरह पेश करते हुए कहा कि कच्छ के व्यापार का बड़ा हिस्सा मुस्लिम समुदाय के पास है।
उन्होंने देश भर के मुस्लिम समाज को विकास की मुख्य धारा में शामिल होने के लिए कहा कि व्यापार किसी एक समुदाय की धाती नहीं है| जो जितनी मेहनत करता है उसका फल भी उसे उतना ही मिलता है,|
सरकार और सरकारी संसाधनो के सहयोग की जरुरत है ।
मोदी गुजरात की सत्ता सँभालने के बाद आज पहली बार मुस्लिम ट्रेड फेयर में उद्घाटन करने पहुंचे जहां मोदी ने देश भर के मुस्लिमो को लुभाने की कोशिश की| मोदी ने साफ़ कहा कि देश सबका है और उसमें होने वाले व्यापार पर सबकी हिस्सेदारी है । मोदी के मुस्लिम समुदाय के प्रति बदलते रवैये ने साफ़ सन्देश दे दिया कि भाजपा आगामी आम चुनावों में कोई भी कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहती
फ़ाइल फ़ोटो

आर्थिक आधारित आरक्षण के सुझाव को बेशक रद्दी की टोकरी नसीब हुई मगर इसकी जड़ों की तलाश शुरू हो गई है

जाति आधारित आरक्षण के स्थान पर आर्थिक आधार बनाने के लिए कांग्रेस के महा सचिव जनार्दन द्विवेदी के सुझाव को पार्टी के चुनावी मेनिफेस्टो में शामिल करने के बजाय कांग्रेस अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी ने उसे रद्दी की टोकरी में डाल दिया है लेकिन इस मुद्दे को लेकर आरक्षण के बल पर राजनीती करने वालों ने इस रिजेक्टेड सुझाव की संसद के बाहर और भीतर आलोचना करनी शुरू कर दी है |एक पत्रकारों का धड़ा इस सुझाव पर भाजपा के पी एम् प्रत्याशी नरेंद्र मोदी को घेरने में लग गया है | यह भी कहा जा रहा है कि चुनावों के मध्य नजर इस मुद्दे को उठाया जा रहा है |
अब ऊपरी तौर से दिख रहा है कि सूत या कपास के बिना ही लट्ठम लठ चल रहा है मगर इस सुझाव की जड़ों की खुदाई तो शुरू हो ही गई है|
चुनावो से ठीक पहले यह मुद्दा उछालना किसी भी तरह से किसी की भी निजी राय नहीं हो सकती और जनार्दन द्विवेदी सरीखे भरोसे मंद +गम्भीर और वरिष्ठ नेता से मजाक की भी उम्मीद नहीं की जा सकती तब ऐसा क्या कारण है कि मुद्दे को उछाला गया |जिस प्रकार से श्री मति सोनिए गांधी ने आगे आकर सामाजिक न्याय के नाम पर आरक्षण की वकालत करते हुए इस दिशा में और अधिक काम का आश्वासन दिया है उससे लगता है कि अपने पुराने और अब दूर छिटक चुके वोट बैंक [आरक्षण के लाभार्थियों] को बसपा+ सपा से काट कर कांग्रेस की तरफ मोड़ना एक कारण हो सकता है इसके अलावा इस मुद्दे पर भाजपा को घेरने की कवायद भी दिखाई दे रही है जिस तरह से आर्थिक आधार पर आरक्षण के विषय में भाजपा से राय पूछी जा रही है उससे यह भी दिखता है कि चुनावों के मध्यनजर भाजपा से आर्थिक आधार पर आरक्षण पर राय लेकर भाजपा से आरक्षण के लाभार्थी जातियों के वोट काटे जा सके
अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी ने अपने कांग्रेस महासचिव के इस सुझाव को सिरे से खारिज कर दिया है।अपने सबसे करीबी माने जाने वाले नेता की दलीलों को खारिज करते हुए सोनिया ने अनुसूचित जाति+ जनजाति + पिछड़े वर्गो को आरक्षण का श्रेय कांग्रेस को देते हुए इसे आगे बढ़ाने की प्रतिबद्धता जताई।
संप्रग सरकार को बाहर से समर्थन दे रही सपा के रामगोपाल यादव+बसपा प्रमुख मायावती ने संसद के भीतर इसे लेकर हंगामा किया |प्रमुख विपक्षी दल भाजपा ने इसके समय को लेकर सवाल खड़ा कर दिया।
राज्यसभा में बसपा ने कांग्रेस से स्थिति साफ करने की मांग की और सपा ने केंद्र सरकार पर सामाजिक न्याय से भागने का आरोप लगा दिया।
कांग्रेस के भीतर पीएल पुनिया +अजीत जोगी जैसे दलित और पिछड़े नेताओं ने जनार्दन द्विवेदी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।
इस सबसे बचने के लिए सोनिया गांधी ने अपने बयान में साफ कर दिया कि कांग्रेस शुरू से अनुसूचित जातियों+ जनजातियों + पिछड़े वर्गो के उत्थान के लिए प्रतिबद्ध रही है और आगे भी रहेगी।
श्रीमती सोनियागांधी ने सांत्वना देते हुए बताया कि कांग्रेस ने ही 1950 के दशक में अनुसूचित जातियों +जनजातियों को सरकारी नौकरियों व शिक्षा संस्थाओं के साथ-साथ संसद और विधानसभाओं में आरक्षण सुनिश्चित कराया था।
पिछड़े वर्गो के लिए आरक्षण भले ही वीपी सिंह की सरकार ने लागू किया हो मगर श्रीमती सोनिया गांधी ने इसका श्रेय भी कांग्रेस को ही दिया। उनके अनुसार अनुसूचित जाति+ जनजाति + पिछड़े वर्गो के लिए आरक्षण की प्रणाली पर कांग्रेस के रुख में कोई शक नहीं है।
उन्होंने निजी क्षेत्र में अनुसूचित जाति और जनजाति की भागीदारी बढ़ाने के लिए संप्रग सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की भी जानकारी दी। उन्होंने याद दिलाया कि संप्रग सरकार ने इन वर्गो के छात्रों के लिए विशेष छात्रवृति की शुरुआत की थी, जिसका लाभ हर महीने एक करोड़ से अधिक छात्र उठा रहे हैं। एक कदम आगे बढ़ते हुए सोनिया ने अनुसूचित जाति और जनजाति का विकास सुनिश्चित करने के लिए अलग से बजट आवंटित करने के प्रति भी प्रतिबद्धता जताई है ।

कांग्रेस और”आप”पार्टी ने भाजपा पर दिल्ली की सरकार गिराने की साजिश रचने का आरोप लगाया:सबूत पेश नहीं कर पाये

कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने आज अलग अलग मंचों से भाजपा पर दिल्ली की सरकार गिराने की साजिश रचने का आरोप लगाया|आप ने कल मंगल वार से दिल्ली में पोल खोल अभियान चलाने की घोषणा भी कर दी है | पत्रकारों द्वारा मांगने पर भी स्टिंग स्पेशियलिस्ट सरकार के सभी नुमाईंदे कोई सबूत पेश नहीं कर पाये |आप ने आरोप लगाया है कि विधायक बिन्नी एक नया दल बनाने का प्रयास कर रहे हैं|
“आप” पार्टी ने प्रेस कांफ्रेंस जबकि कांग्रेस के प्रवक्ता+ वरिष्ठ नेता शकील अहमद ने सोशल मीडिया पर ट्वीट करके यह आरोप लगाये हैं|
“आप” पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता +आशुतोष+विधायक मदन लाल और संजय सिंह ने आज एक संवाददाता सम्मेलन में भाजपा पर आरोप लगाया कि वह दिल्ली की सरकार गिराना चाहती है। “आप” पार्टी में साजिश के तहत विधायकों को बगावत के लिए उकसाया जा रहा है| उनका कहना है कि जल्द ही आप पार्टी कांग्रेस और भाजपा के खिलाफ पोल खोल अभियान आरंभ करेगी।आशुतोष ने इस षड्यंत्र में उनकी पार्टी की आलोचना कर रहे मीडिया को भी लपेटने का प्रयास किया |संजय सिंह ने कहा कि उनकी पार्टी की सरकार और पार्टी की बढ़ती लोकप्रियता से कांग्रेस और भाजपा परेशान हो रही हैं। उन्होंने सीधे भाजापा के नेता अरुण जेटली और डॉ हर्षवर्धन पर सरकार को गिराने की साजिश रचने का आरोप लगाया |
संजय सिंह का दावा किया कि १९८४ में सिख विरोधी दंगों के पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए ने उन्होंने ही ही एसआईटी[SIT] गठित करने की मांग की है। उन्होंने भाजपा के पीएम पद के दावेदार नरेंद्र मोदी पर यह कहते हुए तीखे प्रहार कि उनकी पार्टी देशी तथा विदेशी लोगों के सम्मान का पूरा ख्याल रखती है।
प्रेस कांफ्रेंस में पार्टी के एक विधायक मदनलाल ने आरोप लगाया है कि उन्हें बगावत के लिएमुख्य मंत्री का पद और 20 करोड़ रुपये की रिश्वत की पेशकश की गई थी। मदन लाल ने कहा कि भाजपा के नेता अरुण जैटली + नरेंद्र मोदी के नाम से उन्हें तोड़ने के लिए संपर्क साधा गया थाइसके अलावा एस ऐ डी के एक मात्र विधायक+बगावती विनोद कुमार बिन्नी ने भी उन्हें बगावत के लिए उकसाया | पत्रकारों द्वारा इन आरोपों के समर्थन में सबूत मांगने पर प्रेस कांफ्रेंस कर रहे सभी नेता गण कोई सबूत पेश नहीं कर पाये| उधर सोशल साइट पर कांग्रेसी नेता शकील अहमद ने ट्वीट करके कहा है कि भाजपाके सहायक दल का एक करोड़ पति विधायक दिल्ली की सरकार गिराने के लिए विधायक खरीदने का प्रयासकर रहा है |