Ad

Tag: AjayMaken

दिल्ली राज्य की सरकार की महामारी के दौरान गैरहाजिरी को लेकर कांग्रेस ने ७०विस में मनाया भगौड़ा दिवस

[नयी दिल्ली]दिल्ली से मुख्यमंत्री और मंत्रियों की गैरहाजिरी को लेकर कांग्रेस ने मनाया भगौड़ा दिवस
कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने आज राष्ट्रीय राजधानी में ‘भगौड़ा दिवस’ मनाया। वे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्रियों की दिल्ली में कथित अनुपस्थिति का विरोध कर रहे हैं जो चिकुनगुनिया और डेंगू के प्रकोप की चपेट में है।
यहां की सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में हुए प्रदर्शन की अगुवाई करते हुए दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने संकट के वक्त लोगों की मदद करने के बजाय शहर से बाहर होने को लेकर कजेरीवाल और उपराज्यपाल नजीब जंग पर हमला किया।
माकन ने कहा ‘‘ यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि जब दिल्ली वाले महामारी जैसी स्थिति का सामना कर रहे हैं तब मुख्यमंत्री पंजाब में ढेरा डाले हुए थे और बाद में वह बेंगलूरू चले गए। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया फिनलैंड में छुट्टियां मना रहे हैं और यहां तक कि उपराज्यपाल भी अमेरिका में थे।
भाजपा का एक मेयर भी विदेश भ्रमण पर हैं।’’ पार्टी ने मच्छर जनित बीमारियों से जूझ रहे लोगों की मदद करने में ‘‘विफल’’ रहने पर दिल्ली में आप सरकार और भाजपा शासित नगर निगमों के खिलाफ एक ‘आरोप पत्र’ भी जारी किया है।
माकन ने मांग की कि केजरीवाल और सिसोदिया दिल्ली वापस आएं और बीमारियों से लड़ने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाएं।
उन्होंने केंद्र सरकार से दिल्ली के अस्पतालों और दवाखानों में सेना और अर्धसैनिक बलों के डॉक्टरों और पेरामेडिकल स्टाफ को तुरंत तैनात करने तथा इन बीमारियों से पीड़ित लोगों को निशुल्क जांच और इलाज की सुविधा मुहैया कराने की गुजारिश की।

Cong Drags “AAP” In Court For Objectionable Advertisements

[New Delhi] Cong Drags “AAP? In Court For Objectionable Advertisements
Cong Leader Maken Said to HC taht AAP Govt is violating SC guidelines on advertisements :
Congress leader Ajay Maken today told Delhi High Court. that AAP government is violating Supreme Court’s guidelines on government advertisement by spending huge sums of public money to run ads in other states criticising the Centre,
Maken made the submission in an affidavit in which he has referred to recent newspaper advertisements taken out by the Aam Aadmi Party (AAP) government, in other states, berating the Centre for transferring officers of GNCTD.
The ads also say that the Centre has not cleared bills of the Government of National Capital Territory of Delhi (GNCTD), the affidavit, placed before a bench of Chief Justice G Rohini and Justice Sangita Dhingra Sehgal,
The affidavit was filed in Maken’s plea, which is one of four that have been moved against the advertisements issued by the AAP government. The petitions alleged that the ads have been issued in violation of the guidelines.
The matters were listed for further hearing on August 4.
Maken in his affidavit has also stated that he had made a representation before the three-member committee, set up to monitor content of government ads, to take action against Delhi government for violating apex court guidelines on advertisements and to restrain it from issuing such ads.
However, despite repeated follow ups, till date the panel has not taken any action on his representation, Maken said.
file Photo

राहुल गांधी ,पानी+बिजली के लिए दिल्ली की सरकारों के विरुद्ध उठाएंगे मशाल

[नई दिल्ली]राहुल गांधी पानी+बिजली के लिए केजरीवाल के विरुद्ध २८ मई को दिल्ली की सडकों पर उतरेंगे|
तमाम आलोचनाओं के बावजूद राहुल गांधी बिजली पानी के लिए दिल्ली की दोनों सरकारों के विरुद्ध दिल्ली की सडकों पर उतरेंगे
कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी केंद्र में भाजपा और राज्य में “आप” की सरकार के विरुद्ध रैली निकालेंगे
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस समिति चीफ अजय माकन के ट्वीट के अनुसार २८ मई की सांय साढ़े छह बजे राहुल राजघाट से दिल्ली सचिवालय +दिल्ली गवर्नमेंट हैडक्वार्टर तक मशाल जुलूस की अगुवाई करेंगे |

Cong Registers Resentments Over Delhi MLA’s Massive Salaries Hike

[New Delhi]Cong Registers Resentments Over Delhi MLA’s Salary Hike. AAP Govt Has Approved 400% Hike In Pay And Allowances Of 70 MLAs Of Delhi.Congress Has Not Even a Single Member In The Present Assembly
A delegation of Delhi Congress today met Lt Governor Najeeb Jung and discussed with him passage of the AAP government’s Bill passed in Assembly clearing the way for “massive” hike in salaries and allowances of legislators and ministers.
Emerging after the meeting, Delhi Congress chief Ajay Maken alleged that the AAP government committed an “illegality” in passing the Bill without a consent of the President of India.
The delegation sought to know from the Lt Governor whether prior approval of the President of India was taken for the introduction of the Bill in the Assembly by the AAP Government,
As per Maken “Jung informed the delegation that only permission was sought by the AAP Government to seek the approval of the President on the Bill, and not the introduction of the Bill in the Assembly,”
Cong Leader alleged That The “massive” hike in the salaries of the MLAs proves that the AAP does not stand to protect the interest of the Aam Aadmi – which it is supposed to represent-but is only keen to enjoy the fruits of power by casting away its ‘aam aadmi’ garb, and “fostering” a “VVIP culture”,.
Chattar Singh and Satbir Singh were other members of the delegation.
The Members of the Legislative Assembly of the Government of NCT of Delhi (Salaries, Allowances, Pension) Amendment Bill,2015, was yesterday passed in the Delhi Assembly dominated by AAP legislators while two BJP MLAs boycotted voting on it.

अरविन्द केजरीवाल ने जून महीने में टैक्स पयेर्स की जेब से पूरे एक लाख की बिजली फूंक ही डाली

[नयी दिल्ली]अरविन्द केजरीवाल ने ,टैक्स पयेर्स की जेब से, जून महीने में पूरे एक लाख की बिजली फूंक ही डाली| केजरीवाल का जून का बिजली बिल 1.35 लाख आया है |इससे पूर्व दो माह के लिए ९१००० हजार रुपयों का बिल आया था |केजरीवाल पर व्यवसायिक काम के लिए घरेलू बिजली कनेक्शन का उपयोग करने का भी आरोप लगाया जा रहा है |
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सरकारी आवास का जून महीने का बिजली बिल 1.35 लाख रुपये का आया है |जिसे लेकर कांग्रेस और भाजपा ने आम आदमी पार्टी की सरकार को घेरते हुए आरोप लगाया कि यह व्यक्तिगत सुविधाओं के लिए सरकारी पैसा बर्बाद कर रही है।
सिविल लाइन्स में केजरीवाल के 6, फ्लैग स्टाफ रोड स्थित आवास पर दो मीटर वाले कनेक्शन हैं। एक का बिल 22,689 रपये का और दूसरा बिल 1,13,598 रपये का है।
दिल्ली सरकार ने एक आरटीआई आवेदन के जवाब में पिछले महीने बताया था कि अप्रैल और मई के लिए केजरीवाल के घर का बिजली बिल करीब 91,000 रपये का था।
अप्रैल और मई के बिजली बिल आने के बाद दिल्ली सरकार ने कहा था कि इसमें शिविर कार्यालय और आंगतुकों के लिए बनाई गयी कई सुविधाओं का बिल भी शामिल है।
सरकार ने कहा था कि मुख्यमंत्री के आवास पर बिजली खपत का बिल बहुत कम है। सूत्रों के अनुसार केजरीवाल के आवास में कई एयर-कूलरों के अलावा 30 से ज्यादा एयर-कंडीशनर लगे हैं।जिसका खंडन नही किया गया है|
सूत्रों से प्राप्त जानकरी के अनुसार सिविल लाइन्स इलाके में बिजली आपूर्ति करने वाली वितरण कंपनी दफ्तर के काम के लिए घरेलू बिजली कनेक्शन का इस्तेमाल करने के मामले में मुख्यमंत्री आवास पर नोटिस भेज सकती है
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने कहा, ‘‘अरविंद केजरीवाल व्यक्तिगत उपयोग के लिए सरकारी पैसा बर्बाद कर रहे हैं। सत्ता में आने के बाद आप नेताओं ने कहा था कि वे विलासिता में नहीं रहेंगे और आम आदमी की तरह रहेंगे। अब वे क्या कर रहे हैं।’’ भाजपा नेता विजेंद्र गुप्ता ने भी केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि वह निजी सुविधाओं के लिए सरकारी धन का दुरपयोग कर रहे हैं।

“आप”सरकार का ५२० करोड़ का विज्ञापन बजट कहीं मीडिया घरानों को शुक्राना तो नहीं

[नई दिल्ली]”आप”सरकार का ५२० करोड़ का विज्ञापन बजट कहीं मीडिया घरानों को शुक्राना तो नहीं यह प्रश्न आज सियासी गलियारों में गूँज रहा है|
दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी की सरकार ने ५२० करोड़ रुपये मात्र विज्ञापनों के लिए बजट किये हैं| मात्र अपनी छवि को चमकाने के लिए टैक्स पयेर्स की इतनी बढ़ी राशि के खर्चे की सर्वत्र आलोचना हो रही है |यहां तक कि मीडिया को खरीदने या फिर मीडिया को शुक्राना जैसे शब्द भी हवा में तैरने लगे हैं इससे पूर्व दिए गए विज्ञापनों में सुप्रीम कोर्ट कीअवमानना करते हुएपार्टी अध्यक्ष और सीएम अरविन्द केजरीवाल की छवि को ही चमकाया गया है यहां तक कि सरकारी खर्चे पर केजरीवाल की सलामती की दुआएं भी मांगी गई है|कांग्रेस और भाजपा विभिन्न चैनलों +एजेंसियों द्वारा इसकी आलोचना में लग गए हैं |
कांग्रेस के अजय माकन के अनुसार बीते वर्ष इस मद में केवल २४ करोड़ का बजट रखा गया था अब अचानक से २१%बढ़ाया गया है |भाजपा के सतीश उपाध्याय ने आरोप लगाया है कि अपनी पीआर करने के लिए ही केजरीवाल ने इतनी बढ़ी रकम निकाली है

Rahul Gandhi,With New Enthusiasm,Has Opened Many Fronts From Parliament To Roads

[New Delhi] Holiday Returned Rahul Gandhi Has Opened Many Fronts In Parliament As Well As On Roads
Congress Vice President Rahul Gandhi Is Not leaving any opportunity to En cash Farmers Unrest And Wrong Doings Of “AAP” Party In Parliament As well as On Roads He is making his presence in Lok sabha Regularly And in his absence his Generals are keeping the pot boiling After Punjab Rahul Gandhi Touring Maharashtra Today
Opposition Congress today attacked OP Dhankar Haryana Minister for reportedly calling farmers committing suicide “cowards” and sought to know what action the Prime Minister proposed to take.
Anand Sharma said during Zero Hour in Rajya Sabha”This is a serious issue…a Haryana government minister called farmers committing suicides cowards and criminals…
Suicides are not just happening in Haryana but all over the country,”
Minister of State for Parliamentary Affairs Mukhtar Abbas Naqvi said a state government, its ministers and chief ministers are not discussed in the House and it was not in accordance with rules and procedure.
Deputy Chairman P J Kurien said, “we have no jurisdiction on state governments. I cannot go further on this.”
Leader of the Opposition Ghulam Nabi Azad said the debate on agrarian crisis was to solicit government’s response on the steps being taken, but subsequent to the reply on the issue, the government announced the decisions outside the House which amounted to breach of privilege.
Food Minister Ram Vilas Paswan said the decisions to raise import duty on sugar from 25 per cent to 40 per cent, scrap excise duty on ethanol made from sugarcane and abolish value cut was taken by the Union Cabinet yesterday morning to help farmers in distress.Stepping up its offensive,
Another Leader J M Scindia Also Resented,In Loksabha , On Negligence Of Parliamentary Affairs Committee [PAC]
Delhi unit of Congress today held a protest demanding immediate dismissal of Delhi Law Minister Jitender Singh Tomar in the wake of the row over his alleged fake degree which has snowballed into a major political controversy.
Police used water canon when scores of agitated Congress workers tried to break barricades to march towards the Delhi Secretariat, which houses the offices of the Chief Minister and his Cabinet colleagues.
Delhi Congress chief Ajay Maken, who led the protest, said his party will not relent till Tomar was removed from the Delhi Cabinet.
“We will continue our agitation till the Law Minister is sacked. We also demand that Arvind Kejriwal step down as Chief Minister taking moral responsibility on the issue. The AAP had come to power promising to offer clean politics. But its leader is now protecting the corrupt,” Maken said addressing the gathering.
The protesters shouted slogans against Tomar as well as Kejriwal and demanded immediate sacking of the Law Minister.
The Congress has been insisting on Tomar’s dismissal as Minister and has also asked for his resignation as member of the Delhi Legislative Assembly
On Wednesday, a Bihar-based university, from where Tomar claimed to have done his law education, had told Delhi High Court that his provisional certificate is “fabricated and does not exist in the institution’s record”.
The Tilak Manjhi Bhagalpur university had placed before the court its enquiry report stating that the serial number of the provisional certificate in the record showed the name of some other person and not that of Tomar.
BJP and Congress have accused Kejriwal of adopting “double standards” on the issue of corruption and demanded that he dismiss Tomar from the government.

४९ दिन पूरे होते ही”आप”पार्टी पर हमले भी तेज:प्रशांत ने समर्थकों का भरोसा तोड़ने का आरोप लगाया

[नयी दिल्ली] ४९ दिन पूरे होते ही”आप”पार्टी पर हमले भी तेजहुए:प्रशांत भूषण ने समर्थकों का भरोसा तोड़ने का आरोपलगाया
दिल्ली की सरकार के ४९ दिन पूरे होते ही “आप” पार्टी पर हमले भी तेज हो गए हैं|पार्टी ने जहां इन दिनों स्वाभाविक रूप से अपनी उपलब्धियों का बखान किया है वहीँ विरोधियों ने सरकार को पूर्ण विफल बताने और समर्थकों का भरोसा तोड़ने वाली पार्टी बताने में कोई कसर नहीं छोड़ी |कांग्रेस के अजय माकन ने “आप”की सरकार को पूरी तरह विफल बताया है |
पार्टी के योगेंद्र यादव और खुद को पार्टी की फैसला लेने वाली शीर्ष इकाई से हटाए जाने के कुछ दिन बाद बागी आप नेता प्रशांत भूषण ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ फिर से मोर्चा खोलते हुए उन पर आप को ‘आलाकमान आधारित’ पार्टी बनाने और लाखों समर्थकों का भरोसा तोड़ने का आरोप लगाया है।अरविन्द केजरीवाल को लिखे खुले पत्र में भूषण ने आरोप लगाया है कि समर्थकों के साथ धोका करने के लिए अरविन्द केजरीवाल को भगवान और इतिहास कभी माफ़ नहीं करेगा |इतने अच्छे बहुमत को हासिल करने के बावजूद “आप” पार्टी को कांग्रेस और भाजपा जैसी पार्टियों के ट्रेडिशनल मार्ग को अपनाया जा रहा है जबकि क्लीन सरकार की अपेक्ष की गई थी
अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली आम आदमी पार्टी “आप” ने आज दिल्ली में अपनी सरकार के 49 दिन पूरे किए । इस दौरान केजरीवाल सरकार ने बिजली+पानी सब्सिडी+दिल्ली डायलॉग कमीशन का गठन सहित कई अन्य अहम निर्णय किए ।
इस अवधि में अनधिकृत कॉलोनियों में संपत्ति के पंजीकरण की प्रक्रिया की शुरूआत हुई और अपनी ड्यूटी के दौरान जान गंवाने वाले सुरक्षाकर्मियों के परिजन को एक करोड़ रूपए के मुआवजे का ऐलान किया गया।

कांग्रेस ने रणदीप सिंह सुरजेवाला को पार्टी का कम्युनिकेशन डिपार्टमेंट सौंपा

[नई दिल्ली ]कांग्रेस ने रणदीप सिंह सुरजेवाला को कम्युनिकेशन डिपार्टमेंट सौंपा कांग्रेस ने आज रणदीप सिंह सुरजेवाला को पार्टी के कम्युनिकेशन डिपार्टमेंट का प्रभारी बनाया |इससे पूर्व अजय माकन इस दायित्व को देख रहे थे श्री माकन को दिल्ली में अरविंदर सिंह लवली के स्थान पर प्रभारी बनाये जाने से यह रिक्ति हुई है |पीटीआई द्वारा वरिष्ठ कांग्रेसी नेता जनार्दन द्विवेदी के हवाले से यह सूचना दी गई है

जमीन वापिसी आंदोलन से कांग्रेस की अपनी सियासी जमीन वापिसी के लिए लड़ाई शुरू

झल्ले दी झल्लियां गल्लाँ

उत्तेजित भाजपाई

ओये झल्लेया ये हारे हुए कांग्रेसी तो लगता है कि पागल ही हो गए हैं |अरे भूमि अधिग्रहण पर देश को गुमराह करने के लिए दिल्ली में मुट्ठी भर कांग्रेसी किसान इकट्ठा कर लिए और हसाडे लोकप्रिय नरेंद्र भाई दामोदर दास मोदी को देने लग गए गालियां यहां तक कि पांच रुपये में खाना खिलने का दावा करके खुड्डे लाइन लगे हुए अभिनेता+नेता राज बब्बर ने सोणे मोदी के लिए तू तड़ाक का प्रयोग कर डाला शायरी में माहिरी दिखाते हुए अहमद पटेल+दिग्विजय सिंह+अजय माकन+जयराम रमेश सरीखे नेताओं ने भी नहीं रोका

झल्ला

ओ मेरे भोले सेठ जी इस जमीन वापिसी आंदोलन के जरिये कांग्रेस अपनी सियासी जमीन वापिस लेना चाह रही है और इस फ़िल्मी लड़ाई में हमेशा की तरह खलनायक ही शुरू में हावी रहेगा बाद में तू कांग्रेस के एक मात्र नायक आ जायेंगे और सब कुछ फाड़ कर ठीक ठाक करलेंगे