Ad

Tag: DelhiNews

11 Cartons of Illicit Liquor Seized in Delhi Ahead of MCD Bypolls

[New Delhi]Illicit 11 cartons of Liquor Seized in Delhi Ahead of MCD BypollsThe bypolls to 13 wards of the MCD is scheduled tomorrow.
Ahead of the municpal bypolls in Delhi, police have arrested a duo for allegedly supplying illicit liquor in the national capital.
Over 11 cartons of liquor smuggled from neighbouring states and almost as many beer bottles were seized yesterday, followinng the arrest of Anikesh (22) and Yatin (26),
During interrogation, the accused disclosed that they used to procure liquor from Bahadurgarh in Haryana and supply the same in Sangam Vihar and cluster areas near Faridabad border.
“They further disclosed that in view of forthcoming MCD bypolls, there was heavy demand for supply of liquor,” he said.
Based on a tip-off received yesterday, police had laid a trap and arrested them from south Delhi’s R K Puram area

केजरीवाल भटके मृग की भांति प्रसिद्धि तृष्णा के लिए मोदी+सोनिया के पीछे ही भाग रहे हैं

[नई दिल्ली]केजरीवाल भटके मृग की भांति प्रसिद्धि तृष्णा के लिए मोदी+सोनिया के पीछे ही भाग रहे हैं |
विज्ञान और गणित के कुशल छात्र रहे अरविन्द केजरीवाल को बीते दिनों किसी दरबारी ने यह दोहा सुना दिया है के जात ना पूछो साधू की पूछ लीजिए ज्ञान सम्भवत इसीलिए केजरीवाल ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का ज्ञान पर सवाल उठा दिया है ,किसी दरबारी ने दूसरा दोहा नहीं सुनाया जिसके अनुसार “पोथी पढ़ी पढ़ी जग मुआ गया न मन का फेर ढाई आखर प्रेम का जो पढ़े सो पंडित होय ” यही कारण है के केजरीवाल दूसरों की पोथियों के पीछे पढ़े हुए हैं |केजरीवाल सब्सिडी वाली टेक्नोलॉजी में ग्रेजुएट होने के उपरान्त भी इस दिशा में देश के लिए कोई उल्लेखनीय कार्य नहीं कर पाए उलटे राजनीती में प्रवेश करके तुगलकी अंदाज में देश की फिंजा खराब करने पर तुले हुए हैं|
इतिहास की मान्यतानुसार दिल्ली के तख़्त पर कभी मुहम्मद बिन तुग़लक़ नशीन हुआ करते थे |तत्कालीन इतिहासकारों द्वारा उन्हें सर्वाधिक शिक्षित+विद्वान +योग्य व्यक्ति बातया गया है लेकिन उन्होंने भी अपने ज्ञान का उपयोग अपनी सनक भरी योजनाओं+ क्रूर-कृत्यों में ही प्रयोग किया |मुहम्मद को दूसरे के सुख-दुख के प्रति उपेक्षा का भाव रखने के कारण ‘स्वप्नशील’,’पागल’+’रक्त-पिपासु’ तुगलक तक कहा गया है।
यहां तक इतिहासकारों ने सुल्तान को अधर्मी भी घोषित किया है।
यधपि अभी केजरीवाल को तुगलकी ऊंचाई तक नहीं ले जाया जा सकता ,लेकिन एक दिशा में केजरीवाल तुगलक से आगे दिखाई देते हैं वह है अपनी कमियों को छुपाने के लिए दूसरों के चरित्र हत्या |शायद इतिहास तुगलक में यह गुण नहींढूंढ पाया |
केजरीवाल ने दूसरों को गालियां देने+अपमानित करने+और अपने दोषियों को लाभान्वित करने की दिशा में कदम बढ़ा दिया है|मृगतृष्णा में भटके मृग की भांति कभी दिल्ली की पूर्व मुख्य मंत्री शीला दीक्षित तो कभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रकाश सिंह बादल तो आजकल कांग्रेस अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी के पीछे भाग रहे है और अपनी प्रसिद्धि तृष्णा को बुझाने का प्रयास करते दिखाई देते हैं |
कुछ धर्मों को आदर और विशेष धर्म का अनादार भी करना शुरू कर दिया है |

दिल्ली के तख्त को सात शतकों के पश्चात एक और तुगलक प्राप्त हुआ है

[नई दिल्ली]दिल्ली के तख्त को सात शतकों के पश्चात एक और तुगलक प्राप्त हुआ है
सात शतकों के पश्चात दिल्ली के तख्त को एक और तुगलक का सौभाग्य प्राप्त हुआ है |बेशक तुगलक के धर्म में पुनर्जन्म को मान्यता नहीं है लेकिन केजरीवाल की तुगलकी फरमानों से जूना खान उर्फ़ तुगलक के जनून के दर्शन
आये दिन हो रहे हैं ।उद्धारण के लिए
[१]ओड इवन के चक्कर में केजरीवाल सरकार ने करोड़ों रुपये फूंक डाले ।
[२]कारें कम करने के बहाने महंगी बसें खरीद डाली|
[३]शांति प्रिय जनता का चालान करके हलकान किया।
[4]दिल्ली के पैसे को जम्मू कश्मीर और पंजाब में बहाया
[५]सन्सद में बवाल कराया।
[६] अपने विधायकों में रेवड़ियां बांटी
जनता ने भी पलटवार में गाड़ियां बढ़ा दी पुरानी कारों से सडकों पर कंजेशन कम होने के बजाय बढ़ने लगा है ।
अब आप पूछोगे के ये कैसे तुगलकी हुआ? तो भापा जी सुलतान ने बेफाल्तू के सिक्के चलवाए जो तत्कालीन जनता को रास नहीं आये ,उन्होंने घर में ही सिक्के ढालने शुरू कर दिए।
सुलतान ने अपने साम्राज्य के विस्तार के लिए पीतल और ताम्बे के सांकेतिक+प्रतीकात्मक दोकानी नामक सिक्कों का प्रचलन करवाया और धनवानों का राजकुमार कहलाया ।सिक्का ढालने पर राज्य का नियंत्रण नहीं था जिसके परिणाम स्वरुप अनेक जाली टकसाल बन गये जिससे अर्थव्यवसथा ठप्प हो गई सुलतान को इसकी प्रेरणा चीन+ईरान से मिली। वहाँ के शासकों ने इन योजनाओं को सफलतापूर्वक चलाया था
सात सो सालों के पश्चात अबऐसे ही तुगलकी फरमान के कारण कारें कम होने के बजाय बढ़ने लग गई है| जनता के सहयोग के बजाय विकसित देशों की तर्ज पर पेनल्टी का राग अलापा गया |ओड इवन पर भाषण ज्यादा हुए+विज्ञापन ज्यादा हुए लेकिन नियंत्रण नहीं रखा जा सका |
फलस्वरूप पोलुशन कम होने के स्थान पर बढ़ रहा है |
इतिहास की मान्यतानुसार मुहम्मद तुग़लक़ सर्वाधिक शिक्षित+विद्वान +योग्य व्यक्ति था। अपनी सनक भरी योजनाओं, क्रूर-कृत्यों एवं दूसरे के सुख-दुख के प्रति उपेक्षा का भाव रखने के कारण इसे ‘स्वप्नशील’,’पागल’+’रक्त-पिपासु’ कहा गया है। यहां तक इतिहासकारों ने सुल्तान को अधर्मी घोषित किया है।यधपि अभी केजरीवाल को उस ऊंचाई तक नहीं ले जाया जा सकता लेकिन
केजरीवाल ने दूसरों को गालियां देने+अपमानित करने+औार अपने दोषियों को लाभान्वित करने की दिशा में कदम बढ़ा दिया है|कुछ धर्मों को आदर और विशेष धर्म का अनादार करना शुरू कर दिया है |
तुगलक ने विदेशी आक्रमणकारियों से बचने के लिए अपनी राजधानी बदल डाली जबकि आधुनिक तुगलक अपने जनून में पंजाब भागने की जुगत लढा रहे हैं ।
राजधानी को दिल्ली से देवगिरि स्थानान्तरित किया और नाम दौलताबाद कर दिया। मुहम्मद तुग़लक़ की यह योजना भी पूर्णतः असफल रही और उसने 1335 ई. में दौलताबाद से लोगों को दिल्ली वापस आने की अनुमति दे दी।अब केजरीवाल अपनी विस्तारवादी नीति के चलते कांग्रेस+अकालियों के पजाब की तरफ कदम बढ़ा चुके हैं|
सिंहासन पर बैठने के बाद सुलतान ने नजदीकी अमीरों एवं सरदारों को विभिन्न उपाधियाँ एवं पद प्रदान किया।केजरीवाल ने अपने २० से अधिक विधायकों में रेवड़ियां बांटी +अपने अवैतनिक रहे सहयोगियों को महंगे उच्च पदों पर आसीन किया|विधायकों के वेतन में बेतहाशा वृद्धि की|
सुलतान ने अनेकों नजदीकियों के विद्रोहों का सामना किया| केजरीवाल भी योगेन्द्र यादव+प्रशांत भूषण+पंजाब के ७५%सांसदों के विद्रोह को झेल चुके हैं|सुलतान काव्य और संगीन प्रेमी था केजरीवाल भी आजकल सिनेमा स्क्रीन के सामने देखे जाते हैं

“आप” सरकार के तमाम दावों के उपरान्त भी दिल्ली में आज वायु प्रदुषण का स्तर बढ़ा

[नयी दिल्ली]”आप” सरकार के तमाम दावों के उपरान्त भी दिल्ली में आज वायु प्रदुषण का स्तर बढ़ा |
दिल्ली में आज शाम वायु प्रदूषण के स्तर में बढ़ोत्तरी पाई गई |फिलहाल इस वृद्धि को कोहरे के कारण बताया जा रहा है|
कोहरे की चादर के कल भी जारी रहने के आसार हैं।
मौसम विभाग के एक अधिकारी के अनुसार पार्टिकुलेट मैटर[पीएम]2.5 और पीएम 10, जो सांस के भीतर जाने वाले बेहद छोटे कण होते हैं, का औसत स्तर क्रमश: 152 एवं 251 रहा जबकि इनकी सुरक्षित सीमा 60 एवं 100 है।
अधिकारी ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय रहने से तापमान के 10 डिग्री के नीचे जाने की संभावना है जिसके कारण कोहरा पैदा होगा।
दिल्ली के विभिन्न प्रदूषण नियंत्रण समिति स्टेशनों पर रात आठ बजे पीएम 2.5 और पीएम 10 की वास्तविक गणना निर्धारित सुरक्षित स्तर से करीब छह से सात गुना अधिक थी।
उधर, दिल्ली सरकार ने पुनः दावा किया के 16 स्थलों पर वायु गुणवत्ता के नमूनों में कल प्रदूषण में लगातार गिरावट कायम रही जो बेहद उत्साहनक रूख है

Delhi Woke up In Dense Fog And Flight Operations Disrupted at IGI Airport

[New Delhi]Delhi Woke up In Dense Fog And Flight Operations Disrupted at IGI Airport
Heavy fog disrupted flight operations at the Indira Gandhi International Airport today.
With the runway visibility dropping below the required limits, an IndiGo flight was diverted while many departures were put on hold since 0415 hours,
All landings are taking place under CAT-III B landing system,
CAT-III B allows the aircraft to land in visibility as low as 50 meters.Minimum visibility required for CAT III landing at Delhi Airport is 50 meters and for low visibility take-off operations (LVTO) it is 125 meters.
GMR-run IGIA is the only airport in the country equipped with CAT IIIB.
The residents of Delhi today woke up to dense fog with minimum temperature settling at 12 degrees Celsius, five notches above normal.
Safdarjung and Palam observatories, visibility was recorded By Weatherman less than 50 metres at 8 AM.
According to MeT department, humidity level in the morning was however 100 per centThe weatherman has predicted partly cloudy sky throughout the day.
“There will be partly cloudy sky and maximum temperature is expected to settle at 24 degrees Celsius,” the official further said.
Yesterday, the minimum temperature was recorded at 11.5 degrees Celsius in the national capital while maximum temperature was recorded at 24.7 degrees Celsius.
The first week of January this year has been the warmest January in at least 15 years.

केजरीवाल को मालूम हे के लिखतम से बखतम तेज चलती है और कब्जे के सामने पट्टे धरे ही रहते है

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

दिल्ली पोलिस का चतुर अधिकारी

ओये झल्लेया ये क्या हो रहा है?ओये ये पॉलिटिशियन्स हमें ढंग से काम करने देंगे या नहीं?आये दिन हम पर मनघड़ंत आरोप लगा कर अपनी रोटियां सेंकी जा रही है और हमारे जवानों का मनोबल गिराया जा रहा है|ये सीएम केजरीवाल तो खुल्लम खुल्ला सविंधान की अनदेखी करके पोलिस को अपने कब्जे में लेने के लिए आये दिन कोई न कोई कथानक फ़िल्म देता है

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजान जी!ये अरविन्द केजरीवाल को मालूम हे के लिखतम की गति से ज्यादा तेज गति से बखतम चलती है और कब्जे के सामने पट्टे +रजिस्ट्री भी धरी ही रहती है

मनीष तिवारी जी सम विषम फार्मूले पर उत्तर देने में अरविन्द केजरीवाल का हाथ तंग ही है

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

कांग्रेस चीयर लीडर

ओये झल्लेया ये केजरीवाल ने वाहनों के लिए जो सम विषम का कानून बनाया है उसकी सफलता कम और उसे लागू करने के लिए खर्चे ज्यादा किये जा रहे हैं |आये दिन स्टीकर+स्टीकर चैकर आदि की घोषणाएं की जा रही है|ओये हसाडे मनीष तिवारी जी ने केजरीवाल पर सवाल दाग दिया है के भाई पहले ये तो बताओ के ये सम विषम[OddEven] का फार्मूला है क्या ?

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजान जी!केजरी कानून के अनुसार अरविन्द केजरीवाल को केवल सवाल उछालने में ही दक्षता है| उत्तर देने में बेचारों का हाथ तंग ही है

Miscreants Opened Fire,Injured 3&fled,From Karkarduma Court Premises

[New Delhi]Miscreants Opened Fire,Injured 3&fled,From Karkarduma Court Premises
Miscreants,Today, Opened Fire Inside The Premises Of East Delhi Karkarduma Court
Three persons, including a Delhi Police official, sustained bullet injuries
The incident took place around 11 AM when an under trial was brought to court number 73 there, following which the unidentified persons, who were suspected to have been waiting to attack the under trial, fired at least 10 rounds and fled, Several police teams have been rushed to the spot and the injured persons taken to hospital,

High Court Questions Kejriwal And PM Bats For His FM Jaitely :DDCA Episode

[New Delhi]PM Batting For Jaitely And High Court Questions Kejriwal :DDCA Episode this Development comes in the backdrop of attacks on Jaitely by CM Kejriwal and other AAP leaders over alleged irregularities and financial bunglings in Delhi’s cricket body, Delhi and District Cricket Association (DDCA), of which Jaitely was the president for about 13 years till 2013.
The Delhi High Court today sought response of Chief Minister Arvind Kejriwal and five other AAP leaders on a civil defamation suit filed against them by Finance Minister Arun Jaitley.
Joint Registrar (JR) Kovai Venugopal issued notice to Kejriwal and other AAP leaders — Kumar Vishwas, Ashutosh, SanjaySingh, Raghav Chadha and Deepak Bajpai — on the suit by Jaitley seeking Rs 10 crore in damages for issuing allegedly false and defamatory statements against him and his family members.
The JR said”Issue notice to the defendants (AAP leaders). Written statements by the defandants be filed within three weeks.
Thereafter, in two weeks’ time, the plaintiff (Jaitley) will file replication,” .
The court also asked AAP convenor Kejriwal and other leaders of his party to file original documents related to the allegations levelled in the suit against them in one week.
The JR fixed the matter for February 5, 2016 for admission/denial of documents.
While Kejriwal and Vishwas were not present in the high court, four of the AAP leaders — Ashutosh, Sanjay, Raghav and Deepak, attended the proceedings.
Jaitley has also filed a criminal defamation complaint before a trial court against Kejriwal and the five other AAP leaders for making false allegations about financial irregularities in DDCA.
In a packed courtroom at the Patiala House courts complex yesterday, Jaitley, who was accompanied by M Venkaiah Naidu, Smriti Irani, Dharmendra Pradhan and J P Nadda, had alleged that AAP leaders have made completely baseless and defamatory allegations.
PM Narendra Modi Today backed His FM Arun Jaitley
In a strong show of support for Arun Jaitley, Prime Minister Narendra Modi today said the Finance Minister will come through “with flying colours” against charges of corruption levelled against him by the opposition in a same way L K Advani did in the Hawala case.
Batting for Jaitley, accused by Congress and AAP of financial irregularities in Delhi cricket body when he headed it, Modi hit out at Congress at BJP’s parliamentary party meeting for levelling “wrong and manufactured” allegations to “defame” the government.
At the parliamentary party, no reference was made to similar charges made by BJP MP Kirti Azad, who was not present in the meeting today.
Briefing reporters after the meeting, Parliamentary Affairs Minister M Venkaiah Naidu quoted Modi as having said that BJP leaders like Sushma Swaraj, Shivraj Singh Chouhan and Vasundhara Raje had similarly faced such “wrong” charges from Congress earlier.
“The Prime Minister gave the example of L K Advani. The government at that time tried to implicate him in the Hawala case.Advani came through with flying colours and the strategy of Congress boomeranged. Same thing is going to happen regarding allegations against Jaitley,Congress is inventing issue to defame the government,”
Advani and a number of other leaders were investigated by CBI during the Congress government headed by P V Narasimha Rao.
Advani had resigned from Lok Sabha in 1996 after allegations were levelled against him in the hawala case. The case, however, later collapsed due to lack of evidence.
BJP has rallied around Jaitley as Congress and AAP have tried to corner him over the issue and demanded his resignation. Party chief Amit Shah issued a strong statement in his support yesterday.
Naidu said
Aiming to take the battle to the opposition, BJP MPs of the Lok Sabha will be spending one night in each assembly constituency in their seat to spread awareness about the “good work” being done by the Modi government and the opposition’s campaign to “defame” it. This will be done in January,
The court of the Chief Metroplitan Magistrate then took cognisance of the complaint and posted the case for January 5 when Jaitley will record his testimony.

जेटली द्वारा “आप”के विरुद्ध सीधे सीधे दायर मानहानि के मामले को अदालत ने संज्ञान में लिया

[नई दिल्ली]जेटली द्वारा सीधे सीधे दायर मानहानि के मामले को अदालत ने संज्ञान में लिया
केंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली ने आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तथा आम आदमी पार्टी के पांच अन्य नेताओं के खिलाफ डीडीसीए विवाद में उन पर कथित आरोप लगाए जाने को लेकर आज आपराधिक मानहानि की शिकायत दाखिल की। अदालत ने उनकी इस शिकायत का संज्ञान ले लिया है।
मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट संजय खनगवाल ने कहा, ‘‘ मौजूदा शिकायत निजी स्तर पर दाखिल की गयी है । मामले को रिकार्ड पर लाते हुए मैं अपराधों का संज्ञान लेता हूं । मामले को अब पांच जनवरी को शिकायतकर्ता के सबूतों के लिए लिया जाएगा।’’जेटली ने बिना लीगल नोटिस दिए सीधे सीधे अदालत में याचिका दायर की है
अरूण जेटली का पक्ष रखने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता सिद्धार्थ लूथरा ने अदालत को बताया कि आम आदमी पार्टी के आरोपी नेताओं ने दिल्ली और जिला क्रिकेट ऐसोसिएशन : डीडीसीए : में कथित अनियमितताओं के संबंध में वित्त मंत्री के खिलाफ पूरी तरह बेबुनियाद और मानहानिकारक आरोप लगाए हैं ।
लूथरा ने कहा, ‘‘ श्री जेटली ने डीडीसीए से एक पाई तक नहीं ली । उनके तथा उनके परिवार के खिलाफ पूरी तरह बेबुनियाद और मानहानिजनक आरोप लगाए हैं ।’’ अदालत में 35 मिनट की सुनवाई के दौरान जेटली तथा भाजपा के अन्य शीर्ष नेता मौजूद थे। इनमें केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू, जे पी नड्डा, स्मृति ईरानी, धर्मेन्द्र प्रधान, पीयूष गोयल और राज्यवर्धन सिंह राठौड़ शामिल थे ।